प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में श्रीमद् भागवत कथा ने लिया विश्राम

 प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में चल रही श्रीमद्भागवत कथा ने लिया विश्राम 




हरिद्वार 31 दिसंबर ( संजय वर्मा  ) प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश जी महाराज के सानिध्य में विगत 1 सप्ताह से चल रहे श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ ने आज व्यास पूजन के साथ विश्राम लिया। इस अवसर पर सैकड़ों की संख्या में उपस्थित श्रद्धालु भक्तों ने व्यास पूजन कर विशाल महा आरती का प्रसाद ग्रहण किया। श्रीमद् भागवत कथा की विश्राम बेला में कथा व्यास परम पूज्य पवन शास्त्री ने सुदामा चरित्र  की कथा सुना कर श्रद्धालु भक्तों को कृष्ण और सुदामा की मित्रता राजा परीक्षित मोक्ष की कथाएंश्रवण कराई । इस अवसर पर अखंड परशुराम अखाड़े के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित अधीर  कौशिक मुख्य अतिथि रहे । उन्होंनेश्रीमद् भागवत का पूजन किया और आचार्य पीठ से आशीर्वाद प्राप्त किया । कथा के यजमान एवं संयोजक विपिन वडेरा परिवार ने आए हुए समस्त श्रद्धालु भक्तों का स्वागत किया एवं 1 जनवरी को होने वाले विशाल भंडारे के लिए अपने समस्त मित्रों को आमंत्रित किया ।

5 जनवरी को षड्दर्शन साधु समाज देगा ब्रह्मलीन महामंडलेश्वर स्वामी हंस प्रकाश जी महाराज को श्रद्धांजलि

 1 जनवरी से प्रारंभ होगा प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में गुरुदेव श्रद्धांजलि समारोह

 ब्रह्मलीन महामंडलेश्वर स्वामी हंस प्रकाश जी महाराज की 10 वीं पुण्यतिथि के अवसर पर 1 जनवरी से पांच दिवसीय समारोह का होगा आगाज

 हरिद्वार 31 दिसंबर ( संजय वर्मा ) श्री प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश जी महाराज के पावन सानिध्य में ब्रह्मलीन गुरुदेव महामंडलेश्वर स्वामी हंस प्रकाश जी महाराज की 10 वीं पुण्यतिथि के निमित्त पंच दिवसीय श्रद्धांजलि समारोह 1जनवरी से प्रारंभ होगा जिसके अंतर्गत प्रथम दिन1 जनवरी को भगवान शिव की पूजा अर्चना रुद्राभिषेक पंडित उमेश जोशी जी आचार्यत़्व में प्रारंभ होगा रुद्राभिषेक समारोह 


सोमवार को संपन्न होगा, मंगलवार को गोविंद कृपा परिवार की ओर से सांय  काल सुंदर पाठ का संगीतमय आयोजन किया जाएगा, बुधवार को श्री रामचरितमानस का पाठ एवं बृहस्पतिवार 5 जनवरी को श्रद्धांजलि समारोह आयोजित किया जाएगा । जिसमें षड्दर्शन साधु समाज ब्रह्मलीन गुरुदेव महामंडलेश्वर स्वामी हंस प्रकाश जी महाराज को श्रद्धा सुमन अर्पित करेंगा। इस अवसर परआध्यात्मिक विभूतिया,  राजनीतिज्ञ ,श्रद्धालु भक्तजन  समारोह में उपस्थित रहेंगे।

जूना अखाड़ा में दी गई हीराबेन को श्रद्धांजलि

 जूना अखाड़े के संतों ने दी पीएम मोदी की माता हीरा बेन को श्रद्धांजलि

माता अनुसुईया का अवतार थी माता हीरा बेन-श्रीमहंत हरि गिरी

हरिद्वार, 30 दिसम्बर ( गोपाल रावत वरिष्ठ पत्रकार )



प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की माता हीरा बेन के आकस्मिक निधन पर श्री पंचदशनाम जूना आवाड़े के नागा सन्यासियों ने भैरव घाट गंगा तट पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। जूना अखाड़ के अंतर्राष्ट्रीय सरंक्षक व अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने माता हीरा बेन को त्याग, तपस्या ममता व समर्पण की साक्षात प्रतिमूर्ति बनाते हुए कहा कि वह वास्तव में माता अनुसुईया का अवतार थी। जिन्होने कभी भी अपने पुत्रों से कोई अपेक्षा नहीं रखी। जिस प्रकार अभावो में रह कर भी उन्होंने अपने सस्कारों, शिक्षा व जीवट से परिवार का लालन पालन किया। यह उसी की परिणीति है कि देश को नरेन्द्र मोदी जैसे कालजयी प्रधानमंत्री का नेतृत्व मिला है। माता हीरा बेन का जीवन सम्पूर्ण नारी समाज के लिए एक अनुकरणीय उदाहरणर है। जिसे प्रत्येक नारी को आत्मसात करना चाहिए। दूधेश्वर पीठाधीश्वर श्रीमहंत नारायण गिरि महाराज ने श्रदांजलि अर्पित करते हुए कहा कि माता हीरा बेन का जीवन चरित्र हम सब के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। उनका कात्सल्य, त्याग, व संयम एक ममतामयी माँ का श्रेष्ठ रूप है। श्रीमहंत हरिगरि महाराज ने बताया कि माता हीरा बेन की आत्म शांति के लिए पौराणिक सिद्ध पीठ मायादेवी, व श्री आनंद भैरव मंदिर में विशेष पूजा अर्चना तथा शांति यज्ञ का आयोजन किया गया। इसके साथ ही जूना अखाडे की पूरे भारतवर्ष में स्थित सभी मुख्य मंदिरों बड़ा हनुमान घाटा काशी, मौजगिरी मंदिर प्रयागराज, नीलगंगा दातारन अखाड़ा उज्जैन, त्रयम्बकेश्वर नासिक, भावनाथ मंदिर जूनागढ़, वनखंडी नाथ महादेव मंदिर बरेली, खेड़ा मढ़ी पीलीभीत, बागनाथ महादेव मंदिर बागेश्वर आदि में माता हीरा बेन की शांति के लिए विशेष पूजा अर्चना, श्रद्धांजलि सभा व शांतिपाठ का आयोजन किया जा रहा है। श्रद्धांजलि सभा में राष्ट्रीय सभापति महंत प्रेमगिरी, सचिव श्रीमहंत महेश पुरी, थानापति कोठारी महंत महाकाल गिरि, श्रीमहंत पशुपति गिरी, महंत हीरा भारती, महत रतनगिरि, महंत राजगिरि, महंत राजेन्द्र गिरि, महत अमृत पुरी, महंत शिवम गिरि, श्रीमहंत सुरेशानंद सरस्वती आदि मौजूद रहे।

चंपावत में हुआ सक्षम का जिला अधिवेशन शुरू हुआ दिव्यांग सेवा केंद्र


 चम्पावत में सक्षम जिला अधिवेशन हुआ संपन्न  एवम् सक्षम दिव्यांग सेवा केंद्र का हुआ शुभारम्भ* 

    6 जनवरी 2023 को जिला टिहरी गढ़वाल एवम् 11 फरवरी 2023 को जिला हरिद्वार में होगा जिला अधिवेशन एवम् खुलेगा जिला दिव्यांग सेवा केंद्र* 

    चंपावत 29 दिसंबर जिला चम्पावत में सक्षम प्रान्तीय उपाध्यक्ष श्री पृथ्वीपाल सिंह रावत के मुख्य आतिथ्य , ब्लाक प्रमुख कुमारी सुमनलता के आतिथ्य, ग्राम प्रधान संगठन के प्रदेश महामंत्री श्री राजेंद्र सिंह बिष्ट मुख्य वक्ता एवम् श्री हिम्मत सिंह की अध्यक्षता में क्षेत्र के जन प्रतिनिधियों , दिव्यांगजनों एवम् सक्षम  कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में जिला चम्पावत का जिला अधिवेशन संपन्न हुआ।साथ ही सक्षम दिव्यांग सेवा केंद्र का भी शुभारम्भ हुआ।अब 6 जनवरी 2023  को जिला टेहरी गढ़वाल एवम् 11 फरवरी 2023 को जिला हरिद्वार में होगा जिला अधिवेशन एवम् खुलेंगे सक्षम दिव्यांग सेवा केंद्र 


इलेक्ट्रिकल ट्रेडर्स एसोसिएशन ने मनाया वार्षिकोत्सव

 मेक इन इंडिया पर कार्य करें युवा वर्गः डॉ. निशंक


धूमधाम से मनाया इलेक्ट्रिकल ट्रेडर्स एसोसिएशन ने वार्षिकोत्सव


सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने किया कार्यक्रम का शुभारंभ


हरिद्वार 29 दिसंबर  ( वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार )


सिडकुल स्थित होटल में हरिद्वार इलेक्ट्रिकल ट्रेडर्स एसोसिएशन का वार्षिकोत्सव धूमधाम से मनाया गया। मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने दीप प्रज्वलित कर वार्षिकोत्सव एवं डायरी विमोचन कार्यक्रम शुभारंभ किया। उन्होंने युवाओं से उद्योग में आगे आकर कार्य करने के लिए प्रेरित किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा क‌ि युवाओं को उद्योग में आगे आना चाहिए। युवा ही भविष्य का निर्माण करते हैं। युवाओं को व्यापार में आने की प्रेरणा देते हुए आह्वान किया कि मेक इन इंडिया पर कार्य करें। विशिष्ठ अतिथि पूर्व विधायक संजय गुप्ता कहा कि जिस तरह युवा व्यापार में रुचि ले रहे हैं उससे आने वाले समय में भारत की अर्थव्यवस्था और ज्यादा मजबूत होगी।

एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रवीण जिंदल ने कहा क‌ि एसोसिएशन की ओर से कारोबारियों को एक मंच पर लाने के लिए वार्षिकोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। विद्युत उपकरण की प्रदर्शनी लगाई गई। आगे भी इस तरह के कार्यक्रम होते रहेंगे। उन्होंने सभी अतिथियों का आभार जताया। महामंत्री राजीव गुप्ता ने कहा क‌ि इलेक्ट्रिकल एसोसिएशन व्यापारियों के हित में कार्य करता चला आ रहा है। आगे भी उनकी समस्याओं को लेकर कार्य किया जाता रहेेगा। 

डॉक्टर विशाल गर्ग ने कहा हरिद्वार इलेक्ट्रिकल ट्रेडर्स एसोसिएशन की अच्छी पहल है  और जल्द ही बड़ा विद्युत  व्यापार मेला लगाए ताकि स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार मिले।कार्यक्रम अध्यक्षता लक्सर के पूर्व विधायक संजय गुप्ता और संचालन लोकेश मिगलानी ने की।

 इस अवसर पर डॉ. विशाल गर्ग, मनोज गौतम, राजेश गुप्ता, कोषाध्यक्ष परमेश गुप्ता, संरक्षक सुभाष अग्रवाल, उमेश अग्रवाल, ललित गोयल, विजय शर्मा, प्रभात गुप्ता, अजय अग्रवाल, मनीष अग्रवाल, सुशांत शर्मा, प्रणव वत्स, कमल आहुजा, मोहित अग्रवाल, रोहित, मृदुल, शुभम, शिवम, सौरभ, कादिर, मनोज कुमार, संयम, दीपांशु, पल्लव, आशीष, संजय अग्रवाल आदि शामिल रहे।

मदन कौशिक ने प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा में किया प्रतिभाग

 प्रकृति संरक्षण का संदेश देती है श्री कृष्ण लीला :- मदन  कौशिक 


श्री प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में चल रही श्रीमद्भागवत कथा के मध्य पहुंचे  भाजपा के पूर्व अध्यक्ष मदन कौशिक


हरिद्वार  29 दिसंबर ( संजय वर्मा )  प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम  पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश जी महाराज के पावन सानिध्य में इन दिनों प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में कथा व्यास आचार्य पवन शास्त्री के श्री मुख से श्रीमद् भागवत कथा  की अमृत वर्षा हो रही है , कथा के पांचवें दिन  पूर्व भाजपा अध्यक्ष एवं हरिद्वार के विधायक मदन कौशिक व्यासपीठ से आशीर्वाद लेने पहुंचे। इस अवसर पर उन्होने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा  पंचम वेद है इसमें भगवान और उनके भक्तों का चरित्र श्रवण करने को मिलता है। उन्होंने गोवर्धन पूजा प्रसंग को समर्पित अपने भाव में कहा कि भगवान श्री कृष्ण की लीलाऐ प्रकृति संरक्षण का संदेश देती है ।गोवर्धन पूजा कर भगवान ने मानव मात्र को प्रकृति के पांच तत्व जल, वायु ,पृथ्वी आकाश, अग्नि   को संरक्षित और प्रदूषण मुक्त रखने का संदेश दिया ।उन्होंने  ग्वाल बालों के माध्यम से मानव मात्र को नदियों ,पर्वतो ,




वृक्षों आदि का संरक्षण करने का आदेश दिया। श्रीमद् भागवत कथा  जहां हमें भगवान श्री हरि के सुमिरन करने का संदेश देती है वहीं यह पितरों को मोक्ष प्रदान करने का माध्यम भी है उन्होंने कहा कि कथा के यजमान  विपिन वडेरा,  प्रदीप वडेरा ,पूनम वडेरा, रोहित वडेरा सहित आयोजन कर्ताओं को पवित्र आयोजन के लिए बधाई दी ।उनके साथ भाजपा मंडल अध्यक्ष एडवोकेट राजकुमार आदि ने व्यासपीठ को नमन कर आशीर्वाद प्राप्त किया।

सीतामढ़ी में विश्व की सबसे ऊंची सीता माता की मूर्ति होगी स्थापित

हरिद्वार 25 दिसंबर ( गोपाल रावत वरिष्ठ पत्रकार) रामायण रिसर्च काउंसिल द्वारा जगत जननी माता सीता की जन्म स्थली बिहार के पौराणिक तीर्थ सीतामढ़ी में सीता माता की विश्व में सबसे ऊंची प्रतिमा स्थापित की जा रही है। लगभग 12 एकड़ भूमि में स्थापित की जाने वाली अष्टधातु की माता सीता की प्रतिमा के साथ इस पूरे क्षेत्र को शक्ति पीठ के रूप में विकसित


किया जाएगा । जिसमें प्रतिमा के चारों ओर वृत्ताकार रुप में श्री भगवती सीता माता के जीवन दर्शन को दर्शाते हुए 108 प्रतिमाएं भी स्थापित की जाएगी। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महंत रविंद्रपुरी जी महाराज, निरंजनी अखाड़ा ,राष्ट्रीय महामंत्री श्री महंत हरि गिरि महाराज एवं जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर हिमालयन पीठाधीश्वर स्वामी वीरेंद्रानंद गिरि महाराज ने एक संयुक्त पत्रकार वार्ता में उपरोक्त जानकारी देते हुए बताया कि इस पुनीत कार्य हेतु भूमि का चयन कर लिया गया है तथा इसके समतलीकरण का कार्य प्रारंभ हो गया है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री महंत रवींद्र पुरी ने कहा कि परिषद इस पवित्र कार्य के लिए तन मन धन से पूरा सहयोग देगी तथा सभी अखाड़े इस पुनीत कार्य के लिए जनसमर्थन भी जुटाएगी। उन्होंने सभी धर्म प्रेमी जनों से हर संभव सहयोग देने की अपील भी की । जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक व अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री श्री महंत हरि गिरी महाराज ने कहा मां जगदंबा सीता माता संपूर्ण नारी समाज के सशक्तिकरण, धैर्य, साहस और कर्तव्यनिष्ठा का एक अनुपम व विलक्षण उदाहरण है । उनके जीवन दर्शन का अनुकरण कर केवल नारी जाति ही नहीं अपितु संपूर्ण समाज का हित होगा । उन्होंने कहा इस स्थल को शक्ति स्थल के रूप में विकसित करने के लिए देश के सभी 51 शक्तिपीठों के साथ-साथ बाली, श्रीलंका, इंडोनेशिया, श्री लंका की अशोक वाटिका या ऐसे स्थल जहां जहां सीता  गई है ,उन स्थानों से पवित्र जोत, मिट्टी व जल लाया जाएगा । इसके अतिरिक्त उत्तराखंड स्थित पौराणिक तीर्थ, सीतामढ़ी जहां माता सीता भूमि में समाई थी, केदारनाथ, बद्रीनाथ ,काशी ,रामेश्वरम, भगवान जगन्नाथ बांकेबिहारी आदि प्रसिद्ध पौराणिक तीर्थों से भी ज्योति लाई जाएगी । उन्होंने कहा अखाड़ा परिषद तथा संपूर्ण संत समाज इस पवित्र पुनीत कार्य के लिए हर संभव सहयोग करेगा । रामायण रिसर्च काउंसिल के संयोजक वरिष्ठ सदस्य महामंडलेश्वर श्री महंत वीरेंद्रानंद गिरि जूना अखाड़ा ने रिसर्च काउंसिल के जानकारी देते हुए बताया कौन सी देते हुए बताया की माता सीता के प्राकट्य स्थल को शक्ति स्थल के रूप में विश्व भर में प्रतिष्ठित किए जाने के साथ-साथ संबंधित स्थल को मातृ शक्ति के रूप में वैश्विक प्रचार प्रसार करना है। यहां पर देश का प्रथम सांस्कृतिक दूतावास का निर्माण भी किया जाएगा। उन्होंने कहा माता सीता के मंदिरों का वास्तु शिल्प श्री विद्या के अनुरूप होगा ,जिसमें सभी देवता तथा रामायण के प्रमुख देवी देवता अपने अद्भुत रूप में स्थापित होंगे। विश्व के पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक भवन का निर्माण किया जाएगा ,जिसमें अन्य देशों से आने वाले पर्यटकों वह राजदूतों को उच्च स्तरीय आवाज सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी ।उन्होंने कहा माता सीता हमारी संस्कृति और इस ब्रह्मांड की समस्त नारी समाज के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। उनके प्राकट्य स्थल सीतामढ़ी से जब उनके संघर्ष,त्याग, व आदर्शों का प्रचार प्रसार होगा तो निसंदेह है विश्व में भारत की संस्कृति व दर्शन को नए आयाम प्राप्त होंगे । सनातनी मातृशक्ति के प्रचार प्रसार के अतिरिक्त सीतामढ़ी में स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे ।क्षेत्र का बहुमुखी विकास होगा और विश्व मानचित्र पर सीतामढ़ी की एक विशिष्ट पहचान बनेगी। महामंडलेश्वर वीरेंद्रानंद गिरी महाराज ने बताया रिसर्च काउंसिल द्वारा श्री सीता विद्यापीठ ,श्री सीता स्वयं सहायता समूह, श्री सीता रसोई का भी संचालन किया जाएगा । काउंसिल द्वारा अयोध्या में श्री राम मंदिर के लिए 500 वर्षों से किए जा रहे संघर्ष पर आधारित 1108 पृष्ठों का एक ग्रंथ भी लेखन कार्य जारी है जिसे हिंदी के साथ-साथ 10 अन्य अंतरराष्ट्रीय भाषाओं में प्रकाशित किया जाएगा और 21 से भी अधिक देशों में इसका विमोचन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आगामी अप्रैल 2023 में माता सीता के मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सहमति मिल चुकी है ।भूमि पूजन के साथ ही मंदिर निर्माण का कार्य युद्ध स्तर पर प्रारंभ किया जाएगा ।पत्रकार वार्ता के दौरान अखाड़े के राष्ट्रीय सचिव श्री महंत प्रेम गिरी सचिव श्री महंत महेश्वरी सहित अन्य संत भी उपस्थित थे।

[12/25, 9:13 PM] Gopal Rawat: हरिद्वार। रामायण रिसर्च काउंसिल द्वारा जगत जननी माता सीता की जन्म स्थली बिहार के पौराणिक तीर्थ सीतामढ़ी में सीता माता की विश्व में सबसे ऊंची प्रतिमा स्थापित की जा रही है। लगभग 12 एकड़ भूमि में स्थापित की जाने वाली अष्टधातु की माता सीता की प्रतिमा के साथ इस पूरे क्षेत्र को शक्ति पीठ के रूप में विकसित किया जाएगा । जिसमें प्रतिमा के चारों ओर वृत्ताकार रुप में श्री भगवती सीता माता के जीवन दर्शन को दर्शाते हुए 108 प्रतिमाएं भी स्थापित की जाएगी। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महंत रविंद्रपुरी जी महाराज, निरंजनी अखाड़ा ,राष्ट्रीय महामंत्री श्री महंत हरि गिरि महाराज एवं जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर हिमालयन पीठाधीश्वर स्वामी वीरेंद्रानंद गिरि महाराज ने एक संयुक्त पत्रकार वार्ता में उपरोक्त जानकारी देते हुए बताया कि इस पुनीत कार्य हेतु भूमि का चयन कर लिया गया है तथा इसके समतलीकरण का कार्य प्रारंभ हो गया है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री महंत रवींद्र पुरी ने कहा कि परिषद इस पवित्र कार्य के लिए तन मन धन से पूरा सहयोग देगी तथा सभी अखाड़े इस पुनीत कार्य के लिए जनसमर्थन भी जुटाएगी। उन्होंने सभी धर्म प्रेमी जनों से हर संभव सहयोग देने की अपील भी की । जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक व अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री श्री महंत हरि गिरी महाराज ने कहा मां जगदंबा सीता माता संपूर्ण नारी समाज के सशक्तिकरण, धैर्य, साहस और कर्तव्यनिष्ठा का एक अनुपम व विलक्षण उदाहरण है । उनके जीवन दर्शन का अनुकरण कर केवल नारी जाति ही नहीं अपितु संपूर्ण समाज का हित होगा । उन्होंने कहा इस स्थल को शक्ति स्थल के रूप में विकसित करने के लिए देश के सभी 51 शक्तिपीठों के साथ-साथ बाली, श्रीलंका, इंडोनेशिया, श्री लंका की अशोक वाटिका या ऐसे स्थल जहां जहां सीता  गई है ,उन स्थानों से पवित्र जोत, मिट्टी व जल लाया जाएगा । इसके अतिरिक्त उत्तराखंड स्थित पौराणिक तीर्थ, सीतामढ़ी जहां माता सीता भूमि में समाई थी, केदारनाथ, बद्रीनाथ ,काशी ,रामेश्वरम, भगवान जगन्नाथ बांकेबिहारी आदि प्रसिद्ध पौराणिक तीर्थों से भी ज्योति लाई जाएगी । उन्होंने कहा अखाड़ा परिषद तथा संपूर्ण संत समाज इस पवित्र पुनीत कार्य के लिए हर संभव सहयोग करेगा । रामायण रिसर्च काउंसिल के संयोजक वरिष्ठ सदस्य महामंडलेश्वर श्री महंत वीरेंद्रानंद गिरि जूना अखाड़ा ने रिसर्च काउंसिल के जानकारी देते हुए बताया कौन सी देते हुए बताया की माता सीता के प्राकट्य स्थल को शक्ति स्थल के रूप में विश्व भर में प्रतिष्ठित किए जाने के साथ-साथ संबंधित स्थल को मातृ शक्ति के रूप में वैश्विक प्रचार प्रसार करना है। यहां पर देश का प्रथम सांस्कृतिक दूतावास का निर्माण भी किया जाएगा। उन्होंने कहा माता सीता के मंदिरों का वास्तु शिल्प श्री विद्या के अनुरूप होगा ,जिसमें सभी देवता तथा रामायण के प्रमुख देवी देवता अपने अद्भुत रूप में स्थापित होंगे। विश्व के पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक भवन का निर्माण किया जाएगा ,जिसमें अन्य देशों से आने वाले पर्यटकों वह राजदूतों को उच्च स्तरीय आवाज सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी ।उन्होंने कहा माता सीता हमारी संस्कृति और इस ब्रह्मांड की समस्त नारी समाज के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। उनके प्राकट्य स्थल सीतामढ़ी से जब उनके संघर्ष,त्याग, व आदर्शों का प्रचार प्रसार होगा तो निसंदेह है विश्व में भारत की संस्कृति व दर्शन को नए आयाम प्राप्त होंगे । सनातनी मातृशक्ति के प्रचार प्रसार के अतिरिक्त सीतामढ़ी में स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे ।क्षेत्र का बहुमुखी विकास होगा और विश्व मानचित्र पर सीतामढ़ी की एक विशिष्ट पहचान बनेगी। महामंडलेश्वर वीरेंद्रानंद गिरी महाराज ने बताया रिसर्च काउंसिल द्वारा श्री सीता विद्यापीठ ,श्री सीता स्वयं सहायता समूह, श्री सीता रसोई का भी संचालन किया जाएगा । काउंसिल द्वारा अयोध्या में श्री राम मंदिर के लिए 500 वर्षों से किए जा रहे संघर्ष पर आधारित 1108 पृष्ठों का एक ग्रंथ भी लेखन कार्य जारी है जिसे हिंदी के साथ-साथ 10 अन्य अंतरराष्ट्रीय भाषाओं में प्रकाशित किया जाएगा और 21 से भी अधिक देशों में इसका विमोचन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आगामी अप्रैल 2023 में माता सीता के मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सहमति मिल चुकी है ।भूमि पूजन के साथ ही मंदिर निर्माण का कार्य युद्ध स्तर पर प्रारंभ किया जाएगा ।पत्रकार वार्ता के दौरान अखाड़े के राष्ट्रीय सचिव श्री महंत प्रेम गिरी सचिव श्री महंत महेश्वरी सहित अन्य संत भी उपस्थित थे।

बीडी इंटर कॉलेज भगवानपुर स्काउट एंड गाइड कैंप का हुआ समापन

 स्काउटिंग एण्ड गाइडिंग एक श्रेष्ठ नागरिक बनने की कुंजी है :- डा. विजय कुमार त्यागी



भगवानपुर 25 दिसंबर ( कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवानपुर ) भारत स्काउट एण्ड गाइड उत्तराखण्ड हरिद्वार के पञ्चदिवसीय तृतीय सोपान शिविरों का आयोजन दिनांक 19.12.22 से 25.12.22 तक किया गया। भगवानपुर ब्लाक के राजकीय इण्टर कालेज सिकरौढा में शिविर संचालक डा. विजय कुमार त्यागी, सह संचालक  गजेन्द्र सिंह तथा प्रशिक्षक श्री अनुज यादव, प्रशिक्षिका श्रीमती संगीता राजपूत एवं श्रीमती रीना ने स्काउट और गाइड्स को प्रशिक्षित किया।

इस मध्य स्काउट गाइड्स ने जीवन को सरल तरीके से आनन्दित होकर जीने, श्रेष्ठ नागरिक बनने की कला सीखी, जिसमें शिविरार्थियों ने तम्बू लगाना, विभिन्न गाँठों का प्रयोग, लाठी के उपयोग, जीवन रक्षक डोरी का सही उपयोग, विभिन्न ताल, आग बुझाना, प्राथमिक चिकित्सा, विभिन्न खेल, दिशाओं का ज्ञान, अनुमान लगाना, हाइक, पाकविद्या, अनुशासन एवं शिष्टाचार, ध्वज शिष्टाचार, बीपी-6 व्यायाम आदि अनेक विधाओं को कुशलता पूर्वक जानकर जीवन में धारण करने की प्रतिज्ञा ली।

शिविरार्थियों को आशीर्वाद देने के लिए आतिथ्य, निरीक्षण एवं मार्गदर्शित करने के लिए हरिद्वार जनपद के भारत स्काउट गाइड संस्था के जिला आयुक्त, उत्तराखण्ड माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रान्त अध्यक्ष एवं विभिन्न दायित्वों के निर्वहन करने वाले प्रेरक व्यक्तित्व के रूप में डॉ. अनिल शर्मा जी शिविर में पहुँचे। जिन्होंने विभिन्न गतिविधियों का निरीक्षण करते हुए शिविरार्थियों को जीवन भर स्काउट के नियम सिद्धान्तों का पालन करते रहने के लिए प्रेरित किया और कहा कि प्रत्येक पदेन अधिकारी सेवानिवृत्त होता है परन्तु स्काउट गाइड कभी सेवानिवृत्त नहीं होता, जीवन में सदाचार का पालन आपको महान् बनाता है।

श्री प्रदीप त्यागी ने शिविरार्थियों को निरन्तर प्रगति पथ पर अग्रसर होने की प्रेरणा देते हुए कहा कि यही एक ऐसा राजमार्ग है जो आपको सुरक्षित एवं यथासमय अपने गन्तव्य को प्राप्त करा सकता है। स्काउट गाइड के नियमों का पालन करने से व्यक्ति महान् व्यक्तित्व का धनी बनता है। श्री वीरेन्द्र प्रभु एवं श्री राजीव सैनी ने शिविर में शिविरार्थियों के गतिविधियों को देखकर उनकी भूरी भूरी सराहना प्रशंसा की।

रा.इ.का. सिकरौढा के प्रधानाचार्य श्री एसपी शर्मा जी ने विद्यार्थियों को प्रतिदिन प्रेरक प्रसंगों के माध्यम से आगे बढ़ने का सन्देश दिया तथा शिविरार्थियों के समस्त साधन सुविधाएँ उपलब्ध कराने में पूर्ण योगदान दिया। समय-समय पर विद्यालय के शिक्षक वर्ग श्री विनोद कुमार, श्री वसिष्ठ, श्री नवनीत त्रिलोचन, श्री जयकुमार, श्री गणेश गोयल, श्रीमती विनिता आदि ने शिविरार्थियों की अन्तर्निहित शक्तियों को बहिर्मुखी बनाने के लिए उनका मार्गदर्शन किया।

शिविर का समापन अन्तिम दिवस 25 दिसम्बर को सर्वधर्मप्रार्थना, ध्वजशिष्टाचार, दीक्षा एवं राष्ट्रगान तथा विसर्जन के माध्यम से सकुशल सम्पूर्णता को प्राप्त हुआ।

फरवरी में होगा सक्षम हरिद्वार का जिला अधिवेशन

 फरवरी में हरिद्वार सक्षम का जिला अधिवेशन एवं दिव्यांग सेवा केंद्र का होगा लोकार्पण 

हरिद्वार 25 दिसंबर( संजय वर्मा ) समदृष्टि समता विकास एवम् अनुसन्धान मण्डल "सक्षम" के अधिवेशन उत्तराखंड के सभी जिलों में आयोजित किये जा रहे हैं।इसी संदर्भ में जिला हरिद्वार अधिवेशन की तैयारी बैठक का आयोजन सक्षम प्रदेश अध्यक्ष ललित पंत जी की गरिमामय उपस्थिति में हुआ जिसकी अध्यक्षता जिला अध्यक्ष श्री राजेंद्र मौर्या ने की



बैठक में जिला अधिवेशन की तिथि 11 फरवरी निश्चित की गई। इससे पूर्व जनवरी में स्थान चयन कर जिला दिव्यांग सेवा केंद्र का शुभारंभ भी किया जाएगा।जिला अधिवेशन की सफलता हेतु बैठक में समितियों की भी गठन किया गया।अधिवेशन में मातृ संगठन के साथ ही जिला अधिकारी ,समाज कल्याण अधिकारी ,मुख्य चिकित्सा अधिकारी को भी आमंत्रित करने का भी निश्चिय किया गया। अधिवेशन में केंद्रीय नेतृत्व का एवम् प्रदेश के माननीय काबीना मंत्री का भी सानिध्य रहेगा। अधिवेशन  में दिव्यांगजनों के साथ ही दिव्यांगजनों के लिए कार्य करने वाली संस्थाओं को भी आमंत्रित किया गया है। अधिवेशन से पूर्व सांकेतिक रैली भी होगी।बैठक में प्रमुख रूप से श्री जगदीश लाल पाहवा ,श्री प्रदीप सैनी ,श्री विनोद शर्मा,श्रीमती मानसी मिश्रा, श्रीमती विमलेश गौड़, श्रीमती सीमा चौहान, श्री संजय कुमार वर्मा, श्री  विरेन्द्र कुमार राधव,श्री आर डी मौर्या, श्री एस एस राना आदि ने अपने विचार व्यक्त किए  एवम् अधिवेशन की सफलता का आह्वान किया तैयारी बैठक में अधिवेशन  की सफलता के लिए समितियों का गठन किया गया साथ ही दिव्यांग सेवा केंद्र  की स्थापना के लिए भी चर्चा की गई

प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश जी महाराज के सानिध्य में प्रारंभ हुई श्रीमद् भागवत कथा

 प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में भव्य कलश यात्रा के साथ प्रारंभ हुई श्रीमद् भागवत कथा 

हरिद्वार 25 दिसंबर ( संजय वर्मा ) प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम पीठाधीश्वर




महामंडलेश्वर स्वामी   रूपेन्द्र प्रकाश जी महाराज के पावन सानिध्य में भागवत भास्कर परम पूज्य पवन कृष्ण शास्त्री महाराज के श्री मुख से श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ भव्य कलश यात्रा के साथ हुआ ,श्री गंगा जी के तट से प्रारंभ हुई कलश यात्रा मे पवित्र गंगाजल से भरे हुए कालशो  को सिर पर धारण करें श्रद्धा स्वरूपा माताएं बहने प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम स्थित कथा के पंडाल में पहुंची जहां पर विधिवत व्यास पूजन के साथ कथा के यजमान विपिन बडेरा एवं उनके परिजनों ने व्यास पूजन किया और महाराज श्री का आशीर्वाद प्राप्त किया । इस अवसर पर प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश जी महाराज ने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा कलिकाल का कल्पतरु है जिसके श्रवण मात्र से ही मोक्ष की प्राप्ति होती है। उन्होंने कहा कि कलयुग में भगवान के नाम का सुमिरन ही भवसागर से पार करने वाला है ।उन्होंने वडेरा परिवार को आशीर्वाद देते हुए कहा कि उनके द्वारा जनकल्याण के लिए श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन एक बड़ा ही पुनीत और पवित्र कार्य है, जिसके लिए उनका समस्त परिवार एवं सहयोगी  बधाई के पात्र हैं ।

रविवार से प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में शुरू होने जा रही है श्रीमद् भागवत कथा

 प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में रविवार से आचार्य पवन



कृष्ण शास्त्री करेंगे श्रीमद् भागवत कथा की अमृत वर्षा 

हरिद्वार 23 दिसंबर (संजय वर्मा ) प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी रुपेन्द्र प्रकाश जी महाराज के सानिध्य में 25 दिसंबर रविवार से 1 सप्ताह पर्यंत तक श्रीमद् भागवत कथा की अमृत वर्षा होने जा रही है उपरोक्त जानकारी कथा के मुख्य यजमान विपिन वडेरा एवं  रोहन वडेरा ने प्रदान करते हुए बताया कि 25 दिसंबर रविवार को भव्य कलश यात्रा के साथ श्री प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में आचार्य पवन कृष्ण शास्त्री श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ करेंगे । यह आयोजन 31 दिसंबर तक निरंतर जारी रहेगा जिसमें प्रतिदिन हरि भक्तों को आचार्य पवन कृष्ण शास्त्री श्रीमद् भागवत कथा श्रवण कराएंगे उन्होंने बताया कि कथा का शुभारंभ प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश जी महाराज रविवार 25 दिसंबर को अपराहन 2:00 बजे करेंगे । इसके बाद रविवार से ही अपराहन 2:00 बजे प्रतिदिन सांय काल 6:00 बजे तक श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन होने जा रहा है । उन्होंने समस्त हरि भक्तों से आग्रह करते हुए कहा कि इस पुण्य अवसर पर श्री प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में आकर श्रीमद् भागवत कथा श्रवण करें और अपने जीवन को धन्य बनाएं।

हरिद्वार मे सक्षम के प्रदेश अध्यक्ष 24 दिसंबर को करेंगे समीक्षा बैठक


 *आवश्यक सूचना*

सक्षम के प्रान्त अध्यक्ष आदरणीय *ललित पन्त जी* जिला टेहरी प्रवास के बाद अब हरिद्वार जिले के प्रवास पर हैं।आज और कल (23 व 24) दिसम्बर को हरिद्वार जिले में सक्षम कार्यकर्ताओं से भेट करेंगे ,तथा 24 दिसम्बर को दोपहर 12 बजे से हरिद्वार जिले की समीक्षा बैठक भी करेंगे। बैठक में *हरिद्वार जिला सक्षम के अधिवेशन की तिथि* भी तय की जायेगी,

तथा हरिद्वार जिले में  खुलने वाले *सक्षम दिव्यांग सेवा केंद्र* का भी चयन करेंगे।हरिद्वार जिले के सभी सक्षम कार्यकर्ताओं से अनुरोध है ,इस महत्वपूर्ण बैठक में जो अवधूत मंडल हरिद्वार में आयोजित की गयी है, इसमें अवश्य भाग लेने का कष्ट करेंगे।

सादर,

संजय कुमार वर्मा 

सक्षम जिला प्रचार प्रमुख 

जिला हरिद्वार 

       *नोट*

प्रान्त अध्यक्ष श्री ललित पन्त जी से संपर्क करना हो तो इस नम्बर से संपर्क करें - 7817827437

भारतीय राष्ट्रवादी सैनी समाज संगठन ने मनाई महाराजा शूरसैनी जयंती


 भगवानपुर 21 दिसंबर ( कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवानपुर )भगवानपुर विधानसभा के ग्राम डाडा जलालपुर में भारतीय राष्ट्रवादी सैनी समाज संगठन उत्तराखंड की ओर से सैनी समाज के प्रवर्तक सूर्यवंशी सम्राट महाराजा शूर सैनी की जयंती के उपलक्ष पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में सर्वप्रथम महाराजा शूर सैनी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई ।कार्यक्रम की अध्यक्षता मॉडर्न चिल्ड्रन एकेडमी डाडा जलालपुर के प्रधानाध्यापक एवं अवनी कोचिंग सेंटर डाडा जलालपुर के संस्थापक मास्टर विकास सैनी के द्वारा की गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में संगठन के प्रदेश महासचिव मास्टर रजनीश सैनी के द्वारा महाराजा शूर सैनी के वंशज होने पर गर्व महसूस करते हुए सैनी समाज के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए संगठन के उद्देश्य एवं कार्यशैली को बताते हुए कहा कि संगठन अपने समाज के महापुरुषों की जयंती और पुण्यतिथि को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाने का कार्य कई वर्षों से कर रहा है ।संगठन की ओर से हर वर्ष विभिन्न क्षेत्रों में  प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं एवं अपने समाज के प्रतिभावान बुजुर्गों एवं युवा साथियों को सम्मानित करने का कार्य कर रहा है। आज का कार्यक्रम संगठन के संस्थापक एवं प्रदेश अध्यक्ष अरुण सैनी एवं जिला हरिद्वार के अध्यक्ष मास्टर राजीव सैनी के निर्देशानुसार आयोजित किया गया। कार्यक्रम अध्यक्ष के रूप में विकास सैनी के द्वारा महाराजा शूर सैनी की जयंती के उपलक्ष पर संगठन के पदाधिकारियों को अतिथियों के रूप में उपस्थित होने पर  धन्यवाद देते हुए आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में  छात्र-छात्राओं शैली सैनी गुंजन सैनी आंचल सैनी खुशी मधु साक्षी  पीहू सैनी वैशाली सैनी, शिवानी, सुधा, अंजना,सुरभि,काजल ,वर्षा ,आंसू अनित प्रियांशु अंकित विशाल ,अनुज ,रजत,मुकुल आदि उपस्थित रहे

ऋषि कुल के छात्र छात्राओं ने किया देव संस्कृति विश्वविद्यालय का भ्रमण


*उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय ऋषिकुल परिसर, हरिद्वार के बी. ए. एम. एस. तृतीय वर्ष के छात्र / छात्राओं ने प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र देव संस्कृति विश्वविद्यालय शांति कुंज, हरिद्वार का शैक्षणिक भ्रमण किया 

 

हरिद्वार 21 दिसंबर 


उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय ऋषिकुल परिसर के बी. ए. एम. एस. तृतीय वर्ष के कुल 51 छात्र / छात्राओं को स्वस्थवृत्त एवं योग विषय में आवश्यक प्रात्यक्षिक शैक्षणिक भ्रमण के अंतर्गत प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र देव संस्कृति विश्वविद्यालय शांति कुंज का शैक्षणिक भ्रमण डॉ शोभित कुमार वार्ष्णेय एसो. प्रो. एवं विभागाध्यक्ष स्वस्थवृत्त विभाग , डॉ ज्ञान प्रकाश सिंह  योगाचार्य स्वस्थवृत्त एवं योग विभाग, देव संस्कृति विश्वविद्यालय के योग विभागाध्यक्ष डॉ सुरेश वर्णवाल, प्राकृतिक चिकित्सा के विभागाध्यक्ष डॉ अमृत लाल  के मार्गदर्शन में कराया गया।देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्राकृतिक चिकित्सा विभाग में प्राकृतिक चिकित्सा कैंप में पंच तत्वों(पृथ्वी, वायु, जल, अग्नि, आकाश ) के द्वारा विभिन्न रोगों का इलाज किया जा रहा है,इस कैम्प में ऋषि कुल परिसर के बी.ए.एम.एस. तृतीय वर्ष 19 बैच के छात्र छात्राओं ने सूर्य चिकित्सा, मिट्टी चिकित्सा, जल चिकित्सा,वायु चिकित्सा,अग्नि चिकित्सा और एनिमा के प्रैक्टिकल अभ्यास में अपनी सेवा और सहयोग कर एवं पेशेंट को दिए जा रहे संपूर्ण चिकित्सा का अवलोकन किया साथ ही प्राकृतिक चिकित्सा के सिद्धांतों का विस्तृत वर्णन प्राकृतिक चिकित्सक विशेषज्ञ से प्राप्त किया।  वर्तमान में कोविड काल के बाद जिन बीमारियों का एवं उपद्रवों का सामना किया जा रहा है उनका प्राकृतिक चिकित्सा के माध्यम से इस केंद्र में एक विशेष उपचार किया जा रहा है। इस शैक्षणिक भ्रमण के अंत में डॉ शोभित कुमार वार्ष्णेय ने  देव संस्कृति विश्व विद्यालय के  योग विभागाध्यक्ष डॉ सुरेश वर्णवाल एवं प्राकृतिक चिकित्सा के विभागाध्यक्ष डॉ अमृत लाल  को बी. ए. एम. एस. तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों का ज्ञानवर्धन करने के लिए  उनकी पूरी टीम का धन्यवाद ज्ञापित किया।

प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश जी महाराज के सानिध्य में होगा श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन

 प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में 25 दिसंबर से होगा श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन

 हरिद्वार 20 दिसंबर ( संजय वर्मा)  श्री प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम हरिद्वार में श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन होने जा रहा है उपरोक्त जानकारी कथा के मुख्य यजमान विपिन वड़ेरा ने देते हुए बताया कि श्री प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश जी महाराज के पावन सानिध्य में 25 दिसंबर से 31 दिसंबर तक श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन होने जा रहा है । जिसमें कथा व्यास आचार्य पवन कृष्ण शास्त्री जी महाराज श्रीमद् भागवत कथा कीअमृत वर्षा करेंगे । अपराहन 2:00 से 6:30 तक श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन होगा।


उन्होंने बताया कि उपरोक्त आयोजन 25 दिसंबर से 31 दिसंबर तक होगा 1 जनवरी को कथा विश्राम लेगी और  प्रसाद वितरण होग।  उन्होंने हरि भक्तों से श्रीमद् भागवत कथा में शामिल होकर पुण्य अर्जित करने का आह्वान किया ।

पंचपुरी ऑटो रिक्शा विक्रम टेंपो यूनियन का चुनाव हुआ संपन्न

 संगठन की एकजुटता से होता है समस्याओ का निदान : अनिरूद्ध भाटी

पंचपुरी ऑटो रिक्शा विक्रम टैम्पो यूनियन का वार्षिक चुनाव सर्वसम्मति से हुआ सम्पन्न

हरिद्वार, 19 दिसम्बर ( वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार )



पंचपुरी ऑटो रिक्शा विक्रम टैम्पो यूनियन, ललतारौ पुल हरिद्वार का वार्षिक चुनाव संरक्षक अनिरूद्ध भाटी की अध्यक्षता में सर्वसम्मति से सपन्न हुआ।

इस अवसर पर यूनियन के संरक्षक भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि संगठन की एकजुटता से ही समस्याओं का निदान होता है। ऑटो चालक व मालिक आपसी सद्भाव व समन्वय कायम करते हुए तीर्थयात्रियों से विनम्र व सौहार्दपूर्ण व्यवहार करे जिससे जहां उनके व्यापार में उन्नति होगी वहीं दूसरी ओर समूचे देश-दुनिया में तीर्थनगरी हरिद्वार का सम्मान बढ़ेगा। 

अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि विक्रम टैम्पो चालकों की समस्याओं के निदान हेतु सबको मिलकर लड़ाई लड़नी होगी। उन्हांेने कहा कि नव गठित कार्यकारिणी निश्चित रूप से जिम्मेदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन करेगी।  

इस अवसर पर सभी चालक व मालिकों ने सर्वसम्मति से संरक्षक से विचार-विमर्श के उपरान्त अध्यक्ष पद पर मांगेराम, कार्यवाहक अध्यक्ष सोमनाथ, कोषाध्यक्ष पद पर वसीम, महामंत्री नीटू खैरवाल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर इसरार अंसारी को नियुक्त किया गया। शीघ्र ही पूरी कार्यकारिणी की घोषणा की जायेगी। यूनियन के सभी सदस्यों ने नवनियुक्त पदाधिकारियों का माल्यार्पण कर स्वागत करते हुए मिष्ठान वितरित किया।

इस अवसर पर मुख्य रूप से बाला, प्रमोद कुमार, प्रीत पाल, रंजीत गुप्ता, मंगल शर्मा, शंकर शर्मा, दिलशाद अंसारी, नौशाद, गजे सिंह, चंदा, ब्रह्मपाल, श्रवण कुमार, देवेन्द्र कुमार, नैनी, कमलजीत, मुनेश कुमार, इलयाकत आदि मौजूद रहे।

बसेड़ी ऐथल पुल से आवागमन हुआ सब सुगम


 पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद के प्रस्ताव पर बसेड़ी मार्ग की नदी पर बना पुल

- पुल के निर्माण से अनेकों गांव के जनसंपर्क मार्ग पर आवागमन हुआ सुगम 

हरिद्वार। पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद के प्रस्ताव पर ऐथल बसेडी मार्ग पर एक्कड़ कला के पास पुल का निर्माण होने से कई गांवों के जनसंपर्क मार्गो के रास्ते खुल गए हैं। क्षेत्रवासियों ने स्वामी यतीश्वरानंद को विकास पुरुष बताया है। इस मार्ग से चिट्टीकोठी, दीनारपुर, सुभाष गढ़, एथल, भुक्कनपुर, पीतपुर, लावलपुर, पथरी, टिहरी विष्ठापित, अंबुवाला, 

बसेड़ी- लक्सर से सीतापुर ज्वालापुर आदि क्षेत्रों का आवागमन सुगम होगा। कांवड़ यात्रा या अन्य भीड़भाड़ वाले आयोजनों में लक्सर से बाईपास के रूप में भी इस मार्ग को उपयोग किया जा सकता है। 

 क्षेत्र निवासी उप ब्लाक प्रमुख धर्मेंद्र प्रधान, लखबीर सिंह, साहब सिंह, सेवा सिंह, सरदार ऋषिपाल सिंह, प्रवीण सिंह, रमेश ममगाई, सतीश, ग्राम प्रधान एकता, सतीश कश्यप, ब्रह्मपाल कश्यप, संदीप, शुभम चौधरी, राजकुमार, दिनेश चौहान, अंकित चौहान आदि ने आभार जताते हुए कहा कि पूर्व कैबिनेट मंत्री के हमेशा ऋणी रहेंगे । उन्होंने कहा कि बारिश के सीजन में या नदी में पानी आने से क्षेत्रवासियों का संपर्क कट जाता था, लेकिन स्कूल से बहुत ही लाभ होगा। पुल का निरीक्षण करते हुए स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के सहयोग से क्षेत्र की अन्य समस्याओं का निवारण निरंतर होता रहेगा। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन से ग्रामीणों को शुद्ध जल, अटल स्वास्थ्य बीमा योजना से निशुल्क इलाज जैसी अनेक कल्याणकारी योजनाओं से हर व्यक्ति को लाभ हो रहा है।

भव्य शोभायात्रा के साथ मनाई गई अलवर वाले बाबा की जयंती



श्री श्री 1008 श्री पंडित रामगोपाल शर्मा जी श्री अलवर वाले बाबा जी का 113 वां जन्मोत्सव!


हरिद्वार 19 दिसंबर ( संजय वर्मा ) श्री 1008 श्री पं. रामगोपाल शर्मा जी महाराज श्री अलवर वाले बाबा जी का 113 वां जन्मोत्सव गत-विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी गोपाल भवन श्री हनुमान मंदिर निरंजनी अखाड़ा रोड  हरिद्वार में बड़े हर्षोल्लास के साथ  18 दिसंबर को गद्दी नशीन महाराज श्री हरिप्रसाद शर्मा जी (झावल) महाराज जी श्री अलवर वाले बाबा जी के द्वारा एवं भक्तों के द्वारा बड़े हर्षोल्लास व धूमधाम से मनाया गया. 18 दिसंबर को श्री अलवर वाले बाबा जी के जन्मोत्सव के अवसर पर हर की पैड़ी पर गद्दी नशीन महाराज श्री हरप्रसाद शर्मा जी श्री अलवर वाले बाबाजी,  विकास शर्मा एवं रियान शर्मा के द्वारा श्री गंगा जी का विधि विधान के साथ पूजन अर्चन हजारों भक्तों के साथ किया गया तत्पश्चात हर की पेडी से जन्मोत्सव के अवसर पर एक विशाल शोभायात्रा अपर रोड,  कोतवाली, हरमिलाप, हॉस्पिटल, ललतारो पुल, शिव मूर्ति चौक, जस्सा राम रोड होते हुए गोपाल भवन श्री हनुमान मंदिर निरंजनी अखाड़ा रोड हरिद्वार तक निकाली गई. 

शोभायात्रा मैं 4 प्रमुख बैंड, गणेश जी की झांकी, श्री हनुमान जी की विशाल झांकी, श्री सतनारायण भगवान जी की झांकी, श्री श्री 1008 श्री पंडित रामगोपाल शर्मा जी श्री अलवर वाले बाबा जी की झांकी एवं एक विशाल रथ जिस पर स्वयं गद्दी नशीन महाराज श्री हरिप्रसाद शर्मा जी (झावल) श्री अलवर वाले बाबा जी, विकास शर्मा (पुत्र) अश्विका शर्मा (पोत्री) एवं रियान शर्मा (पोत्र) सवार थे.  इस विशाल शोभायात्रा के 4 पड़ाव में हजारों भक्तों ने श्री अलवर वाले बाबा जी के दर्शन किए. 

शोभायात्रा में इस बार पिछली शोभा यात्राओं से अधिक भक्तों की उपस्थिति रही. पूरी शोभायात्रा में भक्तों के द्वारा विभिन्न विभिन्न प्रकार की व्यवस्थाओं के द्वारा शोभा यात्रा को व्यवस्थित रूप से संचालित किया गया. 

श्री अलवर वाले बाबा जी के भक्त इस विशाल शोभायात्रा में दिल्ली,  हरियाणा, राजस्थान, पंजाब एवं उत्तर प्रदेश के विशेषकर, आकर शामिल हुए. जन्मोत्सव का कार्य कार्यक्रम गत 3 दिन से श्री हनुमान मंदिर में चल रहा है. 


विशाल शोभायात्रा में यातायात व्यवस्था में लगे हुए कार्यकर्ताओं के द्वारा शोभायात्रा का संचालन एवं ट्रैफिक की व्यवस्था को व्यवस्थित तरीके से निकालते हुए संचालित किया गया. 

भव्य रहा उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय का प्रथम दीक्षांत समारोह



उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय में प्रथम दीक्षान्त समारोह का भव्य हुआ आयोजन 

देहरादून /हर्रावाला 16 दिसंबर उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के देहरादून स्थित परिसर में प्रथम दीक्षान्त समारोह का भव्य आयोजन किया गया। कार्यक्रम पूर्वान्ह 11:30 बजे से प्रारम्भ हुआ। विश्वविद्यालय के माननीय कुलाधिपति / राज्यपाल ले०ज० (से0नि0) श्री गुरमीत सिंह की अध्यक्षता में एवं डॉ० रमेश पोखरियाल निशंक" जी पूर्व केन्द्रीय शिक्षा मंत्री / पूर्व मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड तथा पतंजलि आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति श्रद्धेय आर्चाय बालकृष्ण जी कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि रहे। साथ ही सचिव आयुष एवं आयुष शिक्षा डॉ० पंकज कुमार पाण्डेय एवं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो० सुनील कुमार जोशी, प्रभारी कुलसचिव डॉ० राजेश कुमार अधाना की भी समारोह में गरिमामयी उपस्थिति रही।माननीय कुलाधिपति महोदय के हाथों बी०ए०एम०एस० (यू०जी) के 692 व एम०डी० / एम०एस० के 1006 छात्रों को उपाधि वितरण की गई। यू०जी० व पी०जी० में कुल 112 विद्यार्थियों को सर्वोच्च अंक हेतु स्वर्ण पदक प्रदान किया गया। कुलाधिपति महोदय ने अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में कहा कि आयुर्वेद पद्धति सर्वोच्च चिकित्सा पद्धति है, इसका उद्गम स्थल देवभूमि उत्तराखण्ड है। उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय द्वारा आयुर्वेद शिक्षा के उन्नयन व प्रचार-प्रसार में किये गये कार्यों/प्रयासों की सराहना की गई। आयुर्वेद के चिकित्सकों को पूर्ण गरिमा व उच्च मनोबल एवं सम्मान के साथ चिकित्सा कार्य करने को कहा आज सर्वत्र आयुर्वेद, योग, मर्म तथा आयुष पद्धति को सम्पूर्ण विश्व में स्वीकार्यता है। उन्होंने आयुर्वेद के उत्थान के लिए PPP (Product, Patent & Publication) पर जोर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि आयुर्वेद पद्धति से हम illness को wellness में बदल सकते हैं।


डॉ० निशंक ने कहा कि आयुर्वेद स्वस्थ व्यक्ति को भी ऐसी शिक्षा देता हैं  जिससे व्यक्ति बीमार न पडे इसलिये अन्य पद्धतियों से आयुर्वेद शिक्षा बेहतर है हम सबको अपना सर्वोच्च योगदान आयुर्वेद की उन्नति में देना चाहिये। डॉ० आचार्य बालकृष्ण जी ने आज दुनिया में आयुर्वेद व योग के प्रति पंतजलि योगपीठ के प्रयासों से अवगत कराया।डॉ० सुनील जोशी कुलपति द्वारा उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय द्वारा कोराना काल में किये गये व्यापक चिकित्सा सेवा के कार्यों के बारे में बताया व नये शैक्षिक पाठ्यक्रम,  विभिन्न एम० ओ०यू० भारत सरकार व त्रिपुरा, सरकार फार्मेसी लाइसेंस, विभिन्न समय-समय पर आयोजित अन्तराष्ट्रीय सेमिनार आदि उपलधियों का विस्तार से उल्लेख किया तथा प्रथम दीक्षान्त समारोह में सभी शिक्षक फैकल्टी, अधिकारी कर्मचारीयों के योगदान की सराहना की ।दीक्षान्त समारोह में पच्चीस सौ से अधिक विद्यार्थी, शिक्षकगण, अधिकारी / कर्मचारी / प्रतिनिधि, समाजिक कार्यकर्ता विशिष्ट व्यक्ति उपस्थित रहे। विशिष्ठ व्यक्तियों में श्री आदेश चौहान विधायक रानीपुर हरिद्वार, डॉ० जे० ए० नौटियाल, अध्यक्ष परिषद उत्तराखण्ड प्रो० दिनेश चन्द्र शास्त्री कुलपति उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय, प्रो0 हेमचन्द्र पाण्डेय, कुलपति एच०एन०बी० मेडीकल विश्वविद्यालय, प्रो0 अनीता, यूसेक निदेशक, कार्यपरिषद् सदस्यगण- जस्टिस वी०एस० वर्मा, प्रो० प्रेमचन्द्र शास्त्री, एडवोकेट अरूण भट्ट, श्रीमती रश्मि, प्रो० अनिल झा, प्रो० अरूण त्रिपाठी निदेशक आयुर्वेद एवं यूनानी सेवायेंजी एवं डॉ० के० एस० नप्यायाल, जस्टिस बी०एस०वर्मा० श्रीमती सुशीला बलूनी राज्य आदोलनकारी स्वतंत्रत्रा सेनानी, अनिल राणा, भारत भूषण विद्यालंकार डॉ० जी०एस० जगपांगी लाइसेंस अधिकारी, डॉ० एच०एस० चंदोला, प्रो० सोमदेव शतांशु कुलपति गुरुकुल कांगडी विश्वविद्यालय प्रो० ओम प्रकाश सिंह नेगी कुलपति उ० मुक्त विश्वविद्यालय हल्द्वानी, डॉ० मायाराम उनियाल, डॉ० विनीत अग्निहोत्री, डॉ० जी०एस० सक्सेना, डा० के० एस० नपच्याल डॉ० मिथलेश कुमार, योगेश विद्यार्थी, समस्त विश्वविद्यालय से सम्बद्ध कॉलेजो (22) के निदेशक/प्राचार्य डॉ0 नरेन्द्रपाल वर्मा, डॉ० नरेन्द्र शर्मा कुलपति, प्रो० प्रदीप भारद्वाज कुलपति हिमालयन विश्वविद्यालय आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के परिसर निदेशक प्रो० डी०पी० पैन्यूली प्रो० पंकज शर्मा, प्रो० डी० सी० सिंह प्रो० अनूप कुमार गक्खड प्रो0 अजय गुप्ता,





प्रो0के.के.शर्मा, प्रो० औ०पी० सिंह प्रो० बालकृष्ण पंवार, उपकुलसचिव डॉ संजय गुप्ता उप कुलसचिव संजीव पाण्डेय, उपकुलसचिव डॉ शैलेन्द्र प्रधान, डॉ डी०के०सेमवाल, डॉ आशुतोष चौहान, श्री अमित जैन मुख्य वित्त अधिकारी, चन्द्र मोहन पैन्यूली निजी सचिव कुलपति डॉ० नवीन जोशी, प्रो० नरेश चौधरी, श्री विवेक जोशी निजी सचिव कुलसचिव डॉ० वर्षा सक्सेना, डॉ० मन्नत मारवाह, डॉ0 जयाकाला, डॉ० राजीव कुरेले, डॉ० ईला तन्ना, डॉ० नन्दकिशोर दाधीच, डॉ० माधवी गोस्वामी, डॉ० उत्तम शर्मा, प्रो० राधा बल्लभ सती, प्रो० के०के० शर्मा, प्रो० अवधेश मिश्रा, प्रो० गिरिराज गर्ग, प्रो० विपन्न चन्द्र पाण्डेय, डॉ० विरेन्द्र टम्टा, डॉ० विपिन्न अरोरा, डॉ० अरूण शर्मा, डॉ० मयंक भटकोटी, डॉ० देवेश शुक्ला, डॉ० वाई०एस० मलिक, प्रो० मु० हारून, प्रो0 अजय विश्वकर्मा, डॉ० सतीश कुमार आदि उपस्थित थे।कार्यक्रम में सायकालीन सत्र में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों व कवि सम्मेलन का आयोजन भी किया गया।कार्यक्रम के अंत में प्रभारी कुलसचिव डॉ० राजेश कुमार ने मुख्य अतिथि, सभी विशिष्ट अतिथियों, विद्वान शिक्षकगणों व विधार्थियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

नई भाजपा कार्यकारिणी का जिला कार्यालय पर हुआ स्वागत


भाजपा की जिला कार्यकारिणी का हुआ भव्य स्वागत- 


 हरिद्वार 16 दिसंबर ( संजय वर्मा ) जिला भाजपा कार्यालय हरिद्वार पर जिला हरिद्वार की कार्यकारिणी घोषित होने पर आयोजित स्वागत अभिनंदन कार्यक्रम में जिला हरिद्वार के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने विधायक आदेश चौहान, पूर्व विधायक सुरेश राठौर, निवर्तमान जिलाध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान के नेतृत्व में जिला अध्यक्ष संदीप गोयल एवं उनकी नवमनोनीत जिला कार्यकारिणी का फूल माला पहनाकर एवं मिष्ठान खिलाकर भव्य स्वागत किया इस अवसर पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व जिला धर डॉ जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि विश्व के सबसे बड़े राजनीतिक दल के कार्यकर्ता समाज में अपनी एक अलग पहचान स्थापित करते हैं यही कारण है कि आज भारतीय जनता पार्टी संपूर्ण देश में मात्र 3% वोट मत से शुरू होकर हाल ही में संपन्न हुए गुजरात चुनाव में कुल पड़े वोटों से आधे से अधिक मत लेकर ऐतिहासिक जीत हासिल कर पाई है पूर्व मुख्यमंत्री एवं लोकसभा सांसद डॉ रमेश पोखरियाल ने अपने वर्चुअल संबोधन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए जिला कार्यकारिणी को शुभकामनाएं प्रेषित की एवं विगत पंचायत चुनाव में हासिल की ऐतिहासिक जीत को कार्यकर्ताओं की जीत बताते हुए नवगठित कार्यकारिणी के पदाधिकारियों को भविष्य में और अधिक लगन व मेहनत से पिछले चुनाव के रिकॉर्ड को तोड़ने की चुनौती का सामना कर  तैयार रहने को कहा कार्यक्रम में रानीपुर विधायक आदेश चौहान ने कार्यकारिणी के सभी पदाधिकारियों का माला पहना कर स्वागत किया और अगले वर्ष होने वाले नगर निकाय चुनाव के लिए अभी से कमर कस कर मैदान में उतरने की प्रेरणा दी पूर्व विधायक सुरेश राठौड़ ने कहा कि हमें गर्व है कि हम आज विश्व के सबसे बड़े राजनीतिक संगठन के कार्यकर्ता के रूप में समाज में कार्य कर रहे हैं हमारे चरित्र और सेवा भाव ही समाज में हमारी पहचान है जिला अध्यक्ष संदीप गोयल ने अपनी टीम के सदस्यों का परिचय कराते हुए यह आशा व्यक्त की कि उनकी यह टीम निवर्तमान जिलाध्यक्ष डॉ जयपाल सिंह चौहान के द्वारा स्थापित सेवा ही संगठन के मूल भाव को चरितार्थ करेगी एवं अपनी टीम के सभी सदस्यों का स्वागत करते हुए उन सबको यह भी याद दिलाया कि हम सबको विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपनों को साकार करने हेतु  दिन-रात मेहनत करने के लिए तैयार रहना पड़ेगा इस अवसर पर जिला महामंत्री आशुतोष शर्मा, आशु चौधरी जिला उपाध्यक्ष विकास तिवारी, जितेंद्र चौधरी, लव शर्मा, सरदार निर्मल सिंह, आभा शर्मा, रश्मि चौहान जिला मंत्री मोहित वर्मा ,आलोक द्विवेदी, विशन पाल कश्यप ,रजनी वर्मा ,नेत्रपाल चौहान, जिला कोषाध्यक्ष सचिन शर्मा ,जिला कार्यालय मंत्री नकली सिंह सैनी पूर्व महामंत्री आदेश सैनी ,सुनील सैनी, अनिल अरोड़ा, राजीव भट्ट, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष रीता चमोली, मनु रावत ,रेनू शर्मा, रीमा गुप्ता, मंडल अध्यक्ष राजकुमार, नागेंद्र राणा, राज सिंह, राजन खन्ना, प्रमोद शर्मा, श्वेतांक त्रिपाठी, विकास प्रधान, विशाल गर्ग, अतुल वशिष्ठ संजय सिंह बबली, राजेश कुँवर,पार्षद अनुज सिंह ,मनोज पर आलिया, विपिन शर्मा, सतीश कुमार , वीरेंद्र कुमार मनोज चौहान ,सुबे सिंह आदि पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

सन्यासिनी माता ललिताम्बा जी को संत समाज ने किया स्मरण

 त्याग ,तपस्या और धर्म की प्रतिमूर्ति थी माता ललिताम्बा:-

जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम

मानव कल्याण आश्रम की संस्थापिका सन्यासिनी श्री माता ललिताम्बा को संत समाज ने किया स्मरण

हरिद्वार 13 दिसंबर ( संजय वर्मा ) श्री मानव कल्याण आश्रम हरिद्वार ,बद्रीनाथ अहमदाबाद आदि संस्थाओं की संस्थापिका सन्यासिनी माता ललितम्बा को उनकी सोलवीं पुण्यतिथि के अवसर पर संत समाज ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस अवसर पर महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव एवं संस्था के ट्रस्टी श्री महंत रविंद्रपुरी महाराज की अध्यक्षता और श्री मानव कल्याण आश्रम ट्रस्ट के संयोजन में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया जिसमें जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी राजराजेश्वराश्रम महाराज ने ब्रह्मलीन माता ललिताम्बा जी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि माता ललिताम्बा त्याग ,तपस्या और धर्म की प्रतिमूर्ति थी। उन्होंने हरिद्वार में सन्यास परंपरा को संवर्धित एवं संरक्षित करने का कार्य किया ।श्री जयराम आश्रम पीठाधीश्वर स्वामी ब्रह्म स्वरूप ब्रह्मचारी महाराज ने सन्यासी माता




ललिताम्बा जी को स्मरण करते हुए कहा कि माता ललिताम्बा जी के द्वारा स्थापित श्री मानव कल्याण आश्रम,हरिद्वार , बद्रीनाथ में धर्म एवं साधना के केंद्र बने हुए हैं।उत्तराखंड के पूर्व कैबिनेट मंत्री और हरिद्वार के विधायक मदन कौशिक ने गोरक्षा आंदोलन में सन्यासिनी माता ललिताम्बा जी के दिए गए अद्वितीय सहयोग को स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने गौ रक्षा के लिए  हरिद्वार के संतों का प्रतिनिधित्व किया वही गौ रक्षा करते हुए जेल यात्रा भी की जिस को कभी भुलाया नहीं जा सकता । मानव कल्याण आश्रम में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में आए हुए संत महंतजनो का स्वागत  श्री मानव कल्याण आश्रम के महंत स्वामी दुर्गेशानंद ,आश्रम के मुख्य ट्रस्टी श्री महंत देवानंद सरस्वती  महाराज ट्रस्ट के अध्यक्ष विनोद अग्रवाल  प्रबंध न्यासी अनिरुद्ध भाटी आदि ने किया ।इस अवसर पर महामंडलेश्वर  स्वामी ललितानंद गिरी ,  महामंडलेश्वर स्वामी रामेश्वरा नंद सरस्वती, महामंडलेश्वर स्वामी प्रबोधनंद, महामंडलेश्वर स्वामी  आनंद चेतन ,महंत जगजीत सिंह ,महंत सूरज दास, महंत रवि देव शास्त्री, आचार्य हरिहरा नंद, सहित  भक्तों ने माता ललिताम्बा को श्रद्धांजलि दी ।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने आयोजित किया रक्तदान शिविर


 स्वयं स्वस्थ रहने के साथ दूसरों को जीवनदान देता है रक्तदान : डॉ. यतीन्द्र नागयन

-आरएसएस के कनखल मंडल के तत्वाधान में 101 यूनिट हुई एकत्र


हरिद्वार। 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कनखल मंडल द्वारा एमसीएस विद्यापीठ सतीकुंड में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में रक्तदाताओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। जिला ब्लडबैंक की टीम के निर्देशन में 101 लोगों ने रक्तदान किया। 

रक्तदान शिविर का उद्घाटन करते नगर संचालक डॉ. यतीन्द्र नागयन ने कहा कि रक्तदान से जहाँ हम किसी जरूरतमंद को को जीवनदान देते है, वही नियमित रक्तदान कर हमें रक्त विकारों से भी मुक्ति मिलती है। युवाओं को स्वस्थ रहने के लिए समय समय पर रक्तदान करते रहना चाहिए। हमारे रक्त से यदि किसी दूसरे व्यक्ति को जीवन मिलता है तो इससे बड़ा कोई दान नही है। उन्होंने कहा की समाज मे रक्त की कमी से कोई इंसान न मरे, इसके लिए युवाओं को समाज को भी जागरूक करना चाहिए। एक स्वस्थ्य व्यक्ति प्रत्येक 3 माह पर रक्त दान कर जरूरतमंद को जीवनदान दे सकता है। 

कनखल मंडल सेवा प्रमुख व कार्यक्रम संयोजक राहुल वत्स ने कहा कि ने कहा क‌ि रक्तदान करने से शरीर मे चुस्ती-फुर्ती बनी रहती है। युवाओं को रक्तदान आवश्यक करना चाहिए। हमारा रक्त किसी और कि नशों में दौड़ कर उसे जीवनदान से सकता है, तो इससे बड़ा पुण्य का कोई काम नही है। मंडल कार्यवाह अर्पित अग्रवाल ने कहा कि आरएसएस का प्रत्येक स्वयंसेवक सदैव समाज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा रहता है। वैसे तो अधिकांश स्वयंसेवक अपने स्तर से अलग अलग कैम्पो में रक्तदान करते ही है, इस बार उन्हें एक साथ सामूहिक रूप से रक्तदान किया है। 

सह मंडल कार्यवाह सुशांत ने कहा कि रक्तदान करने से मानव जीवन में कोई दान नहीं होता है। इसलिए हर व्यक्ति को रक्तदान करने की सोच रखकर उत्साह से आगे आकर रक्तदान करना चाहिए। 

इस अवसर पर जिला संचालक रोहिताश कुंवर, नगर प्रचारक रमेश मुखर्जी,नगर सह कार्यवाह बलदेव रावत सम्पर्क प्रमुख अमित शर्मा, सह बौद्धिक प्रमुख डॉ. रतनलाल, सौरभ सारस्वत,विनीत गुप्ता,प्रशांत, विकास, मनीष,विनीत बंगा,आराध्य,शंभुजी,ललित, मनीष लखानी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

भारत विकास परिषद की बैठक हुई सम्पन्न


 *देश में धर्मांतरण पर रोक लगे :नरेश गोयल*          

हरिद्वार 11 दिसंबर भारत विकास परिषद की गुरु कृपा औषधालय, औद्योगिक क्षेत्र  में भेल शाखा के अध्यक्ष वैध एम आर शर्मा के संयोजन में आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में क्षेत्रीय मंत्री नरेश गोयल ने कहा कि आज देश में बड़े पैमाने पर धर्मांतरण हो रहा है उसे रोके जाने की आवश्यकता है। अगर धर्मांतरण को रोका नहीं गया तो देश में आने वाले समय में विस्फोटक स्थिति भी हो सकती है। भारत विकास परिषद ने अब संकल्प लिया है कि वह देश में धर्मांतरण रोकने के लिए सकारात्मक काम करेगा। समाज में  जन जागृति के लिए एक नई क्रांति की जरूरत महसूस की जा रही है। क्षेत्रीय मंत्री(संस्कार )विनीत संगल ने कहा कि परिषद आज जहां खड़ी है वह आप सब की सेवा,लग्न व कड़ी मेहनत का परिणाम है।भारत विकास परिषद देश में वृहद स्तर पर रक्तदान शिविरों का आयोजन कर रही है। परिषद का लक्ष्य है देश में रक्त की कमी से किसी की भी जान ना जाएं। प्रांतीय अध्यक्ष बृज प्रकाश गुप्ता ने प्रदेश स्तर पर चल रही गतिविधि यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज परिषद की राज्य में अलग पहचान है। हम परिषद की शाखाओ को बढ़ाने में लगें हुए है। अभी हमें कई नई शाखाएं गठित करने में सफलता भी मिली है। उत्तरकाशी के चिल्याड़ीसौड में 24वीं शाखा यमुनोत्री का गठन किया गया है और शीघ्र ही विकास नगर, देहरादून में 25वीं शाखा का गठन किया जायेगा। प्रांतीय महिला संयोजिका सुगंधा जैन ने बताया कि नये वर्ष में 15जनवरी को देहरादून में महिलाओ के उत्थान हेतु नारी जन चेतना का एक विशाल सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इस एक दिवसीय कार्यशाला में सर्व श्री बिजेंद्र पालीवाल, प्रांतीय मीडिया अमित कुमार गुप्ता,कुशल पाल सिंह चौहान, संजीव कुमार लम्बा, राजकुमार, डॉ महेंद्र आसवाल,शिव कुमार चौहान, लाल सिंह, सोनेश्वर कुमार, नरेश जेनर, जगदीश लाल पाहवा ने भी अपने विचार रखें।कार्यशाला में अजय श्रीवास्तव, सुधा तिवारी, गजेंद्र प्रसाद रतुड़ी, मनु महलोंत्रा, अजित तोमर, विनोद गुप्ता, अनुराग कौशिक आदि ने भाग लिया। इस कार्यशाला का सफल संचालन प्रांतीय महासचिव मनीषा सिंघल ने किया। और उन्होंने कहा की भारत विकास परिषद वर्तमान में बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ मिशन पर कार्य कर रही है। परिषद ने अभी पिछले दिनों कोटद्वार में 4निर्धन कन्याओं का विवाह करवाया था।

संत समाज देगा सन्यासिनी माता ललितंबा जी को श्रद्धांजलि


 मानव कल्याण आश्रम की संस्थापिका सन्यासी ललिताम्बा माताजी को संत समाज देगा श्रद्धांजलि 

हरिद्वार 11 दिसंबर ( संजय वर्मा)  महानिर्वाणी अखाड़े  की अध्यक्षता में एवं ललिताम्बादेवी ट्रस्ट के संयोजन में मंगलवार को श्री मानव कल्याण आश्रम की संस्थापिका संयासनी ललिताम्बा माताजी की सोलवीं पुण्यतिथि श्रद्धा भाव के साथ मनाई जाएगी उपरोक्त जानकारी ललिताम्बा देवी ट्रस्ट के वरिष्ठ  ट्रस्टी श्रीमहंत देवानंद सरस्वती महाराज ने प्रदान करते हुए बताया कि मानव कल्याण आश्रम बदरीनाथ, हरिद्वार ,अहमदाबाद आदि की संस्थापिका परम गौ भक्त,  गौ रक्षा आंदोलन में अग्रणी भूमिका निभाने वाली सन्यासिनी माता ललितंबा जी की सोलहवीं  पुण्यतिथि आगामी मंगलवार को आश्रम प्रांगण में श्रद्धा भाव के साथ मनाई जाएगी ।

ओलविया इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित होने जा रही है घुड़सवारी प्रतियोगिता

 हरिद्वार 10 दिसंबर ( संजय वर्मा ) घुड़सवारी संघ एवं स्कूल फॉर सेंडिंग चैंपियनशिप दिनांक 11 दिसंबर 2022 को ओलिवा इंटरनेशनल स्कूल में आयोजन किया जा रहा है जिसमें 30 प्रतिभागी अंडर 16 तक प्रतिभाग करेंगे चैंपियनशिप के हेड इंस्ट्रक्टर एवं मुख्य आयोजक सौरव भाटिया जी ने बताया की 8 स्कूलों के बच्चे इस


में प्रतिभाग कर रहे हैं और यह चैंपियनशिप हरिद्वार में पहली बार आयोजित की जा रही है सौरव भाटिया जी ने बताया कि घुड़सवारी से बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास होता है उन्होंने यह भी कहा कि इस चैंपियनशिप के बाद उनका अगला लक्ष्य हरिद्वार के बच्चों को नेशनल और इंटरनेशनल लेवल तक ले जाने का है चैंपियनशिप शिव के मुख्य सहयोगी कमांडर अमोद कुमार चौधरी अनुपम सिंगल डॉक्टर नवनीत परमार मनीष श्री मनीष गुप्ता श्री विकास गोयल श्री विवेक गोयल श्री मनीष भारद्वाज जी आदि हैं


Advertisement:

Buy any of the following article at just ₹320.








    
Contact us at - mspvofficial@gmail.com
Facilities by us:

#ReturnAlsoAvailable
#cashondelivery
#Onlinepayment.

Thank you

________**********************________

रेड क्रॉस के स्वयंसेवकों ने किया स्वच्छता के प्रति जागरूक


*इण्डियन रेडक्रॉस द्वारा स्वच्छ भारत, स्वच्छ पर्यटन  जनजागरण अभियान का आयोजन।*

हरिद्वार 10 दिसंबर (वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ) भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय एवं इण्डियन रेडक्रास के संयुक्त तत्वाधान में जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय के निर्देशन एवं रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है इस अभियान के अंतर्गत परमार्थ निकेतन में मां गंगा के तट पर आरती के दौरान इण्डियन रेड क्रास



सचिव डा0 नरेश चौधरी के नेतृत्व में इण्डियन रेडक्रास स्वयंसेवकों के द्वारा देश विदेश से आये श्रद्धालु/यात्रियों को लघु नाटिका के प्रदर्शन के माध्यम से स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन अभियान के प्रति जागरूक किया गया। परमार्थ निकेतन आश्रम के संस्थापक अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की स्वच्छ भारत पहल ने भारत को स्वच्छता के लिये विश्व पर्यटन में विशेष रूप से पहचान दिलाई है। स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के प्रमुख उद्देश्य में पर्यटन स्थलों की स्वच्छता और साफ सफाई में सुधार किया जाना था और इस जागरूकता अभियान  से भारत के विभिन्न पर्यटन स्थलों की स्वच्छता और साफ सफाई में विशेष रूप से सुधार हुआ है। स्वामी चिदानन्द ने मां गंगा की स्वच्छता पर भी प्रकाश डालते हुए कहा कि मां गंगा का जल पहले की तुलना में बहुत स्वच्छ हुआ है परन्तु  मां गंगा की स्वच्छता हेतु हम सभी को लगातार अभियान चलाते रहने हैं इसमें पर्यटकों की भी अहम भूमिका है कि पर्यटक भी मां गंगा को प्रदूषित न करें। स्वामी चिदानन्द ने गंगा के घाटों एवं तटों को पॉलीथिन मुक्त क्षेत्र बताया तथा देश विदेश से आये हुए श्रद्धालुओं/यात्रियों को आह्वान करते हुए संकल्प दिलाया कि हम सब स्वयं को स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन अभियान का एक समर्पित स्वयंसेवी माने तथा मां गंगा में न तो स्वयं कोई गंदगी करें और न ही किसी को करने दें ,साथ ही साथ जहां भी हम रहते हैं या कार्य करते हैं उन सभी स्थानों पर साफ सफाई के लिए अपनी दिनचर्या में से कुछ समय निकालकर श्रमदान अवश्य करें एवं न ही पॉलीथिन का स्वयं उपयोग करें और न हीं किसी को करनें दें तभी सम्पूर्ण भारत स्वच्छ रह पाएगा और पर्यटन भी स्वच्छ कहलायेगा। स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने इण्डियन रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी एवं भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय से जन जागरण अभियान में सक्रिय सहभागिता करने वाले अधिकारियों तथा रेडक्रॉस स्वयं सेवकों का आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद दिया तथा इस प्रकार के जन जागरण अभियानों को भविष्य मे भी चलाते रहने के लिये हौंसला अफजाई की।

भव्य होगा उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय का प्रथम दीक्षांत समारोह


 देहरादून 9 दिसंबर  ( संजय वर्मा ) उत्तराखंड के प्रतिष्ठित उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय हर्रावाला देहरादून में प्रथम भव्य दीक्षांत समारोह आगामी 16 दिसंबर को विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर हर्रावाला में आयोजित किया जाएगा। विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलसचिव डॉ राजेश अधाना ने बताया कि  विश्वविद्यालय के  माननीय कुलपति प्रोफेसर सुनील जोशी जी के निर्देशन में दीक्षांत समारोह को भव्य एवं गरिमापूर्ण बनाने के लिए विश्वविद्यालय स्तर पर जोर शोर से तैयारियां की जा रही हैं। विश्वविद्यालय की स्थापना के बाद प्रथम बार दीक्षांत समारोह का आयोजन किया जाना है। जिसमें विश्वविद्यालय के माननीय कुलाधिपति  एवं  राज्यपाल  लेफ्टिनेंट जनरल श्री गुरमीत सिंह(से.नि.) की अध्यक्षता में दीक्षांत समारोह गरिमा पूर्ण ढंग से मनाया जाएगा। विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में प्रभारी कुलसचिव की अध्यक्षता में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई जिसमें तीनों परिसरो के परिसर निदेशक सहित वरिष्ठ शिक्षकों एवं विभिन्न समिति के सदस्यों ने भाग लिया। समीक्षा बैठक का संचालन उप सचिव डॉ संजय गुप्ता ने किया  विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के मीडिया प्रभारी डॉ नवीन जोशी जी ने बताया कि दीक्षांत समारोह में एम.डी., एम.एस. एवं बीएएमएस की डिग्री  अवार्ड  की जाएंगी। विश्वविद्यालय में सर्वोत्तम अंक पाने वाले मेधावी  विद्यार्थियों एवं शोधार्थियों को गोल्ड मेडल भी प्रदान किए जाएंगे। इस अवसर पर सायंकाल सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रम को सफलतापूर्वक संपन्न करने हेतु विश्वविद्यालय स्तर पर विभिन्न कार्यक्रमों एवं कार्यों के लिए व्यवस्थित समितियों के माध्यम से विश्वविद्यालय के वरिष्ठ शिक्षकों एवं अधिकारियों को नामित किया गया है जिससे कार्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन किया जा सके। विश्वविद्यालय के उपकुलसचिव प्रो० बालकृष्ण पवार ने बताया  इस कार्यक्रम में  विश्वविद्यालय के हजारों की संख्या में  विद्यार्थियों के शामिल होने की संभावना है। इस दीक्षांत समारोह में यू जी एवं पीजी की 16 सौ से अधिक डिग्रियों का वितरण किया जाएगा कार्यक्रम की व्यवस्थाओं की मॉनिटरिंग  मुख्य परिसर के परिसर निदेशक प्रोफेसर डी.पी. पैन्यूली द्वारा की जा रही है। हमारे देश एवं विदेशों में उत्तराखंड एवं आयुर्वेद के ज्ञानगंगा प्रवाह को प्रवाहित करने वाले  उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय मैं प्रथम बार दीक्षांत समारोह आयोजित करने के लिए सभी शिक्षक गणों कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों में हर्ष एवं प्रसन्नता व्यक्ति की गई।

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...