स्वामी अजरानंद अंध विद्यालय में बच्चों को वितरित किए गए गर्म वस्त्र

 स्वामी अजरानंद अंध विद्यालय में बच्चों को वितरित किए गए  गर्म वस्त्र 


 हरिद्वार 31  दिसंबर (आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार  )



  उत्तरी हरिद्वार स्थित प्रख्यात धार्मिक एवं समाजसेवी संस्था स्वामी अजरानंद महिला आश्रम ट्रस्ट के तत्वाधान में संचालित स्वामी अजरा नंद अंध विद्यालय हाई स्कूल विद्यालय के छात्र-छात्राओं को आश्रम के परमाध्यक्ष महंत श्री स्वामी स्वयंमा नंद महाराज के द्वारा शीतकाल में गर्म वस्त्र वितरित किए गए, विद्यालय के 400 सामान्य छात्राओं एवं 80 से अधिक दिव्यांग नेत्रहीन छात्रों को कंबल, स्वेटर इत्यादि वितरित किए गए , स्वामी आजरानंद महिला आश्रम ट्रस्ट एवं स्वामी अजरा नंद अंध विद्यालय के प्रबंधक संचालक स्वामी स्वयंमानंद महाराज ने बताया कि यह विद्यालय पूर्णतः स्वयं वित्त पोषित है और प्रतिवर्ष बच्चों को निशुल्क स्टेशनरी ,गर्म वस्त्र ,ड्रेस एवं बैग वितरित किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि विद्यालय में शिक्षा पूर्णता निशुल्क है तथा यह भी ध्यान दिया जाता है कि छात्र- छात्राओं को आधुनिक  शिक्षा प्रशिक्षित अध्यापक अध्यापिकाओ के माध्यम से दी जाए , उन्होंने कहा कि स्वामी अजरानंद अंध विद्यालय में सप्तश्वर क्षेत्र के सैकड़ो बच्चे वर्षों से विद्या अध्ययन करते चले आ रहे हैं , नेत्रहीन दिव्यांग बच्चों के लिए स्कूल परिसर में ही आवास एवं ब्रेल प्रेस कंप्यूटर आदि की व्यवस्था की गई है ।

राष्ट्रीय इंटर कॉलेज में शुरू हुआ एनएसएस शिविर

 आर्य इंटर कॉलेज बहादराबाद का सीतापुर में शुरू हुआ एनएसएस कैंप 


सात दिनों तक राष्ट्रीय इंटर कॉलेज  सीतापुर के प्रांगण में संचालित रहेगा शिविर


हरिद्वार 31 दिसंबर ( संजय वर्मा ) आर्य इंटर कॉलेज बहादराबाद के छात्र-छात्राओं का एनएसएस शिविर सीतापुर स्थित राष्ट्रीय इंटर कॉलेज के प्रांगण में प्रारंभ हुआ एनएसएस कैंप का शुभारंभ करते हुए बहादराबाद आर्य इंटर कॉलेज के प्रबंधक एडवोकेट राजकुमार चौहान ने कहा कि छात्र-छात्राओं में देशभक्ति के साथ-साथ समाज सेवा के बीजरोपित करता है एन एस एस उन्होंने कहा कि राष्ट्र की सेवा में समर्पित  एन एस एस संस्था छात्र, छात्राओं को अच्छा नागरिक बनाने का कार्य करती है । पार्षद विनीत चौहान ने शिविर में शामिल बहादराबाद आर्य इंटर कॉलेजके प्रतिभागियों से आह्वान करते हुए कहा कि वे इस शिविर के माध्यम से समाज में फैली कुरितयो  ,अंधविश्वासों को समाप्त कर स्वच्छता ,बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे मुद्दों पर जन जागरूकता फैलाने का प्रयास करें। राष्ट्रीय इंटर कॉलेज सीतापुर के प्रबंधक सोम चौहान ने इस अवसर पर छात्र-छात्राओं को अच्छा नागरिक बन नशा मुक्ति का अभियान चलाने के लिए प्रेरित किया ,समारोह  में भाजपा ओबीसी मोर्चे के जिला अध्यक्ष डॉ प्रदीप कुमार , महक सिंह, संजय वर्मा, राकेश रघुवंश,  सुनीता


चौधरी, सहित समाजसेवियो ने प्रतिभाग किया , उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता समाजसेवी कुंवर सिंह चौहान ने की।एन एस एस कैंप के विषय में जानकारी देते हुए कार्यक्रम अधिकारी गीता रानी ने बताया कि यह शिविर सात दिन तक राष्ट्रीय इंटर कॉलेज सीतापुर के प्रांगण में आयोजित किया जा रहा है , जिसमें छात्र-छात्राओं को स्वच्छता अभियान ,नशा मुक्ति,  ,बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे विषयों पर रैली, निबंध प्रतियोगिता, चित्रकला, रंगोली ,भाषण  आदि के माध्यम से समाज सेवा करने के लिए प्रेरित व प्रशिक्षित किया जाएगा । उद्घाटन सत्र में आए हुए अतिथियों का स्वागत सह कार्यक्रम अधिकारी चित्रलेखा शर्मा एवं विद्यालय परिवार ने किया।

लाल माता मंदिर में स्थापित हुई हीरा बेन की प्रतिमा

 व्यक्ति व राष्ट्र निर्माण में मां की होती है महत्वपूर्ण भूमिका : श्रीमहंत रविन्द्र पुरी

माता लाल देवी मंदिर ट्रस्ट के संचालक भक्त दुर्गादास के संयोजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की माता श्रीमती हीरा बेन जी की मूर्ति का संतों की गरिमामयी उपस्थिति में हुआ अनावरण

दिवंगत हीरा बेन जी की प्रथम पुण्यतिथि पर लाल माता मंदिर में आयोजित श्रद्धाजंलि सभा में संत समाज व गणमान्यजनों ने दी भावभीनी श्रद्धाजंलि

हरिद्वार, 30 दिसम्बर। उत्तरी हरिद्वार की प्रख्यात धार्मिक संस्था माता लाल देवी मंदिर वैष्णो देवी गुफा परिसर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की माता दिवंगत हीरा बेन की प्रथम पुण्यतिथि पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी महाराज के कर-कमलों से संत समाज व गणमान्यजनों की गरिमामयी उपस्थिति में हीरा बेन की मूर्ति का अनावरण समारोह सम्पन्न हुआ।

मूर्ति अनावरण समारोह व श्रद्धाजंलि सभा को सम्बोधित करते हुए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी महाराज (महानिर्वाणी) ने कहा कि व्यक्ति व राष्ट्र निर्माण मंे माता की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। मां ही व्यक्ति की प्रथम गुरू व नीति निधारक होती है। मां की संस्कारों का प्रभाव प्रत्येक व्यक्ति के जीवन पर पड़ता है। दिवंगत हीरा बेन ने विषम परिस्थितियों में संघर्ष करते हुए देश को नरेन्द्र मोदी के रूप में महान राष्ट्र निर्माता व देश का गौरव बढ़ाने वाला रत्न प्रदान किया। उन्होंने कहा कि भक्त दुर्गादास के संयोजन में देश में हीरा बेन की प्रथम प्रतिमा स्थापित होती रही है जो राष्ट्रवासियों को मां की महत्ता का संदेश प्रदान करेगी।    

निर्मल पीठाधीश्वर श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह जी व महामंडलेश्वर स्वामी हरिचेतनानंद महाराज जी ने कहा कि हीरा बेन का व्यक्तित्व प्रत्येक स्त्री के लिए आदर्श है, जिन्होंने अभाव व कठिनाईयों की परवाह न करते हुए अपने बच्चों को संस्कार देकर व्यक्ति निर्माण ही नहीं किया अपितु राष्ट्र निर्माता के रूप में नरेन्द्र मोदी को देश को सौंप दिया। 

महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि जी व श्रीमहंत देवानंद सरस्वती जी ने कहा कि भक्त दुर्गादास व उनकी संस्था बधाई की पात्र है, जिन्होंने अपने परिसर में स्व. हीरा बेन की प्रतिमा स्थापित कर देश की महिलाओं को संदेश दिया है कि यदि स्त्री ठान ले तो वह विकट परिस्थितियों में भी समाज व राष्ट्र का कल्याण कर सकती है।

पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक व विधायक प्रदीप बत्रा ने कहा कि हीरा बेन का समूचा जीवन प्रत्येक महिला के लिए सबक है। उन्होंने विषम परिस्थितियों में भी परिवार में राष्ट्रवाद व सनातन संस्कृति के संस्कारों का रोपण किया। उन्होंने अपने नाम को चरितार्थ करते हुए देश को यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसा सच्चा हीरा प्रदान किया। 

भक्त दुर्गादास ने कहा कि हम सभी के जीवन में मां का महत्वपूर्ण स्थान होता है। मां अपार कष्ट झेलकर हमारा लालन-पालन करती है। मां को सम्मान देना व उसके संस्कारों को अपनाना प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व व कर्तव्य होता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने माता को सम्मान देते हुए उनके संस्कारों को अपनाना कर सफलता का शिखर प्राप्त किया है। उनकी कामयाबी में मां की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। श्रद्धाजंलि सभा का संचालन महंत रवि देव शास्त्री ने किया। 

इस अवसर पर स्वामी ऋषिश्वरानन्द, महंत दुर्गादास, बाबा हठयोगी, ऋषि रामकृष्ण महाराज, शास्त्री ज्ञानानंद महाराज, रुड़की विधायक प्रदीप बत्रा, भाजपा नेता अनिरूद्ध भाटी, पार्षद विनित जौली, महावीर वशिष्ठ, आकाश भाटी, सतनाम सिंह,


दिव्यम यादव, अश्वनी दीक्षित, धनीराम, पंडित हेमंत थपलियाल, पंडित हीरा जोशी, दीवान सिंह, राकेश सकलानी समेत अनेक गणमान्यजन उपस्थित रहे।

सक्षम ने मनाया दिव्यांगजन अधिकार दिवस


देहरादून 29 दिसंबर समदृष्टि क्षमताविकास एवं अनुसंधान मंडल (सक्षम) द्वारा आज समस्त उत्तराखंड प्रांत के विभिन्न जिलों में दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम दिवस मनाया गया । सभी जिलों के जिला अध्यक्षों द्वारा अपने-अपने जिलाधिकारी को विज्ञापन सौंपा गया। इसके साथ-साथ राजधानी देहरादून में नालापानी तपोवन स्थित कुष्ठ आश्रम से एक रैली का आयोजन किया गया। इस रैली में सक्षम के प्रांत अध्यक्ष ललित पंत , प्रांत सह-सचिव अनंत प्रकाश मेहरा ,प्रांत महिला प्रमुख निरुपमा रावत, प्रांत युवा प्रमुख मानवेंद्र सती ,प्रांत बधिर प्रकोष्ठ प्रमुख उमेश ग्रोवर, जिला अध्यक्ष वीरेंद्र मुंडेपी ,विकास नगर अध्यक्ष दरबार सिंह नेगी ,महानगर अध्यक्ष भगवान सिंह खेड़ा, जिला महिला प्रमुख ममता रावत , सविता प्रकोष्ठ प्रमुख कृष्ण भंडारी, सज्जन सिंह नेगी, पीसी डबराल ,मदन भंडारी, मोहन सिंह बिष्ट आदि की उपस्थिति में मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी के लिए ज्ञापन सौंपने स्वयं सक्षम का एक प्रतिनिधिमंडल लेकर मिला इस दौरान मुख्यमंत्री सीएम पुष्कर सिंह धामी के प्रतिनिधि कर्ता  हरीश कोठारी जी को ज्ञापन सौंपा गया।

 ज्ञापन में राज्य उत्तराखंड में दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम की कड़ाई से लागू किया जाना के अतिरिक्त ,दिव्यांगजनों के हितार्थ अलग से दिव्यांग विभाग का गठन , अन्य राज्यों की भांति दिव्यांगजनों को भी मासिक पेंशन ₹3100 प्रति माह किया जाना ,सक्षम उत्तराखंड को प्रांतीय दिव्यांगजन पुनर्वास केंद्र कार्यालय एवं दिव्यांगजन विश्राम गृह हेतु राजधानी देहरादून में भवन तथा भूमि निःशुल्क उपलब्ध कराई जाना ,मानसिक रूगण्ता एवं श्रवण बाधित दिव्यांगजनों के प्रमाणीकरण हेतु प्रत्येक जिले में संसाधन युक्त प्रशिक्षण कक्ष  निर्मित किए जाएं, मानसिक रूगण्ता के दिव्यांगजनों को प्रमाणिकता  हेतु परीक्षण  के लिए घर-घर जाकर उनको दिव्यांग प्रमाण पत्र हेतु परिवहन की उचित व्यवस्था देना एवं दिव्यांग जनों की पेंशन कार्ड के आधार पर स्वीकृत कराई जाना ,दिव्यांगजनों के पेंशन हेतु अभिभावकों के प्रतिमाह ₹4000 मासिक आय प्रमाण पत्र की बाध्यता को समाप्त किया जाना व 

दिव्यांगजन से संबंधित 21 प्रकार की दिव्यांगताओ की विस्तृत जानकारी प्राथमिक/माध्यमिक/उच्च शिक्षा स्तर  शैक्षणिक पाठ्यक्रम में अनिवार्य रूप से सम्मिलित किया जाए ।

भारत सरकार की भांति राज्य के


दिव्यांगजन आयुक्त कार्यालय को सक्रिय करते हुए दिव्यांगजन आयुक्त जैसे स्वतंत्र प्रभार को सुनिश्चित किया जाना।

इस दौरान कुष्ठ बाधित दिव्यांगजन श्रावण बाधित दिव्यांगजन अस्थि बाधित दिव्यांगजन एवं दृष्टिबाधित दिव्यांग जनों ने अपने अधिकारों हेतु सक्षम राष्ट्रीय संगठन के समक्ष दिव्यांग जन चिंतन प्रस्तुति दी। 

भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री का भाजपाइयों ने मनाया जन्मदिन

हरिद्वार 29 दिसंबर भाजपा हरिद्वार विधानसभा के कार्यकर्ताओं द्वारा भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री एवं उत्तराखंड प्रदेश प्रभारी आदरणीय दुष्यंत कुमार गौतम का जन्मदिन मनाया गया

इस अवसर पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने हर की पौड़ी स्थित ब्रह्मकुंड में मां गंगा जी का दुग्धाभिषेक किया एवं 11 ब्राह्मणों द्वारा मंत्र उच्चारण कर माननीय दुष्यंत गौतम जी के दीर्घायु एवं स्वस्थ होने की कामना की

इस अवसर पर भाजपा जिला उपाध्यक्ष विकास तिवारी ने कहा कि दुष्यंत गौतम एक अनुभवी और गहरी सूझबूझ वाले राजनेता है जबसे वे उत्तराखंड प्रदेश के प्रभारी बने हैं पार्टी ने प्रत्येक चुनाव में सफलता हासिल की है उनके नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने पुनः प्रदेश में अपनी सरकार बनाई है और यह मिथक भी तोड़ा है की उत्तराखंड राज्य बनने के बाद किसी भी दल की दोबारा सरकार नहीं बन पाती है

भाजपा सप्तऋषि मंडल अध्यक्ष तरुण नैय्यर और कनखल मंडल अध्यक्ष हीरा सिंह बिष्ट ने कहा दुष्यंत गौतम जी कुशल संगठनकर्ता और दूरगामी सोच वाले नेता है जिनकी कुशल एवं संगठनात्मक रणनीति ने पार्टी को लगातार आगे बढ़ाया है। वे राज्यसभा के सांसद भी रहे हैं और उन्होंने अपनी राजनीतिक यात्रा बूथ,वार्ड और मंडल स्तर की जिम्मेदारियों से प्रारंभ की है और आज भी पूरे देश में पार्टी को आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं

भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष अनामिका शर्मा ने कहा कि दुष्यंत कुमार गौतम के नेतृत्व में पार्टी ने प्रदेश में अनेक नए आयाम स्थापित किए हैं और निश्चित ही आज हमने मां गंगा से प्रार्थना की है कि उनके नेतृत्व में आगामी लोकसभा की उत्तराखंड राज्य की पांचो सीटे भाजपा की झोली में आए ऐसी मां गंगा से प्रार्थना है

भाजयुमो के प्रदेश मंत्री दीपांशु विद्यार्थी ने कहा की आदरणीय दुष्यंत गौतम जी युवाओं के प्रेरणा स्रोत और आदर्श हैं और प्रदेश में युवा मोर्चे को आगे बढ़ाने के लिए वह लगातार हम युवाओं को निर्देशित करते रहते हैं उनका मार्गदर्शन निश्चित रूप से इस प्रदेश को और आगे ले जाएगा और संगठन के कार्यकर्ता उनके मार्गदर्शन में और अधिक ऊंचाइयों को छुएंगे ऐसा मुझे विश्वास है

इस अवसर पर भाजपा मंडल महामंत्री तरुण नय्यर,भाजयुमो के पूर्व मंडल अध्यक्ष चंद्र कांत पांडे, कार्यक्रम संयोजक ज़िला उपाध्यक्ष विकास तिवारी ,प्रदेश मंत्री भाजयुमो दीपांशु विद्यार्थी,विधायक प्रतिनिधि राजकुमार अरोड़ा जी,ज़िला अध्यक्ष महिला मोर्चा अनामिका शर्मा जी,मण्डल अध्यक्ष तरुण नैय्यर जी,मण्डल अध्यक्ष हीरा बिष्ट जी,पूर्व पार्षद श्यामल प्रधान,ज़िला उपाध्यक्ष आभा शर्मा,मण्डल महामंत्री विक्की आडवाणी,अनिमेष शर्मा,पूर्व मण्डल अध्यक्ष युवा मोर्चा चंद्रकांत पांडेय ,मण्डल मंत्री गौरव वर्मा,सह मीडिया प्रभारी गीता कुशवाह,रवि जैसल, विकल राठी,अक्षित तिवारी आदि उपस्थित रहे


राष्ट्रीय सैनिक संस्था ने आयोजित किया ऋषिकेश में कार्यक्रम

 . ऋषिकेश 29 दिसंबर ( अमरेश दुबे संवाददाता  गोविंद कृपा  ऋषिकेश ) ऋषिकेश में राष्ट्रीय सैनिक संस्था द्वारा गौरव सेनानियों और देशभक्त नागरिकों के अभिनंदन और संकल्प कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग कर विद्यालयों में चरित्र निर्माण के लिए सैनिक प्रशिक्षण जैसे महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा की। राष्ट्र निर्माण एवं चरित्र निर्माण का संदेश परमार्थ निकेतन और मां गंगा के तट से पूरे समाज तक जाएगा। हमें यह सोचना होगा कि पूरे राष्ट्र के नागरिकों के चरित्र निर्माण में हम किस प्रकार अपना योगदान दे सकते हैं। हमें राष्ट्र और जनहित को सर्वोपरि रखते हुए समाज के लिए बेहतर कार्य करना होगा।



विश्व गुरु के रूप में भारत की परिकल्पना हमारे राष्ट्रीय चरित्र के विकास से ही पूरी होगी। अमृत काल में यह हमारे एजेंडे की बुनियाद होनी चाहिए। देश के लोगों में राष्ट्रीय चरित्र का विकास करके ही राष्ट्रीय एकीकरण के उद्देश्य की प्राप्ति हो सकती है।

गुरुकुल महाविद्यालय को प्राप्त हुआ दुर्लभ ब्रह्म कमल का पौधा

 *गुरुकुल आयुर्वेद महाविद्यालय को ब्रह्म कमल का दुर्लभ पौधा भेंट।*     


हरिद्वार 29 दिसंबर उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के गुरुकुल आयुर्वेद परिसर में सुप्रसिद्ध वनौषधि विशेषज्ञ डा. विनोद उपाध्याय जी द्वारा आज ब्रह्म कमल (मैदानी) का दुर्लभ पौधा भेंट किया गया। डा. उपाध्याय जी ने बताया की उक्त पौधा को साहित्य में सर्वरोग हर कहा गया है। इसके साथ-साथ जहां भी यह पौधा आरोपित होता है वहां दिव्यता का वातावरण बनता है। इसके उत्पन्न पुष्पों पर भविष्य में छात्रों द्वारा शोध आदि का कार्य किया जाएगा। परिसर के निदेशक डॉ विपिन कुमार पांडेय द्वारा इस कार्य हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया गया। उक्त कार्यक्रम में प्रो. पंकज कुमार शर्मा, प्रो. प्रेमचंद शास्त्री, प्रो. उत्तम कुमार शर्मा, डा. मयंक भटकोटी, डा. विपिन कुमार अरोड़ा, डा. शिखा पाण्डेय आदि शिक्षक, छात्र एवं कर्मचारी उपस्थित रहें। डॉ राजीव करेले ने डा० विनोद प्रकाश जी उपाध्याय द्वारा किए जा रहे हैं आयुर्वेदिक चिकित्सा के क्षेत्र में विभिन्न,  वैज्ञानिक, सामाजिक कार्यों की सराहना की। डॉ उपाध्याय ने देश विदेश-अमेरिका, जर्मनी,  फ्रांस कनाडा, ब्रिटेन, सेंटपीटरवर्क आदि में भारत की प्राचीन ज्ञान परंपरा आयुर्वेद के प्रचार प्रसार में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। आपको अमेरिका में प्रतिष्ठित हीलिंग टच अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है। आपको दुर्लभ वन औषधीय की विशिष्ट पहचान एवं गुणधर्मों का संपूर्ण ज्ञान है। हर्बल कॉस्मेटिक की विशेषज्ञता आपकी बहुत बड़ी उपलब्धि रही है। डॉ उपाध्याय जी ने हजारों विद्यार्थियों को कॉस्मेटिक निर्माण करना सिखाया है।आपको लाइव एनसाइक्लोपीडिया आफ आयुर्वैदिक हर्ब भी कहा जाता है।


संत मंडल आश्रम में स्वामी राम मुनि ने राम भक्तों के संग किया अक्षत कलश यात्रा का स्वागत

 संत मंडल आश्रम पर हुआ अक्षत कलश शोभायात्रा का भव्य स्वागत 


हरिद्वार 28 दिसंबर    श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र अयोध्या से आए धर्माचार्य एवम पूज्य संतो द्वारा अक्षत कलश शोभायात्रा का भीमगोड़ा मे पूज्य संत स्वामी राम मुनि महाराज के सानिध्य में स्थानीय लोगों ने भव्य स्वागत किया। अक्षत कलश यात्रा भमगोड़ा से शुभारंभ होकर निष्काम सेवा ट्रस्ट जाकर सम्पन्न हुई।इस मौके पर महामंडलेश्वर स्वामी राम मुनि महाराज ने कहा कि हम सभी देश वासियों का शोभाग्य है की हमारे आखों के सामने भव्य भगवान श्रीराम मंदिर का उद्घाटन हो रहा है।सभी लोगो को भगवान श्री राम के कार्यों में बढ़चढ़ प्रतिभाग करना चाहिए। आर एस एस रोहिताश जी ने कहा कि भगवान श्रीराम का मंदिर पाच सो साल बाद भव्यता रूप लेगा हम सभी लोगो का दायतीव है की हम 22 जनवरी को अपने अपने घरों में दीप प्रज्ज्वलित कर भगवान राम का स्वागत सत्कार करे।साध्वी प्राची ने कहा कि  अयोध्या में भगवान श्रीराम का दिव्य भव्य मंदिर विश्व का आध्यात्मिक केंद्र बनेगा।हम सभी देश वासियों को मिलकर भगवान श्री राम का भव्य राम मंदिर निर्माण का उत्सव घर घर गांव गांव शहर मनाना चाहिए।इस मौके पर भाजपा नेता ओम प्रकाश जमदग्नि, बलकेश राजौरिया,रवि कश्यप,तरुण नैयर,पार्षद अनिल मिश्रा,सुनील सेठी, गर्वित गिरि,मुकेश पुरी, अतुल पासवान,विकल राठी,नीरू सैनी,प्रति गौड़,पूनम माखन,सत्यवान प्रजापति,अंकुश


भाटिया,अनिरुद्ध भाटी,आदि उपस्थित रहे।

गुरुकुल आयुर्वेद महाविद्यालय में संपन्न हुई वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता


 *गुरुकुल आयुर्वेद महाविद्यालय का खेलकूद प्रतियोगिता के समापन समारोह एवं वार्षिकोत्सव कार्यक्रम का भव्य आयोजन* 

 हरिद्वार 28 दिसंबर   उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के गुरुकुल आयुर्वेद महाविद्यालय, हरिद्वार में आयोजित खेलकूद प्रतियोगिता के समापन समारोह एवं वार्षिकोत्सव के अवसर पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उक्त कार्यक्रम विश्वविद्यालय के कुलसचिव  प्रो. अनूप कुमार की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। इस कार्यक्रम में खेलकूद प्रतियोगिता में विजेता छात्रों को पुरस्कार वितरण के साथ ही भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के समन्वयक क्रीडा अधिकारी डा. मयंक भटकोटी ने बताया की इन खेलकूद प्रतियोगिता में शॉर्ट पुट, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, चेस, कैरम, वालीबॉल, टग ऑफ वार आदि प्रतियोगिताओं के साथ विभिन्न श्रेणियों के अंदर नृत्य और संगीत प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया। बैडमिंटन एकल  पुरुष वर्ग में प्रथम स्थान अमित खत्री ने तथा द्वितीय स्थान आदित्य ने तथा महिला वर्ग में प्रथम स्थान महिमा ने तथा द्वितीय स्थान करिश्मा ने प्राप्त किया। बैडमिंटन डबल्स में पुरुष वर्ग में प्रथम स्थान अमित खत्री एवं आलोक ने तथा द्वितीय स्थान आदित्य एवं सहदेव ने तथा महिला वर्ग में प्रथम स्थान महिमा एवं आयुषी तथा द्वितीय स्थान अनुरिद्धि एवं आयुषी ने प्राप्त किया। वालीवाल पुरुष वर्ग में प्रथम स्थान अमन गिरी एंड टीम ने तथा द्वितीय स्थान अजय प्रताप सिंह एंड टीम ने, महिला वर्ग में गीतांजली एंड टीम ने तथा द्वितीय स्थान आयुषी सिंह एंड टीम ने प्राप्त किया। टेबल टेनिस में पुरुष एवं महिला वर्ग में प्रथम स्थान क्रमश: अमित खत्री एवं शिल्पी तथा द्वितीय स्थान क्रमश: रोहन एवं गीतांजलि ने प्राप्त किया। टेबल टेनिस डबल्स पुरुष वर्ग  में अमित खत्री एवं देवाशीष ने प्रथम स्थान तथा सार्थक गुप्ता एवं देवाशीष ने द्वितीय स्थान एवं महिला वर्ग  में शिल्पी एवं गीतांजलि ने प्रथम स्थान तथा प्रतिभा एवं कोमल ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। इसके अतिरिक्त शतरंज प्रतियोगिता में पुरुष वर्ग में प्रथम स्थान करन ने तथा द्वितीय स्थान कमल ने  तथा महिला वर्ग में प्रथम स्थान शिवांगी ने तथा द्वितीय आस्था ने प्राप्त किया। इसके अतिरिक्त कैरम, रस्साकशी आदि एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता  में प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को मेडल्स, स्मृति चिन्ह एवं प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मंच संचालन डा. बालकृष्ण पंवार द्वारा किया गया। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन परिसर निदेशक प्रो. विपिन कुमार पांडेय द्वारा किया गया। उक्त कार्यक्रम में  प्रो. अवधेश मिश्रा,  डा. सुनील गुप्ता, डा. संजय त्रिपाठी, डा. देवेश शुक्ला, डा. शीतल वर्मा, डा. विपिन अरोड़ा, डा. राजीव कुमार, डा. शिखा पांडेय, डा. अदिति, डा. दीपशिखा, डा. पल्लवी भूषण आदि शिक्षक, अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे।



अक्षत कलश यात्रा का हरिद्वार में हुआ स्वागत

 *अयोध्या से आये पूजित अक्षत कलश यात्रा का कई स्थानो पर भव्य आयोजन* 

हरिद्वार 28 दिसंबर  श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र अयोध्या से संतो द्वारा पूजित अक्षत शिवालिक नगर पहुंचे। 28 दिसंबर की शाम एक भव्य शोभा यात्रा के द्वारा सैकड़ों भक्तों की उपस्थिति में अयोध्या से आए पूजित अक्षत संघ कार्यालय आर्य नगर से शिवालिक नगर लाए गए। इस अवसर पर सभी भक्तगण बैंड बाजे तथा एक बड़ी रैली के द्वारा पहले संघ कार्यालय पर पहुंचे। वहां रानीपुर नगर के संघ चालक वकील जी ने संघ कार्यालय से एक कलश में पूजित अक्षत, राम मंदिर का चित्र तथा विवरण पत्र, हरिद्वार जिले के अक्षत प्रमुख अनिल गुप्ता से प्राप्त किए। उन्हें पूरे विधि विधान से लाकर खुली जीप पर स्थापित किया गया। वहां से सभी भक्तों के उल्लास पूर्ण उत्साह के साथ वह रैली ज्वालापुर, वाल्मीकि बस्ती, सुभाष नगर, टिहरी विस्थापित कॉलोनी से होते हुए शिवालिक नगर शिव मंदिर पहुंची। BSNL चौराहे पर शिवालिक नगर नगर पालिका अध्यक्ष राजीव शर्मा ने अपनी टोली के साथ इस कलश का पुष्प अर्पित कर स्वागत किया। शिवालिक नगर शिव मंदिर में इन पूजित अक्षत का स्वागत रानीपुर विधायक आदेश चौहान, शिव मंदिर समिति के अध्यक्ष एवं अन्य सदस्यों की उपस्थिति में मंदिर के पुजारी जी द्वारा पूरे विधि विधान एवं मंत्रों द्वारा पूजन कर स्वागत किया गया। इसके पश्चात यह पूजित अक्षत वाला कलश मंदिर में सभी भगवान के सामने होते हुए अंत में एक कक्ष में स्थापित कर दिया गया। अब यहां से यह अक्षत रानीपुर नगर की विभिन्न बस्तियों में ले जाए जाएंगे और 1 जनवरी से 15 जनवरी के बीच में प्रत्येक घर में संघ के स्वयंसेवक एवं समाज के अन्य व्यक्तियों के सहयोग से घर-घर पहुंचाए जाएंगे।

वही दूसरी तरह हरिद्वार नगर में भी ज्वालापुर,कनखल व सप्तऋषि मण्डलों में अक्षत कलश पहुच गया है। जिसका सभी राम भक्तों ने बड़ी ही श्रद्वा भाव से स्वागत किया। ज्वालापुर में श्री राम चौक से भव्य शोभायात्रा का शुभारंभ हुआ जो गुरुद्वारा रोड, कटहरा बाजार, सराफा बाजार, पीठ बाजार होते हुए रघुनाथ मंदिर गूगल पर पहुंचे। इस यात्रा का जगह-जगह श्रद्धालुओं द्वारा पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। कनखल मंडल के शोभायात्रा सिंह द्वारा से प्रारंभ हुई जो देश रक्षक हनुमानगढ़ थाना मार्ग होते हुए कनखल चौक बाजार में समाप्त हुई। अक्षत कलश यात्रा पर जगह-जगह श्रद्धालुओं ने पुष्प वर्षा कर भगवान राम का आशीर्वाद लिया इस दौरान महिलाओं वृद्ध व बच्चों ने भी पूरे उत्साह पूर्वक भगवान राम के संकीर्तन में प्रतिभा किया। वहीं सप्तऋषि मंडल की अक्षत कलश यात्रा भीमगोड़ा कुंड से प्रारंभ होकर खड़खड़ी सुखी नदी होते हुए दूध आधारित चौक पर समाप्त हुई सैकड़ो की संख्या में राम भक्तों ने शोभायात्रा में प्रतिभा कर पुण्य कमाया।


बास्केटबॉल चैंपियनशिप में हरिद्वार बना चैंपियन


 *खेल महाकुंभ में अंडर 17 आयु वर्ग में फाइनल मैच में देहरादून को हराकर हरिद्वार बना चैंपियन, गोल्ड मेडल जीता*

हरिद्वार 28 दिसंबर हरिद्वार जनपद बास्केटबॉल एसोसिएशन के सचिव संजय चौहान ने बताया कि उत्तराखंड सरकार द्वारा आयोजित खेल महाकुंभ वर्ष 2023–24 बालक वर्ग में देहरादून में आयोजित प्रदेश स्तरीय चैंपियनशिप में आयु वर्ग 17 में हरिद्वार जनपद की टीम ने फाइनल मैच मे देहरादून की टीम को हराकर उत्तराखंड राज्य बनने के बाद पहली बार जीत दर्ज की! मैच जीतने के बाद हरिद्वार पहुंचे खिलाड़ियों को रानीपुर विधानसभा के लोकप्रिय विधायक और हरिद्वार जनपद बास्केटबॉल एसोसिएशन के संरक्षक आदेश चौहान ने गौतम फार्म स्थित गंगा बास्केटबॉल अकादमी पर खिलाड़ियों को माला पहना कर पुरस्कार किया और उनको शुभकामनाएं दी इस अवसर पर खिलाड़ियों को बधाई देते हुए विधायक आदेश चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री जी का खेलो इंडिया अभियान आज जहां पूरे देश में खेल को आगे बढ़ा रहा है वही उत्तराखंड सरकार  द्वारा आयोजित खिलाड़ी उदयमान योजना भी राज्य के कोने कोने में खिलाड़ियों को प्रोत्साहित कर रही है उन्होंने कहा कि खेल महाकुंभ के माध्यम से भी उत्तराखंड सरकार खेल को आगे बढ़ा रही है और इन खिलाड़ियों ने हरिद्वार जनपद का नाम पूरे प्रदेश में रोशन किया है

उत्तराखंड बास्केटबॉल एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष विकास तिवारी ने कहा आज खेलकूद के माध्यम से जहां हरिद्वार के बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास हो रहा है वहीं वे अपने भविष्य के लिए भी राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए पूरी तरह तैयार है उन्होंने कहा कि आज हरिद्वार में हजारों बच्चे बास्केटबॉल खेल से जुड़कर के लगातार हरिद्वार का नाम रोशन कर रहे हैं और वह दिन दूर नहीं जब हरिद्वार के ये प्रतिभावान और होनहार बच्चे राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी हरिद्वार और उत्तराखंड का नाम रोशन करेंगे

इन खिलाड़ियों में अभिषेक चुंघ 

अदिति देव श्रीवास्तव

नमन सैनी

कार्तिकेय सैनी

तुशांत चौधरी

अयान बत्रा

क्षितिज

आरव खान

रिषभ

अविश

टीम कोच आलोक चौधरी और लक्ष्य शर्मा शामिल रहे

हरिद्वार गौरव रत्न से विभूषित हुए श्री महंत रवींद्र पुरी एवं प्रोफेसर सुनील बत्रा

 गीता धार्मिक ग्रन्थ ही नहीं वरन यह जीवन दर्शन दर्शन का प्रबंधन है : श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी

गीता की प्रांसगिकता के सम्मुख विश्व  भी नतमस्तक : प्रो. बत्रा  

आध्यात्म चेतना संघ ने किया श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी व प्राचार्य प्रो. बत्रा को सम्मानित 

हरिद्वार 27 दिसम्बर,


एस.एम.जे.एन. काॅलेज में आज आध्यात्म चेतना संघ के एक कार्यक्रम में प्रोफेसर पी एस चौहान, आचार्य करूणेश मिश्र, भूपेन्द्र गौड़, प्रेम शंकर प्रेमी ने आज एस एम जे एन पी जी कालेज में पहुँच कर श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज, अध्यक्ष, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद व काॅलेज प्रबन्ध समिति तथा प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा को विशिष्ट सामाजिक सेवाओं के लिए हरिद्वार गौरव रत्न अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। 

अपने सम्बोधन में श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज, अध्यक्ष, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद व काॅलेज प्रबन्ध समिति ने कहा कि गीता के ज्ञान को हमे जन-जन तक पहुंचाना होगा ताकि हमारे शास्त्रों की ज्ञान परम्परा को संरक्षित रखा जा सके। श्री मंहत ने कहा कि गीता धार्मिक ग्रन्थ ही नहीं वरन यह जीवन दर्शन  का प्रबंधन भी है। श्री महन्त ने कहा कि अध्यात्म चेतना संघ जैसी संस्थायें इस कार्य में महत्वपूर्ण योगदान दे रही हैं। श्री महन्त ने कहा कि गीता का ज्ञान सभी सफलताओं का आधार है। 

अपने सम्बोधन में प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा ने अपने  हरिद्वार गौरव सम्मान हेतु आध्यात्म चेतना संघ को कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए कहा कि एफ डब्ल्यू टेलर के प्रबन्धकीय सिद्धान्त से भी पहले गीता जनमानस को प्रबन्ध क्षमता का ज्ञान दे चुकी थी। उन्होंने कहा कि गीता की प्रांसगिकता के सम्मुख सम्पूर्ण विश्व नतमस्तक हुआ है। उन्होंने गीता के प्रति आध्यात्म चेतना संघ के समर्पण की सराहना की। प्रोफेसर बत्रा ने अपना सम्मान सभी साथी प्राध्यापकों एवं छात्र छात्राओं को समर्पित किया। 

इस अवसर पर पूर्व प्राचार्य एवं संरक्षक प्रो. पी.एस. चौहान ने अपने सम्बोधन में श्री महन्त व प्राचार्य प्रो. बत्रा के कुशल नेतृत्व क्षमता की सराहना की। 

अंत में आचार्य श्री करूणेश मिश्र ने गीता पर अपने सम्बोधन में कहा कि गीता में धर्म के संरक्षण   पर ही विमर्श किया गया है और धर्म से आशय प्रत्येक व्यक्ति के कर्तव्यबोध से है न कि पूजा पद्धति से। 

इस अवसर पर डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी, कार्यालय अधीक्षक मोहन चन्द्र पाण्डेय, प्रो. जगदीश चन्द्र आर्य, विनय थपलियाल, डाॅ. मिनाक्षी शर्मा, डाॅ. सरोज शर्मा, डाॅ. रजनी सिंघल, डाॅ. लता शर्मा, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. हेमवती, संजीत कुमार एड़, राजकुमार, पिन्की वर्मा,इसमिता रयाल,दिवया भटट, आंकाशा पान्डेय, पदमावती तनेजा, रश्मि डोभाल, शाहीन,अनरिषा सिंह , भव्या भगत आदि उपस्थित रहें।

बद्री केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने लिया महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश जी महाराज एवं दिनेश जी भाई साहब का आशीर्वाद

 हरिद्वार हरिद्वार 26 दिसंबर   प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में परम श्रद्धेय महामंडलेश्वर  स्वामी रूपेंद्र प्रकाश जी महाराज से बी.के.टी.सी के  अध्यक्ष  अजेन्द्र अजेय . एवं वरिष्ठ भाजपा नेता राजपाल नेगी  ने महाराज जी का आशीर्वाद प्राप्त किया वहीं दूसरी ओर हरिद्वार कनखल स्थित हरिहर आश्रम में विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय मंत्री परम श्रद्धेय आदरणीय बड़े दिनेश जी से शिष्टाचार भेंट करी व उनका आशीर्वाद प्राप्त किया. महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश जी महाराज ने बद्री केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय के द्वारा चारों धामों की व्यवस्थाओं में आमूल चूल परिवर्तन करने के लिए उन्हें जहां बधाई दी वहीं उन्हें अपना आशीर्वाद एवं मार्गदर्शन भी प्रदान किया।


हरिहर आश्रम में जम्मू कश्मीर ,केरल, हिमाचल प्रदेश के राज्यपालों का हुआ आगमन

 *दिव्य अध्यात्मिक महोत्सव के पूर्णाहुति दिवस पर महामहिमों का आगमन*

 

हरिद्वार 26 दिसंबर  जूनापीठाधीश्वर आचार्यमहामण्डलेश्वर अनन्तश्री विभूषित स्वामी अवधेशानन्द गिरि जी महाराज के श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़ा की आचार्यपीठ पर पदस्थापन के दिव्य 25 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर आयोजित 


इस “दिव्य आध्यात्मिक महोत्सव” के तृतीय दिवस पर आज देश के विभिन्न प्रान्तों से महामाहिमों का आगमन हुआ। इस क्रम में जम्मू कश्मीर के महामहिम उप-राज्यपाल माननीय श्री मनोज सिन्हा जी, केरल के महामहिम राज्यपाल मोहम्मद आरिफ़ खान जी तथा हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल श्री शिव प्रताप शुक्ला जी एक मंच पर एक साथ एकत्रित हुए।


सभा को सम्बोधित करते हुए, जम्मू कश्मीर के महामहिम उप-राज्यपाल श्री मनोज सिन्हा जी ने कहा कि पूज्य गुरुदेव ने आधुनिक युग की पीढियों को संस्कृति से जोड़ने का काम कर जेनरेशन गैप को कम कर दिया है। जिस से भविष्य में एक सुदृढ़ भारत की नींव रखी जा रही है।

ऋतु खण्डूरी जी ने समाज कल्याण में साधु समाज की भूमिका पर अपने विचार प्रकट किए और पूज्य गुरुदेव का समाज के साथ Instant Connection (त्वरित जुड़ाव) की बात कही। आदरणीय श्री सतपाल ब्रह्मचारी जी ने भी इस दिव्य अवसर पर अपनी शुभकामनाएँ दी। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री श्री बृजेश पाठक ने अपने संबोधन में भारत के "वसुधैव कुटुंबकम्" की भावना के सौन्दर्य को उकेरते हुए कोरोना महामारी काल में विश्वस्तर पर वैक्सीन वितरण के कार्य की सराहना की।


इस दिव्य महोत्सव पर केन्द्रीय रक्षा राज्यमंत्री आदरणीय श्री अजय भट्ट जी भी उपस्थित रहे और गुरुदेव की विशेष कृपा के प्रति भावपूर्ण अभिव्यक्ति दी। उन्होंने कहा कि संतों की वाणी भगवदीय होती है, उनकी कृपा से भाग्य का विधान बदल जाता है। G20 summit की थीम one earth, one family, one future (जो वसुधैव कुटुंबकम् का अंग्रेज़ी अनुवाद है) को विश्वस्तर पर अपनाना भारत के परम ज्ञान के प्रति universal acceptance को दर्शाता है।


पंडित विजयशंकर मेहता जी ने अपने विनोदपूर्ण शैली में कहा कि गुरुदेव के व्यक्तित्व का एक-एक पहलू शोध का विषय है और कहा कि मुस्कुराना हो तो पूज्य गुरुदेव से सीखना चाहिए।


केरल के महामहिम राज्यपाल माननीय श्री आरिफ़ मोहम्मद खान जी ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत की संस्कृति आत्मा से एकीकृत हुई है। यहाँ हर किसी का सम्बन्ध एक-दूसरे से आत्मिक सम्बन्ध है। Oneness of being पर विशेष बल देते हुए भगवान शंकराचार्य जी के अद्वैतवाद की धारणा को पुष्ट करते हुए उन्होंने प्राचीन शास्त्रों के कुछ श्लोक और वेदों की ऋचाओं का वाचन किया। इस दिव्य अवसर पर माननीय श्री आरिफ़ मोहम्मद खान जी का सम्बोधन बहुत ही दिव्य और आध्यात्मिक था।


"सनातन वैदिक हिन्दू धर्म में समष्टि कल्याण के सूत्र" विषय पर आयोजित इस धर्मसभा में श्री कार्ष्णिपीठाधीश्वर परम पूज्य श्री गुरुशरणानन्द जी महाराज, केरल के महामहिम राज्यपाल आरिफ़ मोहम्मद खान जी, हिमाचल प्रदेश के महामहिम राज्यपाल आदरणीय श्री शिव प्रताप शुक्ला जी, जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल महामहिम श्री मनोज सिन्हा जी, हिन्दू धर्म आचार्यसभा के संयोजक पूज्य स्वामी परमात्मानन्द जी, केन्द्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री आदरणीय श्री अजय भट्ट जी, उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री आदरणीय श्री बृजेश पाठक जी, उत्तराखण्ड विधानसभा की अध्यक्षा आदरणीया श्रीमती ऋतु खण्डूरी जी, परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सह-संगठन मंत्री आदरणीय श्री शिवप्रकाश जी, पूज्य श्री सतपाल ब्रह्मचारी जी, पंडित विजयशंकर मेहता जी, श्रद्धेय श्री आशीष भैया जी, मध्य प्रदेश के पूर्व-मंत्री आदरणीय श्री अजय सिंह "राहुल भैया", सांसद श्री भोला सिंह जी, प्रभु प्रेमी संघ की अध्यक्षा पूजनीया महामण्डलेश्वर स्वामी नैसर्गिका गिरि जी, महामण्डलेश्वर पूज्य श्री स्वामी ललितानन्द गिरि जी महाराज, महामण्डलेश्वर पूज्य श्री स्वामी अपूर्वानन्द गिरि जी महाराज, संस्था के अनेक वरिष्ठ न्यासीगण, वरिष्ठ प्रशासनिक व अधिकारी गण, शहर के अनेक गणमान्य विभूतियाँ तथा देश-विदेश से बड़ी संख्या में पधारे साधकों की उपस्थिति रही।

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री ने वीर बाल दिवस पर हरिद्वार में गुरुद्वारा सिंह सभा ललता राव पुल पर आयोजित कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

हरिद्वार 26 दिसंबर (  संजय वर्मा )  वीर बाल दिवस के अवसर पर केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने गुरुद्वारा सिंह सभा हरिद्वार पहुंचकर शब्द कीर्तन श्रवण कार्यक्रम में प्रतिभाग किया एवं धर्म की रक्षा हेतु अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले गुरु गोविंद सिंह जी के वीर साहिब


बाबा जोरावर सिंह जी और बाबा फतेह सिंह जी को उनके बलिदान दिवस पर नमन किया।

उन्होंने कहा कि वीर साहिबजादो का सर्वोच्च बलिदान मातृभूमि और स्वधर्म की रक्षा हेतु हम सभी को सदैव प्रेरणा प्रदान करता रहेगा।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस को राष्ट्रीय दिवस घोषित किया है। 

देश आज पहला वीर बाल दिवस मनाना यह राष्ट्र के लिए एक नई शुरुआत का दिन है। जब हम सभी अतीत मे दिए गए बलिदानों के लिए अपने सर झुकाने के लिए एक साथ मिलकर आगे आते हैं वीर बाल दिवस भाव से भरा जरूर है लेकिन यह अनंत प्रेरणा का स्रोत भी है वीर बाल दिवस हमें देश के सम्मान की रक्षा के लिए 10 सिख गुरुओं के महान योगदान और सिख परंपरा के बलिदान को स्मरण कराएगा।

 इस अवसर पर विधायक हरिद्वार नगर विधायक मदन कौशिक, भाजपा जिला अध्यक्ष संदीप गोयल, रानीपुर विधायक आदेश चौहान, जिला महामंत्री आशु चौधरी, जिला उपाध्यक्ष रश्मि चौहान, जितेंद्र चौधरी, आभा शर्मा, रजनी वर्मा ,सचिन शर्मा, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष अमरीश गर्ग, मंडल अध्यक्ष तरुण नैय्यर, विनीत जोली ,अनिरुद्ध भाटी, अनिल अरोड़ा ,प्रीति गुप्ता, शीतल पुंडीर, सोनिया अरोड़ा, सुनील सैनी, राजीव भट्ट ,अंजना चड्ढा ,अरुण आर्य ,निशा नौडियाल ,संजय चोपड़ा, महंत जगदीप शास्त्री ,हरदीप सिंह मनमोहन सिंह ,रमणीक सिंह, हरमोहन सिंह, ज्ञानी प्रहलाद सिंह, रजवंत कौर आदि उपस्थित रहे।

एसएम जै एन कॉलेज में वीर बाल दिवस पर हुआ आयोजन ,क्षय रोगियों को वितरित की गई पौष्टिक आहार किट

 *टीवी मुक्त बनाने के लिए निक्षय मित्र की योजना है कारगर : श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी*

 *काॅलेज में निक्षय पोष्टिक फूडकिट का वितरण*

*निक्षय पोष्टिक फूडकिट का द्वितीय चरण प्रारम्भ*

हरिद्वार 26 दिसम्बर, ( आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ) एस.एम.जे.एन. काॅलेज में आज आन्तरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ द्वारा ‘प्रधानमंत्री टी.वी. मुक्त भारत अभियान-2.0  का आगा़ज आज अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद व काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज, महामंडलेश्वर स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश ,महामंडलेश्वर स्वामी प्रबोधानन्द गिरी जी महाराज, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. मनीष दत्त व काॅलेज के प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा माँ सरस्वती को पुष्प अर्पित कर एवं द्वीप प्रज्जवलित करके किया गया। 

प्रधानमंत्री टी.वी. मुक्त भारत अभियान’ के अन्तर्गत अध्यक्ष, काॅलेज प्रबन्ध समिति व अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज व काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा द्वारा क्षय रोगियों हेतु नि-क्षय पोष्टिक फूडकिट का वितरण किया गया। 

इस अवसर पर काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी महाराज जी ने माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रारम्भ किया गया टीबी मुक्त कराने के लिए इस अभियान की प्रंशसा की और कहा कि देश को टीवी मुक्त बनाने के लिए निक्षय मित्र की भूमिका काफी कारगर साबित हो रही है। अब इस योजना का द्वितीय चरण प्रारम्भ किया जा रहा है तथा   पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी, माँ मनसा देवी मन्दिर ट्रस्ट एवं एसएमजेएन पी जी कालेज के द्वारा 150 से अधिक पोष्टिक किटों का वितरण पुन: द्वितीय चरण का मासिक वितरण प्रारम्भ किया गया है। 

काॅलेज के प्राचार्य प्रो. डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया आज काॅलेज परिवार द्वारा नि-क्षय मित्र योजना के अन्तर्गत  पौष्टिक फूडकिट किटों को क्षय रोगियों को सुपुर्द किया गया।

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, हरिद्वार डाॅ. मनीष दत्त ने जानकारी देते हुए बताया कि  माँ मनसा देवी मन्दिर ट्रस्ट पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी एवं एस.एम.जे.एन. पी जी  कालेज ने पहले भी निक्षय मित्र योजना में बढ़-चढ़कर भाग लिया और  यह महाविद्यालय की इस परम्परा में एक ओर गौरवान्वित करने वाला क्षण है कि श्री मंहत रविन्द्र पुरी जी द्वारा  एक सौ पचास से अधिक क्षय रोगियों को गोद लिया जाना प्रस्तावित किया है।  पहले चरण में किये गए उल्लेखनीय कार्य के लिए राजभवन उत्तराखण्ड में महामहिम राज्यपाल महोदय द्वारा पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी एवं एसएमजेएन पी जी कालेज के प्राचार्य डॉ सुनील कुमार बत्रा को सम्मानित भी किया गया था। 

इस पहल के तहत नि-क्षय मित्र द्वारा टी.वी. रोगियों पोषण सहायता, नैदानिक सहायता और व्यवसायिक सहायता प्रदान की जा सकती है। उन्होंने बताया कि जो क्षय रोगियों को गोद लेकर पुष्टाहार के साथ भावनात्मक व सामाजिक सहयोग उपलब्ध करा रहे हैं, उन्होंने अन्य सामाजिक संगठनों व आम लोगों को भी क्षय रोगियों की मदद् के लिए आगे आने की अपील की। 

काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि क्षय रोगियों को गोद लेकर भावनात्मक और सामाजिक सहयोग उपलब्ध कराये जाने के अच्छे परिणाम सामने आयेंगे। निक्षय मित्र मिलने से टीबी रोगियों को हौंसला बढ़ता है, जब उन्हें यह पता चलता है कि परिवार के अलावा समाज में ऐसे लोग हैं जो उनके साथ हैं और उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंता करते हैं। वहीं नि-क्षय मित्र हर माह पुष्टाहार उपलब्ध करायेंगे। उन्होंने बताया कि  निक्षय मित्र योजना के अन्तर्गत फूडकिट वितरण कार्यक्रम में पोष्टिक किटों का वितरण भी किया गया। 

आन्तरिक गुणवत्ता प्रकोष्ठ प्रभारी डाॅ. संजय माहेश्वरी ने अपील की कि हम सभी का दायित्व है कि क्षय रोगियों को भावनात्मक सहयोग के साथ उन्हें पौष्टिक आहार उपलब्ध करवायें ताकि वे शीघ्र पूरी तरह से स्वस्थ हो सकें। यह सामुदायिक सहयोग से ही सम्भव हो सकता है। इस अवसर पर काॅलेज की डाॅ. अमिता मल्होत्रा तथा पूर्व छात्रा अनन्या भटनागर द्वारा अनेक भजन व देशभक्ति गीतों पर अपनी शानदार प्रस्तुति दी जिसकी समस्त अतिथियों ने मुक्तकण्ठ से प्रशंसा की। 

इस अवसर सीनियर ट्रीटमेंट सुपरवाईजर डाॅ. मौहम्मद सलीम,  डी टी ओ डाॅ. आर.के. सिंह, डाॅ. शादाब सिद्दकी, अनिल नेगी, मौ. सलीम, अवनीश कुमार, सौरभ कुमार, काॅलेज के डाॅ. जे.सी. आर्य, विनय थपलियाल, डाॅ. सुषमा नयाल, डाॅ. विनीता चौहान, श्रीमती रिचा मिनोचा, डाॅ. शिवकुमार चौहान, डाॅ. मनोज सोही, श्रीमती कविता छाबड़ा, श्रीमती रिंकल गोयल, डाॅ. लता शर्मा, डाॅ. आशा शर्मा, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. रेनू सिंह, श्रीमती रूचिता सक्सेना, डाॅ. सुगन्धा वर्मा, डाॅ. सरोज शर्मा, डाॅ. पूर्णिमा सुन्दरियाल, प्रिंस श्रोत्रिय, विनीत सक्सेना, डाॅ. पुनीता शर्मा, कु. वन्दना सिंह मनोज मलिक, रंजीता आदि उपस्थित रहे।


*वीर बाल दिवस है सनातक संस्कृति की संघर्ष क्षमता का परिचायक : श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी*  

*वीर बाल दिवस पर आयोजित की गयी बौद्धिक गोष्ठी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम*

हरिद्वार 26 दिसम्बर, 2023  एस.एम.जे.एन.  पी जी काॅलेज में आज आन्तरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ द्वारा 10 वें सिक्ख गुरू गोविन्द सिंह जी के 04 वीर सुपुत्रों की शहादत की याद में माननीय प्रधानमंत्री द्वारा दिनांक 26 दिसम्बर, 2023 को प्रतिवर्ष वीर बाल दिवस मनाये जाने की घोषणा की गयी थी, उसी के तहत आज महाविद्यालय मे वीर बाल दिवस पर उनके संघर्ष, त्याग, वीरता एवं बलिदान पर महाविद्यालय स्तर पर एक सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया।

इस अवसर पर श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज, अध्यक्ष अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद व काॅलेज प्रबन्ध समिति ने अपने सम्बोधन में महाविद्यालय प्रशासन को साधुवाद ज्ञापित किया और कहा कि  वीर बाल दिवस को सनातन संस्कृति की प्रतिरोधक क्षमता के रूप में देखा जाना चाहिए। 

मुख्य वक्ता के रूप में पलजिन्दर सिंह जी, निर्मल संतपुरा ने अपने सम्बोधन में कहा कि वीर बाल दिवस वास्तव में आक्रमणकारियों, आतताइयों के विरूद्ध गुरू गोविन्द सिंह और उनके चार वीर सुपुत्रों के संघर्ष को दिखाता है और जोकि सच्चे अर्थों में सनातन संस्कृति के मजबूत आधार का परिचायक है। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी को इतिहास की सही समझ होनी चाहिए ताकि आगे आने वाले समय में वह ऐसी विचारधाराओं और व्यक्तियों से सतर्क रह सके, जिनसे कि उनके समाज व संस्कृति को व्यापक रूप से खतरा है। उन्होंने वाहे गुरू जी का खालसा और वाहे गुरू जी की फतेह, के मंत्र के उच्चारण के साथ अपना सम्बोधन श्रोत्राओं के सम्मुख रखा। 

इस अवसर पर महामण्डलेश्वर परम पूज्य प्रबोधानंद गिरि जी महाराज ने चमकोर के युद्ध 1704 एवं फतेह सिंह और जोरावर सिंह के बलिदान सन 1705 के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि ऐसा युद्ध विश्व के इतिहास में कभी देखने को नहीं मिलता जबकि 40 सिक्ख योद्धाओं ने अपने पराक्रम के बल पर दस लाख से अधिक की मुगल फौज को मात दी। 

महामण्डलेश्वर परम पूज्य रूपेन्द्र प्रकाश जी महाराज ने  कहा कि धर्मरक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले गुरु गोविंद सिंह जी के वीर साहिबजादो बाबा जोरावर सिंह और बाबा फतेह सिंह को उनके बलिदान दिवस पर नमन किया।

उन्होंने कहा कि वीर साहिबजादो का सर्वोच्च बलिदान मातृभूमि और स्वधर्म की रक्षा के लिए हम सभी को सदैव प्रेरणा प्रदान करता रहेगा।

महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा ने वीर बाल दिवस पर सम्बोधित करते हुए कहा कि महाविद्यालय युवा मस्तिष्कों में इतिहास बोध उत्पन्न करने के लिए समय समय पर ऐसे कार्यक्रम कराता रहेगा।  उन्होने सरदार उधम सिंह की जयंती पर उन को नमन करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि देश आज पहला वीर बाल दिवस मना रहा है। यह राष्ट्र के लिए एक नई शुरुआत का दिन है। जब हम सभी अतीत में दिए गए बलिदानों के लिए अपने सर झुकाने के लिए नतमस्तक हैं। यह दिवस अनंत प्रेरणा का स्रोत  है। वीर बाल दिवस हमें देश के सम्मान की रक्षा के लिए 10 सिख गुरुओं के महान योगदान और सिख परंपरा के बलिदान को स्मरण कराता रहेगा। 

   इस अवसर पर अनिल  कुमार शर्मा, डॉ सजंय कुमार माहेश्वरी कार्यक्रम संयोजक, राजनीति विज्ञान अध्यक्ष विनय थपलियाल, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. विनीता चौहान, दिव्यांश शर्मा, डाॅ. मिनाक्षी शर्मा, डाॅ. सरोज शर्मा, डाॅ. आशा शर्मा, डाॅ. लता शर्मा, डाॅ. विजय शर्मा सहित काॅलेज के कार्यालय अधीक्षक मोहन चन्द्र पाण्डेय, डाॅ. मनोज कुमार सोही मनोज मलिक, रंजीता आदि उपस्थित रहे।


देव संस्कृति विश्वविद्यालय की दो छात्राए गणतंत्र दिवस परेड दिल्ली में करेंगी प्रतिभाग

 नई दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड में प्रतिभाग करेंगी देसंविवि की छात्राएँ


हरिद्वार 25 दिसंबर ( अमर शदाणी संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) भारत सरकार युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय द्वारा आयोजित गणतंत्र दिवस परेड शिविर 2024 में उत्तराखण्ड से कुल चार विद्यार्थियों का चयन हुआ है। इनमें देव संस्कृति विश्वविद्यालय की छात्राएँ कु. तनुजा रावत एवं वेदा देवी का नाम शामिल है। ये छात्राएँ कर्तव्यपथ नई दिल्ली में मुख्य परेड में प्रतिभाग करेंगी।

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि अनुशासन एवं मन में सकारात्मक विचार होने से शरीर को नई ऊर्जा मिलती है। देसंविवि के छात्र-छात्राएँ निरंतर रचनात्मकता के साथ आगे बढ़ रहे है। प्रतिकुलपति डॉ. पण्ड्या ने देवभूमि उत्तराखण्ड की ओर से परेड में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने हेतु छात्राओं को शुभकामनाएँ दी।

विदित हो कि प्री.आर.डी.परेड शिविर 20 से 29 नबंवर में देव संस्कृति विश्वविद्यालय में आयोजित किया गया था। इस शिविर में छः राज्यों- उत्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार एवं झारखण्ड के २०० राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवियों ने प्रतिभागिता किया था। इन 200 में से 40 विद्यार्थियों का चयन निर्दिष्ट मापदण्डों जैसे वजन, लंबाई, दौड़, परेड एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में उत्कृष्ठ प्रदर्शन के आधार पर मुख्य गणतंत्र दिवस परेड, नई दिल्ली के लिए किया गया।

राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक डॉ. उमाकान्त इंदौलिया ने बताया कि पिछले लगभग 18 वर्षों से मुख्य गणतंत्र दिवस परेड, नई दिल्ली में प्रतिवर्ष देव संस्कृति विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों का चयन होता आ रहा है। इस वर्ष तनुजा रावत एवं वेदा देवी का चयन ने इस गौरवमयी अध्याय को जारी रखा है। विवि परिवार ने कु. तनुजा रावत एवं वेदा देवी को बधाई दी।


क्या है सूचना का अधिकार ? जानिए एडवोकेट ललित मिगलानी की कलम से


 सूचना का अधिकार क्या होता है क्या है इसके प्रावधान आईये जानते है इसके बारे में हाई कोर्ट नैनीताल के अधिवक्ता ललित मिगलानी से।

क्या होता है सूचना का अधिकार

मुख्य रूप से भ्रष्टाचार के खिलाफ 2005 में एक अधिनियम लागू किया गया जिसे सुचना का अधिकार यानी RTI कहा गया. इसके अंतर्गत कोई भी नागरिक किसी भी सरकारी विभाग से कोई भी जानकारी ले सकता है बस शर्त यह है की RTI के तहत पूछी जाने वाली जानकारी तथ्यों पर आधारित होनी चाहिए. यानि हम किसी सरकारी विभाग से उसके विचार नही पूछ सकते. जैसे आप के ईलाके में विकास के कामो के लिए कितने पैसे खर्च हुए है और कहाँ खर्च हुए है, आपके इलाके की राशन की दुकान में कब और कितना राशन आया, स्कूल, कॉलेज और हॉस्पिटल में कितने पैसे खर्च हुए है जैसे सवाल आप सूचना का अधिकार अधिनियम  के तहत पता कर सकते है.


इसके क्या  फायदे है :

कोई भी नागरिक, किसी भी सरकारी विभाग से जानकारी प्राप्त कर सकता है

ये अधिकार एक आम नागरिक के पास है जो सरकार के काम या प्रशासन में और भी पारदर्शिता लाने का काम करता है.

भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बड़ा कदम है.

इस अधिकार का उपयोग हम किसी भी सरकारी विभाग की राय जानने के लिए नही कर सकते. इसका उपयोग हम तथ्यों की जानकारी पाने के लिए कर सकते है. जैसे, “डिस्पेंसरी में कितनी दवाइयां आती है, पार्क और साफ़ सफाई में कितना खर्च हुआ, किसी सरकारी दफ्तर में कितनी नियुक्तियां हुई?” इसके अलावा “ सड़क बनाने के लिए कितने पैसे आये और कहा पर खर्च हुए?”

सभी गवर्मेंट डिपार्टमेंट, प्रधानमंत्री, मुख्यमत्री, बिजली कंपनियां, बैंक, स्कूल, कॉलेज, हॉस्पिटल, राष्ट्रपति, पुलिस, बिजली कंपनियां, RTI act के अन्दर आते है.

लोगो ने RTI के इस्तेमाल से कई ऐसी जानकारी हासिल की है जिससे उनकी रोजमर्रा की समस्याए सुलझ गई है.

सरकार की सुरक्षा से सम्बंधित जानकारी या गोपनीय जानकारी इस अधिकार के अंतर्गत नही आती.

कैसे प्राप्त करे जानकारी?

हर सरकारी विभाग में जन सुचना अधिकारी होता है. आप अपने आवेदन पत्र उसके पास जमा करवा सकते है.

आवेदन पत्र का फॉर्मेट इन्टरनेट से डाउनलोड कर सकते है या फिर एक सफ़ेद कागज पर अपना आवेदन(एप्लीकेशन) लिख सकते है जिसमे जन सुचना अधिकारी आपकी मदद करेगा.

RTI की एप्लीकेशन आप किसी भी भारतीय भाषा जैसे हिंदी, इंग्लिश या किसी भी स्थानीय भाषा में दे सकते हैं

अपने आवेदन पत्र की फोटो कॉपी करवा कर जन सुचना अधिकारी से रिसीविंग जरुर ले ले.

https://rtionline.gov.in/ इस साईट पर जा कर केंद्र सरकार के किसी भी विभाग से जानकारी प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते है.

आवेदन पत्र डालने के ३० दिन के अन्दर आपको जवाब मिल जाएगा

यदि ऐसा नही होता है तो आप कार्ट में अपील कर सकते है

किसी भी सरकारी विभाग से जानकारी प्राप्त करने के लिए आवेदन पत्र के साथ 10/- रूपये की फीस है

ये फीस गरीबी रेखा से नीचे के लोगो के लिए माफ़ है.

ये थी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी सूचना के अधिकार पर।

आई एम ए हरिद्वार के अध्यक्ष बने डॉ विकास दीक्षित

 हरिद्वार 25 दिसंबर   आई एम ए हरिद्वार  के चुनाव शनिवार को संपन्न हुए जिसमें पदाधिकारियों व अन्य सदस्यों ने हिस्सा लिया। वरिष्ठ बाल रोग चिकित्सक डॉ विकास दीक्षित, देवभूमि पॉलीक्लिनिक अध्यक्ष चुने गए। डॉ शोभित चन्द्र को


सचिव व डॉ विमल कुमार को कोषाध्यक्ष चुना गया। चुनाव अधिकारी डॉ आर के सिंघल की देखरेख में चुनाव संपन्न हुए। डॉ दीक्षित ने कहा पूरा IMA एक परिवार है व उनका प्रयास रहेगा पुरानी टीम के के कार्यो को और आगे बढ़ाने का व समस्याओं का समाधान करने का। मीटिंग में डॉ एंडले, डॉ कैलाश pandey(वर्तमान अध्यक्ष ), डॉ प्रेम लूथरा, डॉ अन्नू लूथरा, डॉ दिनेश सिंह, डॉ मुकेश मिश्रा, डॉ राम शर्मा, डॉ अंजुल श्रीमाली, डॉ विजय वर्मा(वर्तमान सचिव), डॉ दीपक कुमार, डॉ राहुल आहर, डॉ नेहा शर्मा व अन्य ने प्रतिभाग किया ।

भाजपाइयों ने मनाई अटल बिहारी वाजपेई की जयंती

 हरिद्वार 25 दिसंबर, ( वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ) जिला भाजपा कार्यालय हरिद्वार पर भारत रत्न, पूर्व प्रधानमंत्री श्रद्धये अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती को सुशासन दिवस के रूप में मनाया गया।

जिले भर से आए हुए कार्यकर्ताओं ने श्रद्धये अटल जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर गोष्ठी का आयोजन किया। 

इस अवसर पर सभी पदाधिकारीयो ने अटल जी के दिखाएं मार्ग पर चलने का संकल्प लिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला अध्यक्ष संदीप गोयल ने बताया कि यह कार्यक्रम आज भारतीय जनता पार्टी सुशासन दिवस के रूप में मना रही है आज जिले के प्रत्येक मंडलों पर बड़े कार्यक्रम एवं प्रत्येक बूथ पर श्रद्धये अटल जी की जयंती मनाई जा रही है। उन्होंने बताया कि अटल जी एक प्रखर वक्ता, पत्रकार, आदर्श राजनेता एवं कवि थे।

अटल जी जनसंघ के संस्थापक सदस्य थे तथा सन 1968 से 1973 तक जनसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे हम सभी को पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी से बड़ी सीख लेनी चाहिए उन्होंने विदेश मंत्री रहते हुए संयुक्त राष्ट्र सभा में अपना संबोधन हिंदी में दिया जबकि यह भाषण पहले अंग्रेजी में लिखा गया था किंतु अटल जी ने बड़े गर्व के साथ इसका हिंदी अनुवाद पढ़कर राष्ट्रभाषा को सम्मान दिलाने का काम किया एवं हम सबको अपनी राष्ट्रभाषा को अपनाकर प्रेरित करने का काम किया।

उत्तराखंड राज्य बनाने का काम भी श्रद्धये अटल जी की ही सरकार में संभव हुआ था हम सभी उत्तराखंडी सदैव अटल जी के आभारी रहेंगे।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी राजनीति के अज्ञात शत्रु माने जाते थे देश के विकास में उनके योगदान को कभी बुलाया नहीं जा सकता है हम सभी को उनके जीवन दर्शन से प्रेरणा मिलती है हम सब कार्यकर्ताओं को अटल जी के सपनों के अनुरूप सर्वव्यापी ,सर्वस्पर्शी एवं सर्वाग्रही बनाने का काम करना है आज देश में जिस तरह से विरोधी दलों द्वारा देश विरोधी वातावरण बनाया जा रहा है भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता मिलकर उसे समाप्त करेंगे और देश में शांति और सद्भभाव का माहौल बनाने का काम करेंगे।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं हरिद्वार विधायक मदन कौशिक ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी जी पहले ऐसे प्रधानमंत्री थे जिन्होंने देश  के उत्तर पूर्वी क्षेत्र के महत्व को समझा और क्षेत्र की प्रगति के लिए कई पहल शुरू की इसके लिए एक अलग विभाग की स्थापना की गई अटल जी ने इसी दृष्टिकोण को आगे बढ़ते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सक्रिय रूप से एक्ट ईस्ट नीति को आगे बढ़ाया और उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास और सुशासन को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं शुरू की अपनी सरकार में गरीबों के कल्याण को प्राथमिकता दी सेवा सुशासन और गरीबों के कल्याण को प्राथमिकता देते हुए मोदी सरकार ने श्रमेव जयते का नारा दिया असंगठित क्षेत्र से जुड़े लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री श्रम मानधन योजना ,प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना और गरीब कल्याण अन्न योजना जैसी प्रमुख योजनाएं शुरू की है।

 पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार लोकसभा सांसद डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी सुशासन की प्रतिमूर्ति थे उनकी सरकार ने अंतोदय की विचारधारा को मानते हुए सुशासन के नए प्रतिमान स्थापित किये आज मोदी सरकार अटल जी के दिखाए रास्तों पर चलकर सेवा ,सुशासन और गरीब कल्याण को सुनिश्चित करने का कार्य कर रही है किसानों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए अटल जी ने 1998 मे किसान क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की थी इससे किसानों को उनकी फसल उत्पादन आवश्यकताओं के लिए बैंक ऋण देने में क्रांतिकारी बदलाव आया अटल जी की विरासत को आगे बढ़ते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि ,फसल बीमा योजना, मृदा स्वास्थ्य कार्ड इत्यादि जैसी कई किसान समर्थक योजनाएं शुरू की हैं प्रधानमंत्री ने इस बात को बार-बार दोहराया है कि इस देश में सिर्फ प्रमुख समूह है गरीब, युवा ,महिला एवं किसान और इनका कल्याण सरकार का उद्देश्य है अटल जी भारतीय भाषाओं के प्रबल समर्थक थे भारतीय भाषाओं के प्रति उनके भाव को और बढ़ावा देते हुए नई शिक्षा नीति NEP लाई गई इससे एक नई युग की शुरुआत हुई है इस नीति के मूल में भारतीय भाषाओं के नियमित उपयोग के माध्यम से उनके विकास को बढ़ावा देने और प्रत्येक भाषाई विरासत के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित करने की एक रणनीति दृष्टि निहित हैl

इस अवसर पर जिला महामंत्री आशु चौधरी, जिला उपाध्यक्ष विकास तिवारी, लव शर्मा, आभा शर्मा, डॉ जयपाल सिंह चौहान ,नकली राम सैनी, मोहित वर्मा , अमरीश सैनी, रजनी वर्मा, सचिन शर्मा, डॉ प्रदीप कुमार अनामिका शर्मा, संजय कुमार, एजाज हसन, दीपिका राठौड़, प्रीति गुप्ता, गीता कुशवाहा, रंजीता झा, मनोज पारलिया, पंकज बागड़ी, अजय मलिक, पवनदीप, तिलक राम सैनी, राजकुमार अरोड़ा, राजीव भट्ट, सतीश कुमार, भूषण सिंह ,आदित्य गिरी, सूर्यकांत सैनी, विपिन चौधरी, आजाद वीर ,मिथुन चौधरी, राजेंद्र भवर, नसीम सलमानी, गनी कसाना, तौसीफ अंसारी, शादाब आलम आदि पदाधिकारी कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


एस एम जे एन कॉलेज में गुड गवर्नेंस पर आयोजित हुई संगोष्ठी

 राष्ट्रीय संगोष्ठी में गुड गवर्नेंस पर हुआ विचार विनिमय

मानव संसाधन है गुड गवर्नेंस का मूलमंत्र : श्रीमंहत रविन्द्र पुरी

 हरिद्वार 25 दिसम्बर( आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार  )


स्थानीय एसएमजेएन पी जी कालेज में आहूत राष्ट्रीय संगोष्ठी में गुड गवर्नेंस एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी के कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर भी विचार विनिमय किया गया

इस अवसर पर राजनीति शास्त्र के प्राध्यापक विनय थपलियाल ने कहा कि

गुड गवर्नेंस आज के वैश्वीकृत युग में एक अनिवार्य आवश्यकता बन चुका है क्योंकि गुड गवर्नेंस यह सुनिश्चित करता है कि किसी भी संस्थान में समस्त कार्मिकों सेवा प्रदाताओं और अन्य स्टेकहोल्डर्स के बीच में कितना अच्छा समायोजन है इसके अतिरिक्त  उनकी संतुष्टि का स्तर क्या है? 

प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्री मंहत रविन्द्र पुरी महाराज ने कहा कि हम कई बार मानव संसाधन के प्रबंधन की बात करते हैं परंतु हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि मानव इस समस्त गतिविधि का मूल है अतः कोई भी गुड गवर्नेंस मानव संसाधन के बिना कारगर साबित नहीं हो सकती हैं। अतः प्रबंधन ने एसएमजेएन संस्थान में यह सुनिश्चित कराया है की उचित फीडबैक सिस्टम से समस्त स्टेकहोल्डर यानी छात्र-छात्राएं और उनके अभिभावक पूर्व छात्र छात्राऐं अपने संतुष्टि का स्तर बता सकते है । उन्होंने इस हेतु प्राचार्य एवं कालेज के समस्त स्टाफ की प्रशंसा की। 

  प्राचार्य डॉ सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि हमारा महाविद्यालय गुड गवर्नेंस के तीन स्तरों पर कार्य कर रहा है पहले कार्मिकों को उचित वातावरण प्रदान करने का स्तर, दूसरा छात्र छात्राओं को अपनी समस्या के निदान का स्तर, और तीसरा कौशल विकास एवं सूचना प्रौद्योगिकी और अन्य लाभों को छात्रों को प्रदान करने के लिए आवश्यक वातावरण का स्तर, मुझे यह बताते हुए हर्ष की अनुभूति होती है कि हमारे  महाविद्यालय में तीनों स्तरों पर संतोष जनक ढंग से कार्य किया जा रहा   है। इस अवसर पर कालेज की छात्रा अपराजिता ने कविता के माध्यम से भारत रत्न स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी को याद किया तथा गुड गवर्नेंस के बारे में बताया। 

कार्यक्रम का सफल संचालन डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी व कैरियर काउसिंलिग सेल के अधिष्ठाता विनय थपलियाल द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्य रूप से हरिद्वार नागरिक मंच के जगदीश लाल पाहवा, रमन कुमार सैनी अधिवक्ता, रामानंद इंस्टीटयूट के मयंक गुप्ता, मनोज उनियाल, सूरज,श्रुति   शर्मा,एवं डाॅ. मन मोहन गुप्ता, प्रो. जगदीश चन्द्र आर्य, डाॅ. सुषमा नयाल, डाॅ. शिव कुमार चौहान, डाॅ. मनोज कुमार सोही, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. सरोज शर्मा, डाॅ. आशा शर्मा, डाॅ. लता शर्मा, श्रीमती रूचिता सक्सेना, डाॅ. रजनी सिंघल, डाॅ. पल्लवी राणा, डाॅ. मिनाक्षी शर्मा, डाॅ. विनीता चौहान, कु. भव्या भगत, कु. साक्षी गुप्ता, डाॅ. प्रदीप त्यागी, मोहन चन्द्र पाण्डेय आदि उपस्थित रहे।

उत्तराखंड के 20 लाख परिवारों तक पहुंचेगा प्राण प्रतिष्ठा समारोह का निमंत्रण :- आलोक कुमार




हरिद्वार, 25 दिसंबर  – विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष तथा वरिष्ठ अधिवक्ता माननीय श्री आलोक कुमार ने हरिद्वार के प्रेस क्लब में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए  कहा कि  राम हमारी प्रेरणा हैं, हमारी पहचान है, हमारी अस्मिता हैं। प्रभु श्रीराम लगभग 500 वर्षों के संघर्ष के पश्चात 22 जनवरी को जन्म स्थान पर बन रहे भव्य मंदिर में पुनः विराजमान होंगे। धर्म की पुनर्स्थापना के लिए संघर्ष सदैव से होता आया है, कभी-कभी सृजन के लिए यह आवश्यक भी होता है। श्रीराम जन्मभूमि के लिए 76 बार विकट संघर्ष हुआ, इस संघर्ष में हर भाषा, वर्ग, समुदाय व संप्रदाय के लोगों ने सहभागिता की थी। 25 पीढ़ियों के बलिदान, त्याग और समर्पण के प्रतिफल स्वरूप प्राप्त इस भव्य आयोजन की साक्षी वर्तमान की पीढ़ी बनेगी, जिन्होंने वर्तमान के संघर्ष और विजय को प्रत्यक्ष देखा है। अयोध्या में केवल राम मंदिर की ही नहीं, अपितु राष्ट्र मंदिर व राष्ट्रीय गौरव की नींव पक्की हो रही है। 


श्री आलोक कुमार जी ने कहा कि संपूर्ण विश्व में भारतीय संस्कृति का सूर्योदय हो रहा है। श्रीराम जन्मभूमि का संघर्ष विश्व का सबसे लंबा संघर्ष है। विश्व हिन्दू परिषद का सबसे बड़ा आंदोलन राम मंदिर के निर्माण के लिए ही किया गया जो 35 वर्ष तक अनवरत चला और लगभग 16 करोड़ रामभक्तों ने इसमें प्रत्यक्ष भाग लिया। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर जब श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर बनाना प्रारंभ किया गया तो देश के 12.5 करोड़ परिवार अर्थात 65 करोड़ रामभक्तों ने मंदिर निर्माण में निधि समर्पण कर सहयोग दिया। जिस उत्साह से दो वर्ष पूर्व सकल हिन्दू समाज ने मन्दिर निर्माण निधि समर्पण अभियान में हिस्सा लिया उससे दुगने उत्साह से वो प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी में जुटा हुआ है। आगामी 22 जनवरी को भगवान की प्राण प्रतिष्ठा के दिन संपूर्ण विश्व के 5 लाख से अधिक मंदिरों में संपन्न होने वाले कार्यक्रमों के लिए हम 12.5 करोड़ों से अधिक परिवारों को श्रीराम जन्मभूमि मे पूजित पीले अक्षत (चावल) देकर निमंत्रित करेंगें।


विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष श्री आलोक कुमार जी ने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड के 16 हजार से अधिक ग्रामों के 20 लाख परिवारों में 1 जनवरी से 15 जनवरी तक पहुंच कर हम संघ परिवार, अन्य हिन्दू और सामाजिक संगठनों के साथ इस भव्य आयोजन के साक्षी बनने का निमंत्रण देने वाले हैं। उत्तराखण्ड के चारधाम सहित प्रत्येक ग्राम, शहर, स्थान के मंदिरों में भगवान की प्राण प्रतिष्ठा के दिन भव्य आयोजन किए जायेंगे। इस हेतू सभी मठ–मंदिर के पुजारियों से संपर्क स्थापित किया गया है। सनातन हिन्दू धर्म की सभी धर्म–धाराओं जैसे जैन, बौद्ध, सिक्खों के गुरुद्वारों और मंदिरों में समस्त हिन्दू समाज हर्षोल्लास के साथ इस अवसर पर सम्मिलित होकर इस ऐतिहासिक अवसर का साक्षी बनेगा। विश्व प्रसिद्ध संस्था गंगा सभा हरिद्वार तीन दिवसीय विशेष गंगा आरती के साथ दीपोत्सव के कार्यक्रम का आयोजन करेंगी। उत्तराखण्ड में नानकमत्ता स्थित सिक्खों के पवित्र गुरुद्वारा में भव्य आयोजन किया जाएगा। 14 वर्ष वनवास के पश्चात अयोध्या आगमन का समाचार उत्तराखण्ड की विकट परिस्थितियों वाले दूरस्थ क्षेत्रों में एक माह पश्चात पहुंचा था, तो ईगास बग्वाल के रुप में देव दीपावली का भव्य त्यौहार मनाया गया था, जो आज तक मनाया जाता है। भगवान श्री राम 500 वर्षों के पश्चात अपने मंदिर में विराजमान होंगे यह शुभ समाचार तो 22 जनवरी से पूर्व उत्तराखण्ड के आम जनमानस तक पहुंचेगा तो कैसा अदभुत दृश्य होगा। 22 जनवरी के बाद श्रीराम जन्मभूमि मुक्ति मे भाग लेने वाले सेनानियों और उनके परिवार को श्रीराम लला के दर्शन करायेंगे यें सौभाग्य हैं  कि सर्वप्रथम देवभूमि के लोगों को ही अवसर प्राप्त होगा 27 जनवरी को दर्शन करेंगे। उन्होंने अयोध्या के श्रीराम मन्दिर की प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को भारत के इतिहास का एक गौरवशाली दिवस एवं देव दीपावली जैसा बताया और इस शुभ दिन को हिन्दू समाज द्वारा विशेष उत्सव के रूप में मनाने व प्रत्येक सनातनी के घर, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, आश्रम, मन्दिर तथा सार्वजनिक स्थलों पर इस शुभ अवसर पर दीपदान करने का आह्वान किया।


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने लिया संत जनों से आशीर्वाद

हरिद्वार 25 दिसंबर ( संजय वर्मा ) जूनापीठाधीश्वर आचार्यमहामण्डलेश्वर अनन्तश्री विभूषित स्वामी अवधेशानन्द गिरि जी महाराज के श्रीपंचदशनाम जूनाअखाड़ा की "आचार्यपीठ पर पदस्थापना के दिव्य 25 वर्ष" पूर्ण होने के अवसर पर “श्रीदत्त जयन्ती“ पर हरिहर आश्रम, कनखल, हरिद्वार में आयोजित धर्मसभा में पूज्य सन्तों के आशीर्वचन एवं मुख्य अतिथि के रूप में देश के रक्षामंत्री आदरणीय श्री राजनाथ सिंह जी तथा लोकसभा के अध्यक्ष आदरणीय श्री ओम बिरला  जी का उद्बोधन हुआ। इस दिव्य अवसर पर केन्द्रीय रक्षामंत्री श्री राजनाथ जी की गरिमामय उपस्थिति से सभा और अधिक शोभायमान हो गई। अपने उद्बोधन में रक्षामंत्री आदरणीय श्री राजनाथ सिंह जी ने कहा कि ये दिव्य आध्यात्मिक महोत्सव है, परिसर में प्रवेश करते ही इस कार्यक्रम की दिव्यता का मुझे अनुभव हो रहा था। आध्यात्मिक व्यक्ति वही है, जिसका मन बड़ा होता है। अपने परिवार से अलग होकर लोकहित के लिए संन्यास धारण करने का कार्य कोई छोटे मन का व्यक्ति नही कर सकता। मन के विस्तार की सीमा वह होती है जब व्यक्ति सीधे परमानन्द को अनुभूत कर लेता है। मन की परिधि परमानन्द के समानुपाती होती है। पूज्य स्वामी जी के प्रति मेरे मन में अगाध श्रद्धा है, जिसे शब्दों में अभिव्यक्त नही किया जा सकता है। राष्ट्र के उत्थान में संन्यासियों का अभूतपूर्व योगदान है। बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय ने अग्रेजों के विरुद्ध संन्यासियों के रण के विषय में लिखा है, इसलिए संन्यासियों का इस राष्ट्र की संस्कृति से बड़ा गहरा जुड़ाव है। जब भी आवश्यकता पड़ी संन्यासियों ने समाज के उत्थान का कार्य किया। समाज में न रहकर भी पूज्य स्वामी जी के आशीर्वाद से यह आचार्यपीठ समाज के लिए अपने उत्तरदायित्व का निर्वहन कर रही है। जल, पर्यावरण और शिक्षा के लिए इस पीठ द्वारा उल्लेखनीय कार्य किए जा रहे हैं। विदेशी आक्रमणकारी ये जानते थे कि संन्यासियों और आध्यात्मिक परम्परा को नष्ट कर हम भारत की सांस्कृतिक चेतना को नष्ट कर देगे। किन्तु यह पूज्य स्वामी जी जैसे संन्यासियों की जिजीविषा ही थी कि भारत आध्यात्मिक और सांस्कृतिक दृष्टि से इतना समृद्ध है। जो अपनी जड़ों और संस्कृतियों से कटे हुए व्यक्ति की परिस्थिति अत्यन्त दयनीय होती है। पुराने समय में जब राजाओं का अभिषेक होता था तो राजा के ऊपर केवल एक ही सत्ता रहती थी और वह है धर्म सत्ता। राजा अपना राजधर्म निभा रहा है कि नही इसका अधिकार पूज्य स्वामी जी जी जैसे मनीषियों का ही है।


उन्होंने अपने उद्बोधन में मन और विचार की उच्चता को दिव्यता और परमानन्द प्राप्ति का साधन बताया, और सन्तों की महिमा का बखान करते हुए कहा कि सन्त मोह माया से विरक्त होने के बाद भी समाज के कल्याण के लिए हमेशा समाज से जुड़े रहते हैं। उन्होंने संस्कृति के साथ जुड़ाव को महत्त्वपूर्ण और सर्वथा कल्याणकारी बताया। उनके साथ इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष आदरणीय श्री ओम बिड़ला जी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा राज्यसभा सदस्य आदरणीय श्री सुधांशु त्रिवेदी जी भी उपस्थित रहे।


श्री पंचदशनाम जूना अखाड़े की आचार्यपीठ पर आयोजित दिव्य आध्यात्मिक महोत्सव के द्वितीय दिवस के प्रथम सत्र में आयोजित धर्मसभा में उत्तराखण्ड के यशस्वी मुख्यमंत्री आदरणीय श्री पुष्कर सिंह धामी जी,

निर्वाणपीठाधीश्वर आचार्यमहामण्डलेश्वर पूज्य स्वामी विशोकानन्द भारती जी  महराज, अटलपीठाधीश्वर महामण्डलेश्वर पूज्य स्वामी विश्वात्मानन्द जी महाराज,

योगऋषि पूज्य श्री स्वामी रामदेव जी महाराज, जगद्गुरु शंकराचार्य पूज्य स्वामी राजराजेश्वरानन्द जी महराज, हिन्दू धर्म आचार्य सभा के महासचिव पूज्य श्री स्वामी परमात्मानन्द जी, श्रीदत्तपद्मनाभ पीठाधीश्वर पूज्य  स्वामी ब्रह्मेशानन्द जी महाराज, पूज्य आचार्य श्री बालकृष्ण जी, विश्व हिन्दू परिषद् के संरक्षक आदरणीय श्री दिनेश जी, विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय श्री आलोक कुमार जी, उत्तराखण्ड के वित्तमंत्री आदरणीय श्री प्रेमचंद अग्रवाल जी, पूर्व-केन्द्रीय शिक्षा मंत्री आदरणीय श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' जी, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष आदरणीय श्री राजेश अग्रवाल जी, पूर्व-केन्द्रीय मंत्री आदरणीय डॉ. महेश शर्मा जी, निहंग समुदाय के प्रमुख सरदार बलजीत जी, महामण्डलेश्वर पूज्य श्री स्वामी अखिलेश्वरानन्द जी महराज, पूज्य स्वामी हरिचेतनानन्द जी, महामण्डलेश्वर पूज्य स्वामी यतीश्वरानन्द जी, सुप्रसिद्ध अभिनेता आदरणीय श्री नितीश भारद्वाज जी, आदरणीय श्री सुरेश चव्हाणके जी, आदरणीय श्री संगीत सोम जी, बद्री केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष अ



जेंद्र अजय आदरणीय श्री मदन कौशिक जी, प्रभु प्रेमी संघ की अध्यक्षा पूजनीया महामण्डलेश्वर स्वामी नैसर्गिका गिरि जी, महामण्डलेश्वर पूज्य श्री स्वामी ललितानन्द गिरि जी महाराज, महामण्डलेश्वर पूज्य श्री स्वामी अपूर्वानन्द गिरि जी महाराज, संस्था के अनेक वरिष्ठ न्यासीगण, वरिष्ठ प्रशासनिक व अधिकारी गण, शहर के अनेक गणमान्य विभूतियाँ तथा देश-विदेश से बड़ी संख्या में पधारे साधकों की उपस्थिति रही।

108 मर्म चिकित्सा प्रशिक्षण केंद्र स्थापित करने के संकल्प के साथ संपन्न हुआ मर्म चिकित्सा प्रशिक्षण शिविर

 मर्म चिकित्सा को जन-जन तक पहुंचाने के संकल्प के साथ संपन्न हुआ प्रशिक्षण शिविर 


मृत्युंजय मिशन ने देशभर में 108 मर्म चिकित्सा केंद्र  प्रारंभ करने का लिया संकल्प


पीएससी डिप्टी कमांडर सुजीत सिंह पँवार ,प्रोफेसर ईश्वर भारद्वाज ने प्रतिभागियों को वितरित किए प्रमाण पत्र 


हरिद्वार 25 दिसंबर ( संजय वर्मा ) मृत्युंजय मिशन के तत्वाधान में मर्म चिकित्सक मयंक जोशी के संयोजन एवं उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ सुनील जोशी के सानिध्य में विगत 5 दिनों से चल रहे मर्म विज्ञान चिकित्सा प्रशिक्षण शिविर का समापन हरिद्वार - नजीबाबाद हाईवे स्थित नंदीपुरम गैंडी खाता में हुआ जिसमें मुख्य अतिथि पीएसी के डिप्टी कमांडर सुरजीत सिंह पँवार एवं गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में योग  विभाग के अध्यक्ष सेवा निवृत प्रोफेसर ईश्वर भारद्वाज ने प्रतिभाग किया । पीएसी के डिप्टी कमांडर सुरजीत सिंह पँवार ने मृत्युंजय मिशन के द्वारा संचालित मर्म चिकित्सा प्रशिक्षण शिविर को मर्म चिकित्सा के प्रचार प्रसार में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि बताते हुए कहा कि मृत्युंजय मिशन और डॉक्टर सुनील जोशी वैदिक चिकित्सा एवं विलुप्त हो रही मर्म चिकित्सा को  लोकप्रिय करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे हैं, जिसके परिणाम अब दृष्टि गोचर होने लगे हैं देश के विभिन्न विश्वविद्यालयो में योग के साथ-साथ मर्म चिकित्सा को भी शामिल किया जा रहा है । गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में योग विभाग के प्रमुख रहे प्रोफेसर ईश्वर भारद्वाज ने कहा कि जब एलोपैथी और अन्य चिकित्सा पद्धतियों में असाध्य रोगों का इलाज करना असंभव  हो जाए तब मर्म चिकित्सा चमत्कारिक रूप से कार्य करती है , जो पूर्णतया दुष्प्रभाव रहित और  निशुल्क  , सर्व सुलभ, सर्व व्यापक चिकित्सा पद्धति है जो मानव मात्र को बिना देश,  जाति, धर्म में भेदभाव करें आरोग्यता प्रदान करती है । मर्म विज्ञान चिकित्सा प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह में प्रतिभागियों ने जहां अपने अनुभव व्यक्त किये




वहीं उन्हें प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया । समापन समारोह में समाजसेवी योगेश पांडे ,विपिन चौधरी ,शत्रुघ्न डबराल ,विवेक चौधरी ,श्याम सोनी ,दिनेश कुमारआदि उपस्थित रहे । कार्यक्रम का संचालन उत्तराखंड के प्रसिद्ध क्रिकेटर प्रकाश जोशी ने किया ।

एसएम जैएन पीजी कॉलेज में आयोजित हुई संगोष्ठी

 

महिलाऐं परिवार ही नहीं बल्कि देश की भी ताकत : लोकपाल सिंह

महाविद्यालय में समान नागरिक संहिता तथा महिला सशक्तिकरण विषयक संगोष्ठी आयोजित

कोरोना काल में किये सराहनीय कार्य हेतु श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज को किया गया सम्मानित

हरिद्वार 24 दिसंबर ( आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार  )  महाविद्यालय के आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ एवं सार्थक के संयुक्त तत्वाधान में महाविद्यालय में आज समान नागरिक संहिता तथा महिला सशक्तिकरण विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में आनन्द पीठाधीश्वर परम पूज्य आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी श्री बालकानंद जी महाराज का पावन सानिध्य प्राप्त हुआ। कार्यक्रम के अध्यक्ष श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज, अध्यक्ष, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद व काॅलेज प्रबन्ध समिति, मुख्य अतिथि माननीय न्यायमूर्ति लोकपाल सिंह, पूर्व न्यायमूर्ति, उत्तराखण्ड एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती कमलेश सिंह, विशिष्ट अतिथि प्रो. दिनेश चन्द्र शास्त्री, कुलपति उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय, प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा तथा आन्तरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ के प्रभारी डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी द्वारा सरस्वती वंदना व द्वीप प्रज्जवलित करके किया गया। सर्वप्रथम अतिथियों का माल्यार्पण कर एवं पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वागत किया गया। 

सर्वप्रथम आनन्द पीठाधीश्वर परम पूज्य आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी श्री बालकानंद जी महाराज ने अपने आशीर्वचन में कहा कि पुत्र एक वंश को आगे लेकर चलता है तो पुत्री तीन वंश को आगे बढ़ाती है। धर्म को साथ लेकर चलने वाली धर्मपत्नी कहलाती है, हमारा अस्तित्व नारी से प्रारम्भ होता है। 

श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज, अध्यक्ष, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद व काॅलेज प्रबन्ध समिति ने समस्त अतिथियों को अपना साधुवा्द प्रेषित किया। 

मुख्य अतिथि माननीय न्यायमूर्ति लोकपाल सिंह, पूर्व न्यायमूर्ति, उत्तराखण्ड ने संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए कहा कि घर में पुत्री ने जन्म लिया तो संस्कारों ने जन्म लिया है। महिला सशक्तिकरण वर्तमान में सर्वोच्च विकास प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण, साक्षरता, शिक्षा, प्रशिक्षा और जागरूकता बढ़ाने के माध्यम से महिलाओं की स्थिति में सुधार करता है। यूसीसी को लागू करने के लिए पहल करने के लिए लोकपाल सिंह ने मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी को धन्यवाद प्रेषित करते हुए एसएमजेएन पी जी कालेज को इस महत्वपूर्ण बिन्दु उठाने के लिए  बहुत बहुत बधाई दी उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में उत्तराखण्ड राज्य में एसएमजेएन महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।  न्यायमूर्ति लोकपाल जी ने कहा कि हर ऐसे अपराध जिसमें न्यायालय संज्ञान ले सकता है, उसकी प्रथम प्राथमिकी रिपोर्ट लिखवानी अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि हमारे देश के कानून में कुछ विरोधाभास है, विवाह के सन्दर्भ में धर्मों में अलग-अलग प्रावधान है, इसलिए यूसीसी आवश्यक है। उन्होंने आह्वान किया कि हताश और निराश न हो, अपने अधिकारों के प्रति सजग रहे। 

संगोष्ठी के विशिष्ट अतिथि प्रो. दिनेश चन्द्र शास्त्री, कुलपति उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय ने अपने सम्बोधन में कहा कि समान नागरिक संहिता का लागू होना देश के लिए बहुत आवश्यक है। अगर देश की जनंसख्या का धनत्व ऐसे ही बढ़ता जायेगा तो भयंकर विष का कार्य करेगा। प्रो. शास्त्री ने कहा कि पुरूषों की तुलना में स्त्री में शक्ति और धैर्य अधिक होता है। स्त्री को शक्ति पुंज भी कहा जाता है, प्रो. शास्त्री ने प्राचीन वेद, पुराणों के उदाहरण भी इस सम्बन्ध में प्रस्तुत किये।

काॅलेज के प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा ने सभी अतिथियों को धन्यवाद प्रेषित करते हुए कहा कि पुरूषों के ठोस निर्णय लेने में महिलाओं की विशेष भूमिका होती है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के घरेलू कार्यों का मोद्रिकरण किया जाना सशक्तिकरण की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। 

इससे पूर्व काॅलेज की डाॅ. अमिता मल्होत्रा द्वारा नारी शक्ति का अवतार है गीत पर श्रोताओं को लुभाया। कालेज के छात्र-छात्राओं काजोल, अंशिका, दिया, राधिका, नेहा कश्यप, विष्णु, आयुष द्वारा ‘बेटी बचाओ-अपने बेटों को समझाओ’ विषयक नाट्य प्रस्तुत किया गया।  समान नागरिक संहिता विषय पर अर्शिका, साक्षी आदि द्वारा सुन्दर प्रस्तुति प्रदान की गयी। इस अवसर पर डाॅ. कृष्णा झा एवं डाॅ. ऋचा झा द्वारा श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज को उनके द्वारा कोरोना काल में किये गये सराहनीय कार्यों हेतु सम्मानित  किया गया।  

कार्यक्रम का सफल संचालन डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी व कैरियर काउसिंलिग सेल के अधिष्ठाता विनय थपलियाल द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्य रूप से हरिद्वार नागरिक मंच के जगदीश लाल पाहवा, रमन कुमार सैनी अधिवक्ता, रामानंद इंस्टीटयूट के मयंक गुप्ता, मनोज उनियाल, सूरज,श्रुति  आदि शिक्षक साथी महाविद्यालय के डाॅ. मन मोहन गुप्ता, प्रो. जदगीश चन्द्र आर्य, डाॅ. सुषमा नयाल, डाॅ. शिव कुमार चौहान, डाॅ. मनोज कुमार सोही, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. सरोज शर्मा, डाॅ. आशा शर्मा, डाॅ. लता शर्मा, श्रीमती रूचिता सक्सेना, डाॅ. रजनी सिंघल, डाॅ. पल्लवी राणा, डाॅ. मिनाक्षी शर्मा, डाॅ. विनीता चौहान, कु. भव्या भगत, कु. साक्षी गुप्ता, डाॅ. प्रदीप त्यागी, मोहन चन्द्र पाण्डेय आदि उपस्थित थे। काॅलेज की छात्रा अपराजिता द्वारा अटल बिहारी वाजपेयी जी की कविता पाठ द्वारा कार्यक्रम का समापन किया गया।,



Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...