महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश ने मुख्यमंत्री का किया आभार प्रकट



 देहरादून 30 नवंबर( संजय वर्मा )देहरादून में प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम के परमाध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश जी महाराज ने   मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी  का . देवस्थानम बोर्ड भंग करने पर उन्हें आशीर्वाद देते हुए शाल रुद्राक्ष माला पहनाकर . उनका आभार प्रकट किया ।उनके साथ विहिप प्रतिनिधि मण्डल ने भी पुष्कर सिंह धामी के इस कदम की सराहना करते हुए उन्हें साधुवाद दिया और कहा कि यह पूर्ववर्ती सरकार का एक विवादित निर्णय था और आपने देवस्थानम बोर्ड भंग करके एक उचित निर्णय लिया है महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश के साथ देहरादून पहुंचे  प्रतिनिधिमंडल ने भी मुख्यमंत्री का आभार प्रकट किया और इस निर्णय का स्वागत किया। इस अवसर पर प्रांत संगठनमंत्री अजय आर्य जी प्रांत संयोजक बजरंग दल अनुज वालिया जी, वीरेंद्र कीर्तिपाल जी, संध्या शर्मा जी सहित अनेको कार्यकर्ता सम्मिलित रहे। 

रोटरी क्लब कनखल में छात्राओं को वितरित किए सेनेटरी पैड

 रोटरी क्लब कनखल ने वितरित किए सेनेटरी पैड

हरिद्वार, 30 नवम्बर। (वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार )



राजकीय कन्या इंटर कालेज ज्वालापुर में रोटरी क्लब कनखल के सदस्यों ने एक हजार सेनेटरी पैड वितरित किए। इस दौरान प्रोजेक्ट चेयरमैन डा.विशाल गर्ग ने कहा कि स्कूल कालेज के माध्यम से महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिल रहा है। अपने स्वास्थ्य के प्रति छात्राओं को जागरूक रहना चाहिए। खासतौर पर विशेष ध्यान सफाई पर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि कन्या इंटर कालेज की छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर समाज के प्रत्येक क्षेत्र में अपना योगदान दे रही हैं। बालिकाओं को प्रत्येक क्षेत्र का ज्ञान अवश्य होना चाहिए। उन्होंने रोटरी क्लब के सेवा के कार्यो की प्रशंसा की। अध्यक्ष चेतन घई, सचिव हरपाल सिंह ने कहा कि रोटरी क्लब कनखल छात्राओं के स्वास्थ्य के प्रति गंभीरता से प्रयास कर रहा है। प्रत्येक छात्रा को अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने की आवश्यकता है। संमय समय पर रोटरी क्लब अनेकों भ्रांतियों को दूर करने के प्रयास भी करता है। साथ ही लगातार स्वास्थ्य शिविर भी आयोजित किए जा रहे हैं। नरेश रानी गर्ग व कालेज की प्रिंसीपल पूनम राणा ने सेनेटरी पैड वितरित करने पर रोटरी क्लब का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि छात्र जीवन में अनुशासन होना चाहिए। शिक्षा के प्रति सजगता बरतने की आवश्यकता है। समान शिक्षा के अवसर सभी को प्राप्त होने चाहिए। राजकीय कन्या इंटर कालेज अनेकों सामाजिक गतिविधियों में छात्राओं की भागीदारी को सुनिश्चित कर रहा है। शरीर को स्वस्थ एवं संक्रमण मुक्त रखने के लिए साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। इस अवसर पर राजीव अरोड़ा ने भी विचार रखे।

रुड़की में 2 दिसंबर को होगा शहीद सम्मान यात्रा का स्वागत


 रुड़की 30 दिसंबर( अनिल लोहानी वरिष्ठ संवाददाता गोविंद कृपा रुड़की)  भाजपा पूर्व सैनिक जिला प्रकोष्ठ केे संयोजक बृजेश त्यागी ने हरिद्वार  जिले के सभी पूर्व सैनिकों से आवाहन करते हुए कहा कि 2 दिसंबर 2021 को दिन के 11:00 बजे नेहरू स्टेडियम रुड़की ग्राउंड में पहुंचकर शहीद सम्मान यात्रा का स्वागत करें। जिसमें हमारे शहीदों के घर आंगन की मिट्टी इकट्ठी एकत्र कर शौर्य स्थल (सैन्य धाम) देहरादून में स्थापित की जाएगी। जिससे शहीदों के परिवार को सम्मान मिलेगा ।जिसके परिवार का एक अंग आपकी रक्षा करते हुए देश की सीमा पर शहीद हो गया था और उनको सम्मान देने का एक अच्छा अवसर आपको मिल रहा है इस अवसर पर आप सभी पूर्व सैनिक आमंत्रित हैं समय पर पहुंच कर शहीद सम्मान यात्रा का स्वागत करें और अपने शहीद सैनिक साथियों के प्रति सम्मान और कृतज्ञता प्रकट करें। पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के पूर्व जिला संयोजक धर्मवीर शर्मा ने बताया कि शहीद सम्मान यात्रा को लेकर पूरी तैयारी कर ली गई है रुड़की में आने वाली शहीद सम्मान यात्रा का पूर्व सैनिक भव्य स्वागत करेंगे यह भाजपा की सोच है की पूर्व शहीद सैनिकों के सम्मान में सैन्य धाम का निर्माण किया जाए उसके लिए हमारे रक्षा मंत्री उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बधाई के पात्र हैं हम सब पूर्व सैनिक उनका हृदय से आभार प्रकट करते हैं।

भाजपा के वरिष्ठ नेता जमीर हसन अंसारी के संयोजन में हुआ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का स्वागत

 मंगलौर /




रुड़की 29 नवंबर (अनिल लोहानी संवाददाता गोविंद कृपा रुड़की )जनपद हरिद्वार  की मंगलौर विधानसभा में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं उत्तराखंड प्रभारी  मुफ्ती अब्दुल  वहाब कासमी   का  भाजपा कार्यकर्ताओं  ने  जोरदार स्वागत किया। वे इन दिनों  पांच दिवसीय उत्तराखंड  प्रवास पर  आए हुए हैं।  उनके प्रवास के अंतिम दिन  मंगलोर विधानसभा के नगर मंडल में नगर पालिका  चेयरमैन के भाजपा उम्मीदवार रहे एवं वरिष्ठ भाजपा नेता जमीर हसन अंसारी के संयोजन में कार्यक्रम आयोजित किया गया ।जिसमें अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष एवं भाजपा के नगर और ग्रामीण मंडल के अध्यक्ष तथा समाज के सभी वर्गों के लोग उपस्थित रहे। भाजपा कार्यकर्ताओं नेअपने बीच पहुंचेअल्पसंख्यक मोर्चे के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का फूल माला पहनाकर स्वागत किया ।कार्यक्रम के संयोजक वरिष्ठ भाजपा नेता नगर पालिका चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी रहे जमीर हसन अंसारी ने कहा कि मंगलौर विधानसभा भाजपा के लिए हमेशा एक लक्ष्य रही है जिस को जीत में बदलने का मौका अब तक नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय और 2022 का चुनाव इस सीट को जीतने का सुनहरा अवसर है। मोदी जी और धामी जी के नेतृत्व में भाजपा का लक्ष्य जहां 60 के पार का है। वही इस लक्ष्य 60 सीटों में से मंगलौर भी  रहेगी

 मंगलौर में अपने स्वागत से अभिभूत हुए भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं उत्तराखंड प्रभारी मुफ्ती अब्दुल वहाब कासमी ने कहा कि भाजपा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र पर कार्य कर रही है ।उन्होंने कहा कि मोदी काल में जितनी भी योजनाएं आई है ।वह सब प्रत्येक भारतवासी के लिए रही है ।  60सालों में   अल्पसंख्यकों को उनका हक नहीं मिला। कांग्रेस ने खाली उनको वोट बैंक बना कर रखा और मोदी जी ने आते ही  आज संख्या समाज के लिए तरक्की के दरवाजे खोल दिए मोदी जी का कहना है कि मुस्लिम समाज अपने बच्चे के एक हाथ में कुरान और दूसरे हाथ में कंप्यूटर ,थमाऐ। तभी उन्हें बराबरी का दर्जा और आजीविका के अवसर प्राप्त होंगे इस अवसर पर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष इंतजार अहमद ने मंगलौर के मुस्लिम समाज से आह्वान करते हुए कहा कि इस बार मंगलोर विधानसभा में भाजपा का परचम लहराने में मुस्लिम समाज अपना सहयोग प्रदान करें क्योंकि मुस्लिम समाज के सहयोग के बिना यह संभव नहीं है भाजपा के जिला महामंत्री आदेश सैनी ने स्वागत समारोह में कहा कि इस बार मंगलौर विधानसभा को फतह करना हमारा लक्ष्य है । समारोह की अध्यक्षता भाजपा के मंडल अध्यक्ष सोनू धीमान ने की तथा संचालन सरफराज यूसूफ ने किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से मंगलोर विधानसभा से भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं मंडी समिति की  चेयरमैन मशडॉक्टर मधु ,भाजपा ओबीसी मोर्चा के जिला महामंत्री डॉ प्रदीप चौधरी ,भाजपा के वरिष्ठ युवा नेता रईसुल हसन जिले की कई विधानसभाओं में पूर्णकालिक विस्तारक रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता संजय वर्मा सहित मंगलौर विधानसभा के वरिष्ठ अल्पसंख्यक भाजपा नेता और भाजपा समर्थक उपस्थित रहे।

टाट वाले बाबा जी की स्मृति में आयोजित कार्यक्रम का हुआ समापन



32वाँ वार्षिक वेदान्त सम्मेलन का समापन: 

 इस सदी के विलक्षण संत थे टाट वाले बाबा: कृष्णमयी  हरिद्वार 29 नवंबर (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  प्रातः स्मरणीय वेदान्त वेता श्रीश्रीश्री टाट वाले बाबा जी के 32 वें वार्षिक वेदान्त सम्मेलन के समापन अवसर पर भक्ति एवं वेदान्त की गंगा गुरु वन्दना से बिरला घाट पर प्रवाहित हुई। दुर्लभ संत श्रीश्रीश्री टाट वाले बाबा जी महाराज के सानिध्य एवं संस्मरण प्रकट करते हुए बाबा के अनन्य शिष्य स्वामी विजयानंद जी महाराज ने कहा कि कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी कि बाबा जी में विरक्त्तता, त्याग कोटि-कोटि कूट कर भरा हुआ था, जिस प्रसिद्धि एवं नाम के लिए दुनिया सिर पटकती है, दर-दर की ठोकरे खाती है, थोड़ा सा दान देकर तख्तियां लटकवाने के लिए तलबगार रहती है, लेकिन टाट वाले बाबा जी ने कभी भी बखान नहीं किया। बाबा ने कभी भी अपना नाम, जाति, ग्राम, कुल आदि क कभी बखान नहीं किया। बाबा का कहना था कि शरीर, मिथ्या, उसका नाम मिथ्या, जाति मिथ्या है तो उस में प्रीति क्यों करें 

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अखिल भारतीय युवा साधु समाज के अध्यक्ष एवं भागवताचार्य स्वामी रविदेव शास्त्री ने कहा कि उनका तो ब्रहमकुण्ड ही बिरलाघाट है, प्रत्येक स्नान पर्व पर अपने साधकों के साथ बिरला घाट पर टाट वाले बाबा जी के समाधि स्थल पर स्नान करके उनके दर्शनों का लाभ प्राप्त होता है। 

कृष्णमयी माता ने बाबा जी को नतमस्तक होते हुए कहा कि टाट वाले बाबा इस युग के विलक्षण संत थे। वेदान्त के अर्थ को स्पष्ट किया। वेदोें के पश्चात जब से संसार है तब से वेद है। सृष्टि अनादि है तो वे भी अनादि हैं। गुरु ने जैसा मंत्र दिया वैसा ही जप करना होगा। दूध का सार मक्खन होता है, ठीक उसी प्रकार वेदों का सार वेदान्त है। सभी को मक्खन निकालना नहीं आता है, उसी प्रकार वेदों का मक्खन निकालने की कला महापुरूष को ही होती है। 

भक्त हरिहरानंद महाराज ने गुरु वंदना करते हुए कहा कि टाट वाले बाबा जी कहते थे कि अपने जीते जी अपनी मृत्यु का उत्सव मनाना शुरु कर दो, यह अत्यन्त ही यथार्थ सत्य है। जन्म के साथ मृत्यु परम सत्य है। 

स्वामी अखण्डानंद  तथा दिनेश शास्त्री ने टाट वाले बाबा को श्रद्धासुमन अर्पित किये। वेदान्त सम्मेलन में आये भावना गौर, स्वामी सीताराम, महर्षि परशुराम, शीला द्विवेदी, वंश द्विवेदी, महत्ता, नीरजा महत्ता, दर्शन, महेश देवी, शारदा खिल्लन, रैना नैय्यर, राजरानी, रेणु अरोड़ा आदि ने भजन प्रस्तुत किये। अमृता माता, भावना, मधु, अध्यक्षा रचना मिश्रा आदि ने श्रद्धासुमन अर्पित कर भजन प्रस्तुत किये। वेदान्त सम्मेलन का सफल संयोजन कर रहे डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने गुरु वंदन करते हुए अपने संस्मरण प्रस्तुत किये। 

इस अवसर पर मुख्य रुप से रचना मिश्रा अध्यक्षा, गुरु चरणा अनुरागी समिति, मनोज गर्ग पूर्व  प्रथम मेयर, संजय बत्रा, विजय शर्मा, सुरेन्द्र बोहरा, दीपक भारती एड़, लव गौड़, मधु गौड़, रमा वोहरा, उदित गोयल, भावना गौड़, आनन्द सागर, शारदा खिल्लन, ईश्वर तनेजा, नवीन अग्रवाल, डाॅ. अशोक पालीवाल, पल्लवी सूद, सुश्री रीना नैय्यर आदि श्रद्धालुगण एवं भक्तजन उपस्थित थे।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ रुड़की शाखा ने मंडल विस्तार योजना पर की चर्चा


 !!राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने मण्डल 

               विस्तार योजना पर किया मंथन!!


रुड़की 29 नवंबर (कमल किशोर डुकलान )राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सांगठनिक जिला रुड़की मण्डल विस्तार योजना में शाखा विस्तार के साथ उन सभी पूर्व सैनिक एवं शहीद परिवारों को ग्राम स्तर पर सम्मानित करने का काम करेगा जिन्होंने देश की सीमाओं पर समय-समय पर युद्ध लड़े और देश का गौरव बढ़ाया है।....


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सांगठनिक जिला रुड़की ने अपने अपने जिले के आगामी 5 दिसम्बर से 15 दिसम्बर,2021 तक चलने वाले मण्डल विस्तार योजना के तहत अपने सभी 27 मण्डलों(न्याय पंचायत स्तर) तक पहुंचने की विस्तृत योजना बनाई है।

आनन्द स्वरूप आर्य सरस्वती विद्या मंदिर रुड़की में आयोजित जिला कार्यकारिणी की बैठक में मण्डल कार्यवाह पर्यन्त कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए संघ के विभाग प्रचारक श्री चिरंजीव ने कि मण्डल विस्तार योजना के सभी मण्डल विस्तारक न्याय पंचायत के सभी गांवों में शाखा विस्तार का काम करेगा। 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ हरिद्वार विभाग के प्रचारक श्री चिरंजीव ने कहा कि भारतीय आजादी के पिचहतर वर्ष पूर्ण होने पर पूरा देश स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव मना रहा है। स्वतंत्रता के इस आंदोलन में भाग लेने वाले ऐसे सैकड़ों लोग हैं जिन्हें आज भी लोग नहीं जानते हैं। मण्डल विस्तार योजना के तहत उन सभी लोगों के बारे में जानकारी जुटाकर समाज को जानकारी दी जाएगी।

 श्री चिरंजीव ने बताया कि उत्तराखंड देवभूमि के साथ-साथ सैनिक भूमि भी है और इस आजादी के अमृत महोत्सव के तहत उन सभी पूर्व सैनिकों को भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ग्राम स्तर पर सम्मानित करने का काम करेगा जिन्होंने देश की सीमाओं पर युद्ध लड़े और देश का गौरव बढ़ाया है। इसके अलावा मण्डल विस्तार योजना के तहत ऐसे अनेकों कार्यक्रम होंगे। लोगों में स्व के भाव जगाए जाएंगे। युवाओं में भी यह भाव जगाया जाएगा की भारत को हर मोर्चे पर श्रेष्ठ देश के रूप में स्थापित करने के लिए संकल्प लेना है। इसके साथ ही समाज में व्याप्त कुरीतियों को दूर करने के लिए भी अभियान चलाया जाएगा।

माननीय विभाग संघचालक श्री रामेश्वर की अध्यक्षता में दो सत्रों में चली बैठक में आगामी दो वर्षों की ग्राम स्तर तक की मण्डल विस्तार योजना पर गहनता से विचार किया गया। बैठक में श्री प्रवीण गर्ग जिला संघचालक,श्री अनुज त्यागी विभाग कार्यवाह,श्री कलिराम भट्ट विभाग बौद्धिक शिक्षण प्रमुख,श्री त्रिभुवन सैनी जिला कार्यवाह,श्री रमेश भट्ट सह जिला कार्यवाह एवं सभी मण्डल कार्यवाह पर्यन्त कार्यकर्ता उपस्थित थे।

ऋषिकेश में अपनी यात्रा के दौरान राष्ट्रपति ने किया परमार्थ निकेतन घाट पर गंगा पूजन




 ऋषिकेश 29 नवंबर ( अमरेश दुबे संवाददाता गोविंद कृपा ऋषिकेश )भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपनी हरिद्वार यात्रा के दौरान गंगा पूजन करने ऋषिकेश पहुंचे ,जहां पर उन्होंने परमार्थ निकेतन के स्वामी चिदानंद मुनि के साथ सांय  कालीन गंगा आरती में प्रतिभाग किय।  उनके साथ उनका परिवार भी गंगा आरती में शामिल हु।  इससे पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शांतिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं पतंजलि विश्वविद्यालय में विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए उनकी यात्रा  उत्तराखंड के लिए विशेष महत्व रखती है। विगत यात्रा में जहां वे आशीष गौतम भैया जी के चंडी घाट स्थित सेवा कुंज में आएथे वहीं उन्होंने हर की पौड़ी पर भी गंगा पूजन किया था। इस बार ऋषिकेश के परमार्थ निकेतन में उनका आगमन ऋषिकेश वासियोंऔर संत समाज के लिएविशेष सुखद अनुभूति देने वाला रहा। उनके प्रदेश के  राज्यपाल मुख्यमंत्री सहित विशिष्ट गणमान्य लोग उपस्थित रहे राष्ट्रपति जी परमार्थ निकेतन में आयोजित विशेष अनुष्ठान में यज्ञ में आहूति दी और गंगा पूजन किया परमार्थ निकेतन के स्वामी चिदानंद मुनि ने उन्हें रुद्राक्ष का पौधा भेंट किया।

भारतीय राष्ट्रवादी सैनी समाज संगठन में मनाई ज्योतिबा फुले की पुण्यतिथि

  रुड़की 29 नवंबर (संजय सैनी संवाददाता गोविंद कृपा रुड़की )



भारतीय राष्ट्रवादी सैनी समाज संगठन हरिद्वार, उत्तराखंड की ओर जिला हरिद्वार की सभी विधानसभाओ बड़े हर्षोल्लास के साथ सैनी समाज के महान समाज सुधारक,वरिष्ठ समाज सेवी, महान विचारक, समाजसेवी, लेखक, दार्शनिक तथा क्रान्तिकारी कार्यकर्ता सत्य शोधक महात्मा ज्योतिबा फूले की पुण्य तिथि को मनाया गया।जिसमें जिले की ओर से सभी विधानसभाओ के प्रभारीयो के सरंक्षण में कार्यक्रम को आयोजित किया गया। महात्मा फुले ने महिलाओं व दलितों के उत्थान के लिए अनेक कार्य किए। समाज के सभी वर्गो को शिक्षा प्रदान करने के ये प्रबल समथर्क थे। वे भारतीय समाज में प्रचलित जाति पर आधारित विभाजन और भेदभाव के विरुद्ध थे। इनका मूल उद्देश्य स्त्रियों को शिक्षा का अधिकार प्रदान करना, बाल विवाह का विरोध, विधवा विवाह का समर्थन करना रहा है। फुले समाज की कुप्रथा, अंधश्रद्धा की जाल से समाज को मुक्त करना चाहते थे। अपना सम्पूर्ण जीवन उन्होंने स्त्रियों को शिक्षा प्रदान कराने में, स्त्रियों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने में व्यतीत किया.१९ वी सदी में स्त्रियों को शिक्षा नहीं दी जाती थी। फुले महिलाओं को स्त्री-पुरुष भेदभाव से बचाना चाहते थे। उन्होंने कन्याओं के लिए भारत देश की पहली पाठशाला पुणे में बनाई। स्त्रियों की तत्कालीन दयनीय स्थिति से फुले बहुत व्याकुल और दुखी होते थे इसीलिए उन्होंने दृढ़ निश्चय किया कि वे समाज में क्रांतिकारी बदलाव लाकर ही रहेंगे। उन्होंने अपनी धर्मपत्नी सावित्रीबाई फुले को स्वयं शिक्षा प्रदान की। सावित्रीबाई फुले भारत की प्रथम महिला अध्यापिका थीं जिन्होंने अपना संपूर्ण जीवन समाज सेवा में समर्पित कर दिया ।आज  महात्मा ज्योतिबा फुले जी को सत सत नमन करते हुए । भारतीय राष्ट्रवादी सैनी समाज संगठन मीडिया प्रभारी हरिद्वार, के संस्थापक एवं जिला अध्यक्ष श्री अरुण सैनी जी,श्री रजनीश सैनी(जिला महासचिव),श्री राजीव सैनी जी,श्री देवीचंद सैनी जी,श्री संदीप सैनी(जिला सचिव),श्री आदेश सैनी जी(जिला उपाध्यक्ष),श्री अनूप सैनी जी(जिला उपाध्यक्ष),श्री मनीष सैनी(जिला कोषाध्यक्ष),श्री संजय सैनी(जिला मीडिया प्रभारी),श्री गजे सिंह सैनी जी(जिला संगठन मंत्री),श्री मोहन सैनी जी(जिला संगठन मंत्री),श्री गुलशन सैनी(अध्यक्ष विधानसभा भगवानपुर),श्री मनोज भारत सैनी(अध्यक्ष ज्वालापुर विधानसभा),श्री बसन्त सैनी जी(विधानसभा संयोजक ज्वाला पुर )श्री सुभम सैनी जी( महासचिव विधानसभा भगवानपुर) एवं संगठन के सैकड़ो कार्यकत्रियों, एवं कार्यकर्ताओ ने ज्योतिबा फुले जी की पुण्यतिथि पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ संगठित होकर सैनी समाज को जागरूक करने का प्रण लिया। संगठन के जिलाध्यक्ष श्री अरुण सैनी जी,श्री राजीव सैनी श्री रजनीश सैनी ,श्री देवीचंद सैनी अपने विचारों से सैनी समाज के युवाओं में फैली अराजकता, रूढ़िवादी नीतियों एवं अपने महापुरुषों के पद चिन्हों पर चलने और उनके जीवन से प्रेणा लेना का वचन देते हुए सैनी समाज को जागरूक कर  देश हित और राष्ट्र निर्माण में अमूल्य योगदान देते एकजुटता का आव्हान किया।

वरिष्ठ समाजसेवी जगदीश लाल पाहवा ने लघु व्यापारियों को वितरित की राशन किट

 *हरिद्वार 28 नवंबर,* उत्तराखंड प्रदेश भर में रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों के सामूहिक संगठन लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा के नेतृत्व में अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शहीदे पार्क स्थल पर स्वतंत्र  सेनानी देश व उत्तराखंड के


शहीदों को शत- शत नमन करते हुए शहीदी पार्क स्थल से बेलवाला ग्राउंड न्यू स्मार्ट वेंडिंग जोन तक अपना शक्ति प्रदर्शन करते हुए पैदल मार्च निकालकर रेडी पटरी के लघु व्यापारियों को जागरूक कर स्मार्ट वेंडिंग जोन प्रांगण में प्रथम चरण में रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया (नासवी) और नेस्ले के संयुक्त सहयोग से कोरोना का टीका लगवा चुके तमाम स्ट्रीट वेंडर्स महिला पुरुष को कच्चे राशन की सामग्री दाल आटा चावल की तेल नमक चीनी के पैकेट निशुल्क रूप से वरिष्ठ सामाजिक नागरिक जगदीश लाल पाहवा, पंडित चंद्र प्रकाश शर्मा द्वारा संयुक्त रूप से वितरित किए गए।


इस अवसर पर वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता जगदीश लाल पाहवा ने कहा कोरोना काल के दौरान सबसे ज्यादा रेड़ी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ है ऐसे में सरकार की और से रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों के उत्थान के लिए महायोजना बनाकर 50,000 की अनुदान राशि दिए जाने के  के साथ पूर्व की प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत 10,000 का कर्ज़ जोकि स्ट्रीट वेंडर्स को दिया गया था वह माफ किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सामाजिक रूप से रेडी पटरी के लघु व्यापारी जनता को दैनिक उपयोगी खाद्य वस्तु, फल, फ्रूट- सब्जी, दूध- चाय रोजमर्रा में उपयोगी वस्तुएं उपलब्ध कराने में मुख्यधारा का काम करते हैं ऐसे में सरकार की और से सामाजिक सुरक्षा दिया जाना न्याय पूर्ण होगा।


इस अवसर पर लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया (नासवी) व नेस्ले के संयुक्त सहयोग से पूरे उत्तराखंड में देहरादून, रुड़की, हरिद्वार, ऋषिकेश, हल्द्वानी इत्यादि क्षेत्रों में रेडी पटरी के स्ट्रीट वेंडर्स को कोरोना वैक्सीन के प्रति जागरूक कर यह खाद्य सामग्री के पैकेट उपलब्ध कराए जा रहे हैं ताकि कोरोना वैक्सीन से अछूता यह रेडी पटरी का स्ट्रीट वेंडर्स ना रह जाए। उन्होंने यह भी कहा के अभी प्रथम चरण में धर्मनगरी हरिद्वार में लगभग 500 से हजार के बीच में यह राशन पैकेट उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि रेडी पट्टी के स्ट्रीट वेंडर्स जोकि कोरोना काल के दौरान अपने व्यापार से ज्यादा प्रभावित हुए हैं वह पुनः आशावान होकर जनता के बीच में रहकर अपने व्यापार को संचालित करते रहे। चोपड़ा ने यह भी कहा उत्तराखंड सरकार की और से रेडी पटरी के लघु व्यापारियों के लिए अनुदान राशि की घोषणा तो कर दी गई लेकिन काफी समय बीत जाने के उपरांत अब तक रेडी पटरी के लघु व्यापारियों को अनुदान राशि नगर निगम द्वारा उपलब्ध नहीं कराई गई है जो कि न्याय संगत नहीं है।  


राहत सामग्री वितरण कार्यक्रम की सभा का संचालन प्रदेश प्रवक्ता राजेंद्र पाल, महासचिव मनोज मंडल, जिला अध्यक्ष विनोद कुमार ने संयुक्त रूप से किया। सभा में संरक्षक पंडित चंद्र प्रकाश शर्मा, वेंडिंग जोन विकसित कर रही कंपनी के प्रबंधक अभय सिंह, अमित कुमार,  सुमंत गुप्ता, आशा देवी, मंजू पाल, दिलीप गुप्ता, विजय कुमार, धर्मपाल कश्यप, लालचंद सिंह, दीपक महारा, बाबू खान, तस्लीम अहमद, यामीन अंसारी, नईम, गजेंद्र सिंह, जय सिंह बिष्ट, चंदन सिंह रावत, वीरेंद्र कुमार बिष्ट, शिवकुमार, मोहनलाल आदि ने प्रमुख रूप से संबोधित किया।

ज्योतिबा फुले को किया स्मरण

 महात्मा जोतिराव गोविंदराव फुले एक भारतीय समाजसुधारक, समाज प्रबोधक, विचारक, समाजसेवी, लेखक, दार्शनिक तथा क्रान्तिकारी कार्यकर्ता थे। इन्हें महात्मा फुले एवं ''जोतिबा फुले के नाम से भी जाना जाता है। महिलाओं व दलितों के उत्थान के लिय इन्होंने अनेक कार्य किए। समाज के सभी वर्गो को शिक्षा प्रदान करने के ये प्रबल समथर्क थे। वे भारतीय समाज में प्रचलित जाति पर आधारित विभाजन और भेदभाव के विरुद्ध थे। इनका मूल उद्देश्य स्त्रियों को शिक्षा का अधिकार प्रदान करना, बाल विवाह का विरोध, विधवा विवाह का समर्थन करना रहा है। फुले समाज की कुप्रथा, अंधश्रद्धा की जाल से समाज को मुक्त करना चाहते थे। अपना सम्पूर्ण जीवन उन्होंने स्त्रियों को शिक्षा प्रदान कराने में, स्त्रियों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने में व्यतीत किया.१९ वी सदी में स्त्रियों को शिक्षा नहीं दी जाती थी। फुले महिलाओं को स्त्री-पुरुष भेदभाव से बचाना चाहते थे। उन्होंने कन्याओं के लिए भारत देश की पहली पाठशाला पुणे में बनाई। स्त्रियों की तत्कालीन दयनीय स्थिति से फुले बहुत व्याकुल और दुखी होते थे इसीलिए उन्होंने दृढ़ निश्चय किया कि वे समाज में क्रांतिकारी बदलाव लाकर ही रहेंगे। उन्होंने अपनी धर्मपत्नी सावित्रीबाई फुले को स्वयं शिक्षा प्रदान की। सावित्रीबाई फुले भारत की प्रथम महिला अध्यापिका थीं जिन्होंने अपना संपूर्ण जीवन समाज सेवा में समर्पित कर दिया ज्योतिबा फुले जी को सत सत नमन ग्राम टोडा कल्याणपुर विधानसभा खानपुर में संजय सैनी भारतीय राष्ट्रवादी सैनी समाज संगठन मीडिया प्रभारी हरिद्वार, बीरम सैनी, संजीव सैनी, परमोद सैनी ने 28 नवंबर ज्योतिबा फुले जी की पुण्यतिथि पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की



संत जनों ने किया टाट वाले बाबा को स्मरण


32 वाँ वार्षिक वेदान्त सम्मेलन : 

 गुरु की कृपा से अवश्य मिलती है सफलता: स्वामी अखण्डानंद 

हरिद्वार   29 नवंबर 30 नवंबर(


वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद हरिद्वार )परमपूजनीय प्रातः स्मरणीय वेदान्त वेता श्रीश्रीश्री टाट वाले बाबा जी के 32 वें वार्षिक वेदान्त सम्मेलन में आज श्रद्धेय स्वामी रविदेव महाराज जी, परमाध्यक्ष, गरीब दासीय आश्रम ने   श्रीश्रीश्री टाट वाले बाबा जी को नमन करते हुए कहा कि मनुष्य निष्काम भक्ति करे। इस शरीर में आशक्ति ही सबसे बड़ा बंधन है। कामनायुक्त भक्ति  नहीं करनी चाहिए, यह क्रमिक मुक्ति का साधन है। यदि आत्मा को परमात्मा से मिलन कराना है तो गुरु मंत्र का पाठ एवं निष्काम भक्ति व सत्संग करें।

स्वामी दिनेश दास शास्त्री जी, परमाध्यक्ष राम निवास गरीबदासीय परम्परा ने गुरु भक्ति पर एक भजन प्रस्तुत करते हुए कहा कि जो भी होगा तो तुम्ही से कहूँगा, जहाँ ले चलोगो वहीं मैं चलूगाँ। शिष्य, गुरु के चरणों में आने पर सब सांसारिक कार्यों को छोड़ कर उनकी भक्ति में लीन हो जाता है। 

स्वामी  सर्वात्मानंद  ने अपने सम्बोधन में कहा कि यह जगत तो स्वपन मात्र है। तीनों काल में तो जगत बना ही नहीं है। 

श्रद्धेय स्वामी अखण्डानंद जी महाराज, परमाध्यक्ष टाटेश्वर महादेव ने बताया कि चेतना क्या है, यह शब्दों का विषय नहीं है अपितु यह कल्पना का विषय है। स्वपन देखते हैं, रोशनी में कभी जागते हुए उस रोशनी को कलिपत करके देखें, यह अपने ढंग की अलग रोशनी है। आत्मा रस तक पहुंचना हमारा उद्देश्य है, तैयारी यदि पूरी नहीं है तो सफलता नहीं प्राप्त होगी। मन की पवित्रता एवं एकाग्रता बहुत आवश्यक है। गुरु की देखरेख में यदि हम चलते हैं तो सफलता अवश्य मिलती हैै। निग्रह शक्ति-माया शक्ति-संसार की सच्चाई को ढक देना। सुष्पति परमात्मा में विलय, प्राकृतिक आंतरिक लय-ज्ञान संस्कार, मन बुद्धि व इन्द्रियों में जीव को जीवन को ज्ञान नहीं होता। परमात्मा ही गुरू है, काशी में गुरु नाम की परम्परा है। गुरु किसी भी विद्या का ज्ञाता है। 

स्वामी मोहन चैतन्य जी महाराज, परमाध्यक्ष, साधना सदन ने गुरु महिमा का वर्णन करते हुए अपने उद्बोधन में कहा कि उनके गुरु श्रद्धेय स्वामी गणेशानन्द जी ने 12 वर्ष पश्चात् जब अपना मौन खोला तो श्रीश्रीश्री टाट वाले बाबा जी के समक्ष खोला। विग्रह शक्ति, माया शक्ति को ढकने का कार्य करती है। भगवान की अनुग्रह शक्ति, कृपा शक्ति के अन्दर रहकर उसका आश्रय लेकर ही भगवान ने जो बनाया उस पर हमारे लिए अनुग्रह करती है। चारों शक्ति अनुग्रह शक्ति के अन्दर ही कार्य करती हैं। उन्होंने सभी भक्तों का आह्वान किया कि वेद सम्मत यदि आप चलते हैं, तभी आपका कल्याण हो सकता है। महापुरुष की शरण में जाना पड़ेगा, तभी भाव के अनुसार ज्ञान की प्राप्ति होगी। 

वेदान्त सम्मेलन का सफल संयोजन डाॅ. सुनील कुमार बत्रा द्वारा सफलतापूर्वक किया गया। इस अवसर पर मुख्य रुप से रचना मिश्रा अध्यक्षा, गुरु चरणा अनुरागी समिति, संजय बत्रा, विजय शर्मा, सुरेन्द्र बोहरा, दीपक भारती एड़, लव गौड़, मधु गौड़, प्रेम केशवानी, उदित गोयल, भावना गौड़, आनन्द सागर,  आरती गर्ग, शारदा खिल्लन, ईश्वर तनेजा,  अमृता माता, नवीन अग्रवाल, डाॅ. अशोक पालीवाल, पल्लवी सूद, सुश्री रैना नैय्यर आदि श्रद्धालुगण एवं भक्तजन गुलरवाला से आये हुए उपस्थित रहे।

महामहिम राष्ट्रपति जी का देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं शांतिकुंज में हुआ स्वागत


 भारत के माननीय राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द का शांतिकुंज-देसंविवि आगमन


हरिद्वार, २८ नवंबर। (संजय वर्मा संपादक गोविंद कृपा)

भारत के माननीय राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द २९ नवंबर को अखिल विश्व गायत्री परिवार के मुख्यालय में स्वर्ण जयंति वर्ष के अवसर पर शांतिकुंज व देसंविवि पधार रहे हैं। देव संस्कृति विश्वविद्यालय पहुंचने पर कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या, प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या एवं कुलपति श्री शरद पारधी द्वारा माननीय राष्ट्रपति महोदय का स्वागत अभिनन्दन किया जाएगा।

देव संस्कृति विश्वविद्यालय प्रांगण में स्थित प्रज्ञेश्वर महादेव मन्दिर में भगवान शिव की पूजा-अर्चना एवं आरती के पश्चात मृत्युंजय सभागार में देसंविवि के प्रमुख पदाधिकारियों एवं आचार्यों के साथ समूह छायाचित्र का कार्यक्रम संपन्न होगा। माननीय राष्ट्रपति द्वारा देसंविवि में स्थित एशिया के प्रथम बाल्टिक सांस्कृतिक अध्ययन केन्द्र का अवलोकन किया जाएगा। राष्ट्रपति महोदय द्वारा देसंविवि प्रांगण में स्मृति स्वरूप रुद्राक्ष का पौधा लगाया जाएगा।

माननीय राष्ट्रपति देव संस्कृति विश्वविद्यालय भ्रमण कर यहां के मूल्यपरक शिक्षण, योग-आयुर्वेद, अनुसंधान, स्वावलंबन एवं विभिन्न रचनात्मक व शैक्षणिक गतिविधियों से अवगत होंगे। तत्पश्चात वे गायत्री तीर्थ शांतिकुंज पहुंचेंगे। वहां युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य एवं माता भगवती देवी शर्मा जी के पवित्र पावन कक्ष का दर्शन करेंगे, जिस स्थान पर युगऋषि ने विश्व मानवता के लिए साधना एवं साहित्य सृजन का महत्वपूर्ण कार्य संपन्न किया था। पूज्य गुरुदेव द्वारा १९२६ से प्रज्जवलित अखण्ड दीपक का दर्शन करेंगे जिस के समक्ष युगऋषि ने गायत्री महामंत्र के २४-२४ लाख के २४ महापुरश्चरण २४ साल तक अनवरत संपन्न किये। यह अखण्ड दीपक गायत्री परिजनों के श्रद्धा का केन्द्र है। शांतिकुंज आगमन पर गायत्री परिवार प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं श्रद्धेया शैलदीदी द्वारा माननीय राष्ट्रपति शांतिकुंज स्वर्ण जयंति वर्ष में स्वागत अभिनंदन एवं भेंटवार्ता किया जाएगा।

देवभूमि दिव्यांग सहारा समिति के सहयोग से लगाया गया दिव्यांग सेवा शिविर

भगवानपुर 27 नवंबर( राज किशोर वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा भगवानपुर) जिला सहारनपुर के ग्राम  आभा  में दिव्यांग जनों के लिए एक शिवीर भारत सरकार ऐडिप योजना से आयोजित किया गया कार्यक्रम संयोजक / चौधरी हरवीर सिंह व चौधरी राजवीर सिंह ने दिव्यांगों के लिए शिविर लगवाया गया / जिसमें मुख्य अतिथि माननीय मांगे राम जी अध्यक्ष जिला पंचायत सहारनपुर /विशिष्ट अतिथि/ माननीय ब्लाक प्रमुख बलिया खेड़ी / माननीय चौधरी मुकेश जिला पंचायत सदस्य/ रहे। इस शिविर कार्यक्रम में नीम सुविधाएं उपलब्ध रही  जैसज नजर के चश्मे/ कान की मशीन/ ट्राई साइकिल /व्हील चेयर/ बैशाखी /छडी इत्यादी सुविधा उपलब्ध रही एवं निशुल्क जरूरतमंदों को वितरण कराए गए । इसका लाभ सैकड़ों  जरूरतमंदों ने उठा/ सभी जनप्रतिनिधियों ने कहां ऐसे कार्यक्रम होते रहे और कमजोर व बेसहारा व्यक्तियों मदद और सहयोग करते रहे/ इस शिविर में देवभूमि दिव्यांग सहारा समिति अध्यक्ष शाकिर अली को भी आमंत्रित किया गया था ।जिसमें मैंने सहयोग हेतु सहभागिता निभाई / हम आशा करते रहेंगे कि ऐसे इस तरह के प्रोग्राम होते रहेंगे।

  इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से  जगदीश लखारा बिलाल विजय कुमार सुनील प्रकाश देहरादून भूपेंद्र राणा देहरादून प्रबंधक प्रवीण कुमार देहरादून प्रवीण चौधरी मैनेजर देहरादून/ ग्राम प्रधान/ बीडीसी रानी देवी/ अन्य उपस्थित रहे

        

    


संघ के शाखा कारवाह पहुंचे वासुदेव मैथिल सरस्वती विद्या मंदिर

 !!दया,संवेदना,संवेदनशीलता का भाव 

निर्माण कर रहे हैं:-शिशु मन्दिर,विद्या मंदिर!!


रुड़की 27 नवंबर( कमल किशोर डुकलान )




वासुदेव लाल मैथिल सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज ब्रह्मपुर रुड़की हरिद्वार में नियमित होने वाले प्रातः कालीन प्रेरणास्पद,संस्कार युक्त वन्दना सभा में रुड़की नगर के समाजसेवी एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की रुड़की नगर की सोनालीपुरम शाखा के शाखा कार्यवाह जल विज्ञान संस्थान से सेवा निवृत्त वैज्ञानिक श्रीमान राजेश गोयल जी,लोक निर्माण विभाग रुड़की के सेवा निवृत्त प्रशासनिक अधिकारी श्रीमान अनिल माहेश्वरी जी,कोर कालेज रुड़की के प्रोफेसर डाक्टर रविन्द्र सैनी एवं श्री रहित चौहान जी का रहना हुआ।

जल विज्ञान संस्थान से सेवा निवृत्त पूर्व वैज्ञानिक श्रीमान राजेश गोयल जी छात्रों को सम्बोधित करते हुए अपने संबोधन में कहा कि विद्यालय के प्रारंभ में होने वाला प्रेरणास्पद,संस्कार युक्त वन्दना सभा एक ऐसा दर्पण है।जिसके द्वारा विद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों पर विशेष प्रभाव पड़ता है। अगर इसकी विस्तृत ब्याख्या की जाए तो प्रार्थना सभा से छात्रों के जीवन में दया, संवेदना एवं संवेदनशीलता का भाव निर्माण होता है।और अगर आज देश में अपनी शिक्षा के माध्यम से छात्रों में दया संवेदना और संवेदनशीलता का भाव निर्माण कर रहे हैं तो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा पोषित देशभर में चलने वाले सरस्वती शिशु मंदिर, विद्या मंदिर ही कर रहे हैं।

कोर ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूशन के एसोसियेट प्रोफेसर श्री रोहित चौहान ने वन्दना सभा में छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि पिछले दो वर्षों से वैश्विक महामारी में हमारा परिवेशीय शिक्षण का स्थान मोबाइल फोन ने लिया था। जिसने भले ही कोराना काल में आनलाइन शिक्षा का आधार हमारा मोबाइल फोन रहा हो लेकिन हमारे पास उपलब्ध मोबाइल फोन ने काफी हद तक  विकृतियों को जन्म दिया है। अब हमें स्वछंद एवं परिवेशीय शिक्षण में हमारे पास उपलब्ध मोबाइल फोन हमारे स्वछंद एवं परिवेशीय शिक्षण में बाधक न बनें इसके लिए हमें मोबाइल फोन का मोह त्यागना पड़ेगा जिससे कोरोना काल में हमारे अंदर आई विकृतियां दूर हो सकें तथा हम अपने परिवेशीय शिक्षण की ओर अपना ध्यान लगा सकें। वन्दना सभा में डाक्टर रविन्द्र सैनी,श्री अनिल माहेश्वरी एवं श्री नवीन गुप्ता जी आदि उपस्थित थे।

4 दिसंबर को मोदी जी की रैली की योजना के लिए जिला कार्यालय पर हुई बैठक



 *हरिद्वार जनपद  से 40,000 कार्यकर्ता जाएंगे देहरादून:राजू भंडारी*

हरिद्वार 27 नवंबर (वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार )देश के यशस्वी प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी की आगामी 4 दिसंबर को देहरादून के परेड ग्राउंड में होने वाली रैली की तैयारी बैठक आज जिला भाजपा कार्यालय जगजीतपुर हरिद्वार पर संपन्न हुई बैठक की अध्यक्षता भाजपा जिला अध्यक्ष डॉ जयपाल सिंह चौहान ने की और संचालन जिला महामंत्री विकास तिवारी द्वारा किया गया। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश महामंत्री और हरिद्वार जनपद की रैली प्रभारी राजू भंडारी ने कहा कि आगामी 4 दिसंबर को देहरादून में होने वाली रैली ऐतिहासिक होगी ।जनपद की सभी 11 विधानसभाओं से और सभी 372 शक्ति केंद्रों से हजारों कार्यकर्ता मोदी जी को सुनने देहरादून पहुंचेंगे ।उन्होंने कहा कि मोदी जी 2उत्तराखंड से विशेष लगाव रहा है ,और यही कारण है कि जब भी वे उत्तराखंड आते हैं आम जनमानस उनको सुनने को और उनकी एक झलक देखने को आतुर रहता है । उन्होंने बताया कि रैली की सफलता को लेकर के विधानसभा वार सभी विधानसभा प्रभारियों को जिम्मेदारियां सौंप दी गई हैं और प्रभारी विधानसभाओं में ही प्रवास भी करेंगे। कल दिनांक 28 तारीख से सभी विधानसभाओं की अलग-अलग तैयारी बैठकर आयोजित की जाएंगी। भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष और हरिद्वार जिला प्रभारी खिलेंद्र चौधरी ने बताया की रैली की सफलता के लिए खानपुर विधानसभा श्री योगेश चौधरी ,हरिद्वार ग्रामीण और मंगलोर विधानसभा जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल चौहान, भगवानपुर और झबरेड़ा विधानसभा खिलेंद्र चौधरी, रुड़की और पिरान कलियर विधानसभा जिला महामंत्री आदेश सैनी,लक्सर जितेंद्र चौधरी,रानीपुर और ज्वालापुर विधानसभा की जिम्मेदारी विकास तिवारी को सौंपी गई है। इन विधानसभाओं की बैठकों की तिथि और समय भी तय कर दिया गया है। उत्तराखंड सरकार के गन्ना मंत्री स्वामी यतिश्वरानंद जी ने कहा कि हरिद्वार जनपद के कार्यकर्ता एक ऐतिहासिक संख्या के साथ रैली में प्रतिभाग करेंगे ।हरिद्वार जनपद को पूर्व में भी जो लक्ष्य दिया गया है कार्यकर्ताओं और आमजन के सहयोग से वह हमेशा पूरा हुआ है । इस बार भी जो लक्ष्य दिया गया है उससे भी कहीं अधिक संख्या में कार्यकर्ता देहरादून पहुंचेंगे ।अपने ही बनाए हुए पूर्व में रिकॉर्ड को तोड़ेंगे भाजपा जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि 4 तारीख को प्रातः 9:00 बजे हरिद्वार जनपद के सभी कार्यकर्ता देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे ।देश के लोकप्रिय नेता माननीय मोदी जी के विचारों को सुनेंगे ।आज की बैठक में जिला महामंत्री आदेश सैनी ,रानीपुर विधायक आदेश चौहान, भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरी ,मंगलौर मंडी समिति अध्यक्ष मधु सिंह ,विधानसभा प्रभारी अनिल अरोड़ा ,अजीत चौधरी ,पूर्व महापौर मनोज गर्ग ,अमन त्यागी ,शोभाराम प्रजापति ,अनीता वर्मा ,डॉ प्रदीप कुमार  ,संदीप गोयल आशु चौधरी ,अनामिका शर्मा ,योगेश चौधरी ,रीता चमोली, लव शर्मा आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

मातृभूमि के लिए हंसते-हंसते प्राण निछावर कर देता है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का कार्यकर्ता

 हर दिन पावन

27 नवम्बर/इतिहास-स्मृति


कोटली के अमर बलिदानी


‘हंस के लिया है पाकिस्तान, लड़ के लेंगे हिन्दुस्तान’ की पूर्ति के लिए नवनिर्मित पाकिस्तान ने 1947 में ही कश्मीर पर हमला कर दिया। देश रक्षा के दीवाने संघ के स्वयंसेवकों ने उनका प्रबल प्रतिकार किया। उन्होंने भारतीय सेना, शासन तथा जम्मू-कश्मीर के महाराजा हरिसिंह को इन षड्यन्त्रों की समय पर सूचना दी। इस गाथा का एक अमर अध्याय 27 नवम्बर, 1948 को कोटली में लिखा गया, जो इस समय पाक अधिकृत कश्मीर में है। 


युद्ध के समय भारतीय वायुयानों द्वारा फेंकी गयी गोला-बारूद की कुछ पेटियां शत्रु सेना के पास जा गिरीं। उन्हें उठाकर लाने में बहुत जोखिम था। वहां नियुक्त कमांडर अपने सैनिकों को गंवाना नहीं चाहते थे, अतः उन्होंने संघ कार्यालय में सम्पर्क किया। उन दिनों स्थानीय पंजाब नैशनल बैंक के प्रबंधक श्री चंद्रप्रकाश कोटली में नगर कार्यवाह थे। उन्होंने कमांडर से पूछा कि कितने जवान चाहिए ? कमांडर ने कहा - आठ से काम चल जाएगा। चंद्रप्रकाश जी ने कहा - एक तो मैं हूं, बाकी सात को लेकर आधे घंटे में आता हूं।


चंद्रप्रकाश जी ने जब स्वयंसेवकों को यह बताया, तो एक-दो नहीं, 30 युवक इसके लिए प्रस्तुत हो गये। कोई भी देश के लिए बलिदान होने के इस सुअवसर को गंवाना नहीं चाहता था। चंद्रप्रकाश जी ने बड़ी कठिनाई से सात को छांटा; पर बाकी भी जिद पर अड़े थे। अतः उन्हें ‘आज्ञा’ देकर वापस किया गया। सबने अपने आठों साथियों को सजल नेत्रों से विदा किया।


सैनिक कमांडर ने उन आठों को पूरी बात समझाई। भारतीय और शत्रु सेना के बीच में एक नाला था, जिसके पार वे पेटियां पड़ी थीं। शाम का समय था। सर्दी के बावजूद स्वयंसेवकों ने तैरकर नाले को पार किया तथा पेटियां अपनी पीठ पर बांध लीं। इसके बाद वे रेंगते हुए अपने क्षेत्र की ओर बढ़ने लगे; पर पानी में हुई हलचल और शोर से शत्रु सैनिक सजग हो गये और गोली चलाने लगे। इस गोलीवर्षा के बीच स्वयंसेवक आगे बढ़ते रहे।


इसी बीच श्री चंद्रप्रकाश और श्री वेदप्रकाश को गोली लग गयी। उस ओर ध्यान दिये बिना बाकी छह स्वयंसेवक नाला पारकर सकुशल अपनी सीमा में आ गये और कमांडर को पेटियां सौंप दी। अब अपने घायल साथियों को वापस लाने के वे फिर नाले को पार कर शत्रु सीमा में पहुंच गये। उनके पहुंचने तक उन दोनों वीर स्वयंसेवकों के प्राण पखेरू उड़ चुके थे। स्वयंसेवकों ने उनकी लाश को अपनी पीठ पर बांधा और लौट चले। यह देख शत्रुओं ने गोलीवर्षा तेज कर दी। इससे एक स्वयंसेवक और मारा गया। 


उसकी लाश को भी पीठ पर बांध लिया गया। तब तक एक अन्य गोली ने चौथे स्वयंसेवक की कनपटी को बींध दिया। वह भी मातृभूमि की रक्षा हित बलिदान हो गया। इस दल के वापस लौटने का दृश्य बड़ा कारुणिक था। चार बलिदानी स्वयंसेवक अपने चार घायल साथियों की पीठ पर बंधे थे। जब उन्हें चिता पर रखा गया, तो ‘भारत माता की जय’ के निनाद से आकाश गूंज उठा। नगरवासियों ने फूलों की वर्षा की।


इन स्वयंसेवकों का बलिदान रंग लाया। उन पेटियांे से प्राप्त सामग्री से सैनिकों का उत्साह बढ़ गया। वे भूखे शेर की तरह शत्रु पर टूट पड़े। कुछ ही देर में शत्रुओं के पैर उखड़ गये और चिता की राख ठंडी होने से पहले ही पहाड़ी पर तिरंगा फहराने लगा। सेना के साथ प्रातःकालीन सूर्य ने भी अपनी पहली किरण चिता पर डालकर उन स्वयंसेवकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। 


(संदर्भ : पांचजन्य 28.2.2010)

........................................


सीने पर 40 गोली खा कर भी छोडा दुश्मन को वीर तुकाराम ने


 स्वर्गीय तुकाराम ओम्बले जी!

    कितना बड़ा कलेजा चाहिए एक्के सैंतालीस की नली के सामने अपनी छाती कर के सैकड़ों लोगों को मार चुके राक्षस का गिरेबान पकड़ने के लिए... एक गोली, दो गोली, दस गोली, बीस गोली... चालीस गोली... चालीस गोलियां कलेजे के आरपार हो गईं पर हाथ से उस राक्षस की कॉलर नहीं छूटी। प्राण छूट गया, पर अपराधी नहीं छूटा... कर्तव्य निर्वहन का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है यह।

    स्वर्गीय ओम्बले सेना में नायक थे। सेना से रिटायर होने के बाद उन्होंने मुंबई पुलिस ज्वाइन की थी। चाहते तो पेंशन ले कर आराम से घर रह सकते थे। पर नहीं, वे जन्मे थे लड़ने के लिए, जीतने के लिए...  होते हैं कुछ योद्धा, जिनमें लड़ने की जिद्द होती है... वे कभी रिटायर नहीं होते, कभी बृद्ध नहीं होते, मृत्यु के क्षण तक युवा और योद्धा ही रहते हैं।

    एक थे कैप्टन विक्रम बत्रा... कारगिल युद्ध में एक चोटी जीत लिए, तो अधिकारियों से जिद्द कर के दूसरी चोटी के युद्ध में निकल गए, दूसरी जीत के बाद तीसरी, तीसरी के बाद चौथी... अधिकारियों ने छुट्टी दी, तो नकार दिए। कहते थे, "ये दिल मांगे मोर.." जबतक मरे नहीं तबतक लड़ते रहे...

    एक थे बाबू कुंवर सिंह। अस्सी वर्ष की आयु में अंग्रेजों के विरुद्ध लड़े। लड़े तो ऐसे लड़े कि आजतक उनके नाम से गीत गाया जाता है।

    एक थे फतेह बहादुर शाही। अंग्रेजों से लगातार चालीस वर्षों तक लड़े, और ऐसे लड़े कि उनकी मृत्यु के बीस वर्षों बाद तक कोई अंग्रेज अधिकारी यह सोच कर नहीं घुसा कि 'कौन जाने कहीं जी रहा हो...'

    एक थे बिरसा मुंडा! अंग्रेजों से लड़े... तोपों के विरुद्ध तीर ले कर लड़े... वही गुरु गोविंद सिंह जी वाला साहस, सवा लाख से एक लड़ाऊं की जिद्द... इतना लड़े कि लोगों ने उन्हें "भगवान" कहा, बिरसा भगवान...

    स्वर्गीय ओम्बले उसी श्रेणी के योद्धा थे। कलेजे के ताव से चट्टान तोड़ने की हिम्मत रखने वाले... कर्तव्यपरायणता की परिभाषा लिखने वाले...

    कभी-कभी हम सामान्य जन कुछ पुलिस कर्मियों की गलत हरकतों के कारण चिढ़ कर उन्हें भला-बुरा कह देते हैं। मुझे लगता है हजार बुरे एक तरफ, और स्वर्गीय तुकाराम जी जैसा कोई एक, एक तरफ रहे तब भी वे बीस पड़ेंगे। राष्ट्र ऋणी रहेगा ऐसे योद्धाओं का...

    आज ही कहीं पढ़ रहे थे कि यह देश संबिधान के कारण चल रहा है। मैं कह रहा हूँ यह देश किसी किताब के बल पर नहीं चल रहा, यह देश चल रहा है स्वर्गीय तुकाराम ओम्बले जैसे लोगों की बज्र छातियों के बल पर, जो चालीस गोलियाँ खा कर भी सूत भर नहीं डिगतीं...

    ऐसे योद्धाओं की कहानियाँ कही-सुनी जानी चाहिए। भगत सिंह, भगत सिंह इसलिए बने क्योंकि उन्होंने बचपन मे करतार सिंह सराबा की कथा सुनी थी। पण्डित चंद्रशेखर तिवारी, चंद्रशेखर आजाद इसलिए बने क्योंकि उन्होंने राणा और शिवा की कहानियाँ सुनी थीं।

    अपने बच्चों को तुकाराम ओम्बले की कहानियाँ सुनाना भारत! तभी तुम्हारे बच्चे योद्धा बनेंगे... 


सर्वेश तिवारी श्रीमुख

गोपालगंज, बिहार। साभार

संविधान अपने अधिकारों के साथ कर्तव्यों को निभाने की भी अपेक्षा रखता है

 !!नए भारत के निर्माण में संवैधानिक

               कर्त्तव्यों के प्रति होना होगा सजग!!


नए भारत के निर्माण में भारतीय संविधान न केवल एक विधिक दस्तावेज है,अपितु यह एक ऐसा महत्वपूर्ण साधन है,जो प्रत्येक नागरिक को समता का अधिकार देने के साथ ही राष्ट्र को प्रगति और समृद्धि के पथ पर ले जाने के लिए कृतसंकल्पित है। भारत के प्रत्येक नागरिक को अपने संवैधानिक कर्तव्यों के प्रति होना होगा सजग!.......


स्वतंत्र भारत के भविष्य का आधार 

संविधान को अंगीकृत करने वाली महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटना की आज 72वीं वर्षगांठ है।भारतीय संविधान के निर्माण की प्रक्रिया में तमाम दिग्गज शामिल रहे। विश्व के प्रमुख संविधानों के अध्ययन और व्यापक विचार-विमर्श के बाद संविधान को 26नवम्बर,1949 को आकार दिया गया था। संविधान निर्माण के लिए हुए मंथन की गहनता को इस तथ्य से समझा जा सकता है कि संविधान की प्रारूप समिति के स्वतंत्र भारत के संविधान का मूल प्रारूप तैयार करने का संपन्न हुआ।

मूल संविधान से लेकर अब तक इन पिचहतर वर्षों में देश ने एक लंबी यात्रा तय की है और इस दौरान संविधान में अनेकों परिवर्तन भी किए गए हैं। आज हमारे संविधान में 12 अनुसूचियों सहित 400 से अधिक अनुच्छेद हैं,जो इस बात के प्रमाण हैं कि देश के नागरिकों की बढ़ती आकांक्षाओं को समायोजित करने के लिए शासन के दायरे का किस प्रकार समयानुकूल विस्तार किया जाए। यदि आज भारतीय लोकतंत्र समय की अनेक चुनौतियों से टकराते हुए न केवल मजबूती से खड़ा है,अपितु विश्व पटल पर भी उसकी एक विशिष्ट पहचान है तो इसका प्रमुख श्रेय हमारे संविधान द्वारा र्नििमत सुदृढ़ ढांचे और संस्थागत रूपरेखा को जाता है। भारत के संविधान में सामाजिक, र्आिथक और राजनीतिक लोकतंत्र के लिए एक संरचना तैयार की गई है। इसमें शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक दृष्टिकोण से विभिन्न राष्ट्रीय लक्ष्यों की प्राप्ति सुनिश्चित करने और उन्हें प्राप्त करने के प्रति भारत के लोगों की प्रतिबद्धता को रेखांकित किया गया है।

भारतीय संविधान न केवल एक विधिक दस्तावेज है,अपितु यह एक ऐसा महत्वपूर्ण साधन है भी जो समाज के सभी वर्गों की स्वतंत्रता को संरक्षित करते हुए जाति,वंश, लिंग,क्षेत्र,पंथ या भाषा के आधार पर भेदभाव किए बिना प्रत्येक नागरिक को समता का अधिकार देता है साथ ही राष्ट्र को प्रगति और समृद्धि के पथ पर ले जाने के लिए कृतसंकल्पित दिखता है। यह हमारे दूरदर्शी संविधान निर्माताओं का भारतीय राष्ट्रवाद में अमिट विश्वास था। इस संविधान के साथ चलते हुए विगत सात दशकों में भारतीयों ने जो ढेरों उपलब्धियों के साथ विश्व के सबसे बड़े और सफल लोकतंत्र होने का गौरव भी प्राप्त किया है।


मतदाताओं की बड़ी संख्या और निरंतर चुनावों के बावजूद हमारा लोकतंत्र कभी अस्थिरता का शिकार नहीं हुआ,चुनावों के सफल आयोजनों ने संसदीय लोकतंत्र को समय की कसौटी पर स्वयं को सिद्ध किया है। सात दशकों की इस लोकतांत्रिक यात्रा के दौरान देश में लोकसभा के सत्रह और राज्य विधानसभाओं के तीन सौ से अधिक चुनाव अब तक हो चुके हैं, जिनमें मतदाताओं की बढ़ती भागीदारी हमारे लोकतंत्र की सफलता को ही दर्शाती है। भारतीय लोकतंत्र ने विश्व को दिखाया है कि राजनीतिक शक्ति का शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक तरीके हस्तांतरण किस प्रकार किया जा सकता है।

भारतीय संविधान ने राज्य व्यवस्था के घटकों के बीच शक्तियों के विभाजन की जो व्यवस्था भी की है वह बहुत ही सुसंगत ढंग से की है। संविधान द्वारा राज्य के तीनों अंगों  विधायिका,कार्यपालिका और न्यायपालिका को अपने-अपने क्षेत्रों में पृथक,विशिष्ट और सार्वभौम रखा गया है,ताकि ये एक-दूसरे के अधिकार क्षेत्र का अतिक्रमण न कर सकें। भारतीय लोकतांत्रिक व्यवस्था में हमारी भारतीय संसद ही सर्वोपरि है,परंतु उसकी भी सीमाएं हैं। संसदीय प्रणाली का कार्य-व्यवहार संविधान की मूल भावना के अनुरूप ही होता है। संसद के पास संविधान में संशोधन करने की शक्ति है, मगर वह उसके मूल ढांचे में कोई परिवर्तन नहीं कर सकती। अंगीकृत किए जाने से लेकर अब तक हमारे संविधान में आवश्यकतानुसार सौ से अधिक संशोधन किए जा चुके हैं, परंतु इसके बावजूद इसकी मूल भावना अक्षुण्ण बनी हुई है।


कमल किशोर डुकलान रूडकी 

उज्जवला योजना के तहत सुबोध राकेश ने वितरित किए गैस कनेक्शन



*आज विधानसभा भगवानपुर में पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने ग्राम बहेडकी,इकबालपुर,मोलना, खजूरी,माजरा गाँव के नागरिकों को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना निशुल्क गैस कनेक्शन वितरण किए गए*


*भगवानपुर| 26 नवंबर (कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवानपुर)


* पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने आज क्षेत्र के गाँव बहेडकी,इकबालपुर,मोलना, खजूरी,माजरा में विनय त्यागी की दुकान पर प्रधानमंत्री उज्जवला योजना निशुल्क गैस कनेक्शन वितरण किए ।इस दौरान पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने कहा हैं कि उज्ज्वला योजना के तहत उन घरों तक गैस चूल्हा व सिलेंडर पहुंचा है जहां पर आज तक केवल लकड़ी के चूल्हों पर खाना बनता था। मां, बेटी और बहनें उस चूल्हे से उठने वाले धुएं की चपेट में आकर उनके स्वास्थ्य को नुकसान हो रहा था। इस मौके पर अनिल प्रधान,नितिन त्यागी, हिमांशु चौधरी,अमित मास्टर,प्रियांशु त्यागी,आशीष धीमान,संजीव,संजू सैनी, ललित,अंकित बजरंगी,विनय त्यागी,दीपक भारती,मैन पाल सिंह, रजत कुमार इत्यादि लोग उपस्थित रहे

पूर्व राज्यमंत्री विमल कुमार ने अपने आवास पर किया केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान का स्वागत


 हरिद्वार 26 नवंबर (सुदीप बनर्जी संवाददाता गोविंद कृपा ) केरल के राज्यपाल महामहिम आरिफ मोहम्मद खान ने हरिद्वार में पूर्व राज्य मंत्री विमल कुमार के आवास पर जाकर भेंट की इस मुलाकात को एक निजी मुलाकात बताते हुए पूर्व राज्य मंत्री विमल कुमार ने कहा कि महामहिम राज्यपाल से हमारे पारिवारिक संबंध है ।इस नाते  उन्होंने हमारे आवास पर आकर हमें कृतार्थ किया है। इस अवसर पर प्रगत भारत संस्था के अध्यक्ष सुदीप बनर्जी ,स्वामी विवेकानंद अकैडमी के प्रधानाचार्यडॉक्टर कमलेश कांडपाल,शिक्षा समिति की अध्यक्ष अनीता वर्मा ,विशेष सहयोगी संजय वर्मा,सहितविमल कुमार जी के परिजनों ने केरल के राज्यपाल महामहिम आरिफ मोहम्मद खान का स्वागत किया और उनकेआगमन पर उनका धन्यवाद ज्ञापित किया।

भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम ने लिया महंत रविंद्रपुरी से आशीर्वाद



 भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम ने लिया अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत रविंद्रपुरी का आशीर्वाद 

हरिद्वार 26 नवंबर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रभारी एवं राष्ट्रीय महामंत्री दुष्यंत गौतम ने निरंजनी अखाड़े पहुंचकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष  महंत रविंद्रपुरी से आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर दुष्यंत गौतम ने कहा कि प्राचीन काल से ही धर्म सत्ता का अंकुश राजसत्ता कर रहा है जिसका परिणाम यह हुआ की राजा अपनी प्रजा का पुत्रवत पालन किया करते थे ,वही परिपाटी आज भी चली आ रही है आज सत्ता का स्वरूप बदल गया है लेकिन संत जनों का आशीर्वाद शासक वर्ग पर वैसा ही बना रहे ऐसा प्रयास सत्ता में बैठे लोगों को हमेशा करना चाहिए ।अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं निरंजनी अखाड़े के सचिव महंत रविंद्रपुरी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का संत समाज के प्रति सदैव आकर्षण रहा है ।प्रधानमंत्री से लेकर एक विधायक तक संत जनों का सम्मान करते हैं उसी परिपेक्ष में  दुष्यंत गौतम निरंजनी अखाड़े पहुंचे हैं संतो के द्वार सदैव सभी के लिए खुले है । जो भी श्रद्धा भाव के साथ संत समाज की पास में आता है उसे आशीर्वाद मिलता है।

30 नवंबर तक चलेगा नए वोटर बनाओ अभियान

 



हरिद्वार ग्रामीण क्षेत्र मे बन रहे हैं नए वोटर युवा वोटर अवश्य दें ध्यान  डॉ प्रदीप कुमार 

 हरिद्वार 26 नवंबर  (जमालपुर कला  दिनेश कश्यप  संवाददाता गोविंद कृपा )भारत सरकार के निर्वाचन आयोग के द्वारा  3 नवंबर से शुरू हुए  नए वोटर बनाओ अभियान के अंतर्गत  हरिद्वार ग्रामीण विधानसभा के  विभिन्न क्षेत्रों में  बीएलओ जगह-जगह कैंप लगाकर नए  वोटर बनाने का काम  तेजी से कर रहे हैं।  जमालपुर कला के दयाल एंक्लेव , रमा विहार,  जे वी जी कॉलोनी , सोशल एनक्लेव  आदि क्षेत्रों में  विशेष कैंप लगाकर बीएलओ नए वोटरों  बना  रहे हैं ऐसे ही एक कैंप काशुभारंभ भाजपा ओबीसी मोर्चा के जिला महामंत्री डॉ प्रदीप कुमार एवं भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एवं लक्सर विधानसभा की चुनाव सह प्रभारी अनीता वर्मा ने आज किया इस अवसर पर डॉ प्रदीप कुमार ने युवाओं से अपील करते हुए कहा कि जो बालक बालिकाएं 18 वर्ष की उम्र पूरी कर चुके हैं वह अपनी प्रदेश की सरकार चुनने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निर्वहन करने के लिए वोटर अवश्य बने।यह ऐसा अधिकार है जो संविधान ने भारत के हर एक नागरिक को प्रदान किया है।भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्यएवं लक्सर विधानसभा की चुनाव सह प्रभारी अनीता वर्मा ने महिलाओं से आग्रह करते हुए कहा कि वोट देना हमारा कानूनी अधिकार है ।देश की 50% आबादी महिलाएं है उनकी वोट देश का भाग्य तय करती है इस कारण महिलाओं ,युवतियों को अपनी वोट बनवाने के लिए सक्रिय रूप से आगे आना चाहिए और 30 नवंबर तक चलने वाले इस अभियान में स्वयं को वोटर बनवाना सुनिश्चित करे। इस अवसर पर बीएलओ आशा रानी और उनकी सांहिका  तथा  भाजपा के कार्यकर्ताओ  ने नए लोगों कोअपनी वोट बनवाने में सहयोग प्रदान किया।

टाट वाले बाबा का 32 वां वार्षिकोत्सव कल से

 हरिद्वार 25 नवम्बर  (वीरेंद्र शर्मा संवादाता गोविंद कृपा हरिद्वार)


 परम पूजनीय प्रातः स्मरणीय वेदांत वेत्ता  श्री श्री श्री टाट वाले बाबा जी के 32 वे वार्षिक वेदांत सम्मेलन  में कल से बहेगी भक्ति एवं वेदांत की गंगा . यह जानकारी देते हुए एस एम जे एन पी जी कालेज के प्राचार्य एवं कार्यक्रम संयोजक ने यह जानकारी देते हुए बताया कि टाट वाले बाबा की लिखी पुस्तक असंभव कुछ नहीं सब संभव है वास्तव में सभी समस्याओं का हल इस पुस्तक में मिल जाता है यह एक अलौकिक ग्रंथ हैं। सद्गुरु से जो चाहोगे वह प्राप्त करोगे।  उन्होंने कहा कि जब वह छोटे थे तब वह बिरला घाट पर आते थे तथा बाबाजी उनको अच्छे स्वास्थ्य के लिए व्यायाम करने हेतु प्रेरित किया करते थे। इस कोरोना महामारी काल में योग एवं व्यायाम  ने स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. गुरु चरणानुरागी समिति के तत्वावधान में दिनांक 26 नवम्बर से 29 नवम्बर तक वार्षिक समारोह एवं सत्संग कार्यक्रम कोरोना एस ओ पी को पालन करते हुए समपन्न होगा

भाजपा प्रदेश चुनाव प्रभारी एवं सह प्रभारी ने देहरादून में भी बैठक


चुनाव प्रभारी ने की चुनाव प्रबंधन समिति के साथ रोडमैप पर चर्चा


देहरादून 24 नवंबर 


 भाजपा चुनाव प्रभारी प्रहलाद जोशी और  सह प्रभारी सरदार आरपी सिंह , लॉकेट चटर्जी ने उतराखंड के दो दिवसीय दौरे  पर देहरादून पहुंच कर  अलग अलग समूहों में चुनाव प्रबंधन से संदर्भित बनाई गई समितियों की बैठक ली।  पार्टी मुख्यालय में चुनाव प्रबंधन समिति के साथ बैठक में रोडमैप पर चर्चा की गई।

    इस अवसर पर  प्रदेश अध्यक्ष  मदन कौशिक ने बताया कि पार्टी के रोडमैप के तहत निर्धारित कार्यक्रमो की समीक्षा की गई और वरिष्ठ नेताओं ने कार्यक्रमों की प्रगति के साथ जरुरी मार्गदर्शन भी किया। उन्होंने कहा कि प्रभारी और सह प्रभारी चुनाव प्रबंधन की 33 समितियों की अलग अलग समूहों में समीक्षा करेंगे।

     वृहस्पतिवार को 11:30 बजे तक चुनाव प्रबंधन समिति की पहली बैठक प्रह्लाद जोशी जी, दुष्यंत कुमार गौतम, आर पी सिंह, श्रीमती लॉकेट चटर्जी भाजपा प्रदेश कार्यालय में लेंगे। तत्पश्चात श्री जोशी 12:30 से 2:00 बजे तक रुद्रप्रयाग, चमोली व पौड़ी जिले की  विधानसभाओं के कोर ग्रुप की बैठक श्रीनगर में लेंगे। इसमें श्री प्रह्लाद जोशी के अलावा चुनाव सह प्रभारी सरदार आर पी सिंह भी मौजूद रहेंगे। व सायं  4:15 से 6:30 तक श्री जोशी  देहरादून में कार्यकर्ताओं से व्यक्तिगत भेंट का समय सुनिश्चित किया गया है। इसके अलावा सभी प्रभारी सह प्रभारी चुनाव प्रबंधन की दृष्टि से बनाये गए 33 समितियों की अलग अलग समूहों में समीक्षा बैठक लेंगे।


 

कलानौर में मनाया गया महामंडलेश्वर स्वामी गुरु चरण दास जी महाराज का स्मृति दिवस

 रोहतक 24 नवंबर  कलानौर रोहतक में भारत साधु समाज के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष पूज्यपाद महामंडलेश्वर स्वामी गुरुचरणदास जी महाराज की स्मृति में आयोजित ४४वाँ संत सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसकी अध्यक्षता महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश जी पीठाधीश्वर प्राचीन अवधूत मण्डल आश्रम द्वारा की गयी। जिसमें सभी गद्दियों के पूज्य महन्तगण संत जन सभी भक्तगणो की उपस्थिति रही कार्यक्रम आयोजक श्री रमेश लाल भाटिया अध्यक्ष स्वामी गुरुचरणदाससनातन धर्म सेवा समिति ने स्मृति समारोह में आए हुए संत महंत जनों का स्वागत किया और उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया ।इस कार्यक्रम में हरिद्वार ,वृंदावन आदि तीर्थ स्थलों से उदासीन बड़ा अखाड़ा से संबंध महंत 



महा मंडलेश्वर उपस्थित रहे। 

स्वामी रुपेन्द्रप्रकाश महाराज

ब्रह्मलीन स्वामी सच्चिदानंद महाराज को संत समाज कल देगा श्रद्धांजलि

 ब्रह्मलीन स्वामी सच्चिदानंद महाराज को कल उनकी 17 वी

 पर संत समाज देगा श्रद्धांजलि 

हरिद्वार24 नवंबर(  वीरेंद्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ) उत्तरी हरिद्वार की प्रतिष्ठित धार्मिक संस्था  श्री विशुद्धानंद आ'श्रम बसंत  गली  खड़खड़ी एवं भागवत धाम भागीरथ नगर  भूपतवाला हरिद्वार सहित विभिन्न संस्थाओं के पर माध्यक्ष महंत स्वामी सच्चिदानंद महाराज के  ब्रह्मलीन हो जाने प


र उनकी सतरहवी के अवसर पर  कल विशुद्धानंद आश्रम मे संत समाज उन्हें श्रद्धांजलि  देगा उपरोक्त जानकारी ब्रह्मलीन महंत स्वामी सच्चिदानंद महाराज के उत्तराधिकारी महंत रामानंद ने देते हुए बताया कि गुरुदेव के ब्राह्मलीन  हो जाने के पश्चात उनकी पैरवी के अवसर पर महामंडलेश्वर स्वामी परमात्मा देव महाराज  की अध्यक्षता में तथा महामंडलेश्वर स्वामी हरि प्रकाश जी महाराज के पावन सानिध्य में संत समाज एवं श्रद्धालु भक्तजन उनको श्री विशुद्ध आश्रम में श्रद्धा सुमन  अर्पित करेंगे।

आचार संहिता लगने से पूर्व उत्तराखंड सरकार सक्षम की सात सूत्रीय मांगों को पूरा करें :-ललित पंत

 सक्षम ने मुख्यमंत्री के सामने रखी प्रदेशभर के दिव्यांगों की मांगे

 देहरादून /हल्द्वानी 24 नवंबर (भुवन गुणवंत संवाददाता गोविंद कृपा हल्द्वानी )



दिव्यांगों के लिए देशभर में कार्य करने वाली संस्था सक्षम उत्तराखंड ने देहरादून में मुख्यमंत्री से मिलकर उन्हें 7 सूत्री मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा जिसमें दिव्यांगों के हितों के लिए उत्तराखंड सरकार से सात मांगों को रखते हुए प्रदेश सक्षम के अध्यक्ष ललित पंत ने मुख्यमंत्री से कहा कि सशक्त दिव्यांग आयोग का गठन किया जाए और इस आयोग का अध्यक्ष उपाध्यक्ष दिव्यांगता के क्षेत्र में कार्य कर रहे व्यक्ति को नियुक्त किया जाए ।,दिव्यांगो हेतु गठित राज्य दिव्यांग सलाहकार बोर्ड में दिव्यांगता के क्षेत्र में कार्य कर रहे व्यक्ति को उपाध्यक्ष नियुक्त किया जाए। भाजपा के  चुनाव घोषणा पत्र  के आधार पर किए गए दिव्यांग भर्ती वादे के अनुसार सभी विभागों में दिव्यांग जनों के रिक्त पदों पर दिव्यांग बैकलॉग भर्ती की जाय जो वर्षो ,से लम्बित है।  दिव्यांग जनों की मासिक पेंशन 12सौ से बढ़ाकर ₹35 सौ की जाए । राज्य के प्रमुख सरकारी कार्यालयों में मूक-बधिर ओं के लिए इंटरप्रेटर की नियुक्ति हो ।दिव्यांग जनों की निजी व्यवसाय स्थापित करने में मदद हेतु सरकार जीरो ब्याज पर  ऋण उपलब्ध कराएं । दिव्यांग जनों
 को गरीबी रेखा से नीचे वाला खाद्य सुरक्षा का राशन कार्ड दिया जाना नितांत आवश्यक है । खाद्य सुरक्षा देने के क्षेत्र में यह कार्य अति आवश्यक है इस प्रकार उत्तराखंड सक्षम के अध्यक्ष ललित पंत ने विगत दिनों देहरादून में मुख्यमंत्री के सामने सक्षम की 7 सूत्रीय मांगे पेश कर दिव्यांगों के कल्याण के लिए एक बड़ा कार्य किया उनके इस कार्य में प्रदेश भाजपा संगठन महामंत्री अजय कुमार संघ के प्रांत प्रचारक युद्धवीर जी भाई साहब ने भी मुख्यमंत्री से इंसाफ सूत्री मांगों को आचार संहिता लगने से पूर्व पूरा करने का आग्रह किया।

उत्तराखंड भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरी का किया गया अभिनंदन

 भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष का  संत मंडल आश्रम में किया गया  अभिनंदन 


ओबीसी समाज के लोगों ने  उत्तराखंड में  27 परसेंट आरक्षण की रखी मांग

हरिद्वार 24 नवंबर (संजय वर्मा नामदेव )भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरी का संत मंडल आश्रम में ओबीसी समाज के विभिन्न वर्गो बिरादरीओ के प्रतिनिधियों ने स्वागत किया और भाजपा सरकार के प्रति आभार ज्ञापित किया । हरिद्वार के भीमगोडा स्थित संत मंडल आश्रम में महंत स्वामी राम मुनि के सानिध्य में ओबीसी समाज के प्रजापति ,पाल ,गिरी ,नामदेव,कश्यप,  सैनी समाज एवं  अन्य बिरादरीयों के लोगों ने कार्यक्रम आयोजित कर भाजपा ओबीसी मोर्चे के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरी का स्वागत किय और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभार प्रकट करते हुए ,उनकी कैबिनेट में 27 पर्सेंट मंत्रियों को ओबीसी समाज से शामिल करने पर धन्यवाद ज्ञापित किया । समारोह की अध्यक्षता भाजपा ओबीसी मोर्चा के जिला अध्यक्ष प्रदीप पाल ने तथा संचालन जिला महामंत्री डॉक्टर प्रदीप कुमार ने किया । इस अवसर पर ओबीसी समाज की  विभिन्न बिरादरी के लोगों ने उत्तराखंड में अन्य प्रदेशों की भांति आरक्षण 14 से बढ़ाकर 27 पर्सेंट करने की जोरदार मांग रखी ।उन्होंने कहा कि जब अन्य राज्यों में 27% आरक्षण ओबीसी समाज को मिलता है तो उत्तराखंड में यह आरक्षण  14 परसेंट सरासर  ओबीसी समाज के लोगों के लिए  अन्याय है । लक्सर विधानसभा में  चुनाव सह प्रभारी अनीता वर्मा नामदेव  ने ओबीसी समाज से एकजुट होकर  अगले वर्ष होने वाले  विधानसभा चुनाव में  भाजपा को वोट देने का आग्रह किया । उन्होंने कहा कि  केंद्र और राज्य सरकारों ने  ओबीसी समाज के लिए इतना कुछ किया है  ,








जितना विगत 60 वर्षों में नहीं हुआ तो हमारा फर्ज बनता है कि हम उत्तराखंड में पुनः  भाजपा सरकार बना कर केंद्र मे मोदी जी के हाथ मजबूत करें। भाजपा जिला अध्यक्ष प्रदीप पाल ने कहां की हमें भाजपा की उपलब्धियों को और विगत 5 वर्षों में किए गए कार्य को आधार बनाकर जनता के बीच जाना है यही हमारी जीत  का मार्ग प्रशस्त करेगा। अभिनंदन समारोह के मुख्य वक्ता और अतिथि भाजपा ओबीसी  मोर्चे  के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरी ने कहा कि  मोदी सरकार ने अपने  7  वर्षों के कार्यकाल में  देश को  राम मंदिर  की सौगात दी है  जिस के आंदोलन में संत मंडल आश्रम और इसके  ब्रह्मलीन परमाअध्यक्ष  महंत स्वामी  जगदीश मुनि का  विशेष योगदान रहा है  । उन्होंने कहा कि  एक समय था जब हरिद्वार जनपद की  तीनों सीटों पर ओबीसी समाज का  प्रतिनिधि विधायक बनता था लेकिन ओबीसी  समाज के बिखराव और अंतरकलह के कारण आज ओबीसी समाज केवल मतदाता बनकर रह गया है। उन्होंने ओबीसी समाज के समस्त वर्गों से एकजुट होकरभाजपा के लिएकार्य करने का आह्वान करते हुए कहा कि इस बार 60 के पार का लक्ष्य हमें प्राप्त करना है । अभिनंदन समारोह में संत मंडल आश्रम के परमाध्यक्ष, एवं दो बार के विधायक रहे जगदीश मुनि की स्मृति में किसी पार्क, मार्ग ,अथवा घाट का नाम उनकी स्मृति को चिरस्थाई बनाए रखने के लिए रखे जाने का आग्रह प्रजापति समाज के प्रतिनिधियों ने किया । समारोह के अंत में इस अभिनंदन कार्यक्रम के सूत्रधार एवं संत मंडल आश्रम के परमाध्यक्ष महंत स्वामी राम मुनि ने कहा कि जब तक समाज अपने हक की लड़ाई स्वयं नहीं लड़ेगा तब तक कुछ भी नहीं मिलने वाला है ।उन्होंने ओबीसी समाज के समस्त वर्गो बिरादरियो से भाजपा के ध्वज तले संगठित होकर कार्य करने का आह्वान करते हुए कहा कि 2022 का चुनाव बहुत महत्वपूर्ण है हमें अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए प्रदेश में भाजपा की सरकार को पुनः  लाने के लिए कार्य करना है। उन्होंने भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरी के प्रति मंगलकामनाएं प्रकट करते हुए उन्हें आशीर्वाद प्रदान किय।  समारोह में उपस्थित जिला मंत्री एवं पार्षद लोकेश पाल ने प्रजापति समाज से एक प्रस्ताव बनाकर देने के लिए कहा जिसके माध्यम से हरिद्वार नगर निगम के अंतर्गत किसी भी स्थान आचार्य जगदीश मुनि की स्मृति में कोई भी स्थान प्रस्तावित किया जा सके ।अभिनंदन समारोह में  भाजपा ओबीसी मोर्चा के मंडल अध्यक्ष वात्सल्य पाल ,नाथीराम प्रजापति , साधु राम सैनी,  सर्वेश्वर प्रजापति, संजय वर्मा नामदेव, साधु राम प्रजापत,  मनोज प्रजापति, बलकेश राजोरिया, अंकित प्रजापति,  सतीश आर्य ,संदीप सिंघानिया, पवन कश्यप , राजीव गिरी भागीरथ प्रजापति ,धरम पाल प्रजापति ,आशुतोष ,सौरभ सिंह अंकित प्रजापति सहित  ओबीसी समाज के विभिन वर्गो,  बिरादरीयो  के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

वशिष्ठ आश्रम में हुआ श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ

 भागवत श्रीहरि का वांग्मय मूर्ति स्वरूप: स्वामी अशोकानंद ( भक्तिधाम जबलपुर)

कलश यात्रा, देव आवाहन के साथ  श्रीमद्भागवत कथा सप्ताह का भव्य शुभारंभ 

हरिद्वार- 23 नवंबर( अनुपम त्यागी संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ) श्री हरि चरण से निकली गंगा पापो को तारती है। भागवत को सुनने मात्र से जीवन जीने के भाव बदल जाते है। भागवत भगवान श्रीहरि नारायण का वांग्मय स्वरूप है, कलिकाल मे हरि नाम स्मरण मात्र से पूर्व और वर्तमान के सभी पाप नष्ट हो जाते है। 

भागवत जीवन की वैतरणी को पार लगाने का सबसे सरल सुगम साधन है। भागवत श्रवण मात्र से सभी जगत के प्रणियो के शोक दुःखो का क्षय हो जाता है श्रीहरि नारायण माता लक्ष्मी की असीम अनुकम्पा साधक और भक्त को प्राप्त होती है। श्री मद्भगवत गीता मे भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन से स्वंय कहा है मै मार्गशीर्ष मास हूँ,  मेरे नाम संकीर्तन या स्मरण मात्र से साधक भवसागर के पार हो जाता है

उक्त उदगार भाक्तिधाम संस्कारधानी जबलपुर से पधारे  अंतराष्ट्रीय कथावाचक भागवताकार परम पूज्यनीय स्वामी अशोकानंद जी  महाराज  के पावन मुखारविंद से मां गंगा की गोद मे हरि हर की सूक्ष्म उपस्थिति मे श्रीहरि नारायण के परम प्रिय मार्गशीर्ष मास अगहन माह के पावन अवसर आयोजित श्रीमद्भागवत कथा सप्ताह के उद्घाटन सत्र मे व्यास पीठ से कहे। 

श्रीमद्भागवत कथा सप्ताह के  शुभारंभ अवसर पर श्रीमद्भागवत जी की अगवानी कलश यात्रा  होकर कथा स्थल वशिष्ठ आश्रम, वसंत गली, खडखडी पहुंची । कलश यात्रा मे  ढोल ढमाके, बैंड के साथ मंगल  कलश लिए पीत वस्त्र धारी कन्या महिलाओ के साथ बडी संख्या मे श्रृध्दालु भक्त जन उपस्थित रहे। कलश यात्रा मे भक्ति धाम ग्वारीघाट जबलपुर( मप्र )से पधारे अंतरराष्ट्रीय कथा वाचक परम पूज्यनीय स्वामी अशोकानंद जी महाराज रथारूढ थे। 

श्रीमद्भागवत, गंगा मैया की षोड्चाषोर ,पूजन अर्चण




यजमान राकेश त्यागी, राजेश्वर, अनुपम ने किया। 

श्रीमद्भागवत कथा  23 नववंर से 29 नववंर तक प्रतिदिन दोपहर 2:00 बजे से श्रीमद्भागवत कथा  की ज्ञान गंगा के  भक्ति रस से सराबोर होने सभी श्रृध्दालु भक्त जन आमंत्रित है। 

श्रीमद्भागवत जी  की कथा श्रवण  करने का आग्रह मास्टर राजेश्वर त्यागी पुष्प त्यागी, यजमान राकेश त्यागी श्रीमती कुसुम त्यागी ,छवि अनुपम त्यागी, नेहा आशीष त्यागी, विभा आदेश त्यागी, लीना ब्रजभूषण त्यागी, पार्षद महावीर वशिष्ठ, पार्षद अनिरुद्ध भाटी , संदीप गोस्वामी, विशाल गुप्ता ऋषभ वशिष्ठ, गगन यादव, सहित  श्रृध्दालुओ ने किया है ।

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...