सक्षम में हल्द्वानी जी मंडल कार्यसमिति में घोषित की कुमाऊ की कार्यकारिणी


हल्द्वानी 31 अगस्त (भुवन गुणवंत संवाददाता गोविंद कृपा हल्द्वानी* )



उत्तराखंड सक्षम  कुमाऊँ-मंडल प्रशिक्षण वर्ग में उत्तर पश्चिम क्षेत्र प्रभारी श्री राम मिश्रा जी की सहमति एवम् प्रान्त उपाध्यक्ष श्री पृथ्वीपाल सिंह रावत व अन्य प्रान्तीय एवम् जिला कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में प्रान्त सचिव ललित पन्त ने पौड़ी जिला अध्यक्ष डॉ॰बलवंत सिंह नेगी ,जिला अल्मोड़ा कार्यकारी अध्यक्ष श्री नवीन दुर्गापाल सहित सक्षम के कई दायित्व किये घोषित* 🚩

      *घोषित किए गए दायित्व*

1- डॉ बलवंत सिंह नेगी, जिला अध्यक्ष पौड़ी गढ़वाल 

2- श्री नवीन दुर्गापाल  कार्यकारी अध्यक्ष जिला अल्मोड़ा 

3 - श्री कमल सिंह राना जिला सह प्रचार प्रमुख अल्मोड़ा 

4- श्री प्रसाद चन्द्र भट्ट जिला उपाध्यक्ष पिथौरागढ 

5- श्री मंगल सिंह (पन्त नगर) जिला उपाध्यक्ष उधमसिंह नगर 

6- श्री अरुण गुप्ता अस्थि बाधित प्रकोष्ठ प्रमुख जिला नैनीताल 

7- श्री मुन्ना सिंह जिला उपाध्यक्ष नैनीताल 

8- श्री विपिन बहुगुणा  जिला युवा प्रमुख नैनीताल 

श्री मदन जोशी सह युवा प्रमुख नैनीताल 

कुमारी निर्मला जोशी सह युवा प्रमुख नैनीताल 

जितेन्द्र आर्या सह युवा प्रमुख नैनीताल 

  उत्तराखंड प्रदेश सचिव ललित पंत ने सभी घोषित पदाधिकारियों को बधाई एवम् उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएँ प्रदान की


भारत मैं अंतरिक्ष अनुसंधान के संस्थापक थे डॉ विक्रम साराभाई


 भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो की स्थापना विक्रम साराभाई ने की थी यह इतना आसान नहीं थाइसके लिए पहले विक्रम साराभाईकोसरकार कोमनानापड़ासाथ ही समझाना पड़ा कि भारत के लिए इसरो की स्थापना कितनी जरूरी हैडॉक्टर साराभाई ने अंतरिक्ष कार्यक्रम के महत्व पर जोर देते हुएसरकार को समझाया थाजिसके बाद 15 अगस्त1969में इसरो की स्थापना हुईविक्रम अंबालाल साराभाईका जन्म अहमदाबाद में12 अगस्त 1919 को हुआ थाउनके पिता अंबालाल साराभाईएक उद्योगपति थे तथा गुजरात में कई मिलो के स्वामी थे कैंब्रिज विश्वविद्यालय के सेंट जॉन कॉलेज से डॉक्टरेट की डिग्री हासिल की कोई भी व्यक्ति  बिना किसी डर याहीन भावना के  डॉक्टर साराभाई  से मिल सकता था फिर  चाहे संगठन में उसका   कोई भी पद क्यों ना रहा होसाराभाई उसे  प्रदा  बैठने के लिए कहतेवह बराबरी के स्तर पर उनसे बातचीत कर सकता था व्यक्ति विशेष को सम्मान देने में विश्वास रखते थे  अनेक विशेषताएं उनके व्यक्तित्व में  समाहित थी उनकी सबसे महत्वपूर्ण विशेषता यह थी कि वे  ऐसे उच्च कोटी के इंसान थे  जिसके मन में  दूसरों के प्रति  असाधारण  सहानुभूति थी  वह एक ऐसे व्यक्ति थेकि जो भी उनके संपर्क में आता उनसे प्रभावित हुए बिना ना रहता वह जिनके साथ भी बातचीत करते उनके साथ फौरी तौर पर व्यक्तिगत सौहार्द स्थापित कर लेते थे ऐसा इसलिए संभव हो पाता था क्योंकि वे लोगों केहृदय में अपने लिए आदर और विश्वास की जगह बना लेते थे और उन पर अपनी इमानदारी की छाप छोड़ जाते थे विक्रम अंबालाल साराभाई भारत के प्रमुख वैज्ञानिक थे हीरो ने 86 वैज्ञानिक शोध पत्र लिखे एवं 40 संस्थान खोलें इनको विज्ञान एवं  अभियांत्रिकी  के क्षेत्र में सन 1966 में  भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण  से सम्मानित किया गया था  डॉ विक्रम साराभाई के नाम को  भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम से  अलग नहीं किया जा सकतायह जग प्रसिद्ध है कि वह विक्रम साराभाई ठीक है जिन्होंने अंतरिक्ष अनुसंधान  के क्षेत्र में भारत को अंतरराष्ट्रीय मानचित्र पर स्थान दिलाया लेकिन के साथ-साथ उन्होंने अन्य क्षेत्रों जैसे वस्त्र भी सचआणविक ऊर्जाइलेक्ट्रॉनिक और अन्य क्षेत्रों में भी बराबर का योगदान किया विज्ञान जगत में देश का परचम लहराने वाले इस महान वैज्ञानिक डॉ विक्रम साराभाई का निधन 30 दिसंबर 1971 को कोवलम तिरुअनंतपुरम केरल में हुआ था।

ई संवाद मैं बोले कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी

 भाजपा ही सैन्य हितो की सच्ची प्रहरी: जोशी


e-संवाद की इस चौथी श्रृखला कार्यक्रम


देहरादून 31 अगस्त ( जेके रस्तोगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून)



सैन्य कल्याण हमारा संकल्प संवाद की इस चौथी श्रृंखला

कार्यक्रम में बतौर मुख्य वक्ता उत्तराखंड सरकार  में कैबिनेट मंत्री सैन्य कल्याण व् ओद्योगिक विकास श्री गणेश जोशी ने कहा की 1964 में जनसंघ की एक कार्यशाला में भारत को आटोमेटिक पॉवर से सुस्सज्जित राष्ट्र की परिकल्पना की गयी थी जिसे दृढ इच्छा शक्ति के धनी स्व. प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी द्वारा पोखरण विष्फोट कर दुनिया के सामने परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र होने का गौरव भारत को दिलाने का कार्य किया 

उन्होंने कहा सैनिक सम्मान की चिंता भाजपा करती है और इसी का नतीजा है कि सैनिक का बेटा आज प्रदेश का मुख्यमंत्री और सैन्य कल्याण मंत्री भी एक पूर्व सैनिक है। एक चाय बेचने वाला देश का प्रधानमंत्री है. यह सब केवल भाजपा में ही संभव है। कारगिल युद्ध से पहले हुए हर युद्द में हमने अपना भारत का भूभाग खोया किन्तु कारगिल युद्ध में पहली बार हमने अपनी खोयी जमीन दुश्मन से वापस ही नहीं ली, बल्कि दुश्मन को खदेड़ने का कार्य भी किया. और भारत की बढती शक्ति का उसे  एहसास भी कराया। पहले सेना के हाथ सरकार बांधकर रखती थी, लेकिन आज सेना को आतताईयो को खदेड़ने की आतंकवादियों को उनके घर में घुसकर उनके अंजाम तक पहुचने की खुली छूट सरकार ने सेना को दे दी है। जिसका ये परिणाम हे की जम्मू कश्मीर में आये दिन सैनिक / अर्धसैनिक बलों पर होने वाली पत्थरबाजी व हमले समाप्त करने में सेना को कामयाबी मिली है। कारगिल युद्ध मैं शहीद हुए उनके परिजनों को पेट्रोल पम्प गैस एजेंसिया वितरित की गयी उनके परिवारों की सुरक्षा का   पूर्ण ध्यान रखती है। 

भाजपा सरकार द्वारा प्रत्येक शहीद के परिवार से १ व्योक्ति को उसकी योग्यतानुसार सरकारी नौकरी की घोषणा की गयी है। वर्षो पुरानी पूर्व सैनिको की वन रैंक वन पेंशन को भाजपा सरकार ने लागू किया सेना के मनोबल को उन्ल्चा उठाने का काम भाजपा ने किया उन्होंने कहा गलवान की घटना हो चाहे सर्जिकल स्ट्राइक में बंधक बनाये विंग कमांडर अभिनन्दन की रिहाई की अंतर्राष्ट्रीय स्टार पर पडोसी देशो को प्रधानमंत्री मोदी के पराक्रम का लोहा मानते है.।  ऐसा ही हल्द्वानी में भी बनाने जा रहेहै रहे है.। हमारे अर्धसैनिक बल आन्तरिक बल आन्तरिक सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए नक्सलवाद, माओवाद व आतंकवादियों का सफाया करने में जुटे है। उनके लिए इ उनके परिवार के लिए सरकार स्वस्थ्य शिक्षा व् रोजगार के पर्याप्त अवसर उपलब्ध करा रही है।. पूर्व् सैनिको को 3 से 6 माह तक कंप्यूटर प्रशिक्षण लेकर उन्हें पुनः रोजगार की सरकार व्यवस्था कर रही है.।धारा 370 व 35 हटाने के बाद अब अगला लक्ष्य पीओके होगा तथा

1757 शहीदों के घरो तक सरकार शहीद सम्मान यात्रा के दौरान उनके घरो की मिटटी लाकर उनके परिजनों को उनके योगदान के लिए ताम्रपत्र देगी व् उस मिटटी से सैन्य धाम बनाया जायेगा। सैनिको पूर्व सैनिको को नगर पालिका नगर निगम में हाउस टेक्स में छुट दी गयी है अब यह छुट केंट बोर्ड में भी लागु कर दी गयी है। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश महामंत्री श्री कुलदीप कुमार जी ने कहा भारत वीर भूमि है आदि काल से वीरो ने विदेशी आतताइयो को उन्ही की भाषा में जवाब देते हुए नेस्तनाबूत करने का कार्य किया। अंग्रेजी हुकूमत मैं भी उत्तराखंड के वीरो की गाथा का उल्लेख हुआ है। अंग्रेजी सरकार में भी वीरता के लिए श्री गब्बर सिंह नेगी को विक्टोरिया क्रास से सम्मानित किया. यह उत्तराखंड का गौरव है।

 श्री कुलदीप कुमार जी ने भाजपा के द्वारा सेना व पूर्व सैनिको के हितो को ध्यान में रखकर चलायी जा रही विभिन्न योजनाओ का भी उल्लेख किया.।

e-संवाद की इस चौथी श्रृखला का संचालन e-संवाद कार्यक्रम संयोजक श्री ज्योति प्रसाद गैरोला जी द्वारा किया गया।. इस अवसर पर कार्यक्रम सह संयोजक श्री अभिमन्यु कुमार प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा, डा देवेन्द्र भसीन मधु भट्ट के साथ ही बड़ी संख्या में पूर्व सैनिक व् पूर्व सैनिक अधिकारी भी मौजूद रहे।



डा0 विशाल गर्ग ने की लोगो से वैकसीन टीका लगवाने की अपील

 टीका लगवाकर कोरोना नियंत्रण में सहयोग करें-डा.विशाल गर्ग

हरिद्वार, 31 अगस्त( रजत अरोडा संवाददाता गोविंद कृपा ज्वालापुर)



। ज्वालापुर के मौहल्ला हज्जावान के निकट दुर्गा मंदिर में भाजपा नेता विशाल गर्ग एवं समाजसेवी शाहनवाज सलमानी के संयोजन में वैक्सीनेशन कैंप आयोजित किया गया। कैंप में बड़ी संख्या में हिन्दू व मुस्लिम समाज के लोगों ने टीकाकरण का लाभ उठाया। इस अवसर पर डा.विशाल गर्ग ने कहा कि दो वर्ष से देश दुनिया कोरोना महामारी से पीड़ित है। कोरोना महामारी को मात देने के लिए वैक्सीन ही एक मात्र उपाय है। टीका पूरी तरह सुरक्षित है। सभी को केंद्र व राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे वैक्सीनेशन अभियान का लाभ उठाते हुए टीका लगवाकर कोरोना महामारी के नियंत्रण में सहयोग करना चाहिए। समाजसेवी शाहनवाज सलमानी व गफ्फार सलमानी ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए आयोजित किए गए शिविर में 280 लोगों को वैक्सीन का टीका लगाया गया। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते समाज का प्रत्येक वर्ग प्रभावित हुआ है। सभी को वैक्सीनेशन अभियान में सहयोग करते हुए टीका अवश्य लगवाना चाहिए। साथ ही सामान्य दिनचर्या में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए महामारी के नियंत्रण में सरकार का सहयोग करना चाहिए। इस अवसर पर वसीम सलमानी, सरफराज सलमानी, पार्षद इसरार अहमद, जावेद, रमी, नसीम सलमानी, चिंटू शर्मा, नीलू, विक्रम नाचीज, अंकित, गफ्फार सलमानी, अमजद, शमशेर सलमानी आदि ने शिविर के आयोजन में सहयोग किया।

नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की






 श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर नन्हे-मुन्ने बालकों ने धरा भगवान श्री कृष्ण का स्वरूप दर्शक देखकर हुए अभिभूत शहर के विभिन्न भागों में जहां श्री कृष्ण जन्माष्टमी समारोह पूर्वक मनाई गई वही इन समारोह में हर उम्र के शिशु भगवान श्री कृष्ण का रूप धरकर प्रशंसा के पात्र बने नन्हे-मुन्ने बालकों ने बाल श्री कृष्ण और उनकेकक्षाओं का रूप धर जहां लोगों को आकर्षित किया वही प्रशंसा और प्यार दोनों बटोरे बाल कलाकारों की माता पिता अपने बालकों को भगवान कृष्ण राधा रानी गोप गोपियों के रूप में देखकर पुलकित हो उठे ।

बालाजी धाम श्री सिद्धबली हनुमान मंदिर मैं उत्साह के साथ बच्चों ने मनाई जन्माष्टमी

 जन्माष्टमी की धूम, बच्चों के नृत्य ने बांधा समां


हरिद्वार। 31 अगस्त (विनीत गिरी संवाददाता गोविंद कृपा कनखल)



बालाजी धाम सिद्धबली हनुमान, नर्मदेश्वर महादेव मंदिर,  फुटबॉल ग्राउंड के निकट राज बिहार कॉलोनी जगजीतपुर कनखल में जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम के साथ मनाया गया। कार्यक्रम में भगवान कृष्ण की जीवन लीला पर आधारित झांकियों और बच्चों के नृत्य देखकर लोग भाव विभोर हो गए। बच्चों ने शानदार नृत्य का प्रदर्शन कर उपस्थित जनों को मंत्र मुग्ध कर दिया। महंत आलोक गिरी महाराज ने सभी बच्चों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। 

गौरतलब है कि करोना माहामारी के चलते दो वर्षो के उपरांत मंदिर में जन्माष्टमी का पर्व मनाया गया। महंत आलोक गिरी ने बताया कि कार्यक्रम को लेकर बच्चों में खासा उत्साह था। बच्चों को लगन को देखकर ही उन्होंने कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया। जिसमें 40 से ज्यादा बच्चों ने अपना शानदार कला का प्रदर्शन कर चार चांद लगा दिए। सभी बच्चों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया गया। इससे बच्चों और उनके परिजनों की खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा। उन्होंने कहा रात को 12:00 बजते ही भगवान कृष्ण का जन्म होने के    उपरांत अभिषेक कर भक्तों को प्रसाद बांटा गया। उन्होंने कहा

 कि भगवान श्री कृष्ण एक युगपुरुष थे। उनके बताए गए सिद्धांतों का अनुपालन करते हुए मनुष्य अपना जीवन सफल बना सकता है। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर उपस्थित आरोग्य मेडिसिटी हॉस्पिटल के संस्थापक डॉ महेंद्र सिंह  राणा ने कहा कि महाभारत युद्ध के दौरान भगवान कृष्ण द्वारा अर्जुन को गीता में दिए गए उपदेश आज भी प्रासंगिक है।  ऐसे में लोगों को प्रतिदिन गीता का अध्ययन कर अपने जीवन में आने वाली समस्याओं के निराकरण का उपाय करना चाहिए।  कार्यक्रम में  खुशी,  मालवीय,  निष्ठा रानी,  वंशिका,  मालवी,  अपिता कश्यप,  तनु कश्यप,  वंशिका चौधरी, आदित्य कश्यप,  अनन्या चौधरी,  रुद्रांशी  भाटिया, परी, श्री कुकरेजा,  निधि,  सोनिया, रानी, चाहत गर्ग ऋषि कपूर आशिका तनिष्का,  दक्ष चौहान,  शिवा चौहान,  मोहित चौहान, मिंटू नेहा,  आकांक्षी,  परी उपाध्याय स्नेहा,  खुशी वालिया,  नंदनी शगुन आदि बच्चों ने नृत्य कर समा बांध दिया। 

कार्यक्रम में निरंजनी अखाड़े के  सचिव महंत रविंद्र पुरी, रानीपुर विधायक आदेश चौहान, डा. महेंद्र सिंह राणा, संघ प्रचारक पदम सिंह  विहिप के जिला अध्यक्ष नितिन गौतम, मेयर अनिता शर्मा,  भाजपायूमो के जिला अध्यक्ष सचिन गुर्जर, जिला मंत्री संदीप प्रधान, पार्षद नागेंद्र राणा, आम आदमी पार्टी की महिला प्रदेश अध्यक्ष  हेमा भंडारी, दिगम्बर नीरज गिरी, महंत केदार गिरी, स्वामी विनोद गिरी, अरुण पाल, दिनेश वालिया, सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

ज्वालापुर मैं आयोजित की गई राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक कार्यशाला

 हरिद्वार :31 अगस्त ( रजत अरोड़ा संवाददाता गोविंद कृपा ज्वालापुर)



   राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान के तहत भारतीय जनता पार्टी रानीपुर चौक बाजार मंडल के सभी बूथों के स्वंयसेवकों के साथ एक कार्यशाला श्री रघुनाथ मन्दिर ज्वालापुर में संपन्न हुई। कार्यशाला में मुख्य अतिथि रानीपुर विधायक आदेश चौहान व जिला महामंत्री विकास तिवारी रहे। मुख्य वक्ता एवं प्रशिक्षक के रूप में भाजपा के जिला महामंत्री विकास तिवारी ने सभी का मार्गदर्शन किया व आवश्यक निर्देश दिए। 


इस अवसर पर रानीपुर विधायक ने कार्यशाला में उपस्थित सभी स्वंयसेवकों से कहा कि वह अपने-अपने बूथों में कोरोना के संबंध में जागरुकता बनाए रखें व कोविड के नियमों के प्रति सभी से सजग रहने को कहें।


कार्यशाला का संचालन जिला सांस्कृतिक विभाग के संयोजक अभिनन्दन गुप्ता ने मंडल अध्यक्ष आशुतोष चक्रपाणि की अध्यक्षता में किया। 


इस कार्यशाला में मंडल महामंत्री आलोक चौहान,प्रिंस लोहट और अनिल शर्मा,पूनम चौहान,ड़ा वीरेंद्र चौधरी,सोशल मीडिया प्रभारी मनोज शर्मा,मीडिया प्रभारी मोहित शर्मा,किरन वर्मा,अंकुर पालीवाल,भगत सिंह,ललित कुमार,राजीव मोघा,राजीव चौहान,अनिल कौशिक,सविता मित्तल व मंडल के सभी पदाधिकारी,सभी पार्षदगण,बूथों के अध्यक्ष तथा स्वयंसेवक उपस्थित रहे।

रुड़की शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई जन्माष्टमी


 रूडकी 31 अगस्त ( अनिल लोहानी वरिष्ठ संवाददाता गोविंद कृपा रुड़की  )


पिछले 2 वर्षों से कोविड-19 के कारण सार्वजनिक रूप से कोई भी त्यौहार मंदिर पर नहीं मनाया जा रहा था Iअधिकांश पर लोग अपने घरों में ही त्योहारों को मना कर सोशल मीडिया के माध्यम से एक दूसरे से शेयर कर रहे थे l परंतु  इस वर्ष प्रशासन द्वारा कुछ शर्तों पर छूट देने के उपरांत रुड़की शहर में कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया l क्षेत्र की जनता ने सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए कृष्ण जन्माष्टमी का उत्सव बड़े धूमधाम से मनाया l यद्यपि कुछ स्थानों में अति उत्साह एवं उमंग के कारण लोगों ने सरकारी गाइडलाइन की अवहेलना भी कीl

 रुड़की के वार्ड नंबर 9 में प्राचीन शिव मंदिर में कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाया गया इस अवसर पर क्षेत्र की जनता ने बढ़-चढ़कर आर्थिक सहयोग देते हुए मंदिर कमेटी को जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम से मनाने हेतु पूर्ण सहयोग दिया साथ ही साथ लोगों ने इस कार्यक्रम में बढ़ चढ़कर भाग लिया


पिछले कुछ वर्षों से मंदिर परिसर में कोई सार्वजनिक कार्य ना होने के कारण लोगों ने आर्थिक मदद देकर मंदिर के रिनोवेशन मैं अपना पूर्ण सहयोग एवं योगदान दियाl

इस कार्यक्रम में सबसे महत्वपूर्ण बात यह नजर आई कि लोगों  ने अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देने हेतु मंदिर के विभिन्न कार्यक्रम जैसे सफाई, प्रसाद पैक करना ,मंदिर की सजावट एवं अन्य प्रशासनिक कार्यों हेतु खुली छूट दीl जो उनके मन में सनातन धर्म के प्रति जागृति पैदा करती है और संस्कारी जीवन जीने के लिए प्रेरित करती हैl

श्री कृष्ण ही आनंद के कुंज है

 !!आध्यात्म की दृष्टि से श्री कृष्णजन्म का गूढ़ अर्थ!!

( कमल किशोर टू प्लान शिक्षाविद रुड़की)


 प्राचीन काल से हमारी कहानियों का सौंदर्य यह है कि वे कभी भी किसी विशेष स्थान या विशेष समय पर नहीं बनाई गई हैं। रामायण या महाभारत काल की जितनी भी घटनाएं हैं वे घटित घटनाएं मात्र नहीं हैं। अगर देखा जाए तो ये घटनाएं हमारे जीवन में रोज घटती हैं। जिनका सार शाश्वत है।


श्री कृष्ण लीला में हमें श्री कृष्ण के जन्म से लेकर उनकी लीलाओं का कहानी रुप में सामान्य स्मरण तो सबको होगा ही। आज कृष्ण जन्मोत्सव है और श्री कृष्ण जन्मोत्सव के अवसर पर आध्यात्मिकता की दृष्टि से श्री कृष्ण जन्म कहानी का गूढ अर्थ को समझना  आवश्यक है। हमारे जीवन में प्रतिदिन घटित होती हैं और जिनका सार शाश्वत सत्य है।

कृष्ण जन्म की कहानी में देवकी शरीर तथा वासुदेव जीवन शक्ति अर्थात प्राण का प्रतीक है। कहां जाता है कि जब किसी में शरीर प्राण धारण होता है,तो वहां आनंद अर्थात श्री कृष्ण का जन्म होता है। लेकिन दूसरी ओर (कंस) रुपी अहंकार मनुष्य के आनंद को समाप्त करने का प्रयास करता है। देवकी के विवाह के अवसर पर जब कंस देवकी को विदा करने जा रहा था उसी समय  कंस के लिए अशुभ आकाशवाणी होने के बाद देवकी का भाई कंस यहां यह दर्शाता है कि शरीर के साथ-साथ अहंकार का भी अस्तित्व है। एक प्रसन्न एवं आनंदचित्त व्यक्ति कभी किसी के लिए समस्याएं नहीं खड़ी करता है,परन्तु दुखी और भावनात्मक रूप से घायल व्यक्ति अक्सर दूसरों को घायल करते हैं,या उनकी राह में अवरोध पैदा करते हैं। जिस व्यक्ति को लगता है कि उसके साथ अन्याय हुआ है, वह अपने अहंकार के कारण दूसरों के साथ भी अन्यायपूर्ण व्यवहार करता है।


अहंकार का सबसे बड़ा शत्रु आनंद है। जहाँ आनंद और प्रेम है वहां अहंकार टिक नहीं सकता,उसे झुकना ही पड़ता है। समाज में एक बहुत ही उच्च स्थान पर विराजमान व्यक्ति को भी अपने छोटे बच्चे के सामने झुकना पड़ जाता है। जब बच्चा बीमार हो, तो कितना भी मजबूत व्यक्ति हो,वह अपने को थोडा असहाय महसूस करने ही लगता है। प्रेम,सादगी और आनंद के साथ सामना होने पर अहंकार स्वतः ही ओझल होने लगता है। इस कहानी में श्री कृष्ण आनंद के प्रतीक,सादगी के सार एवं प्रेम के स्रोत हैं।


कंस के लिए आकाशवाणी होने के बाद कंस द्वारा देवकी और वासुदेव को कारावास में डालना इस बात का सूचक है कि जब अहंकार बढ जाता है तब शरीर एक जेल की तरह हो जाता है ऐसे समय में भगवान श्री कृष्ण के रूप में जन्म लेते हैं,जेल के पहरेदार वह इन्द्रियां है जो अहंकार की रक्षा कर रही हैं क्योंकि जब वह जागता है तो बहिर्मुखी हो जाता है। श्री कृष्ण का जन्म होने पर जेल की पहरेदार रुपी इन्द्रियाओं का अंतर्मुखी होना ही हमारे भीतर के आंतरिक आनंद का उदय होना है।


श्री कृष्ण की बाल लीलाओं में भगवान श्री कृष्ण माखनचोर के रूप में भी जाने जाते हैं। दूध पोषणता का सार है और दूध का एक परिष्कृत रूप दही है। जब दही का मंथन होता है,तो मक्खन बनता है और मक्खन ऊपर तैरता है। मक्खन भारी नहीं बल्कि हल्का और पौष्टिक भी होता है। जब हमारी बुद्धि का मंथन होता है, तब यह मक्खन की तरह हो जाती है। उस समय मन में ज्ञान का उदय होता है, और व्यक्ति अपने स्व में स्थापित हो जाता है। दुनिया में रहकर भी वह अलिप्त रहता है,उसका मन दुनिया की बातों से / व्यवहार से निराश नहीं होता।श्री कृष्ण की माखनचोरी इस कहानी में प्रेम की महिमा के चित्रण का प्रतीक है। बचपन में श्री कृष्ण का माखन चुराने में इतना आकर्षण और कौशल है कि वह सबसे संयमशील व्यक्ति का भी मन चुरा लेते हैं।

श्री कृष्ण के सिर पर मोर पंखी मुकुट इस बात का प्रतीक है कि एक राजा अपनी पूरी प्रजा के लिए किस प्रकार ज़िम्मेदार होता है। वह ताज के रूप में इन जिम्मेदारियों का बोझ अपने सिर पर धारण करता है। लेकिन श्री कृष्ण अपनी सभी जिम्मेदारी एक खेल की तरह बड़ी सहजता से पूरी करते हैं-जैसे किसी माँ को अपने बच्चों की देखभाल कभी बोझ नहीं लगती। श्री कृष्ण को भी अपनी जिम्मेदारियां बोझ नहीं लगतीं हैं और वे विविध रंगों भरी इन जिम्मेदारियों को बड़ी सहजता से एक मोरपंख के रूप में अपने मुकुट पर धारण किये हुए हैं।


श्री कृष्ण हम सबके भीतर एक आकर्षक और आनंदमय धारा के रुप में विराजमान हैं। जब मन में कोई बेचैनी,चिंता या इच्छा न हो तब ही हम गहरा विश्राम पा सकते हैं भाद्रपद कृष्ण अष्टमी को मथुरा वासियों में एक गहरे विश्राम में ही मथुरा में श्री कृष्ण का जन्म हुआ। श्री कृष्ण जन्माष्टमी का आशय ही यही है कि समाज में खुशी की एक लहर लाने का समय है -यही श्री जन्माष्टमी का भी संदेश है। हमारा हर पर्व उत्सव गंभीरता के साथ आनंदपूर्ण बनें।

भगवानपुर में भाजपा का कार्यकर्ता सम्मेलन किया गया आयोजित




*कार्यकर्ताओं की बदौलत भाजपा है दुनिया का सबसे बड़ा संगठन: रेखा वर्मा, कार्यकर्ता सम्मेलन में पहुंची उत्तराखंड प्रदेश सह प्रभारी एवं जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान का पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश एवं पार्टी कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत*


*भगवानपुर*30 अगस्त ( कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवानपुर) सोमवार को कस्बे में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और उत्तराखंड प्रदेश सह प्रभारी रेखा वर्मा का बतौर मुख्य अतिथि व वरिष्ठ अतिथि जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान का पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार द्वारा एवं कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रेखा वर्मा ने कार्यकर्ताओं की जमकर तारीफ भी। कहा कार्यकर्ताओं की बदौलत ही भाजपा दुनिया का सबसे बड़ा संगठन है। यही हमारी सबसे बड़ी ताकत है। इसलिए कार्यकर्ताओं का सम्मान हमेशा बना रहना चाहिए। कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा किा कि वह घर-घर जाकर पार्टी की रीति नीति के बारे में लोगों को जागरूक करें। सरकारी योजनाओं की जानकारी लोगों को दें। पूरी तरह से संगठित होकर उम्मीदवार को जिताने का काम करें। प्रदेश सह प्रभारी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश लगातार आगे बढ़ रहा है। करोना संक्रमण के बावजूद देश की विकास दर ठीक है। इस मौके पर देवी सिंह राणा, मंडी समिति चेयरमैन मनोज कपिल, मंडल अध्यक्ष जितेंद्र सैनी, प्रधान नरेश धीमान ,संजय चौधरी, सुशील राठी ,हिमांशु चौधरी,अनिल प्रधान, सुरेंद्र वर्मा,अजय गोयल, प्रदीप चौधरी, राजेश सैनी, जगदीश सैनी, रोहित कुमार, अनिल सैनी, मनोज कुमार आदि मौजूद रहे।

परमार्थ निकेतन में स्वामी चिदानंद मुनि के सानिध्य में श्रद्धा भाव के साथ मनाया जा रहा है श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व

💥 *जन्माष्टमी जीवन महोत्सव का पर्व-पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज*

*ऋषिकेश, 30 अगस्त ( अमरे


श दुबे संवाददाता गोविंद कृपा ऋषिकेश)* परमार्थ निकेतन में आज पूजन, ध्यान और भजन-कीर्तन के साथ सात्विकता से श्री कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने देशवासियों को जन्माष्टमी की शुभकामनायें देते हुये कहा कि भगवान विष्णु के आठवें अवतार भगवान श्री कृष्ण का जन्म समाज में व्याप्त बुराईयों को नष्ट करने के लिए हुआ था। आज का शुभअवसर हमें शत्रुता की भावना, सामाजिक बुराइयों और नकारात्मकता को समाप्त कर धार्मिक मार्ग पर अग्रसर होने का संदेश देता है।

पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि कृष्ण जन्माष्टमी का पावन पर्व मन के सौंदर्य और आनंद को निखारने के साथ ही जीवन को सत्य की ओर बढा़ने का संदेश देता है। भगवान श्री कृष्ण, गीता के माध्यम से अर्जुन से कहते हैं, “मैं सुंदरता में सौंदर्य, बलवान में शक्ति, बुद्धिमान में ज्ञान हूँ।“ भगवान श्री कृष्ण की शिक्षाओं ने मानव जाति पर एक स्थायी छाप छोड़ी है। वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों के लिए भी उनकी शिक्षायें एक मार्गदर्शक का कार्य करती रहेगी। भगवान कृष्ण और उनकी दिव्य शिक्षाओं का शाश्वत संदेश हमें सादगी, खुशी, विश्वास और आशीर्वाद के साथ सकारात्मकता से जीवन जीने का संदेश देता है। 

पूज्य स्वामी जी ने कहा कि जन्माष्टमी का पर्व जीवन को महोत्सव बनाने का संदेश देता है। जीवन में आने वाली हर चुनौतियों से उबरने और बदलावों को स्वीकार करने की शिक्षा हमें “भगवान श्री कृष्ण के जीवन से मिलता है। जीवन के किसी भी मोड़ पर बाहरी परिस्थितियों के कारण अपने आप को खोना मत, कभी भी अपनी मुस्कुराहट को मत खोना, अपना जीवन गीत हमेशा बनाये रखना यह संदेश भगवान श्री कृष्ण ने अपनी जीवन लीलाओं से हमें दिया है।


श्री कृष्ण भगवान का पूरा जीवन ही परीक्षाओं से भरा रहा। उनका जन्म जेल की एक बंद कोठरी में कारागार में हुआ और जीवन भर उन्होंने अनेक संघर्ष किये उनके सामने असंख्य चुनौतियां आयी परन्तु उन्होंने हमेशा अपनी दिव्य मुस्कान को बनाये रखा और प्रसन्नता के साथ  आने वाली सभी समस्याओं का सामना किया, उन्होंने हमेशा अपनी बांसुरी के मधुर संगीत को जीवंत बनाये रखा। भगवान श्री कृष्ण की बांसुरी का गीत हमेशा बजता रहा वे जहां भी गये उनका गीत उनके साथ ही था। उन्होंने कभी नहीं कहा, “मैं आज मेरा मूड ठीक नहीं है इसलिए मैं अपनी बांसुरी नहीं बजाऊंगा।“ यह हम सभी के लिये एक दिव्य संदेश है कि परिस्थितियां कैसी भी हों परन्तु हम अपने जीवन का संगीत हमेशा जिन्दा रखेंगे। अपने जीवन को महोत्सव बनाये रखने का प्रयास करेंगे।  हमारे भीतर करुणा का संचार होता रहे, अज्ञानता रूपी अंधेरा दूर हो और भगवान श्री कृष्ण की दिव्य कृपा का आशीर्वाद सभी पर सदैव बना रहे, आईये इसी कामना के साथ पुनः जन्माष्टमी की आप सभी को शुभकामनायें!



टोडा कल्याणपुर में कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन का भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया जोरदार स्वागत

 रूडकी /टोडा कल्याण पुर 30 अगस्त ( संजय सैनी संवाददाता गोविंद कृपा रुड़की)




टोडा कल्याणपुर शक्ति केंद्र मंडल उपाध्यक्ष संजय सिंह सैनी जी के आवास  पर बूथ सत्यापन के कार्यक्रम में मंडल महामंत्री अशोक कुमार पांडे जी, मंडल उपाध्यक्ष संजय सैनी जी, मंडल मंत्री sc मोर्चा बिरमपाल जी, टोडा कल्याणपुर शक्ति केंद्र के सभी कार्यकर्ताओं व ग्रामीणों द्वारा माननीय विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन जी व मंडल अध्यक्ष विकास पाल जी का जोरदार स्वागत किया गया और माननीय विधायक जी व मंडल अध्यक्ष द्वारा गांव के 128-राहुल कुमार,129 महावीर कुमार 130 प्रदीप सैनी 131 बिजेंद्र सैनी 132 सुखबीर सैनी बूथ अध्यक्ष व शक्ति केंद्र संयोजक सुनील सैनी,  का स्वागत किया गया और माननीय विधायक जी व मंडल अध्यक्ष जी ने बूथ को मजबूत करने के लिए ग्रामीणों को संबोधित किया टोडा कल्याणपुर शक्ति केंद्र पर बूथ  के सभी कार्यकर्ता उपस्थित रहे माननीय विधायक जी और माननीय मंडल अध्यक्ष जी का सभी कार्यकर्ताओं व ग्रामीणों की ओर से बहुत-बहुत धन्यवाद और आभार व्यक्त किया गया। 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दिए धारचूला के जुम्मा गांव में राहत कार्य शुरू करने के निर्देश

पिथौरागढ़ के गांवो में राहत को लेकर कौशिक ने किया कार्यकर्त्ताओं को अलर्ट,राहत कार्य शुरू करने के निर्देश


देहरादून 30 अगस्त, (जे के रस्तौगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून)  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मदन कौशिक ने पिथौरागढ के तहसील धारचूला के ग्राम जुम्मा में भारी वर्षा से हुए नुकसान को लेकर प्रभावितो के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है और राहत कार्यों को लेकर  संगठन को अलर्ट किया है। श्री कौशिक ने जिलाध्यक्ष पिथौरागढ श्री वीरेंद्र वल्दीया से दूरभाष पर वार्ता कर स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने तत्काल एक टीम सम्बंधित गावं में जाकर राहत कार्य शुरू करने के निर्देश दिये। उन्होंने  पीड़ित परिवारों को  खाद्य सामग्री, दवाइयों और जरूरी सामान मुहैया कराने के निर्देश दिया। इसके साथ ज़िला प्रशासन और राहत कार्यों में लगी एजेन्सि यो के साथ तालमेल बनाकर जरुरतमन्दो को मौके पर पहुँँचकर मदद पहुचाने को कहा। श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश भर के कई क्षेत्रो में भारी बारिश के कारण नुकसान की आशंका है और कार्यकर्ताओ को हर स्तिथी में तत्परता से कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दुःख की घड़ी में भाजपा पीड़ितों के साथ पूरी तरह से खड़ी है।


उत्तरायण कला केंद्र में किया सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन बच्चों ने पेश की मनमोहक प्रस्तुतियां



 सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भागीदारी से बच्चों की निखरती है प्रतिभा : अनिरूद्ध भाटी

जन्माष्टमी के पावन पर्व पर उत्तरायन कला केन्द्र ने किया सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित

हरिद्वार, 30 अगस्त    ( वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  जन्माष्टमी के पावन पर्व पर उत्तरायन कला केन्द्र ने मुखिया गली स्थित आश्रम में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया। बच्चों ने सरस्वती वंदना से सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारम्भ किया जहां नन्हे-मुन्हे बच्चों ने अपनी प्रस्तुतियों से सभी का मंत्र मुग्ध कर दिया। उत्तरायन कला केन्द्र की संचालिका कविता सकलानी के संयोजन में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भागीदारी से बच्चों की प्रतिभा निखरती है। जहां उनका आत्मविश्वास बढ़ता है वहीं उन्हें बेहतर करने की प्रेेरणा भी मिलती है। अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि टीवी और मोबाईलों ने बच्चों का बचपन छीन लिया है ऐसे में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन बच्चों को सार्थक दिशा प्रदान करता है। 

शहर व्यापार मण्डल के कोषाध्यक्ष अमित गुप्ता ने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन से बच्चों में सहयोग व समन्वय का भाव विकसित होता है। कोरोना के चलते विगत दो वर्षों से बच्चे घरों मेें कैद हैं ऐसे में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन बच्चों को प्रेरित करने का कार्य करेगा।

मां गंगा भागीरथी व्यापार मण्डल के अध्यक्ष सूर्यकान्त शर्मा व नीरज शर्मा ने कहा कि उत्तरायन कला केन्द्र ने क्षेत्र में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित कर बच्चों को सार्थक मंच प्रदान करते हुए अपनी संस्कृति व संस्कारों से अवगत कराने का प्रयास किया है। 

उत्तरायन कला केन्द्र की संचालिका कविता सकलानी, अक्षित सकलानी, नीता व्यास, प्रतिज्ञा दूबे, ऋचा, मनीषा, सताक्षी, दिव्यांशी, तनीशा, उर्वि, अमन ने कार्यक्रम में अपना सहयोग प्रदान किया। 

इस अवसर पर मुख्य रूप से अमित गुप्ता, मां गंगा भागीरथी व्यापार मण्डल के अध्यक्ष सूर्यकान्त शर्मा, गगन यादव, नीरज शर्मा, पार्षद प्रतिनिधि दिनेश शर्मा, राघव ठाकुर, सोनू पंडित, रूपेश शर्मा, भारत नन्दा, दिनेश शर्मा, जितेन्द्र यादव समेत अनेक गणमान्यजन उपस्थित रहे।

गढ़वाल महासभा ने सहयोगियो को किया सम्मानित

 देवभूमि की समृद्ध है सांस्कृतिक विरासत : महंत विष्णु दास

गढ़वाल महासभा ने शिव विश्राम गृह में आयोजित कार्यक्रम में महाकुम्भ पर्व व देव डोलियों के आगमन पर सहयोग करने वाले अधिकारियों व सामाजिक कार्यकर्त्ताओं को प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिन्ह भेंटकर किया सम्मानित

हरिद्वार, 30 अगस्त ( वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार



) तीर्थनगरी हरिद्वार की प्रतिष्ठित सामाजिक संस्था गढ़वाल महासभा ने शिव विश्राम गृह अपर रोड, हरिद्वार में आयोजित समारोह में महाकुम्भ पर्व व देव डोलियों के आगमन पर सहयोग करने वाले अधिकारियों, जन प्रतिनिधियों, व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों व सामाजिक कार्यकर्त्ताओं को प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री उछाली आश्रम के परमाध्यक्ष महंत विष्णुदास जी महाराज ने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड की सांस्कृतिक विरासत समृद्ध है। जिस प्रकार अन्य प्रदेशों में अपनी संस्कृति व सभ्यता को विभिन्न माध्यमों से सुरक्षित रखते हुए आगे बढ़ाया जा रहा है उसी प्रकार गढ़वाल महासभा प्रदेश की युवा पीढ़ी को अपनी संस्कृति व संस्कारों से जोड़ने का कार्य कर रही है। उत्तराखण्ड देवभूमि है यह हर व हरि का द्वार है। उत्तराखण्ड के कण-कण में देवताओं का वास है ऐसे में प्रत्येक प्रदेशवासी व आने वाले तीर्थयात्रियों तथा पर्यटकों को अपनी संस्कृति से अवगत कराना संस्कृति का संरक्षण करना हम सबका सामूहिक दायित्व है।  

गढ़वाल महासभा के संरक्षक महंत अनिल गिरि ने कहा कि गढ़वाल महासभा ने महाकुम्भ के अवसर पर देव डोलियों के स्वागत का विराट कार्यक्रम आयोजित करने की व्यवस्था की थी अचानक कोविड गाइड लाईन के चलते सूक्ष्म रूप में देव डोलियों का स्वागत किया गया जिसमें प्रशासनिक अधिकारियों, जन प्रतिनिधियों, व्यापार मण्डल, गंगा सभा व सामाजिक संस्थाओं का अपार सहयोग मिला। भविष्य में भव्य रूप में देव डोलियों का स्वागत व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन गढ़वाल महासभा करेगी।

अध्यक्ष मुकेश जोशी ने कहा कि गढ़वाल महासभा को समाज के सभी लोगों का सहयोग प्राप्त होता है। उत्तराखण्ड की संस्कृति व संस्कारों को अक्षुण्ण रखते हुए गढ़वाल महासभा सदैव सामाजिक व जनहितकारी कार्यों में अपना योगदान प्रदान करेगी।

इस अवसर पर गढ़वाल महासभा की ओर से प्रशासनिक अधिकारियों, जन प्रतिनिधियों, व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों व सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों का प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिन्ह प्रदान कर अभिनन्दन किया गया।

गढ़वाल महासभा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष पुरुषोत्तम प्रसाद गोदियाल, महामंत्री बीडी मंडोलिया, कोषाध्यक्ष जसराम व अन्य पदाधिकारियों ने उपस्थित गणमान्यजनों का स्वागत किया। उसके पश्चात गंगा जी की दिव्य और भव्य वेदोक्त कर्मकांड विधान के द्वारा पूजन अर्चन किया गया। तथा गंगा आरती की गयी।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ. सुनील जोशी, डॉ. सुनील बत्रा, पुरूषोत्तम शर्मा, कुम्भ एसपी डॉ. सुरजीत सिंह पंवार, कुम्भ सीओ प्रकाशचन्द्र देवली, भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी, पूर्व पार्षद सुभाष चन्द, कन्हैया खेवड़िया, व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष सुरेश गुलाटी, महामंत्री संजीव नैयर, गोपालकृष्ण बड़ोला, निर्दोष ममगाई, रतनमणि डोभाल, महेश गौड़, ललितेन्द्र नाथ, सोमप्रकाश नैथानी, आर.के. चतुर्वेदी समेत अनेक गणमान्यजनों को सम्मानित किया गया।

इस मौके पर रमेश रतूड़ी, श्रीमती सरोज ममगाईं, उर्मिला, सच्चिदानंद भट्ट, सोहनलाल कुकरेती, अनु कोठियाल, भगवान जोशी, दिनेश डोबरियाल, गोपाल तिवारी, भगवती सती, लता पंत, दिनेश सकलानी, सरिता पुरोहित, नागेंद्र पुरोहित, निशा नौटियाल, इंदु बहुखंडी, मनु रावत, प्रतिमा बहुगुणा, सुषमा रावत, रीता चमोली, विमला, डीएस नेगी, डॉ. सोहनलाल बलूनी, डॉ. देवीप्रसाद उनियाल, अरविंद थपलियाल, आरके चतुर्वेदी, प्रमोद डोभाल समेत अनेक गणमान्यजन उपस्थित रहे।

भगवान श्री कृष्ण के अवतरण "दिवस पर पर गायत्री साधकों ने रोपित किए हजारों पौधे




 राष्ट्रीय तरुपुत्र रोपण महायज्ञ के साथ

२०१ स्थानों में शांतिकुंज स्वर्ण जयंती वन के लिए वृक्षारोपण

देश के कई लाख घरों में लगाये गये औषधीय पौधे

हरिद्वार, ३० अगस्त।( अमर शदाणी संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) हरिद्वार स्थित शांतिकुंज में स्थापना की स्वर्ण जयंती के अवसर पर जन्माष्टमी पर्व के दिन राष्ट्रीय स्तर पर तरुपुत्र रोपण महायज्ञ आयोजित हुआ। साथ ही माताजी की बाडी, शांतिकुंज स्वर्ण जयंती वन के लिए पौधे रोपकर शुभारंभ हुआ। इस अवसर पर उत्तराखण्ड सरकार में अपर सचिव सी रविशंकर जी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। देश के विभिन्न राज्यों के परिजन आनलाइन जुड़कर इस महायज्ञ में भागीदारी की।

इस अवसर पर आनलाइन जुड़े अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि शांतिकुंज स्थापना की स्वर्ण जयंती के अवसर पर चलाये जा रहे रचनात्मक कार्यक्रमों की शृंखला में शांतिकुंज स्वर्ण जयंती वन की स्थापना प्रमुख आंदोलनों में से एक है। कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर देश के चयनित पचास से अधिक स्थानों पर एक साथ शांतिकुंज स्वर्ण जयंती वन में पौधे लगाकर शुभारंभ हुआ। इसकी संख्या भविष्य में और बढ़ाई जायेगी। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण भविष्य को सुरक्षित रखने का प्रमुख कार्य है। 

मुख्य अतिथि श्री सी रविशंकर (सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, उत्तराखण्ड) ने कहा कि शांतिकुंज की स्वर्ण जयंती वर्ष में महावृक्षारोपण अभियान पर्यावरण संरक्षण की दिशा में एक कारगर उपाय है। इस अभियान में सभी को एक साथ जुड़कर कार्य करना चाहिए। पर्यावरण शुद्ध होगा, तभी हमारा भविष्य सुरक्षित रह पायेगा। श्री रविशंकर ने कहा कि गायत्री परिवार विगत कई वर्षों से विभिन्न रचनात्मक अभियान चला रहा है, हम सभी को इसमें भागीदारी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड सरकार भी पर्यावरण संरक्षण के लिए हरेला जैसे विभिन्न योजनाएँ चला रही है। देवसंस्कृति विश्व विद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि प्रकृति का सिद्धांत बोओ और काटो का है। हमने प्रकृति का दोहन किया है, परिणामस्वरूप हमें इन दिनों विभिन्न कष्ट, कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण की समस्या किसी एक धर्म, सम्प्रदाय की नहीं, वरन् सभी प्राणी के लिए है। इसलिए धर्म सम्प्रदाय से ऊपर उठकर सामूहिक जिम्मेदारी के साथ  कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति के मूल आधार प्रकृति और वृक्ष को संरक्षित रखना हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी होनी चाहिए। प्रतिकुलपति ने विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से बिगड़ती पर्यावरण समस्या पर इंगित करते हुए समाधान भी बताया। आनलाइन जुड़े वैज्ञानिक डॉ. प्रवीण चन्द्र दुबे ने जलवायु परिवर्तन और वृक्षारोपण पर विस्तृत जानकारी दी।

इससे पूर्व शांतिकुंज में स्वर्ण जयंती के अवसर पर महावृक्षारोपण कार्यक्रम का शुभारंभ वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ हुआ। संगीत विभाग ने पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित करने वाला गीत प्रस्तुत किया। महावृक्षारोपण अभियान के संयोजक श्री केदार प्रसाद दुबे ने बताया कि कई लाख घरों में माता भगवती बाड़ी और श्रीराम स्मृति उपवन की स्थापना करते हुए पौधे रोपे गये। सभी ने पौधे के खाद पानी के साथ आवश्यक सुरक्षा देने के लिए भी संकल्पित हुए। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र, उप्र, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, मप्र सहित विभिन्न राज्यों में दौ सो एक स्थानों में शांतिकुंज स्वर्ण जयंती वन के लिए वृक्षारोपण किया गया। इसके साथ ही कई लाख घरों में औषधीय पौधें रोपे गये। इस अवसर पर शांतिकुंज परिसर में देवसंस्कृति विवि के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या एवं श्री सी रविशंकर ने सपत्नीक एक-एक पौधे रोपे।


असंभव को संभव करने आती हैं अवतारी सत्ता ः डॉ पण्ड्या

शांतिकुंज में प्रतीकात्मक रूप से मनाई गयी कृष्णजन्माष्टमी

हरिद्वार ३० अगस्त। 

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी प्रतीकात्मक रूप से उत्साहपूर्वक मनाई गयी। इस अवसर पर श्रीकृष्ण की भव्य झांकी सजाई गयी थी। श्रद्धालुओं ने विधि विधान से पूजा अर्चना की। सम्पूर्ण कार्यक्रम आनलाइन सम्पन्न किये गये। 

इस अवसर पर अपने वीडियो संदेश में अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या कहा कि असंभव कार्य को संभव करने हेतु अवतारी सत्ताएँ समय-समय पर आती रही हंै। भगवान श्रीकृष्ण का अवतार असंभव सा दिखने वाला कार्य को संभव करने के लिए था। श्रीकृष्ण ने अपने जन्म के साथ ही लीलाएँ प्रारंभ कर दिया था और उनके सहयोगी के रूप में कुछ लोग ही शामिल रहे। लीलापुरुष श्रीकृष्ण का  प्रत्येक कार्य किसी न किसी उद्देश्य को पूरा करने के लिए होता था। गीता मर्मज्ञ डॉ. पण्ड्या श्रीकृष्ण के जन्म से लेकर आखिरी समय तक का मार्मिक ढंग से उद्धृत किया। उन्होंने विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से जनमानस को राक्षसी प्रवृत्ति से दूर रहने के विविध उपायों को जानकारी दी। कहा कि दुष्प्रवृत्तियाँ मानव जीवन को खोखला एवं नष्ट कर देती है। देवसंस्कृति विवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. पण्ड्या ने आज की समस्याओं की ओर इंगित करने प्रकृति के अनुरूप जीवन जीने के लिए प्रेरित किया।

इस अवसर पर श्री श्याम बिहारी दुबे ने श्रीकृष्ण लीला का वर्णन किया। तो वहीं संगीत विभाग के भाइयों ने भावपूर्ण संगीत प्रस्तुत किये।

जिला भाजपा कार्यालय पर रेखा वर्मा ने किया भाजपा कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन




हरिद्वार 30 अगस्त ( वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ) जिला भाजपा कार्यालय हरिद्वार पहुंची भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, लोकसभा सांसद एवं उत्तराखंड सह प्रभारी रेखा वर्मा ने कार्यकर्ताओं से संवाद किया उन्होंने कार्यकर्ताओं से आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए संगठन द्वारा दिए जा रहे कार्यों में जुटने का आवाहन किया उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय नेतृत्व द्वारा इस समय राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान एवं बूथ समिति सत्यापन अभियान के रूप में दो प्रमुख कार्यक्रम चल रहे हैं उन्हें गंभीरता से लेते हुए सभी कार्यकर्ता बढ़-चढ़कर प्रतिभाग करें क्योंकि बूथ ही हमारे संगठन की सबसे अहम कड़ी है हमारा बूथ सबसे मजबूत मंत्र को ध्यान में रखते हुए कार्य करने पर जोर दिया एवं केंद्र तथा राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं को जन जन तक पहुंचाने का आव्हान किया उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में जनकल्याण के लिए अनेकों योजनाएं चलाई जा रही हैं वह अत्यंत सराहनीय है उनके युवा नेतृत्व में उत्तराखंड विकास के नए आयाम स्थापित कर रहा है इस अवसर पर जिला अध्यक्ष डॉ जयपाल सिंह चौहान ने पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश संगठन द्वारा किए गए आवाहन अबकी बार 60 पार में हरिद्वार जिले के सभी कार्यकर्ताओं की ओर से मैं यह विश्वास दिलाता हूं कि हम हरिद्वार जनपद की सभी सीटों पर रिकॉर्ड मतों से विजय प्राप्त करने जा रहे हैं इसके लिए उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं से बूथ स्तर तक जाकर कार्य करने को कहा इस अवसर पर जिला महामंत्री आदेश सैनी, विकास तिवारी जिला उपाध्यक्ष संदीप गोयल, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी सुनील सैनी, जिला कार्यालय प्रभारी लव शर्मा, जिला मंत्री आशु चौधरी, मनोज पवार सोशल मीडिया प्रभारी मोहित वर्मा, मंडल अध्यक्ष नागेंद्र राणा, वरिष्ठ नेता प्रमोद शर्मा, दिनेश शर्मा, सभासद गरिमा सिंह, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य हर्ष कुमार दौलत, नितिन चौहान आदि पदाधिकारी कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 

भगवान श्री कृष्ण की इस स्तुति के साथ करें आज आराधना

 किसी भी व्रत की पूजा मैं श्री भगवान की स्तुति भी एक महत्वपूर्ण भाग होती है माना जाता है कि भगवान स्तुति वंदना करने से जल्दी प्रसन्न होते हैं जन्माष्टमी के पावन पर्व पर भगवान श्री कृष्ण के प्रकट प्रकटोत्सव के दौरान सबसे पहले स्तुति करनी चाहिए।

 भगवान श्रीकृष्ण की स्तुति।

 श्री कृष्ण चंद्र कृपालु भजमन, नंद नंदन सुंदरम,

अशरण शरण भव भय हरण, आनंदघन राधा वरम,

सिर मोर मुकुट विचित्र मणिमय, मकरधारिणमम्।

मुख चंद्र द्विति नख चंद्र द्विति, पुष्पित निकुंजविहरिणमम्। 

मुस्कान मुनि मन मोहिनी, चितवन चपल वपु नटवरम्। 

वन माल ललित कपोल मृदु, अधरन मधुर मुरली धरम्। 

वृषभान नंदिनी वामदिशि, शोभित  सुभग सिहासनम्

ललितादि सखी जिन सेवहि करि चवर छत्र उपासनम्।



जय श्री कृष्ण " गोविंद कृपा परिवार की ओर से आप को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की मंगल कामनाऐ

 आइए जानते हैं श्री कृष्ण जी ने जन्म के लिए बुधवार का दिन और रात्रि 12:00 बजे का समय क्यों चुना था

जन्माष्टमी का पर्व देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है भगवान विष्णु ने श्री कृष्ण जी के रूप में आठवां अवतार लिया था लेकिन क्या आप जानते हैं श्री कृष्ण ने जन्माष्टमी के दिन रात्रि 12:00 बजे ही क्यों जन्म लिया था इतना ही नहीं जिस दिन श्री कृष्ण ने जन्म लिया उस दिन बुधवार था इनके पीछे भी एक रहस्य था आइए डालते हैं इस रहस्य पर एक नजर।

द्वापर युग में श्री कृष्ण ने रोहिणी नक्षत्र में जन्म लिया था इसका मुख्य कारण उनका चंद्रवंशी होना था धार्मिक मान्यता के अनुसार श्री कृष्ण चंद्रवंशी थे उनके पूर्वज चंद्रदेव थे और वह बुध चंद्रमा के पुत्र हैं इसी कारण श्री कृष्ण ने चंद्रवंश में जन्म लेने के लिए बुधवार का दिन चुना था ज्योतिषियों के अनुसार रोहिणी ने चंद्रमा की प्रिय पत्नी और नक्षत्र है जिस कारण श्रीकृष्ण ने रोहिणी नक्षत्र में जन्म लिया था वही अष्टमी तिथि को जन्म लेने का भी एक कारण था दरअसल अष्टमी इसी शक्ति का प्रतीक है श्री कृष्ण शक्ति संपन्न स्वयंभू और परब्रह्म है इसलिए वह अष्टमी को जन्मे थे चंद्रमा रात में निकलता है और उन्होंने अपने पूर्वजों की उपस्थिति में जन्म लिया था इतना ही नहीं ऐसा भी कहा जाता है कि चंद्र देव की इच्छा थी कि श्री हरि विष्णु भगवान मेरे कुल में जन्म ले और मैं उनका प्रत्यक्ष दर्शन कर सकूं पौराणिक कथाओं के अनुसार श्रीकृष्ण जन्म के समय धरती से आकाश तक सारा वातावरण सकारात्मक हो गया था इतना ही नहीं श्रीकृष्ण ने योजनाबद्ध तरीके से मथुरा में जन्म लिया था।


स्वामी चिदानंद मुनि ने खेल दिवस पर मेजर ध्यानचंद को किया नमन





💥 *खेल भावना ही सेवा भावना है-पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज*

*ऋषिकेश, 29 अगस्त ( अमरेश दुबे संवाददाता गोविंद कृपा ऋषिकेश)* देश के सर्वोच्च खेल सम्मान खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित ‘मेजर ध्यानचंद जी के जन्म दिवस पर उन्हें याद करते हुये परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि ‘द विजार्ड’ के नाम से मशहूर हमारे मेजर ध्यानचंद जी ने युवाओं को हॉकी खेलने के लिये प्रेरित किया। फील्ड हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद ने वर्ष 1926 से 1949 तक अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खेली और अपने कॅरियर में 400 से अधिक गोल किये। इलाहाबाद में जन्में ध्यानचंद उस ओलंपिक टीम का हिस्सा थे, जिसने वर्ष 1928, 1932 और 1936 में स्वर्ण पदक जीते इस हॉकी के हीरो को भावभीनी श्रद्धाजंलि।
पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज आज मेजर ध्यानचंद जी के जन्मदिवस पर भारत के युवाओं का आहृवान करते हुये कहा कि ’भारत की युवा शक्ति अपनी शिक्षा के साथ खेल में भी विशेष ध्यान दे। अपने लक्ष्य को निर्धारित करें और अपने अवकाश को भी सेवा कार्यों में लगायें तथा राष्ट्र और समाज के उत्थान में बढ़-चढ़ कर अपना योगदान प्रदान करें। 
स्वामी जी ने कहा कि जीवन मूल्यों के साथ अपने कर्तव्यों को पूरा करें और लक्ष्यों को निर्धारित करते रहे। जीवन मेेें देशसेवा को स्थान दें तथा अपनी शक्तियों को सकारात्मक दिशा में लगाये। युवा खेल में योगदान दे; हम विकास करे पर अपनी जड़ों से भी जुुड़ें रहे क्योंकि जड़ों से खोखला हुआ वृक्ष ज्यादा दिनों तक हरा-भरा नहीं रह सकता उसी प्रकार जड़ों से; संस्कृति से; संस्कारों से अलग होकर हमारे राष्ट्र का युवा भी उस गौरव को प्राप्त नहीं कर सकता जिसका वास्तव में वह अधिकारी 
पूज्य स्वामी जी ने कहा कि युवाओं को अपने जीवन में हर क्षेत्र को विकसित करना होगा। अपने जीवन के विभिन्न पहलूओं पर ध्यान देने के साथ दूसरों के दुखों को दुर करने पर भी ध्यान देना जरूरी है। सेवा के लिये तो बस हृदय में भाव होने चाहिये जिस दिन ये भाव जाग्रत हो जाते है तब न कोई अपना होता है न पराया, तब तो बस सेवा ही हमारा धर्म और सेवा ही हमारी साधना होती है और यही हमें खेल सिखाता है, यही खेल भावना भी है।

ज्ञात हो कि हॉकी के जादूगर कहे जाने वाले मेजर ध्यानचंद की जयंती को भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस के तौर पर मनाया जाता है। दूसरे विश्व युद्ध से पहले ध्यानचंद ने 1928 (एम्सटर्डम), 1932 (लॉस एंजेलस) और 1936 (बर्लिन) में लगातार तीन ओलंपिक खेलों में भारत भारत का प्रतिनिधित्व किया और तीनों बार देश को स्वर्ण पदक दिलाया। उन्हें 1956 में पद्मभूषण से समानित किया गया था।

देवभूमि प्रेस क्लब भगवानपुर की कार्यकारिणी ने ली शपथ



*देवभूमि प्रेस क्लब के शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन भव्य तरीके से किया गया, पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने कहा त्याग व समर्पण देती है पत्रकारिता को मजबूती*


*भगवानपुर* 29 अगस्त ( कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवानपुर। )


भगवानपुर कस्बे के एक होटल में देवभूमि  प्रेस क्लब के शपथ ग्रहण समारोह कार्यक्रम में पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश व कई जनप्रतिनिधि भी शामिल हुए। उप जिलाधिकारी ने क्लब के पदाधिकारियों को शपथ दिलाई। इस मौके पर भगवानपुर नगर पंचायत क्षेत्र में स्वर्गीय कैबिनेट मंत्री सुरेंद्र राकेश के स्मृति में एक लाइब्रेरी खुलवाए जाने तथा तथा भगवानपुर में एक सामूहिक प्रेस क्लब स्थापना के लिए भूमि उपलब्ध कराए जाने तथा निर्माण कराए जाने के लिए भी अलग से निर्माण राशि पांच लाख रुपए  दिए जाने की घोषणा की गई।

रविवार दोपहर आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में प्रेस क्लब के अध्यक्ष सुदेश कांत शर्मा उपाध्यक्ष जितेंद्र सैनी महासचिव  तौसीफ अली कोषाध्यक्ष आलिम मलिक समेत अनेक पदाधिकारियों को भगवानपुर उप जिलाधिकारी स्मृता परमार ने शपथ दिलाई । इस मौके पर पूर्व राज्यमंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने पदाधिकारियों से निष्पक्ष ,ईमानदारी के साथ कर्तव्य पालन किए जाने की अपील भी की है और सुबोध राकेश ने संबोधन में कहा कि मीडिया के लोग सदैव भारी दिक्कतों का सामना करने के बाद  अहम भूमिका अदा करते हैं । उन्होंने एक माह के भीतर नगर पंचायत क्षेत्र में भवन के प्रेस क्लब लिए आवश्यक भूमि उपलब्ध कराए जाने की घोषणा भी की। कार्यक्रम की अध्यक्षता क्लब के पूर्व अध्यक्ष केपी सिंह ने की । इस मौके पर संजय पाल, विजेंद्र सैनी,राजेश सैनी, विश्वास , राजकुमार चौधरी ,अनिल त्यागी, दुष्यंत शर्मा,आशु मलिक, राहुल चौहान, शकील अहमद, सहदेव  समेत भगवानपुर व झबरेड़ा क्षेत्र के बीस से अधिक पत्रकार मौजूद रहे।

भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने लंढोरा मंडल में किया कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन

रूडकी / लंढौरा 29 अगस्त  (संजय सैनी संवाददाता गोविंद कृपा रुड़की) लंढौरा  मंडल खानपुर विधानसभा में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, लोकसभा सांसद व प्रदेश सह प्रभारी माननीय श्रीमती रेखा वर्मा जी का भव्य स्वागत किया गया माननीय श्रीमती रेखा वर्मा जी द्वारा विधानसभा के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया गया एवं भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं से संवाद कार्यक्रम में माननीय जिला अध्यक्ष जयपाल सिंह चौहान जी, माननीय विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन जी, माननीय विधानसभा प्रभारी चौधरी अजीत सिंह जी, माननीय  रानी देवयानी सिंह जी, माननीय सह मीडिया प्रभारी सुनील सैनी जी एवं लंढोरा मंडल अध्यक्ष विकास पाल जी खानपुर मंडल अध्यक्ष सुभाष सैनी जी एवं सभी मंडल के पदाधिकारी गण शक्ति केंद्र के संयोजक गण बैठक में उपस्थित र




हे

नागा सन्यासी सनातन हिंदू धर्म के रक्षक अहमद शाह अब्दाली का किया था मुकाबला

 जब अब्दाली दिल्ली और मथुरा में मारकाट करता गोकुल तक आ गया और लोगों को बर्बरतापूर्वक काटता जा रहा था। महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहे थे और बच्चे देश के बाहर बेचे जा रहे थे, तब गोकुल में अहमदशाह अब्दाली का सामना नागा साधुओं से हो गया। 

             कुछ 5 हजार चिमटाधारी साधु तत्काल सेना में तब्दील होकर लाखों की हबसी, जाहिल जेहादी सेना से भिड गए। 

        पहले तो अब्दाली साधुओं को मजाक में ले रहा था किन्तु कुछ देर में ही अपने सैनिकों के चिथड़े उड़ते देख अब्दाली को एहसास हो गया कि ये साधू तो अपनी धरती की अस्मिता के लिए साक्षात महाकाल बन रण में उतर गए।

             तोप तलवारों के सम्मुख चिमटा त्रिशूल लेकर पहाड़ बनकर खड़े 2000 नागा साधू इस भीषण संग्राम में वीरगति को प्राप्त हो गए लेकिन सबसे बड़ी बात ये रही कि दुश्मनों की सेना चार कदम भी आगे नहीं बढ़ा पाई जो जहाँ था वहीं ढेर कर दिया गया या फिर पीछे हटकर भाग गया।

           इसके बाद से ऐसा आतंक उठा कि अगर किसी मुस्लिम आक्रांता को यह पता चलता कि युद्ध में नागा साधू भाग ले रहे हैं तो वह लड़ता ही नहीं था। 

       देश का इससे बड़ा दुर्भाग्य कुछ नहीं है कि आज हम #औरंगजेब, #तैमूर, #अकबर जैसे बर्बर लुटेरो को तो याद रखते हैं, पर इन भारतीय वीर योद्धाओं के बारें में कुछ नहीं जानते जिन्होंने पग पग देश धर्म के लिए अपने सर गवांए हैं। हठयोग के सिद्ध सहज भाव में बैठकर भी आनंदित हैं।।।।




राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक कार्यशाला का हुआ रानीपुर विधानसभा में आयोजन

 *शिवालिक नगर :बीजेपी द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान के तहत कार्यशाला का किया गया आयोजन*:-


सभी बूथ में स्वास्थ्य स्वयं सेवक किए गए मनोनीत-

रानीपुर विधायक आदेश चौहान ने कार्यशाला के उद्देश्य पर डाला प्रकाश ,कहा बीजेपी ही ऐसी पार्टी है जिसने महामारी में बढ़ चढ़ कर पीड़ितो की सहायता की

 

 हरिद्वार / रानीपुर 29 अगस्त ( आर एस मान संवाददाता गोविंद कृपा  रानीपुर)



    भारतीय जनता पार्टी शिवालिक नगर मंडल के सभी बूथ के स्वयंसेवक को के साथ एक कार्यशाला राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान के तहत  सेक्टर 2 शिशु विद्या मंदिर में संपन्न हुई ।कार्यशाला में मुख्य वक्ता एवं प्रशिक्षक के रूप में भाजपा राष्ट्रीय सचिव एवं सांसद विनोद सोनकर उपस्थित रहे ।

वहीं राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान कार्यक्रम के संयोजक के नाते मंडल उपाध्यक्ष अतुल वशिष्ठ ने मंच का संचालन किया। उनके साथ सह संयोजक डॉ अमरीश शर्मा, महिला सह संयोजक रितु ठाकुर अभियान आईटी प्रभारी संदीप राठी भी उपस्थित रहे कार्यक्रम संयोजक अतुल वशिष्ठ  ने बताया कि कार्यशाला में प्रत्येक मंडल के सभी बूथ से दो दो लोगों की स्वयंसेवक मनोनीत किया गया ।वहीं राष्ट्रीय भाजपा राष्ट्रीय  सचिव एवं मुख्य वक्ता सांसद विनोद सोनकर ने कहा की बीजेपी परिवार और केंद्र सरकार महामारी के शुरुआती दौर से ही सेवा कार्य में जुटी हुई है और तीसरे लहर के संभावित खतरे को लेकर स्वयं सेवकों की नियुक्ति की जा रहीं हैं, ताकि लोगो को जागरूक करने के साथ साथ महामारी में हर सभव मदद किया जा सके । उन्होंने कहा कि करोना काल में जनहानि के लिए बहुत बड़ी जिम्मेदारी विपक्ष के राजनीतिक दलों की भी बनती है जिन्होंने वैज्ञानिकों की मेहनत को बनाए गए टीके के ऊपर जनता के बीच में भ्रम फैलाने का कार्य किया विधायक आदेश चौहान ने कहा आने वाले कोरॉना के तीसरे लहर से समाज के लोगों को जागरूक करें ,स्वास्थ्य लाभ उपलब्ध कराने वैक्सीनेशन में तेजी लाने जैसे कई उपयोगी कार्यक्रम के लिए भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय स्तर पर यह अभियान चला रही है ।

जिसके लिए आज 120 लोगों की कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में बताया गया कि यदि कोरोना की तीसरी लहर आती है तो राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अपने अपने क्षेत्र में लोगो को स्वास्थ्य की जांच से लेकर उनको चिकित्सा परामर्श दवाइयां एवं अन्य सभी प्रकार की जरूरी चीजें मुहैया करवायेगे इन्ही स्वास्थ्य सेवको को जिसमें स्वास्थ्य स्वयंसेवक को योग,प्राथमिक चिकित्सा प्रशिक्षण दिया गया जिससे भाजपा कार्यकर्ताओं को एक योद्धा के रूप में जनसेवा के लिये तैयार किया जा सके वही कार्यक्रम मैं जिला महामंत्री विकास तिवारी एवं रानीपुर विधानसभा प्रभारी आशुतोष शर्मा ने सम्बोधित करते हुये कहा की कर्म से ही कार्यकर्ताओ की पहचान होती है उन्होंने कहा प्रधानमंत्री मादी जी सदैव किसान गरीबो दलितों के प्रति संवेदनशील रहते हैं भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोरोना की दूसरी लहर में सेवा के अभूतपूर्व कार्य किये हैं भाजपा ही ऐसा संगठन है जो राजनीति के साथ सामाजिक सरोकार का कार्य करते हैं कार्यशाला में मुख्य रूप से जिला मंत्री अनामिका शर्मा ,मंडल महामंत्री राधेश्याम पाल , शीतल पुंडीर, अविनाश रोहिल्ला ,तुषार गॉड, गौरव पुंडीर, रवि चौधरी, रोबिन, अंकित श्रीवास्तव, पवनदीप, सचिन शर्मा, हितेश चौधरी, धीरज कश्यप, उज्जवल त्रिपाठी, नितिन कुमार शर्मा, अजय अरोरा, शिवकुमार, गगन उपाध्याय, कविता देवी, पारुल, शकुंतला देवी, दीपमाला गुप्ता, हिमानी अग्रवाल, सौरभ ठाकुर, शीला देवी ,सरिता नेगी, सीता चौहान, वीरेंद्र अवस्थी, सुभाष कपूर, राकेश कुमार, आदि सभी राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक उपस्थित रहे!

मातृ सदन में ब्रह्मचारी आत्मबोधा नंद का अनशन

 ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद के अनशन को दिया, विभिन्न संस्थाओं ने समर्थन


हरिद्वार 29 अगस्त ( वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)


गंगा रक्षा के लिए समर्पित संस्था मातृ सदन के ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद अपनी मांगों को लेकर 18 अगस्त से अनशन रूपी तपस्या पर बैठे हैं। उनकी तपस्या के 12 वें दिन रविवार को संगम ट्रस्ट हरिद्वार एवं एंटी करोना टास्क फोर्स के कार्यकर्ताओं ने मातृ सदन में जाकर उनकी अनशन रूपी तपस्या को समर्थन दिया। इसके साथ ही सभी कार्यकर्ताओं ने स्वामी शिवानंद की  मौजूदगी मेंआश्रम परिसर में शिकाकाई का पौधा लगाकर वृक्षारोपण अभियान को आगे बढ़ाया।इस मौके पर स्वामी शिवानंद ने कहा कि 

हरिद्वार में पाप बढ़ता जा रहा है। निर्दोषों को जेल में ठूंसा जा रहा है, वही अपराधी राज कर रहे हैं। धर्म का हास हो रहा है। गंगा रक्षा के लिए संतो को प्राण गवांने पड़े और शासन प्रशासन हत्यारों को बचाने में लगा है। ऐसे लोगों की पहुंच शासन प्रशासन से लेकर सरकार और न्यायालय तक है। लेकिन मातृ सदन दोषियों को सजा दिला कर ही रहेगा। इसी कड़ी में उनके शिष्य ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद का अनशन रूपी तक चल रहा है। रविवार को उनके अनशन का 12 वा दिन है। मातृ सदन सदैव सत्य की लड़ाई लड़ता आया है और लड़ता रहेगा। संगम ट्रस्ट हरिद्वार एवं एंटी करोना टास्क फोर्स के प्रतिनिधि मंडल ने भी मातृ सदन के आंदोलन को अपना समर्थन देते हुए मांगों पर कार्यवाही की मांग की है। इस मौके पर डॉ विजय वर्मा,  वर्षा वर्मा,  मनोज शुक्ला, मद्नेश मिश्रा, विवेक तिवारी, रमेश पांडेय, एसर्व, पांडेय, राज तिवारी सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...