शायरों की महफिल

 ग़ज़ल 



नफरतों के बयान रहने दो।

कुछ तो अम्नो-अमान रहने दो।।


कल सियासत के काम आएंगे।

ये सुलगते मकान रहने दो।।


है वतन आपका ये उनका भी।

प्यार को दरमियान रहने दो।।


बर्फ में जल रहा बदन कितना।

धूप का सायबान रहने दो।।


कस रहा तंज है पड़ोसी भी।

ताज की आन-बान रहने दो।।


खत्म सब मसअले हो जाएंगे।

डेढ़ गज की जबान रहने दो।।


इसमें आती है प्यार की खुशबू।

मेरा कच्चा मकान रहने दो।।


ये शगूफे तुम्हें मुबारक हों।

मुंह में मेरी जबान रहने दो।।


जान-पहचान है गजल से भी।

एक ये तो गुमान रहने दो।।


नफरतें पालकर भी क्या होगा।

अब पुराने निशान रहने दो।।


'दर्द' कितना वो खानदानी है।

आज उसका बखान रहने दो।।


दर्द गढ़वाली, देहरादून 

09455485094

उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति करेंगे न्यूरोथेरेपीस्ट का मार्गदर्शन

 


लाजपतराय मेहरा न्यूरोथेरेपी *रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट का राष्ट्रीय अधिवेशन हरिद्वार में


**** 21 अगस्त से शुरू होने वाले तीन दिवसीय अधिवेशन में देश भर के 200 न्यूरोथैरेपिस्ट लेंगे भाग


हरिद्वार 31जुलाई (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)   तीर्थ नगरी हरिद्वार में 



लाजपतराय मेहरा न्यूरोथेरेपी *रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट का राष्ट्रीय अधिवेशन हरिद्वार में  होने जा रहा है। जिसमें देशभर के करीब 200 से ज्यादा न्यूरोथैरेपिस्ट भाग लेंगे। उत्तराखंड आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय के कुलपति सुनील जोशी न्यूरोथैरेपिस्ट का मार्गदर्शन करेंगे।

लाजपतराय मेहरा न्यूरोथेरेपी *रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट की बैठक जम्मू यात्री भवन, भूपतवाला में आयोजित की गई। बैठक को संबोधित करते हुए कोषाध्यक्ष सुमित  महाजन ,राष्ट्रीय महामंत्री राम गोपाल परिहार ने बताया कि हर साल की तरह इस साल  21अगस्त से 23 अगस्त तक लाजपतराय मेहरा न्यूरोथैरेपिस्ट रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट का राष्ट्रीय अधिवेशन हरिद्वार में होगा।  देशभर से 200 से अधिक न्यूरोथेरेपिस्ट अधिवेशन भाग लेंगे। डॉक्टर सुनील जोशी वाइस चांसलर आयुर्वेदिक यूनिवर्सिटी देहरादून और डॉक्टर अवधेश पांडे रिसर्चर कंप्लीमेंट्री साइंसेज, डॉक्टर के. बाबू चाइल्ड स्पेशलिस्ट चंडीगढ़ के द्वारा आए हुए डेलिगेट्स का मार्गदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि न्यूरोथैरेपी भारतीय प्राचीन वैदिक पद्धति है। जिसमें बिना दवा के हर एक बीमारी का सफल इलाज किया जाता है। जिसके जन्मदाता डॉक्टर लाजपतराय मेहरा थे। जिन्होंने न्यूरोथेरेपी का आविष्कार किया। न्यूरोथेरेपी के पूरे देश भर में 15 सौ से अधिक उपचार के केंद्र चल रहे हैं। 12वीं पास बेरोजगार बच्चों को प्रैक्टिकल  न्यूरोथेरेपी की ट्रेनिंग देकर अपने पांव पर खड़ा किया जाता है। रविवार को  मीटिंग में उत्तराखंड प्रदेश के न्यूरोथेरेपिस्ट ने भाग लिया।  देव आहूजा,  इशांत, बलराम शाह, नौशीन, मोहिनी मदान, आरती, संगीता विशेष रुप से कार्यक्रम की तैयारी के लिए उपस्थित रहे।‌

बसपा , कांग्रेस के सैकड़ों लोगों ने ज्वाइन की भाजपा

हरिद्वार 31 जुलाई( संजय वर्मा )भारतीय जनता पार्टी जिला कार्यालय पर बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने अपने प्रांतीय नेताओं के नेतृत्व में हरिद्वार के सांसद वह पूर्व कैबिनेट मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की प्रेरणा से भारतीय जनता पार्टी में आस्था व्यक्त करते हुए भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण करते हुए हजारों की संख्या में उपस्थित कॉन्ग्रेस और बसपा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए श्री निशंक ने कहा कि आज जिस प्रकार से भारतीय जनता पार्टी का कुनबा निरंतर बढ़ रहा है और जिस प्रकार से देश की जनता देश के यशस्वी प्रधानमंत्री जी की जनकल्याणकारी नीतियों से प्रभावित होकर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं, वह दिन दूर नहीं जब इस प्रदेश से ही नहीं देश से भी कांग्रेस का सफाया हो जाएगा और कांग्रेस के पास ना तो नेता ही रहेंगे और ना ही कार्यकर्ता उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में विगत 8 वर्षों में देश ही नहीं अपितु विदेश में भी भारत का डंका बजा है और भारत विश्व गुरु बनने की ओर अग्रसर है हमारे लिए गर्व की बात है और आज जिस प्रकार बामसेफ के संस्थापक सदस्य ऐसे वरिष्ठ नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी की नीतियों से प्रभावित होकर अपने आस्था भाजपा में व्यक्त की है , उससे यह सिद्ध होता है कि बसपा और कांग्रेस के भ्रम जाल से अब लोग मुक्त हो रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने वालों में मुख्य रूप से कांग्रेस के प्रांतीय नेता मीनू कुमार, पूर्व बीडीसी सचिन मुखिया ,पंकज कुमार उपप्रधान ,मोकम सिंह सभासद नगर पंचायत भगवानपुर ,वीर सिंह बीडीसी सदस्य ,शुभम सहगल एडवोकेट ब्लाक महासचिव कांग्रेस ,सतीश कुमार, वीरेंद्र सिंह अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव ,सचिन मुखिया आदि के नेतृत्व में कांग्रेस और बसपा के कार्यकर्ताओं ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की जिनकी संख्या 452 रही कार्यक्रम में पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी यतिस्वरानंद ,रानीपुर विधायक आदेश चौहान ,मास्टर सत्यपाल ,चंदन त्यागी, राजकुमार कसाना ,भाजपा उपाध्यक्ष अनिल अरोड़ा ,देशपाल रोड ,शोभाराम प्रजापति ,रविंदर कौर ,मनोज गौतम, जिला महामंत्री आदेश सैनी ,विकास तिवारी ,जिला मंत्री राजीव भट्ट, मंडल अध्यक्ष अमरीश सैनी, जितेंद्र सैनी, बलवंत पवार ,सुनीता पवार ग्राम प्रधान, पूर्व जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश जमदग्नि,



कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह के द्वारा की गई।

श्री ध्रुव चैरिटेबल हॉस्पिटल में शुरू हुई आयुष्मान योजना

 हरिद्वार/ श्यामपुर कांगड़ी 31 जुलाई ग्राम सज्जन पुर पीली श्यामपुर कागडी जनपद हरिद्वार मे स्थित श्री ध्रुव चैरिटेबल हॉस्पिटल मे आज आयुष्मान योजना का शुभांरभ माननीय श्री सतपाल महाराज जी के कर कमलों द्वारा किया गया जिसके संस्थापक बाबा बालक दास जी है।बाबा बालक दास जी ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारा अस्पताल 300 बेड का है।लेकिन वर्तमान मे 50 बेड कि अनुमति मिली है।लेकिन जल्दी हि इसे 300 बेड का आधुनिक अस्पताल बना दिया जाएगा, उसमें आयुष्मान कार्ड के अंतर्गत आसपास के ग्रामीण एवं दूर दराज के रोगियों को लाभ मिलेगा। मुख्य मार्ग से अस्पताल को जाने के लिए पक्की सड़क का निर्माण पुन करा दिया जाएगा ऐसा माननीय सतपाल महाराज जी ने प्रेस वार्ता मे कहा, अस्पताल मे सभी प्रकार कि आधुनिक सुख सुविधाएं उपलब्ध है।बाबा बालक दास जी ने कहा कि रोगियों को होने वाली समस्याओ का ध्रुव चेरिटेबल हॉस्पिटल शीघ्र समाधान कराने के लिए हर संभव प्रयासरत रहेगा।



कहानी सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर शत-शत नमन

 प्रेमचंद जी के बारे में कुछ जाने-अनजाने तथ्य–


* प्रेमचंद को प्रेमचंद नाम ज़माना प्रेस के संपादक और उर्दू के लेखक मुंशी दया नारायण निगम ने दिया।

* प्रेमचंद को 'उपन्यास सम्राट' प्रसिद्ध बंगाली कथाकार शरतचन्द्र चट्टोपाध्याय ने, 'कलम का सिपाही' उनके ही बेटे अमृतराय ने और 'कलम का मज़दूर' मदन गोपाल ने कहा।

* प्रेमचंद का हिन्दी में मूल रूप से लिखा गया पहला उपन्यास 'कायाकल्प' (1926) है। इससे पहले के उनके सभी उपन्यास मूल रूप से उर्दू में लिखे गये थे और बाद में स्वयं उन्होंने उनका हिन्दी अनुवाद किया। जिनमें ग़बन, सेवासदन और रंगभूमि जैसे उपन्यास भी शामिल हैं।

* 'मंगलसूत्र' प्रेमचंद का लिखा अधूरा उपन्यास है। इसे रचने के दरमियान ही इनकी मृत्यु हो गयी थी। 1948 ई. में प्रेमचंद के पुत्र और विख्यात कथाकार अमृतराय ने इसे पूरा किया।

* प्रेमचंद की पहली कहानी 'इश्क़-ए-दुनिया और हुब्बे वतन' 1908 ई. में 'ज़माना पत्रिका' में प्रकाशित हुई। यह उर्दू में थी।

* प्रेमचंद का पहला कहानी संग्रह 'सोज़-ए-वतन' 1908 ई. में ज़माना प्रेस, कानपुर से प्रकाशित हुआ। इसमें इनकी उर्दू में लिखी कहानियाँ थीं। उर्दू में वे नवाबराय नाम से लिखते थे।

* 'सोज़-ए-वतन' पर अंग्रेज़ सरकार ने सिडिशन का आरोप लगाकर इसे ज़ब्त कर लिया। और इसकी 700 प्रतियाँ जला दी गयीं।

* सिडिशन के आरोप के बाद वे नवाबराय नाम से नहीं लिख सकते थे इसलिए उन्होंने अपना नया नामकरण 'प्रेमचंद' के रूप में किया।

* ऐसा माना जाता है कि प्रेमचंद के आगे मुंशी दरअस्ल मुंशी दया नारायण निगम का है। इन दोनों ने मिलकर एक पत्रिका संपादित की थी, इसके संपादक में इन दोनों का नाम मिलाकर 'मुंशी- प्रेमचंद' दिया जाता था। बाद में वे इसी नाम से लोकप्रिय हो गये।

* प्रेमचंद नाम से उनकी पहली कहानी 'बड़े घर की बेटी' है। लेकिन यह भी मूल उर्दू की कहानी रही है।

* प्रेमचंद की पहली हिन्दी भाषा और देवनागरी लिपि में लिखी कहानी 'सौत' (1915 ई.) है, यह महावीर प्रसाद द्विवेदी जी के संपादन में आने वाली प्रसिद्ध पत्रिका 'सरस्वती' में प्रकाशित हुई थी।

* प्रेमचंद का पहला हिन्दी कहानी संग्रह 'सप्त सरोज' (1917 ई०) में प्रकाशित हुआ।

* प्रेमचंद की अंतिम कहानी 'कफ़न' (1936 ई०) तथा अंतिम उपन्यास 'गोदान' (1936 ई०) है।

* प्रेमचंद के उपन्यास 'रंगभूमि' को 'भारतीय जनजीवन का रंगमंच', 'प्रेमाश्रम' को 'हिन्दी का पहला राजनीतिक उपन्यास' तथा 'गोदान' को 'भारतीय किसान जीवन की महागाथा' कहा जाता है।


(संकलन: के० पी० अनमोल, सन्दर्भ: विभिन्न शोध पुस्तकों से )


हिन्दी के इस महान कथाकार को नमन।


लघु व्यपारी संगठनो ने किया संजय चोपड़ा का स्वागत



 *हरिद्वार, 31 जुलाई (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  फुटपाथ के कारोबारी रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों के सामूहिक संगठन लघु व्यापार एसो. से जुड़े संगठनों के प्रतिनिधियों ने प्रथम न्यू स्मार्ट वेंडिंग जोन के प्रांगण में स्वागत समारोह आयोजित किया। जिसमें मुख्य अतिथि लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा को नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर ऑफ इंडिया (नासवी) द्वारा नासवी रत्न से सम्मानित किए जाने व नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया (नासवी) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में सातवीं बार चुने जाने के विषय पर हर्ष व्यक्त करते हुए संजय चोपड़ा का जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा 20 वर्षों से उत्तराखंड राज्य के कोने कोने में रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को संगठित कर लघु व्यापारियों की न्यायसंगत मांगों के लिए मेरे संघर्ष जारी रहेंगे। चोपड़ा ने कहा नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर ऑफ इंडिया (नासवी) द्वारा जो मुझ पर विश्वास किया गया है, मैं नासवी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रप्रकाश सिंह राष्ट्रीय, समन्वयक अरविंद सिंह का आभारी हूं। उन्होंने कहा नासवी के नेतृत्व में भारतवर्ष के 11,000 संगठनो के रेड़ी पटरी वालों का प्रतिनिधित्व करते हैं समय-समय पर रेड़ी पटरी के स्ट्रीट वेंडर्स की समस्याओं के निदान के लिए भारत सरकार के साथ रायशुमारी कर रेड़ी पटरी के लघु व्यापारियों को राष्ट्रीय आजीविका मिशन व प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना के क्रियान्वयन को लेकर अहम भूमिका बरसों से निभाते चले आ रहे हैं, आज भारतवर्ष में राज्य सरकारों द्वारा राष्ट्रीय पथ विक्रेता संरक्षण अधिनियम को लागू कर रेडी पटरी के स्ट्रीट वेंडर्स को स्वरोजगार से संरक्षित किए जा रहे हैं। 


नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया (नासवी) द्वारा नासवी रतन से सम्मानित किए जाने के उपरांत धर्मनगरी हरिद्वार में प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा का स्वागत करते लघु व्यापारियों में लाल चंद गुप्ता, विजय गुप्ता, मनोज कुमार, मोहनलाल, वीरेंद्र कुमार, दिलीप कुमार, श्याम जीत, ओमप्रकाश कल्याण, सचिन राजपूत, श्याम कुमार, महेंद्र सैनी, योगेंद्र कुमार, प्रभात, ओमप्रकाश भाटिया, पंडित मनीष शर्मा, हरपाल सिंह, दीपक कुमार, तस्लीम अहमद, नईम सलमानी, आशा देवी, सुमन गुप्ता, मंजू पाल, श्रीमती सुनीता चौहान आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्रीमती आशा देवी ने की, संचालन जिला अध्यक्ष राजेंद्र पाल ने किया, कार्यक्रम के संयोजक मनोज कुमार मंडल रहे।

कुलपति डॉ0 सुनील जोशी को मिला अंतरराष्ट्रीय सम्मान


 
डॉक्टर सुनील जोशी को मिला आयुर्वेद एवं मर्म चिकित्सा



के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय सम्मान


हरिद्वार/ दिल्ली 31 जुलाई संजय वर्मा दिल्ली के जामिया हमदर्द विश्वविद्यालय में देश के ख्याति प्राप्त आयुर्वेदिक मनीषी पंडित शिव शर्मा द्वारा स्थापित अंतरराष्ट्रीय संगठन आई ए एस ए एम (इंडियन एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ ट्रेडिशनल एशियन मेडिसिन) द्वारा इंटरनेशनल कॉन्क्लेव ऑन मल्टी टारगेटेड थिरैप्यूटिक्स इन युनानी एंड आयुर्वैदिक मेडिसिन एंड फूड सप्लीमेंट के दो दिवसीय कार्यक्रम में उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रोफेसर सुनील जोशी जी को  प्रसिद्ध वैद्य श्री जुगतराम जी की स्मृति में शल्य चिकित्सा एवं मर्म चिकित्सा के क्षेत्र में  उल्लेखनीय अद्वितीय योगदान के लिए अंतरराष्ट्रीय प्रतिष्ठित सम्मान आई. ए. एस. टी. ए.एम. अवार्ड से सम्मानित किया गया। इस अवार्ड को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयुर्वेद के क्षेत्र में विशिष्ट एवं उल्लेखनीय कार्य करने वाले ख्याति प्राप्त विद्वानो को प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है। इस वर्ष यह सम्मान  श्रीमती शैलजा चंद्रा, आईएएस, पूर्व सचिव आयुष विभाग, भारत, प्रोफेसर आर.एन. आचार्य, महानिदेशक, केंद्रीय आयुर्वेदिक अनुसंधान परिषद नई दिल्ली, प्रोफेसर अभिमन्यु कुमार, मा० कुलपति,सर्वपल्ली राधाकृष्ण आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय जोधपुर, डॉ गीता कृष्णन टी.सी.आई. आयुष, विश्व स्वास्थ संगठन,जेनेवा , डॉक्टर लियाकत अली कुलपति बांग्लादेश यूनिवर्सिटी हेल्थ साइंस ढाका, डॉक्टर प्रोफेसर राकेश शर्मा अध्यक्ष बोर्ड ऑफ एथिक्स एंड रजिस्ट्रेशन, भारतीय चिकित्सा आयोग (एन.सी.आई.एस.एम.), भारत सरकार, मधु दीक्षित पूर्व निदेशक सीएसआइआर, सीडीआरआई, लखनऊ आदि को   संस्था के अध्यक्ष डॉ० सी.के. कटियार, सचिव -डॉ० कीर्ति भारती एवं जामिया हमदर्द के कुलपति प्रोफेसर एम.अफसर आलम तथा अन्य विशिष्ट अतिथियों की उपस्थिति में  जामिया हमदर्द विश्वविद्यालय में दिनांक 29 एवं 30 जुलाई के कॉन्क्लेव के दौरान प्रदान किया गया। संस्था के अध्यक्ष डॉक्टर कटियार ने बताया कि हमारी संस्था पंडित शिव शर्मा डॉक्टर के. एन. उडुपा,डॉ० पारीख, डॉ०एस के जैन  आदि महानतम आयुर्वेद विद्वानों के विचारों पर स्थापित है । उन्होंने कहा प्रोफेसर सुनील जोशी जी बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के अत्यंत मेधावी एवं विलक्षण प्रतिभा के धनी एवं दक्ष आयुर्वेदिक सर्जन रहे हैं, आपके द्वारा आयुर्वेदिक पद्धति से सफल शल्य  क्रियाएं की गई, आयुर्वेद में वर्णित मर्म विज्ञान को स्थापित करके विश्व पटल पर आयुर्वेदिक शल्य को स्थापित करने में सक्रिय योगदान दिया है। आपको बता दें कि डॉक्टर जोशी को इससे पूर्व भी देश के विशिष्ट सम्मान यथा - आयुर्वेद भूषण, आयुष रत्न, उत्तराखंड रत्न,  ऋषि कुल रत्न, गोल्ड मेडल(आई.सी.आई.एम.- 96), स्टार मेडल आदि विशिष्ट सम्मान/ अवार्ड  से सम्मानित किया जा चुका है। प्रतिष्ठित राष्ट्रीय  पत्रिका पाञ्चजन्य में आप के विशिष्ट कृतित्व एवं व्यक्तित्व के लिए, आपके कार्य एवं मर्म चिकित्सा को प्रकाशित कर विश्व पटल के में लाने के लिए भारत के प्रसिद्ध व्यक्तित्व की श्रृंखला में पूरे पृष्ठ का स्थान दिया गया। डॉ जोशी जी को इस सम्मान प्राप्त होने पर विश्वविद्यालय के शिक्षक गणों अधिकारी गण स्टाफ कर्मियों द्वारा प्रशंसा व्यक्त की गई व डॉ जोशी को शुभकामनाएं एवं बधाइयां प्रेषित की गई। स्थानीय गणमान्य नागरिकों को समाजसेवियों प्रबुद्ध विद्युत जन शिक्षक गणों, मीडिया बंधुओं , स्थानीय पार्षद आदि ने शुभकामनाएं अर्पित की।

डा0 संध्या शर्मा के संयोजन में हुआ तीज महोत्सव

 अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद महिला प्रकोष्ठ द्वारा तीज महोत्सव का आयोजन

हरियाली तीज को भगवान भोलेनाथ और मां पार्वती के मिलन का दिन माना जाता हैः संध्या शर्मा

हरिद्वार, 30 जुलाई ( आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार )


अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद महिला प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित किए गए तीज महोत्सव में महिलाओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुई। स्थानीय होटल क्लासिक में प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सन्ध्या शर्मा के संयोजन में गेम्स, डांस, मेहंदी, फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इस अवसर पर डॉ. सन्ध्या शर्मा ने कहा कि हरियाली तीज पर्व खुशी और उल्लास का त्यौहार है, सावन में हरियाली तीज के व्रत का बहुत महत्व है। इस त्योहार के माध्यम से भारतीय संस्कृति एवं परंपरा के दर्शन होते हैं। इस दिन को भगवान भोलेनाथ और मां पार्वती के मिलन का दिन माना जाता है। अंशु गौतम ने कहा कि ब्राह्मण महिला प्रकोष्ठ द्वारा भारतीय संस्कृति से जुड़े उत्सव को सामूहिक रूप से मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तीज महोत्सव जैसे आयोजन में महिलाओं को उनकी प्रतिभा प्रस्तुत करने का अवसर मिलता हैं। तीज पर्व को महिलाएं बढ़चढ़ कर अपनी भारतीय संस्कृति के अनुरूप पहले से मनाती चली आ रही हैं। सावन में चारों तरफ हरियाली होने के कारण इसे हरियाली तीज भी कहा जाता है। कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाली सभी प्रतिभागी महिलाओं को पुरस्कृत किया गया।

इस अवसर पर अर्चना तिवारी, पूजा शर्मा, प्रियंका शर्मा, रितु अत्रेय, तृषा अत्रेय, प्रमिला शर्मा, शिल्पा, डॉ. निधि उपाध्याय, पायल गौतम, श्रुति, देवयानी शर्मा, श्रद्धा शर्मा, उपमा मिश्रा, रानी गौर, टीना,  दीपिका शर्मा, वंदना, रीना गौतम, शुभांगी, रागिनी, सिद्धि शर्मा, स्वाति शर्मा, रितु शर्मा, भारती त्रिपाठी, जया शर्मा, नीरू शर्मा, मोना, बबीता, अरुणा, स्वाति तिवारी, समीक्षा, भावना भारद्वाज आदि शामिल रहीं।

अभिमान को त्याग कर ही ईश्वर मिलते हैं

मन के भीतर के अहम को समाप्त करने पर ही  होता है ईश्वर का दर्शन 

(महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि जी महाराज)


सुकरात समुन्द्र तट पर टहल रहे थे| उनकी नजर तट पर खड़े एक रोते बच्चे पर पड़ी |

वो उसके पास गए और प्यार से बच्चे के सिर पर हाथ फेरकर पूछा , -''तुम क्यों रो रहे हो?''

लड़के ने कहा- 'ये जो मेरे हाथ में प्याला है मैं उसमें इस समुन्द्र को भरना चाहता हूँ पर यह मेरे प्याले में समाता ही नहीं |''

बच्चे की बात सुनकर सुकरात विस्माद में चले गये और स्वयं रोने लगे |

अब पूछने की बारी बच्चे की थी |

बच्चा कहने लगा- आप भी मेरी तरह रोने लगे पर आपका प्याला कहाँ है?'


सुकरात ने जवाब दिया- बालक, तुम छोटे से प्याले में समुन्द्र भरना चाहते हो,और मैं अपनी छोटी सी बुद्धि में सारे संसार की जानकारी भरना चाहता हूँ |


आज तुमने सिखा दिया कि समुन्द्र प्याले में नहीं समा सकता है , मैं व्यर्थ ही बेचैन रहा |''


यह सुनके बच्चे ने प्याले को दूर समुन्द्र में फेंक दिया और बोला- "सागर अगर तू मेरे प्याले में नहीं समा सकता तो मेरा प्याला तो तुम्हारे में समा सकता है |"इतना सुनना था कि सुकरात बच्चे के पैरों में गिर पड़े और बोले-

"बहुत कीमती सूत्र हाथ में लगा है|


हे परमात्मा ! आप तो सारा का सारा मुझ में नहीं समा सकते हैं पर मैं तो सारा का सारा आपमें लीन हो सकता हूँ |"


ईश्वर की खोज में भटकते सुकरात को ज्ञान देना था तो भगवान उस बालक में समा गए |

सुकरात का सारा अभिमान ध्वस्त कराया | जिस सुकरात से मिलने के सम्राट समय लेते थे वह सुकरात एक बच्चे के चरणों में लोट गए थे |


ईश्वर जब आपको अपनी शरण में लेते हैं तब आपके अंदर का "मैं " सबसे पहले मिटता है |


या यूँ कहें....जब आपके अंदर का "मैं" मिटता है तभी ईश्वर की कृपा होती है गुरु ही अज्ञान रूपी अंधकार को मिटाकर ईश्वर से साक्षात्कार करवाता है किंतु उसके लिए अभिमान को त्यागना पड़ता है।


. होटल जगत इन में महिलाओं ने मनाया तीज पर्व

 सनातन संस्कृति में पर्व और त्योहारों का विशेष महत्व:  रश्मि मिश्रा


*** तीज महोत्सव में जमकर थिरके महिलाओं के कदम, 


***नृत्य, गायन और वादन में  महिलाओं ने दी शानदार प्रस्तुति 


हरिद्वार 30 जुलाई (आकांक्षा वर्मा संवादाता गोविंद कृपा हरिद्वार )


तीर्थनगरी में महिलाओं पर तीज का रंग चढ़ा हुआ है। तीज की मस्ती में महिलाएं जमकर थिरक रही है। महिलाओं के नृत्य, गायन और वादन के कार्यक्रम से चारों और हर्ष और उल्लास का वातावरण बना हुआ है। तीर्थ नगरी में जगह-जगह तीज कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जिसमें महिलाएं बढ़-चढ़कर भाग ले रही हैं। ‌इस कड़ी में शनिवार को प्रेम नगर आश्रम,रानीपुर मोड़ पर स्थित होटल जगत इन में इस महोत्सव का कार्यक्रम धूमधाम के साथ मनाया गया। ‌

कार्यक्रम संयोजक रश्मि मिश्रा, शालु अहूजा, गरिमा अग्रवाल, नेहा कौर के तीज महोत्सव कार्यक्रम में महिलाओं ने जमकर आनंद उठाया और अपनी प्रतिभा का बेजोड़ प्रदर्शन करते हुए अन्यको झूमने के लिए मजबूर कर दिया।  इस मौके पर कार्यक्रम संयोजक रश्मि मिश्रा ने सभी लोगों को तीज पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सनातन संस्कृति में पर्व, त्यौहारों और संस्कारों का खास महत्व है। ये पर्व और त्यौहार ही हमें एक दूसरे से मिलने का मौका देते हैं और हम एक दूसरे से मिलकर अपनी खुशियां, दुख दर्द  बांटते हैं। एकजुट रहना ही भारतीय संस्कृति है और यही हमारा संस्कार भी है। रश्मि मिश्रा ने कहा भारतीय संस्कृति सात वार और नौ त्यौहार हैं, जों हमें एक दूसरे से अलग होने का मौका ही नहीं देते। हर त्यौहार का अपना एक अलग महत्व है। आनंद उत्सव श्रद्धा भक्ति हर्ष उल्लास आस्था सहित सभी रंग त्योहारों में देखने को मिलते हैं। उन्होंने कहा कि श्रावण मास शुक्ल पक्ष की तीतृया को हरियाली तीज के नाम से जाना जाता है। इसे आनंद के त्योहार के नाम से भी जाना जाता है। सज धज कर महिलाएं अपनी सखियों के साथ आनंद और उत्सव के वातावरण में तीज का पर्व मनाती हैं। इस तीज कजरी तीज और हरितालिका तीज के नाम से भी जाना जाता है| शालू आहूजा ने कहा कि हरियाली तीज पर्व भगवान शिव और माता पार्वती को समर्पित है। हरियाली तीज पर्व खुशी और उन्नति का त्यौहार है। सामाजिक दृष्टिकोण से तीज उत्सव का बड़ा महत्व है। तीज का त्योहार हमारे सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और ऐतिहासिक मूल्यों को प्रदर्शित और परिभाषित करता है। इस त्योहार के माध्यम से भारत की गौरवशाली परंपरा के दर्शन भी होते हैं। नेहा कौर ने कहा कि तीज महोत्सव जैसे आयोजन भारतीय सांस्कृति विरासत को प्रस्तुत करने के साथ महिलाओं को उनकी प्रतिभा प्रस्तुत करने का अवसर भी प्रदान करता हैं। गरिमा अग्रवाल ने कहा कि तीज पर्व भारतीय संस्कृति को दर्शाने वाला पर्व है। महिलाएं बढ़चढ़ कर तीज पर्व को अपनी संस्कृति के अनुरूप मनाती चली आ रही है। इस मौके पर शशि झा, अंजू मिश्रा, शालू झा, संचिता, रेणु बबीता, भारती सहित अन्य महिलाओं ने तीज महोत्सव धूमधाम से मनाया। कार्यक्रम में महिलाओं ने रंगारंग सांस्कृति कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। शानदार प्रदर्शन करने वाली प्रतिभागियों को उपहार पुरूस्कृत  भी किया गया। इस मौके पर सभी महिलाओं ने शानदार आयोजन में सहयोग के लिए विभास मिश्रा को भी अपनी शुभकामनाएं दी।

भव्य होगा श्री निरंजनी रामलीला संस्था मायापुर का मंचन

 श्री निरंजनी रामलीला संस्था मायापुर ने लीला मंचन को लेकर एक सुर में भरी हामी


हरिद्वार 30 जुलाई (वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ) श्री निरंजनी मायापुर रामलीला संस्था रजिस्टर्ड हरिद्वार द्वारा रामलीला मंचन को लेकर एक बैठक श्रवण नाथ नगर स्थित होटल सुविधा में संपन्न हुई जिसमें संस्था से जुड़े सभी पदाधिकारियों ने एकमत होकर भव्य रामलीला मंचन का निर्णय लिया बैठक की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष  चंद्रशेखर क़ुर्ल ने की तत्पश्चात संस्था के सचिव भोला शर्मा द्वारा सभी आए हुए पदाधिकारियों का स्वागत किया गया संस्था के सचिव भोला शर्मा ने बताया कि गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी श्री निरंजनी मायापुर  संस्था एक भव्य रामलीला मंचन का आयोजन करने जा रही है ।जिसमें विभिन्न प्रकार के नए-नए सीन एवं सीनरी का अवलोकन करने का अवसर पंचपुरी के दर्शकों को प्राप्त होगा साथ ही भोला शर्मा ने संस्था द्वारा किए जाने वाले नए-नए क्रियाकलापों की भी जानकारी इस बैठक में दी जिसमें प्रमुखत:सभी पदाधिकारियों द्वारा यह निर्णय लिया गया कि आने वाले समय में श्री निरंजनी मायापुर रामलीला संस्था रजिस्टर्ड हरिद्वार द्वारा एक भव्य दशहरे मेले का भी आयोजन किया जाएगा श्री निरंजनी मायापुर रामलीला  संस्था ने गत वर्ष ही पंचपुरी में अपने लीला मंचन को लेकर एक अलग स्थान स्थापित किया है जिसमें रामलीला के माध्यम से दर्शाए गए भगवान श्री राम के चरित्र एवं संपूर्ण रामलीला को सभी पंचपुरी के दर्शकों द्वारा अत्यंत सराहा गया है प्रथम बार किसी रामलीला में महिला दर्शकों की तादाद इतनी ज्यादा देखी गई थी संस्था के पदाधिकारियों द्वारा वृद्ध संस्था के पदाधिकारी श्री सुभाष गुप्ता जी का माल्यार्पण कर स्वागत एवं धन्यवाद किया गया । इस बैठक में अध्यक्ष चंद्रशेखर कुर्ल,अमित बौरी,समीर शर्मा,भोला शर्मा,नगर निगम नेता प्रतिपक्ष सुनील अग्रवाल गुड्डू, निगम पार्षद कमल बृजवासी,विक्की आडवाणी,सु



भाष गुप्ता,उत्तम सिंह ,नवदीप मान,राजेश जोशी,मनीष,आदेश शर्मा ,रजत चौहान,अमित शर्मा,ओमप्रकाश भाटिया,दीपांशु फतलानी ,शिवम भारद्वाज,ऋषभ शर्मा,विशाल मखीजा,नवदीप मान,मनीष,तरुण आहूजा,सनी चौटाला,इन्द्रजीत सिंह बेदी,सुमित बोरी,अमित गर्ग,प्रशांत चौधरी,गौरव त्यागी, अखिलेश चौहान,सुमित बौरी,इंद्रजीत बेदी,अश्वनी शुक्ला,शिवम,मोहित गोलू,आदि उपस्थित रहे।

बद्री केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने किया त्रियुगीनारायण मंदिर का भ्रमण

   देहरादून 29 जुलाई (जेके रस्तोगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून ) बद्री केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने त्रियुगीनारायण मंदिर का भ्रमण किया और वहां पर जीर्णोद्धार, नव निर्माण तथा मंदिर के रखरखाव के लिए तीर्थ पुरोहितों से चर्चा की उन्होंने बताया कि त्रियुगीनारायण का भ्रमण कर मंदिर परिसर के विस्तारीकरण और उसे भव्य व दिव्य स्वरूप देने को लेकर स्थानीय जनता, तीर्थ पुरोहितों आदि से चर्चा की। इस अवसर पर भ्रमण दौरान श्री_बदरीनाथ_केदारनाथ_मंदिर_समिति के  के अध्यक्ष आजेंद्र अजय ने अधिकारियों को मंदिर प्रांगण का विस्तार, मंदिर की जीर्ण - शीर्ण छत व झालर, शिव - पार्वती विवाह मंडप, भोग मंडी आदि के जीर्णोद्धार के लिए शीघ्र कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने तीर्थ पुरोहितों को आश्वस्त करते हुए कहा कि भाजपा सरकार चार धाम के साथ- साथ अन्य धार्मिक तीर्थ स्थलो के  विकास के लिए भी संकल्पबद्ध हैं। इसी परिपेक्ष में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देशन में त्रियुगीनारायण सहित धार्मिक महत्व के तीर्थो का भ्रमण किया जा रहा है ।



वैश्य बंधु समाज महिला प्रकोष्ठ का तीज महोत्सव





 वैश्य बंधु समाज मध्य हरिद्वार महिला प्रकोष्ठ ने किया तीज महोत्सव का आयोजन

सामाजिक, सांस्कृतिक व धार्मिक मूल्यों को प्रदर्शित करता है तीज पर्व-नरेश रानी गर्ग

हरिद्वार, 29 जुलाई ( आकांक्षा वर्मा संवादाता गोविंद कृपा हरिद्वार) वैश्य बंधु समाज मध्य हरिद्वार महिला प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित किए गए तीज महोत्सव में महिलाओं ने रंगारंग सांस्कृति कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। इस दौरान ग्राीन गेम्स, डांस, मेहंदी, चेयर गेम, फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। आर्यनगर चैक स्थित होटल में निधि बंसल, प्रीति अग्रवाल व रूचि ड्रोलिया के संयोजन में आयोजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में महिलाएं सम्मिलित हुई। महिलाओं को हरियाली तीज की शुभकामनाएं देते हुए सरंक्षक नरेश रानी गर्ग ने कहा कि हरियाली तीज पर्व भगवान शिव और माता पार्वती को समर्पित है। हरियाली तीज पर्व खुशी और उन्नति का त्यौहार है। सामाजिक दृष्टिकोण से तीज उत्सव का बड़ा महत्व है। तीज का त्योहार हमारे सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और ऐतिहासिक मूल्यों को प्रदर्शित और परिभाषित करता है। इस त्योहार के माध्यम से भारत की गौरवशाली परंपरा के दर्शन भी होते हैं। अध्यक्ष इंदु गुप्ता, अरूणा बंसल व डा.अंजलि गोयल ने कहा कि वैश्य बंधु समाज महिला प्रकोष्ठ महिलाओं के स्वालंबन एवं  सशक्तिकरण और जागरूकता के लिए लगातार कैम्पेन चला रहा है। महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए समय-समय पर योग शिविर भी आयोजित किए जाते हैं। महिला प्रकोष्ठ द्वारा भारतीय संस्क्रति से जुड़े उत्सवों को भी सामूहिक रूप से उत्साह पूर्वक मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि तीज महोत्सव जैसे आयोजन भारतीय सांस्कृति विरासत को प्रस्तुत करने के साथ महिलाओं को उनकी प्रतिभा प्रस्तुत करने का अवसर भी प्रदान करते हैं। वैश्य बंधु समाज मध्य हरिद्वार के अध्यक्ष डा.विशाल गर्ग ने कहा कि तीज पर्व भारतीय संस्कृति को दर्शाने वाला पर्व है। महिलाएं बढ़चढ़ कर तीज पर्व को अपनी संस्कृति के अनुरूप मनाती चली आ रही है। वैश्य बंधु समाज महिला प्रकोष्ठ की पदाधिकारी महिला उत्थान व सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए मिलजुल कर प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाली प्रतिभागियों को पुरूस्कृत किया गया। इस अवसर पर वंदना गुप्ता, रेखा अग्रवाल, गौरी गर्ग, विनीषा गर्ग, वर्षा गुप्ता, रूचि गुप्ता, अलका अग्रवाल, शालू गर्ग, शैली गर्ग, संध्या अग्रवाल, नेहा, मुक्ता, बबीता, सरोज गोयल, ममता गुप्ता आदि शामिल रही

एसएम जै एन कॉलेज के 16 छात्रों का विभिन्न क्षेत्रों में हुआ सलैक्सन


एम.काॅम. की लघु शोध प्रबंध परीक्षा सम्पन्न

 विभिन्न क्षेत्रों में सेवाओं हेतु 16 छात्रों का  एम काम करते हुआ चयन 



हरिद्वार 29 जुलाई (आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार )एस.एम.जे.एन. पी.जी. काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि आज एम.काॅम. चतुर्थ सेमेस्टर की लघु शोध प्रबंध परीक्षा सम्पन्न हुई। उन्होंने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे महाविद्यालय में एम.काॅम. चतुर्थ सेमेस्टर में अध्ययरत 72 छात्र-छात्राओं में  16 छात्र-छात्राओं का विभिन्न क्षेत्रों में सेवाओं हेतु चयन एम काम फाइनल से पूर्व होने से महाविद्यालय गौरवान्वित हुआ है।

काॅलेज प्रबन्ध समिति के सचिव श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज ने अपने बधाई संदेश में कहा कि समस्त छात्र-छात्राओं ने अपने माता-पिता व महाविद्यालय नाम रोशन किया है। श्रीमहन्त ने कहा कि कोई भी परीक्षा अपनी प्रतिभा और दृढ़ संकल्प दिखाने के लिए सही अवसर है। 

अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी ने चयनित छात्र-छात्राओं को शुभकामनायें देते हुए कहा कि प्रतिभावान छात्रों को अपने पक्ष में होने के लिए कभी भाग्य का सहारा लेने की आवश्कता नहीं होती, वे अपने भाग्य के स्वयं निर्माता होते हैं। 

विनय थपलियाल, प्रभारी, कैरियर काउसिंलिंग सैल ने समस्त छात्र-छात्राओं को अपनी शुभकामनायें प्रेषित करते हुए कहा कि जब हमारे काॅलेज परिवार का कोई भी छात्र-छात्रा किसी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करता है तो काॅलेज परिवार के लिए बड़े गर्व एवं हर्ष की अनुभूति भी होती है।

चयनित 16 छात्र-छात्रों सौरभ, शुभम लोधी, प्रियंका, मेघा धीमान, प्रीति देवी, त्रिवेणी, नेहा, प्रिया पाण्डेय, माधुरी सुखीजा, अनुज कुमार, चिराग, निधि, प्रियंका, रीतिका वर्मा, दिव्या भटनागकर और सोनम को डाॅ. मन मोहन गुप्ता, डाॅ. जगदीश चन्द्र आर्य, मोहन चन्द्र पाण्डेय, श्रीमती रिचा मिनोचा, श्रीमती रिंकल गोयल, आस्था आनन्द, कविता छाबड़ा, अंकित अग्रवाल आदि शिक्षकों व कर्मचारियों ने अपनी शुभकामना प्रेषित की।

महामृत्युंजय साधना है कल्याणकारी


 महामृत्युंजय साधना से जीव को दैहिक, दैविक ,भौतिक एवं सांसारिक दुखों से मुक्ति मिलती है: दण्डी स्वामी अनंतानंत सरस्वती 


हरिद्वार 29( वी


रेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार   ) जुलाई पूर्वांचल उत्थान संस्था के संयोजक सीए आशुतोष पांडेय दण्डी स्वामी अनंतानंत सरस्वती महाराज, राजगुरू मठ, काशी के पावन सानिध्य में आयोजित महामृत्युंजय रुद्राभिषेक महोत्सव में मुख्य यजमान की भूमिका में हैं। अन्य शिवभक्त भी पूजा में यजमान बनने का सौभाग्य प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें राजगुरु मठ,  गाजी वाली, श्यामपुर, हरिद्वार में जाकर संपर्क करना होगा। इसके साथ दण्डी स्वामी अनंतानंत सरस्वती महाराज और सीए आशुतोष पांडेय के फोन पर भी संपर्क कर सकते हैं। दंडी स्वामी अनंतानंद सरस्वती महाराज 30 जुलाई को हरिद्वार पहुंच रहे हैं। राजगुरु मठ में जाकर स्वामी से भेंट किया जा सकता है। 

 धर्मनगरी हरिद्वार में नजीबाबाद हाईवे पर स्थित श्यामपुर गाजीवाली गांव में निर्माणाधीन राजगुरू मठ में स्थापित महामृत्युंजय महादेव का विधिपूर्वक पूजन कर रूद्राभिषेक किया जायेगा। इस महोत्सव में शामिल होने के लिए धर्मनगरी के सभी धर्मावलंबियों को आमंत्रित किया गया है। दंडी स्वामी अनंतानंत सरस्वती महाराज के अनुसार मृत्यु पर विजय प्राप्त करने का मंत्र है महामृत्युंजय मंत्र और महामृत्युंजय महादेव की आराधना करने वाले भक्तों की कभी आकाल मृत्यु नहीं होती।‌  महामृत्युंजय रुद्राभिषेक एवं पाठ से भगवान भूत भावन शिव प्रसन्न होकर जीव को प्रत्यक्ष आशीर्वाद देते हैं महामृत्युंजय जाप व यज्ञ से जीव को दैहिक दैविक भौतिक एवं सांसारिक दुखों से मुक्ति मिलती है। महामृत्युंजय साधना से मनुष्य को दीर्घायु की प्राप्ति होती है।  उन्होंने बताया कि संसार में जन्म लेने वाले प्रत्येक व्यक्ति को कभी न कभी मरना होता है। लेकिन अपनी आयु पूरी कर मरने वाले को मोक्ष मिलता है और अकाल मृत्यु होने पर आत्मा भटकती हैं। अकाल मृत्यु से बचने के लिए व्यक्ति को भगवान महामृत्युंजय महादेव की शरण में आना चाहिए। उन्होंने कहा जनकल्याण की भावना से धर्मनगरी महामृत्युंजय महादेव की स्थापना की गई है। सावन के तीसरे सोमवार को दिनांक 1अगस्त को महामृत्युंजय रुद्राभिषेक महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। सभी धर्मावलंबियों को रूद्राभिषेक महोत्सव में शामिल होकर पुण्य लाभ अर्जित करना चाहिए। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम का मुख्य यजमान सीए आशुतोष पांडे को बनाया गया है। अन्य भक्त भी यजमान बनकर पूजा में शामिल हो सकते है।

सोनीपत जोत महोत्सव की तैयारियां जोरों पर


42वां सोनीपत जोत महोत्सव, हरिद्वार 07अगस्त को बड़े ही श्रद्धाभाव से मनाया जाएगा।

हरिद्वार 29 (जुलाई वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार )प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी श्री महाबीर दल (पंजी.) सोनीपत द्वारा सोनीपत जोत महोत्सव आयोजन 07 अगस्त को  हरिद्वार में किया जा रहा है । जिसकी तैयारियां जोर-शोर से चल रही है ।पावन पवित्र सावन जोत शोभायात्रा हरिद्वार के मुख्यमार्गों से होती हुई हर की पौड़ी पर लोककल्याण के लिए एवं देश की सुख-समृद्धि के लिए अर्पण की जाएगी।

जिसकी रूप रेखा हेतु भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष माननीय मदन कौशिक जी से भेंट कर उन्हें निमंत्रण पत्र दिया गया  तथा एक बैठक का आयोजन वरिष्ठ समाजसेवी जगदीश लाल पाहवा के कार्यालय पर किया गया जिसमें सभी पदाधिकारियों ने महोत्सव को सफल बनाने के लिए  अपने अपने विचार प्रस्तुत किये ।

श्री महाबीर दल (पंजी.) सोनीपत के पदाधिकारी सर्वश्री सोहनलाल  बत्रा, राजकुमार मदान, रमेश बजाज, बी.आर.आहूजा  एवं  नरेंद्र भुटानी,  ने बताया कि जोत महोत्सव का  मुख्य उद्देश्य मां गंगा मैया की आराधना करके भारतवर्ष की खुशहाली एवं विश्वशान्ति के लिए इस पर्व को महत्व देकर हिन्दू धर्म की भावना प्रकट करना है। 

समाज सेवी जगदीश लाल पाहवा ने बताया कि पिछले 111 वर्षों से भगत रूप चंद  जी के वंशज एवं पदाधिकारी इस परम्परा को निभाते हुए खुशियों एवं हर्ष उल्लास के साथ हर वर्ष माँ गंगा के चरणों में जोत अर्पित करते हैं ।  मां गंगा के संरक्षण, संवर्द्धन में सभी को अपना सहयोग प्रदान करना चाहिए एवं गंगा को प्रदूषण मुक्त करने में सभी को अपनी सहभागिता निभानी चाहिए ।


कांवड़ मेले मे उत्कृष्ट कार्य के लिए डॉ नरेश चौधरी को स्वास्थ्य विभाग ने किया सम्मानित



*इण्डियन रेड क्रास सचिव/प्रोफेसर (डा0) नरेश चौधरी को सम्पूर्ण कांवड़ मेला अवधि में उत्कृष्ठ कार्यों के लिये स्वास्थय विभाग द्वारा किया गया सम्मानित।*

हरिद्वार 29 जुलाई (वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) सम्पूर्ण कांवड  मेला अवधि में इण्डियन रेड क्रास सचिव/विभागाध्यक्ष एनाटामी प्रोफेसर (डा0) नरेश चौधरी द्वारा किये गये उत्कृष्ठ एवं सराहनीय कार्यों के लिये स्वास्थ्य विभाग की ओर से मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 कुमार खगेन्द्र सिंह ने विशेष रूप से सम्मानित किया। मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 कुमार खगेन्द्र सिंह ने सम्मान समारोह में कहा कि ’’कांवड मेले के दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्थाई चिकित्सालयों के साथ साथ अस्थाई चिकित्सा शिविरों को भी स्थापित किया गया था। जिसमें नगरीय क्षेत्र हरिद्वार के सभी अस्थाई चिकित्सा शिविरों के सेक्टर प्रभारी का दायित्व इण्डियन रेड क्रास नरेश चौधरी को दिया गया। सम्पूर्ण कांवड मेला अवधि में अस्थाई चिकित्सा शिविरों से 1,78,153 (एक लाख अठत्तर हजार एक सौ तिरप्पन) शिवभक्त कांवडियों ने उपचार करवाकर चिकित्सा लाभ उठाया जिसमें नगरीय क्षेत्र हरिद्वार के अस्थाई चिकित्सा शिविरों में 1,12,503 (एक लाख बारह हजार पांच सौ तीन) शिवभक्त कांवड़ियों की चिकित्सा की गयी। नगरीय क्षेत्र हरिद्वार के सभी अस्थाई चिकित्सा शिविरों में चिकित्सीय मानव संसाधनों की व्यवस्था में भी डा0 नरेश चौधरी द्वारा स्वास्थ्य विभाग को भरपूर सहयोग किया गया। जिससे सभी अस्थाई चिकित्सा शिविरों में चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की कोई कमी नहीं रही, जिससे 24x7 शिवभक्त कांवडियों का चिकित्सीय उपचार सम्भव हो सका।  मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 कुमार खगेन्द्र सिंह ने कहा कि डा0 नरेश चौधरी को जब भी स्वास्थय विभाग की और से कोई दायित्व दिया जाता है तो डा0 नरेश चौधरी द्वारा उनको बहुत ही कर्मठता और समर्पण भावना से पूर्ण किया जाता है। कोरोना काल मे भी डा0 नरेश चौधरी को कोराना रोगी भर्ती नोडल अधिकारी, चिकित्सीय मानव संसाधन व्यवस्था प्रभारी के साथ साथ वर्तमान में कोविड-19 वैक्सीनेशन का नोडल अधिकारी का दायित्व भी दिया गया है। जिनको उत्कृष्ठ रूप से निर्वहन करने के लिये डा0 नरेश चौधरी की स्वास्थ्य विभाग के साथ जिला प्रशासन एवं जनसमाज द्वारा भी सराहना की जा रही है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 कुमार खगेन्द्र सिंह ने कहा कि डा0 नरेश चौधरी के व्यक्तितव की पहचान समर्पित कार्यशैली है, जिनके लिये डा0 नरेश चौधरी जन जन में प्रिय हैं। डा0 नरेश चौधरी को स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सम्मानित किया जाना एक विशेष गौरव है जो जनपद के स्वास्थ्य विभाग के मुखिया होने के कारण मुझे प्राप्त हुआ। डा0 नरेश चौधरी को सम्मानित करने से समाज में भी एक विशेष संदेश जाता है कि अपने मूल दायित्वों के साथ साथ यदि सामाजिक कार्य करने का सौभाग्य किसी को मिलता है तो उसे अग्रणी रहकर निर्वहन करना चाहिए जिससे समाज में अपनी अलग पहचान बनती है, जिसका सच्चा उदाहरण डा0 नरेश चौधरी है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सम्मानित होने पर डा0 नरेश चौधरी ने कहा कि मेरे लिये सबसे बडा सम्मान सभी का दिया जाने वाला असीम प्रेम है जिससे मुझे सबसे बडी आत्मसंतुष्टि मिलती है और यही मेरे लिये और अधिक समर्पण भावना से कार्य करने के लिये उर्जा का काम करती है। सम्मान समारोह में मुख्य रूप से अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एच0डी0शाक्य, डा0 आर0के0सिंह, डा0 मनीष दत्त, जिला चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक डा0 सी0पी0 त्रिपाठी, मेला चिकित्सालय अधीक्षक डा0 राजेश गुप्ता, संयुक्त चिकित्सालय रूडकी के चिकित्सा अधीक्षक डा0 संजय कंसल, महिला चिकित्सालय के डा0 संदीप निगम ,सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लक्सर के अधीक्षक डा0 अनिल वर्मा , डा0 तरूण, डा0 नलिन्द, डा0 शादाब, डा0 अंजुम, के साथ साथ अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भी डा0 नरेश चौधरी को सम्मानित किये जाने के लिये विशेष रूप से बधाई दी।

जिला पंचायत सीट खड़ंजा कुतुबपुर से शालू सैनी ने मांगा भाजपा का टिकट


हरिद्वार 28 जुलाई (संजय वर्मा ) जिला पंचायत चुनाव में जनपद हरिद्वार के विभिन्न क्षेत्रों से जिला पंचायत सीट के लिए भाजपा के दावेदार अपना दावा कर रहे हैं । लक्सर विकासखंड से जिला पंचायत खड़ंजा कुतुबपुर 40 नंबर से भाजपा के वरिष्ठ नेता कुलदीप सैनी ने अपनी पत्नी शालू सैनी के लिए भाजपा के टिकट की मांग की है इस सिलसिले में
उन्होंने स्वामी यतिश्ररानंद जी पूर्व कैबिनेट मंत्री उत्तराखंड सरकार एवं जिलाध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी , हरिद्वार  श्रीमान जयपाल चौहान  जी एवं मंडल अध्यक्ष् श्रीमान बिसंपाल कश्यप जी , मंडल अध्यक्ष् ग्रामीण श्रीमान राज सिंह चौधरी जी ,पूर्व विधायक श्रीमान संजय गुप्ता जी , विधानसभा चुनाव में लक्सर विधानसभा में चुनाव सहप्रभारी रही श्रीमती अनीता वर्मा से मिलकर समर्थन और आशीर्वाद मांगा यहां यह बताते चलें कि कुलदीप सैनी लक्सर क्षेत्र में सक्रिय और निष्ठावान कार्यकर्ता है जिन्होंने खड़ंजा कुतुबपुर जिला पंचायत सीट से अपनी पत्नी शालू सैनी के लिए भाजपा की टिकट की मांग करते हुए संबंधित पदाधिकारियों को



 अपना प्रार्थना पत्र सौंपा । इस अवसर पर उनके साथ उनके समर्थक शुभचिंतक और भाजपा के समर्पित कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी उपस्थित रहे।


शायरों की महफिल

 ग़ज़ल


हर किसी को दुआ दीजिए।

जिंदगी से मिला दीजिए।।



झूठ सच में बदल जाएगा।

शोर इतना मचा दीजिए।।


बुझ न जाए कहीं ये दिया।

और इसको हवा दीजिए।।


नींद आती नहीं क्या करें।

आप कुछ मशविरा दीजिए।।


होश में फिर न आएं कभी।

आंख से यूं पिला दीजिए।।


सूझता ही नहीं कुछ हमें ।

कोई तो रास्ता दीजिए।।


रोशनी ये सलामत रहे।

जुगनुओं का पता दीजिए।।


है अगर प्यार मुझसे नहीं।

खत मेरे सब जला दीजिए।।


'दर्द' का इक रहे सिलसिला।

जख्म हर दिन नया दीजिए।।


दर्द गढ़वाली, देहरादून 

09455485094

भगवानपुर के वरिष्ठ समाजसेवी राज किशोर वर्मा नामदेव को पुलिस प्रशासन ने किया सम्मानित

 भगवानपुर क्षेत्र के वरिष्ठ समाजसेवी राज किशोर वर्मा नामदेव को मिला सम्मान 

भगवानपुर 28 जुलाई( कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवानपुर ) भगवानपुर क्षेत्र के वरिष्ठ समाजसेवी एवं समाज के विभिन्न वर्गों में लोकप्रिय राज किशोर वर्मा नामदेव को कांवड़ मेले में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए पुलिस प्रशासन ने सम्मानित किया। भगवानपुर थाना परिसर में इंस्पेक्टर अमरजीत सिंह के द्वारा सम्मान समारोह आयोजित किया गया था , जिसमें कांवड़ मेले के अंतर्गत विभिन्न सामाजिक संगठनों के लोगों को जिन्होंने विशेष पुलिस अधिकारी के रूप में सेवाएं दी उन्हें सम्मानित किया गया।



त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर हुई महत्वपूर्ण प्रशासनिक बैठक


 हरिद्वार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर 24 नोडल अधिकारी तथा 40 प्रभारी अधिकारी नियुक्त 


मुख्य विकास अधिकारी/ उप जिला निर्वाचन अधिकारी(पं०) प्रतीक जैन की अध्यक्षता में आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर बैठक हुई


हरिद्वार। 28 जुलाई  मुख्य विकास अधिकारी/ उप जिला निर्वाचन अधिकारी(पं०) प्रतीक जैन की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को विकास भवन सभागार में जनपद हरिद्वार के आगामी त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन 2022 को सकुशल ढंग से सम्पन्न करवाने हेतु नियुक्त किये गये नोडल अधिकारी/ प्रभारी अधिकारियों के साथ एक बैठक आयोजित हुई। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी  प्रतीक जैन ने समस्त नोडल अधिकारियों एवं प्रभारी अधिकारियों को निर्वाचन मे सौंपे गये दायित्वों का निर्वहन सकुशल ढंग से सम्पादित करवाने हेतु विस्तृत जानकारी देते हुये बताया कि जनपद हरिद्वार में 06 विकास खण्डों के अन्तर्गत 318 ग्राम पंचायत 3722 ग्राम पंचायत सदस्य 221 क्षेत्र पंचायत सदस्य 44 जिला पंचायत सदस्य के पदों/स्थानों का निर्वाचन सम्पन्न करवाया जाना है, जनपद में एक चरण में मतदान सम्पन्न करवाया जाना प्रस्तावित है। 

मुख्य विकास अधिकारी ने बैठक में यह भी बताया कि जनपद हरिद्वार के पंचायत निर्वाचन हेतु 1491 मतदान स्थल स्थापित किये गये है, जिसमें मतदान हेतु लगभग 9000 कार्मिकों की आवश्यकता के अनुसार कार्यवाही की जा रही है, जनपद में लगभग 17 जोन 138 सेक्टर बनाये जायेंगे, जिला पंचायत सदस्यों का नामांकन से प्रतीक आवंटन तक की कार्यवाही जिला पंचायत मुख्यालय में सम्पन्न की जायेगी।

 मुख्य विकास अधिकारी ने आगे बताया कि प्रधान ग्राम पंचायत सदस्य ग्राम पंचायत एवं सदस्य क्षेत्र पंचायतों का नामांकन से प्रतीक आवंटन तथा मतदान एवं मतगणना सम्बन्धित कार्य विकास खण्ड मुख्यालय में की जायेगी। उन्होंने यह भी बताया कि जनपद हरिद्वार के निर्वाचन को सम्पन्न करवाने हेतु 24 नोडल अधिकारी तथा 40 प्रभारी अधिकारी नियुक्त किये गये हैं, पंचायत निर्वाचन हेतु लगभग 550 वाहनों की आवश्यकता होगी। प्रतीक जैन ने सभी नोडल अधिकारी/प्रभारी अधिकारियों को तद्नुसार कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये।

29 जुलाई से कनखल में श्री राम कथा का आयोजन

 शिव शक्ति सेवादल, कनखल के स्थापना दिवस पर श्रीराम कथा का आयोजन



***

 ***राधा कृष्ण मंदिर, राजघाट में बहेगी श्री राम कथा की अमृत धारा

***  प्राचीन दरिद्र भंजन महादेव मंदिर के प्रांगण से होगा, कलश यात्रा का शुभारंभ


हरिद्वार 28 जुलाई (विनीत गिरि संवाददाता गोविंद कृपा कनखल)     शिव शक्ति सेवा दल, कनखल के 28 वें स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में श्री राधाकृष्ण मंदिर, राजघाट के प्रांगण में श्री राम कथा का आयोजन किया जा रहा है। श्री राम कथा का शुभारंभ 29 जुलाई से और समापन 6अगस्त को होगा। 7 अगस्त को पूर्णाहुति के साथ विशाल भंडारे का भी आयोजन किया जाएगा।

 वृन्दावन के विद्वान आचार्य कथा व्यास सुशील शुक्ला के मुखारविंद से रामकथा की धारा बहेगी। कार्यक्रम संयोजक दल की सदस्या अर्चना कुशवाहा ने बताया कि शिव शक्ति सेवा दल की स्थापना के 27 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में 28वां वार्षिक उत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी 

शिव शक्ति सेवा दल, कनखल की ओर से श्री राम कथा का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें धर्मनगरी के सभी श्रद्धालुओं को आमंत्रित किया गया है। अर्चना कुशवाहा ने बताया कि कथा से पूर्व दिनांक 28 जुलाई , गुरुवार को श्रीराम कथा कलश यात्रा का शुभारंभ प्राचीन दरिद्र भंजन महादेव से किया जा रहा है। कलश यात्रा में शिव शक्ति सेवा दल की महिलाएं और पुरुष  सिर पर कलश रखकर चलेंगी।‌ होली चौक, पोस्ट आफिस, चौक बाजार से वापस लौटकर राजघाट स्थित श्री राधाकृष्ण मंदिर पर समाप्त होगी। इसके उपरांत 29 जुलाई से 6 अगस्त तक राम कथा का आयोजन होगा।

मजबूती के साथ जिला पंचायत चुनाव लड़ेगी बसपा : सुबोध राकेश


जिला पंचायत चुनाव में बसपा के 





सिर सजेगा ताज

*हरिद्वार में मजबूत स्थिति के साथ पंचायत चुनाव लड़ेगी बसपा, भगवानपुर विधानसभा के ढीलमजरा,डाडा पट्टी गांव में बसपा ने चलाया सदस्यता अभियान। सदस्यता अभियान के रूप में पहुंचे प्रदेश प्रभारी नरेश गौतम,गयाकर दिनचार,प्रदेश अध्यक्ष आदित्य बृजपाल,पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश का क्षेत्र वासियों ने फूल मालाओं से किया जोरदार स्वागत।*


*भगवानपुर 28 जुलाई (कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा  भगवानपुर ) हरिद्वार पंचायत चुनाव को लेकर बहुजन समाज पार्टी ने कमर कस ली है। भगवानपुर विधानसभा क्षेत्र के गांव ढीलमजरा,डाडा पट्टी,मानकमजरा, हल्लू माजरा में बसपा प्रदेश अध्यक्ष एवं बसपा प्रभारी ने बसपा नेता सुबोध राकेश के साथ सदस्य अभियान चलाकर युवाओं को बसपा के साथ जोड़ा गया। इस दौरान बसपा प्रदेश अध्यक्ष आदित्य ब्रिज वालों ने कहा कि बसपा ही सर्व समाज की पार्टी है अन्य दल हर समाज की अनदेखी कर रहे हैं। वहीं पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने कहा कि हरिद्वार पंचायत चुनाव में बसपा मजबूती के साथ चुनाव लड़ने का कार्य करेगी। बसपा नेता सुबोध राकेश ने कहा कि पंचायत चुनाव को लेकर बसपा प्रत्येक गांव में सदस्यता अभियान चला रही है। युवा वर्ग के लोगों को बसपा के साथ जोड़ा जा रहा है। इस शुभ अवसर पर राजेश सैनी,डॉक्टर विनोद सैनी,मुलकीराज सैनी,विजयपाल सैनी, श्लोक चंद सैनी,रमेश चंद सैनी, धूम सिंह सैनी,देशराज,सुरेंद्र,विजेंद्र, जगपाल,ऋषि पाल,धीर सिंह,महेंद्र, पवन,समय सिंह सैनी,प्रकाश चंद सैनी,सुरेश सैनी,अनिल सैनी पूर्व जिला पंचायत सदस्य,चमनलाल प्रधान,चंद किरण विधानसभा अध्यक्ष,प्रदीप चौधरी,चंद्रभान,सेठ पाल प्रधान,हुकम सिंह,पवन प्रधान,सोमेंद्र सैनी,डॉक्टर सुरेश चंद,ओम प्रकाश सैनी,पवन सैनी,प्रवीण सैनी,योगेंद्र सैनी,रामपाल,सोमपाल सैनी,धर्मवीर सैनी,नरेश वकील,गौतम सिंह,मास्टर विनारसीदास,मास्टर सत्यपाल, एडवोकेट ऋतुराज,रवि प्रधान,मास्टर अरुण कुमार,इसम,मोहम्मद इरशाद, मतलूब,अलीयाज,मास्टर मीर सिंह, रोहित कुमार,नरेंद्र,बिट्टू,हरिपाल, संतराम,इसम,हरफूल,श्रवण,नीटू, काका,वेदपाल,चंदर,प्रमोद प्रधान, मोहम्मद कुर्बान,रणवीर सिंह,जॉनी कुमार और समस्त ग्राम वासी उपस्थित रहे

एस एम जैएन पी जी कॉलेज में लागू होगी नई शिक्षा नीति



*नयी शिक्षा नीति*

*संचार व्यवहार कौशल से सुधरेगा छात्रों का कम्युनिकेशन स्किल*

*वैदिक गणित, रामचरित्र मानस, गीता में प्रबन्धन, समय प्रबन्धन आदि वोकेशनल एवं कौशल विकास के विषयों का होगा समावेश*

हरिद्वार 28 जुलाई (आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) एस.एम.जे.एन. पी.जी. काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने आज नई शिक्षा नीति के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान सत्र  से कालेज में नई शिक्षा नीति लागू कर दी जायेगी, जिसमें छात्र-छात्रा को अपने  संकाय से 06-06 क्रेडिट के दो मुख्य विषय तथा 06 क्रेडिट का तीसरा मुख्य विषय अन्य किसी संकाय से अथवा अपने संकाय से चयनित करना होगा। साथ ही 04 क्रेडिट का एक लघु इलेक्टिव विषय दूसरे  संकाय से लेना होगा, सभी पाठयक्रम में इलेक्टिव लघु विषय हेतु पाठयक्रमों का निर्माण किया गया है। उसी में से प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं को उसका चयन करना होगा।

प्राचार्य डाॅ. बत्रा ने बताया कि तीसरा लघु विषय वोकेशनल/ स्किल डवलपमेंट कोर्स जो 03 क्रेडिट का है इस कोर्स को विद्यार्थी द्वारा आनलाईन मोड जैसे एनईपीटील , मूक,ई पाठशाला आदि से पाठ्यक्रम पूर्ण कर उसका प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना होगा। इसमें प्रत्येक सेमेस्टर के लिए प्रथम सेम में संचार कौशल, द्वितीय सैमेस्टर हेतु पर्यावरण अध्ययन और मूल्य शिक्षा, तृतीय सैमेस्टर हेतु भगवत गीता से प्रबन्धन प्रतिमान, चतुर्थ सैमेस्टर के लिए वैदिक ज्ञान/वैदिक गणित, पांचवे सैमेस्टर के लिए ध्यान मेडिटेशन /रामचरित्र मानस के अनुप्रयुक्त दर्शन के माध्यम से व्यक्तित्व विकास तथा छठे सेमेस्टर के लिए भारतीय ज्ञान का सार अथवा स्वामी विवेकानन्द का अध्ययन शामिल हैं। 

प्राचार्य डॉ बत्रा  ने बताया कि वोकेशनल/ स्किल डवलेमपमंट कोर्स, कौशल विषयों में ड्राईंग एण्ड स्केचिंग आफ ह्यूमन बोडी (टेटू), डिजास्टर मैनेजमेंट,आपदा प्रबंधन, ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट, आफिस आटोमेशन टूल्स, मशरूम कल्टीवेशन, टाईम मैनेजमेंट, वैदिक गणित, फूड टेस्टिंग एण्ड क्वालिटी कंट्रोल आदि विभिन्न रूचिवर्धक विषय शामिल किये गये हैं। डाॅ. बत्रा ने सत्र 2022-23 में स्नातक प्रथम सेमेस्टर में प्रवेश लेने वाले प्रवेशार्थियों से अपील करते हुए कहा कि प्रत्येक प्रवेशित छात्र अपने रूचि के अनुसार ही अपनी संकाय तथा विषय का चुनाव निश्चित करेंगे। 

प्रो. बत्रा ने बताया कि नई शिक्षा नीति प्रत्येक विद्यार्थी के लिए सर्वांगीण विकास के लिए उपयोगी साबित होगी, अगर कोई छात्र-छात्रा स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश लेकर आगे की पढ़ाई नहीं करता है तो भी उसे पहले वर्ष में सर्टिफिकेट तथा इसी प्रकार दूसरे वर्ष में डिप्लोमा, तीसरे वर्ष में स्नातक डिग्री तथा चतुर्थ वर्ष में स्नातक डिग्री शोध सहित प्राप्त होगी, लेकिन इसके लिए विद्यार्थी को एक वर्षीय सर्टिफिकेट कोर्स के लिए 46 क्रेडिट, दो वर्षीय डिप्लोमा में 46 क्रेडिट, तीन वर्षीय स्नातक डिग्री हेतु 48 क्रेडिट, चार वर्षीय स्नातक डिग्री शोध सहित 184 क्रेडिट, स्नातकोत्तर डिग्री हेतु 232 क्रेडिट तथा पीजीडीआर हेतु 248 क्रेडिट प्राप्त करने अनिवार्य होंगे।

भाजपाइयों ने फूंका अधीर रंजन का पुतला

हरिद्वार 28 जुलाई ( संजय वर्मा ) लक्सर रोड जगजीतपुर तिराहे हरिद्वार पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी का महामहिम राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी के प्रति अमर्यादित भाषा का प्रयोग कर राष्ट्रपत्नी कहने पर पुतला फूंक कर विरोध प्रदर्शन किया गया जिलाध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के इस बयान से कांग्रेस का आदिवासी महिला विरोधी चेहरा उजागर हुआ है कांग्रेस ने हमेशा दलितों ,पिछड़ों महिलाओं ,आदिवासियों का शोषण ही किया है और आज जब पूरे देश की जन भावनाओं के अनुरूप एक आदिवासी महिला का निर्वाचन राष्ट्रपति पद पर हुआ है कांग्रेस ने राष्ट्रपति पद का अपमान किया है जब से द्रौपदी मुर्मू जी का नाम राष्ट्रपति के उम्मीदवार के रूप में घोषित हुआ था तभी से द्रौपदी मुर्मू जी कांग्रेस पार्टी की के उपहास का शिकार बनी रही कांग्रेस पार्टी ने उन्हें कठपुतली तक कहा कॉन्ग्रेस आज भी इस बात को स्वीकार नहीं कर पा रही है कि एक आदिवासी महिला इस देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद को सुशोभित कर रही है हम कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष से मांग करते हैं कि वह आए और महामहिम एवं पूरे देश से इस कृत्य के लिए माफी मांगे कांग्रेस की इसी मानसिकता के खिलाफ आज हम कांग्रेस का पुतला दहन कर रहे हैं इस अवसर पर जिला महामंत्री आदेश सैनी ,विकास तिवारी, सुनील सैनी, लव शर्मा, नागेंद्र राणा, प्रभात कुमार,सूबे सिंह, कमल बाल्मीकि, अभिषेक त्यागी आदि


पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता शामिल है।

बीईजी आर्मी तैराक दल को किया गया सम्मानित


*कांवड़ मेले में उत्कृष्ठ सराहनीय कार्यो के लिये बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल के सभी सैनिकों को जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित किया गया।*

हरिद्वार 28 जुलाई (वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा




हरिद्वार) जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय के निर्देशन, अपर जिलाधिकारी पी0एल0शाह के मुख्य संयोजन एवं नोडल अधिकारी डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में सम्पूर्ण कांवड़ मेला 2022 के दौरान बी0ई0जी0 आर्मी के तैराक दल अपनी मोटरबोटों एवं सभी संसाधनों के साथ कांवडियों की सुरक्षा के लिये गंगा के विभिन्न घाटों पर तैनात होकर मुस्तैदी से 132 शिवभक्त कांवडियों को बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल ने गंगा में डूबने से बचाया। कांवड मेला 2022 में बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल के उत्कृष्ठ सराहनीय कार्यों के लिये जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने मेला नियंत्रण भवन में विशेष सम्मान समारोह में दल के सभी सैनिकों को प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिहन देकर सम्मानित किया। जिलाधिकारी ने कहा कि कांवड मेला 2022 चुनौतीपूर्ण था क्योंकि विगत दो वर्षों में कोविड-19 जैसी वैश्विक महामारी के कारण कोई भी स्नान पर्व नहीं हो पाया था। पूर्व में ही अनुमान लगाया जा रहा था कि इस वर्ष शिवभक्त कांवडियों की संख्या बहुत अधिक होगी और कांवड मेला सम्पन्न होने पर शिवभक्त कांवडियों की आस्था और उत्साह से शिवभक्त कांवडियों की संख्या लगभग 4 करोड़ पहुंच गयी। सम्पूर्ण कांवड मेले में सभी अधिकारियों ,कर्मचारियों ,स्वयंसेवी संस्थाओं और सामाजिक संस्थाओं ने जो कंधे से कंधा मिलाकर सहयोग किया वह अतुलनीय है जिलाधिकारी ने बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल के सभी सैनिकों की विशेष सराहना करते हुए कहा कि ’’ शिवभक्त कांवडियों की जान बचाकर जो पुण्य कार्य बी0ई0जी0 आर्मी के सैनिकों ने किया वह भी देश की सीमाओं पर सेना द्वारा रक्षा करने के समान ही हैं इसके लिये सेना के प्रत्येक सैनिक को जिला प्रशासन का सलाम है। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने रेड क्रास सचिव/नोडल अधिकारी डा0 नरेश चौधरी को भी सम्पूर्ण मेला अवधि में उत्कृष्ठ कार्यों एवं सराहनीय समन्वय के लिये विशेष रूप से प्रमाण पत्र एवं प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया। जिलाधिकारी ने कहा कि डा0 नरेश चौधरी को जो भी कार्य दिया जाता है उस कार्य को डा0 नरेश चौधरी बडी कर्मठता और समर्पित भावना से करते हैं, जिसके लिये डा0 चौधरी विशेष रूप से सम्मान के हकदार हैं। सम्पूर्ण कांवड मेला अवधि में बी0ई0जी0 आर्मी के कमाण्डेण्ट राजेश सिंह (वि0से0मे0) के निर्देशन में ,डिप्टी कमाण्डेण्ट संजीव पठानिया, कर्नल एस0के0 मानव, लै0 कर्नल महीप सिंह, लै0 कर्नल प्रतीक गुप्ता, मेजर एस0 चक्रवर्ति, सूबेदार खेमसिंह, नायाब सूबेदार लखबीर सिंह, हवलदार अमनदीप सिहं , हवलदार गुरप्रीत सिंह, हवलदार मन्दीप सिंह, हवलदार मनप्रीत सिंह, सैपर्स राहुल सिंह रावत, भाष्कर सीना, संग्राम साहु, अमूल सिंह, दीपांशु चौधरी, मेघराज जाट, रामू पाल, रोहित सिंह ने सक्रिय सहभागिता की। सम्मान समारोह का सम्पूर्ण संचालन रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी ने किया।

गुरुकुल परिसर में व्याख्यानमाला के साथ शुरू हुआ आजादी का अमृत महोत्सव

हरिद्वार 28 जुलाई (वीरेंद्र शर्मा संवादाता गोविंद कृपा हरिद्वार) हरिद्वार में उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के गुरुकुल परिसर में माननीय कुलाधिपति (राज्यपाल




महोदय) ब्रिगेडियर जनरल श्री गुरमीत सिंह जी के दिशा-निर्देशानुसार प्रोफेसर सुनील जोशी माननीय,कुलपति उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय  के द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ व्याख्यानमाला के आयोजन के साथ किया गया।आज प्रातः: व्याख्यानमाला का उद्घाटन प्रोफेसर सुनील जोशी जी द्वारा किया गया। जिसमें आयुर्वेद के दो वरिष्ठ विद्वान डॉक्टर पवन कुमार शर्मा एवं डॉ विनीत अग्निहोत्री जी को बुलाकर सम्मानित किया गया तथा उनके द्वारा व्याख्यान दिया गया। इससे पूर्व कार्यक्रम में विधिवत स्वागत करते हुए  विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलसचिव डा०राजेश अधाना ने आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत होने वाले विभिन्न कार्यकम एवं योजनाओं पर प्रकाश डाला। प्रो. प्रेमचंद शास्त्री के द्वारा स्वतंत्रता प्राप्ति में गुरुकुल एवं ऋषिकुल परिसर के स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को याद करते हुए बताया गया की किस प्रकार मातृभूमि की रक्षा में हमारे वीरों ने अपना बलिदान देकर भारत को आजाद करवाया। जिनकी वजह से ही हम आज यह आजादी के अमृत महोत्सव को मना पा रहे है। इस कार्यक्रम में कलकत्ता से पधारे डा. पवन शर्मा जी ने स्वतंत्रता प्राप्ति के पूर्व एवं बाद में  आयुर्वेद चिकित्सा की परिस्थितियों पर प्रकाश डालते हुए बताया गया की आज आयुर्वेद चिकित्सा की विदेशों में मांग बढ़ने का मुख्य कारण भारत सरकार की विभिन्न संस्थाओं द्वारा औषधि की गुणवत्ता  के लेकर किए जा रहे कार्यों को विस्तार से बताया एवं आयुर्वेद औषधियों की गुणवत्ता एवं अनुसंधान में भावी रणनीतियों पर विचार डाला।  प्रो. विनीत अग्निहोत्री द्वारा गुरुकुल परिसर में हुए नवनिर्माण, औषधि निर्माण प्रयोगशाला, सभागार कक्ष आदि के हुए कार्य को सराहते हुए कहा गया की  गुरुकुल एवं ऋषिकुल परिसर आजादी से पूर्व निर्मित कालेज है यह परिसर हमारी सांस्कृतिक विरासत है। इस कालेज के नवनिर्माण को देखकर अत्यंत प्रसन्नता हो रही है। इस हेतु इन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन का आभार व्यक्त किया।  गुरुकुल परिसर के निदेशक प्रो. पंकज शर्मा के द्वारा बताया गया की 9 अगस्त से 15 अगस्त तक परिसर में वृक्षारोपण कार्यक्रम, स्वच्छता कार्यक्रम, निशुल्क चिकित्सा एवं स्वास्थ्य शिविर, देशभक्ति कविता एवं निबंध प्रतियोगिता आदि का आयोजन किया जाएगा। परिसर के निदेशक प्रो पंकज शर्मा द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया। आज के कार्यकम का कुशल संचालन डा०राजीव कुरेदे जी ने किया। कार्यक्रम में प्रो. मीना रानी आहूजा, प्रो. विपिन पांडेय, प्रो. बालकृष्ण पंवार, डा.वीरेंद्र टमटा, डा. मयंक भटकोटी,  डा० शैलेंद्र प्रधान, डा. संजय  गुप्ता, डा. विपिन कुमार अरोड़ा, प्रो. दिनेश गोयल, डा. ज्ञानेंद्र शुक्ला, डा. शीतल वर्मा, डा. शिखा पांडेय, डा. दीपशिखा, डा किरण वशिष्ठ, हरिशचन्द् गुप्ता, राहुल तिवारी आदि उपस्थित थे।

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...