खंडहर हो गई तीलू रौतेली की हवेली


 सरकारी  उदासीनता के चलते  खंडहर हुई तीलू रौतेली की हवेली..

उत्तराखंड के चौंदकोट की वीरांगना तीलू रौतेली... . 

वीरबाला तीलू रौतेली, उत्तराखंड की एक ऐसी वीरांगना जो केवल 15 वर्ष की उम्र में रणभूमि में कूद पड़ी थी और सात साल तक जिसने अपने दुश्मन राजाओं को छठी का दूध याद दिलाया था। 15 से 20 वर्ष की आयु में सात युद्ध लड़ने वाली तीलू रौतेली संभवत विश्व की एक मात्र वीरांगना है।तीलू रौतेली गढ़वाल के लोगों के बीच गढ़वाल की लक्ष्मीबाई भी कही जाती हैं. 

 देखरेख के अभाव में तीलू रौतेली की हवेली क्षतिग्रष्त हो रही है.तीलू रौतेली की 15 किलो की ऐतिहासिक तलवार पहले ही चोरी हो चुकी है.सरकार को गुराड गांव को हेरिटेज विलेज घोषित  करना चाहिए.


गुराड तला

एकेश्वर ब्लाक

पौडी़ गढवाल।


सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज मायापुर हरिद्वार का परीक्षा परिणाम रहा शत प्रतिशत

 हरिद्वार 31 जुलाई (आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 




उत्तराखंड विद्यालय शिक्षा परिषद रामनगर नैनीताल द्वारा हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा का परीक्षा फल घोषित किया गया। जिसमें सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज मायापुर हरिद्वार के हाईस्कूल परीक्षा में सभी 291 छात्र-छात्राएं उत्तीर्ण हुए। विद्यालय का परीक्षा फल शत प्रतिशत रहा।

                           हाई स्कूल की परीक्षा में 18 छात्र छात्राओं ने 90% से अधिक अंक प्राप्त किए। सागर दास ने सर्वाधिक 98.8% अंक प्राप्त किए। अन्य छात्र-छात्राओं में यमन गर्ग, साहिल राव, शैल कुमारी, सुदक्षा आर्या, रमन लोधी, अनामिका, संजना राजपूत, अनन्या विश्वास, अंजलि सैनी, सुनील जोशी, निखिल शर्मा, दीपांशु शर्मा, आदि ने 90% से ऊपर अंक प्राप्त किए। जबकि 66 छात्रों ने 75% से अधिक अंक प्राप्त किए।

                           इंटरमीडिएट परीक्षा में 294 छात्र छात्राओं ने प्रतिभाग किया। जिसमें सभी छात्र-छात्राएं उत्तीर्ण घोषित किए गए। कुमारी रेखा, कुमारी शानू और मोहित भट्ट ने 98% अंकों के साथ प्रथम स्थान प्राप्त किया। ईशा नेगी, कनक शर्मा, ऋषि शर्मा, रितिका गोस्वामी, वैष्णवी सिंह, वंदना शर्मा, विशाल पांडे आदि छात्र-छात्राओं ने 90% से अधिक अंक प्राप्त किए। इसके अतिरिक्त 55 छात्रों ने 75% से अधिक अंक प्राप्त किए। इस अवसर पर भारतीय शिक्षा समिति के प्रदेश निरीक्षक डॉ विजयपाल सिंह जी और विद्यालय के उपप्रधानाचार्य अजय सिंह जी ने सभी छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं दी।

भाजपा हरिद्वार मंडल की कार्य समिति हुई सम्पन्न

 हरिद्वार  32 जुलाई (अमर शदाणी संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) भारतीय जनता पार्टी मंडल हरिद्वार में  निष्काम सेवा ट्रस्ट भूपतवाला हरिद्वार में कार्यसमिति की एक बैठक वीरेंद्र तिवारी अध्यक्ष भाजपा मंडल हरिद्वार की अध्यक्षता में संपन्न हुई । जिसमें मुख्य अतिथि उत्तराखंड प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष माननीय मदन कौशिक जी, प्रभारी देशपाल रोड ,जिला अध्यक्ष भाजपा डॉक्टर जयपाल सिंह, जिला महामंत्री भाजपा विकास तिवारी एवं प्रदेश मीडिया प्रमुख ओमप्रकाश जमदग्नि, प्रदेश युवा मोर्चा उपाध्यक्ष कन्हैया खैवड़िया उपस्थित रहे । कार्यसमिति बैठक का संचालन संयुक्त रुप से तरुण नैयर एवं दिनेश पांडे ने किया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक  ने कहा की चुनाव नजदीक आते ही कुछ पार्टियां कुकर मुत्तो की तरह जमीन से बाहर आने लगी  हैं उन लोगों ने कई प्रांतों में मुफ्त बिजली आदि देने का नारा दिया है उन नारा देने वालो की राज्यों में अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए । इसी प्रकार उत्तराखंड में भी ऐसे कुकर मुत्तो का कोई स्थान नहीं है । उन्होंने कार्यकर्ताओं से आव्हान किया की अबकी बार उत्तराखंड में 60 सीटों से अधिक सीटें लानी है । जिलाध्यक्ष भाजपा डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि भाजपा को मजबूत करने के लिए हम एड़ी चोटी का जोर लगा देंगे भारतीय जनता पार्टी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है और हमारा एक एक कार्यकर्ता परिवार के सदस्य के समान हैं। जिला महामंत्री विकास  तिवारी ने कहा की भाजपा के उन पदाधिकारियों को सहन नहीं किया जाएगा जो भाजपा के कार्यकलापों में योगदान नहीं दे रहे हैं उन्होंने मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र तिवारी को निर्देश दिया की ऐसे कार्यकर्ताओं के खिलाफ उचित कार्रवाई करें । वीरेंद्र तिवारी ने अपने संबोधन में कहा की इस कार्यसमिति की व्यवस्था के लिए जो समितियां बनी थी उन्होंने कार्यसमिति को सफल बनाने के लिए पूरा अपना योगदान दिया वह सभी कार्यकर्ता बधाई के पात्र हैं । तिवारी ने कहा की कार्यसमिति की व्यवस्था के संयोजक  तरुण नय्यैर एवं दिनेश पांडे , विकल राठी  का विशेष सहयोग रहा है यह सभी पदाधिकारी धन्यवाद के अधिकारी हैं । विशेष रुप से युवा मोर्चा के अध्यक्ष चंद्रकांत पांडे, महिला मोर्चा अध्यक्ष पूनम मखीजा, अनुसूचित मोर्चा के अध्यक्ष मनीष चौटाला , किसान मोर्चा अध्यक्ष अजीत कुमार, पर्वतीय प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विरेंद्र सेमवाल , ओबीसी मोर्चा के अध्यक्ष वात्सल्य बासु। कार्यसमिति में सभी मंडल के उपाध्यक्ष गण मंत्री गण कोषाध्यक्ष एवं पार्षद गण एवं कार्य समिति के सभी सदस्य उपस्थित रहे।


"उसको पाना इक सपना हैं, उसकी चाहत मत पूछो"


 काव्य धारा 


उनसे निसबत मत पूछो।

दिल की हालत मत पूछो।।


अपनी बात कहो तुम तो।

मेरी बावत मत पूछो।।


ग़म की रातें दुख के दिन।

अबकी राहत मत पूछो।।


उसको पाना इक सपना।

उसकी चाहत मत पूछो।।


दिल लेकर वो भूल गया।

उसकी आदत मत पूछो।।


वो है रौनक महफिल की।

सीरत-सूरत मत पूछो।।


बुतखाने में जो देखा।

गैरत-हैरत मत पूछो।।


दर्द गढ़वाली, देहरादून 

09455485094

सुबोध राकेश के संयोजन में भगवान पुर में लाभार्थियो को वितरित किये गये प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत आवंटन कार्ड




 **प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत बांटे गए आंवटन कार्ड,मुख्य अतिथि ज्वालापुर विधायक सुरेश राठौड़ एवं वरिष्ठ अतिथि पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश रहे मौजूद*


*भगवानपुर 31 जुलाई (कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवान पुर) भगवान पुर   ब्लाक क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवंटन कार्ड बांटे गए। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ज्वालापुर ग्रामीण विधायक सुरेश राठौर ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में पूरी पारदर्शिता से लोगों को मकान दिए जा रहे हैं। पीएम मोदी जी का संकल्प है कि  2022 तक हर किसी के पास मकान हो   और उसी को आगे बढ़ाते हुए लगातार तेजी से मकान बनाने के कार्य चल रहे हैं। पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीबों के कल्याण के लिए लाखों योजना चलाई हुई है जिसमें धरातल पर गरीबों को लाभ मिल रहा है।सुबोध राकेश ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों को मकान आवंटित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र में मोदी और प्रदेश में पुष्कर सिंह धामी सरकार विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि नगर पंचायत में भी मकान आवंटित करना कार्य पूरी पारदर्शिता के साथ हो रहा है। शुभ अवसर पर भगवानपुर एसडीएम स्मृता परमार असवाल, निर्मल सिंह,तुलाराम,अनिल सैनी जिला पंचायत सदस्य, साजिद प्रधान,जॉनी प्रधान,आदिल प्रधान,राजू प्रधान,संदीप रघुवंशी,विकास प्रधान,जॉनी रूहल्की,मोंटी चौधरी,सुधीर कुमार,तनवीर सिद्दीकी, सभागार में सभी लोग उपस्थित रहे

लोहानी क्लासिज के विद्यार्थीयो ने किया इंटर परीक्षा में किया उत्कृष्ट प्रदर्शन

रूडकी 31 जुलाई (अनिल लोहानी वरिष्ठ संवाददाता गोविंद कृपा रूडकी) 



  इंटर परीक्षा का परिणाम घोषित होने के पश्चात रुड़की शहर में चारों तरफ हर्षोल्लास का माहौल है lजैसा कि पहले से अपेक्षित था, कि इस बार का रिजल्ट अन्य वर्षो की तुलना में काफी अच्छा रहेगाl

 यद्यपि विगत वर्ष पूरे साल कक्षा ना चलने के कारण बच्चों को ऑनलाइन क्लासेस या ट्यूशन पर ज्यादा ध्यान केंद्रित करना पड़ाl उसके उपरांत भी बच्चों ने भरसक प्रयास किए और आगे भविष्य का रास्ता निश्चित कियाl

एक बात जो साफ तौर पर स्वीकार करने योग्य है कि विगत कुछ वर्षों में बच्चों के शिक्षा का स्तर में काफी डाउनफॉल हुआ है , जिसकी पूर्ति हेतु शिक्षण संस्थान पूरी तरह प्रयासरत है और इस कमी को पूरा करने हेतु केंद्रीय शिक्षण समिति द्वारा समय-समय पर उचित एवं कठोर कदम उठाए जाने की आवश्यकता हैl

विद्यार्थी देश ,समाज एवं परिवार के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है अतः उसको प्रत्येक कसौटी पर खरे उतरने की अति आवश्यकता हैl इसलिए देश की सरकार को चाहिए कि आने वाले वर्षों में शिक्षा के स्तर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने हेतु व देश के विकास में विद्यार्थियों का योगदान सुनिश्चित करने हेतु एक  सुदृढ़ शिक्षा नीति लानी चाहिए जिसके लिए सरकार प्रयासरत हैl

विगत कुछ वर्षों से क्षेत्र के विद्यार्थियों के बुद्धि के विकास हेतु प्रयासरत लोहानी क्लासेस के छात्र सिद्धांत कश्यप द्वारा आनंद स्वरूप सरस्वती विद्या मंदिर रुड़की  में प्रथम प्रथम स्थान प्राप्त कर अपने क्षेत्र मोहनपुरा मोहम्मदपुर का नाम रोशन किया हैl उन्होंने 97.4 प्रतिशत नंबर प्राप्त किए और साथ ही साथ 94% नंबर प्राप्त कर जेईई मेंस का एग्जाम भी पास कियाl इस गौरवमई क्षण में हम मोहनपुरा मोहम्मदपुर के निवासी उनके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं और उज्जवल भविष्य की कामना करते हैंl

परमार्थ निकेतन में श्रद्धा पूर्वक मनाई गई मुंशी प्रेम चंद की जयंती



🔴 *राष्ट्रवादी साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती पर विशेष*


💥 *मुंशी प्रेमचंद जी राष्ट्रवाद के महान चिंतक-पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज*


*ऋषिकेश, 31 जुलाई (अमरेश दूबे संवाददाता गोविंद कृपा ऋषिकेश) 



  परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने राष्ट्रवादी साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती पर उन्हें याद करते हुये कहा कि मुंशी प्रेमचंद जी केवल एक साहित्यकार ही नहीं थे बल्कि वे सामाजिक समस्याओं और राष्ट्रवाद के महान चिंतक भी थे। राष्ट्रवाद की भावना उनके साहित्य में स्पष्ट दिखायी देती है। वर्तमान समय में हमारे राष्ट्र और युवा शक्ति को मुंशी प्रेमचंद जी जैसे सामाजिक और राष्ट्रवादी चिंतकों की अत्यंत आवश्यकता है।

मुंशी प्रेमचन्द जी ने सेवासदन, रंगभूमि, गबन, गोदान आदि अनेक उपन्यास और कहानियों की रचना कर हिंदी साहित्य को एक नया आयाम दिया और नई ऊँचाईयों  पर पहुँचाया। उन्होंने कई कालजयी कृतियों की रचना की। मुंशी प्रेमचंद जी ने अपनी रचनाओं में ग्रामीण जीवन को बखूबी उतरा तथा अपनी रचनाओं के माध्यम से कुरीतियों एवं आडंबरों पर प्रहार करते हुये जीवन की सच्चाई का वर्णन किया। ग्रामीण जीवन का वास्तविक और यथार्थ चित्रण उनकी रचनाओं में मिलता है। ‘सद्गति’ एवं ‘सवा सेर गेहूँ’ उनकी ये दोनों रचनायें वर्तमान क्षण में जीने का संदेश देती है।

पूज्य स्वामी जी ने कहा कि मुंशी प्रेमचंद जी ने अपनी रचनाओं के माध्यम से एक ओर तो समाज की कुरीतियों पर प्रहार किया वही दूसरी ओर समाज के एक आदर्श रूप को भी दर्शाया है। समाज में व्याप्त छूआ-छूत, भेदभाव एवं ऊँच-नीच जैसी कुरीतियों को  गंभीरता से लिया और अपनी बात रखी। मुुंशी प्रेमचंद की लेखनी का प्रभाव और क्षमता ऐसी थी कि उनकी रचनाओं के पात्र, दृश्य और घटनायें जीवंत और जागृत प्रतित होते है।

पूज्य स्वामी जी ने कहा कि साहित्य समाज का दर्पण होता है तथा इससे समाज को एक नई दिशा भी मिलती है। साहित्यकार और कवियों पर एक महान उत्तरदायित्व है क्योंकि रचनाओं से समाज को प्रेरणा मिलती है। साहित्य समाज के नवनिर्माण में एक पथप्रदर्शक की भूमिका निभाता है। साहित्य वह सशक्त माध्यम है, जो समाज को व्यापक रूप से प्रभावित करता है। साहित्य समाज को संस्कारित करने के साथ-साथ जीवन मूल्यों और मूल से भी अवगत कराता है, जिससे समाज में सुधार होता है और सामाजिक विकास को भी गति मिलती है। महान साहित्यकार, राष्ट्रवादी मुंशी प्रेमचंद जी को भावभीनी श्रद्धाजंलि।

यज्ञ, हवन कर मनाया विद्यालय का स्थापना दिवस

 !!विद्यालय स्थापना दिवस पर हवन यज्ञ!!

 

 रूडकी 31 जुलाई (कमल किशोर डुकलान संवाददाता गोविंद कृपा रूडकी) 



 वासुदेव लाल मैथिल सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज ब्रह्मपुर, रुड़की (हरिद्वार) के १८वें स्थापना दिवस एवं वैश्विक महामारी से मुक्ति हेतु विश्व कल्याण के संकल्प के साथ विद्यालय में हवन यज्ञ आयोजित किया गया।

विद्यालय स्थापना दिवस के अवसर पर वैश्विक महामारी के पूर्ण नियमों का पालन करते हुए सामाजिक दूरी एवं मास्क के साथ विद्यालय प्रांगण के मुक्तांगन में पारंपरिक हवन अनुष्ठान विद्यालय की नव मनोनित प्रबन्ध समिति के वरिष्ठ सदस्य एवं भाजपा वरिष्ठ सदस्य माननीय श्रीमान अजय सैनी द्वारा किया गया।

यज्ञ अनुष्ठान के उपरांत प्रबन्ध समिति के माननीय श्री अजय सैनी जी ने कहां कि विद्यालय स्थापना दिवस पर स्वर्गीय श्री वासुदेव लाल मैथिल जी का भावपूर्ण स्मरण करते हुए कहा कि पिछले वर्ष से भी अधिक समय से पूरा विद्यालय परिवार कोरोना काल में सामाजिक प्रतिबंधों में है, विद्यालय की सभी शैक्षिक गतिविधियां आभासी (अॉनलाइन) से संचालित हो रही है।जिस कारण विद्यालय का स्थापना दिवस जिस स्वरुप में मनाया जाना चाहिए था उस स्वरुप में मनाया जाना सम्भव नहीं है। 

पिछले वर्ष से विद्यालय स्थापना दिवस पर स्व.श्री वासुदेव लाल मैथिल के सुपुत्र श्री जी.के.मैथिल जी की दीर्घायु एवं सुखद भविष्य तथा वैश्विक महामारी से मुक्ति हेतु विश्व कल्याण के संकल्प के लिए विद्यालय में हवन यज्ञ का कार्यक्रम किया जा रहा है।

कार्यक्रम के अवसर पर श्री अरविन्द जी,श्री धर्मवीर जी,श्री कमल किशोर डुकलान,श्री वीरपाल सिंह यादव,श्री जगदीश भट्ट एवं विद्यालय का आचार्य परिवार मौजूद था।



ऋषि कुल वैकसीनेसन सेंटर ने एक ही दिन में 1465 टीके लगाकर बनाया रिकॉर्ड

*कोविड -19 वैक्सीनेशन सेन्टरस पर सभी आयु वर्ग के एक ही दिन में 1465 लाभार्थियों को वैक्सीन डोज लगाई लगी, जिसके लिये अपर जिलाधिकारी ने देर रात्रि सेन्टर निरीक्षण उपरान्त रेडक्रास सचिव डा0 नरेश  चौधरी   एवं उनकी टीम का मनोबल बढ़ाकर हौंसला अफजाई की।*

हरिद्वार 31 जुलाई (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 



 जिलाधिकारी सी0रविशंकर के निर्देशन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एस0के0झा0 के मुख्य संयोजन एवं वैक्सीनेशन सेंटर के नोडल अधिकारी/रेडक्रॉस सचिव डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में जनपद हरिद्वार में कोविड-19 वैक्सीन लाभार्थियों को वैक्सीन लगाने का विशेष अभियान जोर शोर से चल रहा है । ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में कोविड-19 वैक्सीन सेंटर पर 18 से 44 एवं 45 से अधिक आयु वर्ग के लाभार्थियों को रोजाना वैक्सीन की प्रथम एवं द्वितीय डोज लगवा कर कोविड-19 महामारी से सुरक्षित किया जा रहा है और सभी लाभार्थी वैक्सीनेशन सेंटर पर उत्कृष्ट व्यवस्थाओं के लिये रेडक्रॉस सचिव डा0 नरेश चौधरी की विशेष सराहना करते हुए जनमानस को जागरूक कर रहे हैं कि कोविड-19 की वैश्विक महामारी सेे बचाव के लिये शीघ्र अति शीघ्र कोविड-19 वैक्सीन जरूर लगवाएं। ऋषिकुल सेन्टर पर सभी आयु वर्ग के लाभार्थियों को सेंटर पर ही बिना लाइन पर लगे हुए, पंजीकरण एवं प्रमाणित करने के उपरान्त  कोविड-19 वैक्सीन की प्रथम एवं द्वितीय डोज रोजाना लगाई जा रही है, जिससे सभी आयु वर्ग के लाभार्थियों में ऋषिकुल वैक्सीन सेन्टर पर वैक्सीन लगवाने के लिये विशेष उत्साह रहता है और उत्कृष्ठ व्यवस्था के लिए सभी लाभार्थी रेड क्रास स्वयंसेवकों की दिल से प्रशंसा करते हुए नहीं थकते हैं। ऋषिकुल सेंटर पर डा0 नरेश  चौधरी   के नेतृत्व में गत दिवस 1465 लाभार्थियों को कोविड-19 वैक्सीन की प्रथम एवं द्वितीय डोज एक ही वैक्सीन सेन्टर पर एक ही दिन में लगाने का जनपद हरिद्वार में अपने ही पूर्व के रिकार्ड को पार किया। अपर जिलाधिकारी कृष्ण कुमार मिश्रा ने वैक्सीनेशन सेन्टर पर समर्पित सहयोग करने वाले स्वयंसेवकों की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि जो पुण्य प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से इस प्रकार की सामाजिक सेवा में मिलता है उसकी तुलना किसी अन्य कार्यों से नही की जा सकती जिसके लिये डा0 नरेश चौधरी की पूरी टीम बधाई की पात्र है। कृष्ण कुमार मिश्रा ने देर रात्रि ऋषिकुल वैक्सीनेशन सेंटर का आकस्मिक निरीक्षण करते हुए कहा कि सम्पूर्ण प्रदेश में ऋषिकुल वैक्सीनेशन सेन्टर एकमात्र ऐसा सेन्टर है जिस पर उपस्थित अन्तिम लाभार्थी को भी वैक्सीन डोज लगाकर भेजा जाता है यदि सेन्टर पर वैकसीन की उपलब्धता है तो रात्रि के समय को नजरअंदाज करते हुए रेड क्रास की टीम किसी भी  लाभार्थी को निराश नहीं करती एवं उसको वैक्सीन लगाने के उपरान्त ही खुशी खुशी घर भेजा जाता है। इसके लिये देखा गया है कि सेन्टर पर उपस्थित स्वयं सेवक जिस समर्पित भावना से वैक्सीन लगाने के माध्यम से समाज की सेवा कर रहे हैं वह अतुल्य है । कृष्ण कुमार मिश्रा ने अवगत कराया कि मेरे संज्ञान में आया कि ऋषिकुल सेन्टर पर वैक्सीनेसन कार्य देर रात्रि भी चल रहा है तो मैंने स्वयं सेन्टर पहुंचकर देखा कि लाभार्थियों की देर रात्रि भी काफी संख्या है और रेड क्रॉस वैक्सीन टीम लगातार लाभार्थियों को वैक्सीन लगाने में जुटी हुई है जिसके लिये मैंने डा0 नरेश चौधरी एवं उनकी टीम की पीठ थपथपाकर हौसला अफजाई करते हुए मनोबल बढाया। ऋषिकुल वैक्सीन सेन्टर पर वरिष्ठ नागरिकों को, दिव्यांगों, चलने फिरने में असमर्थ लाभार्थियों, बच्चों के साथ आई हुई महिला लाभार्थियों को  विशेष रूप से अलग कक्षो में पंजीकरण एवं सत्यापन के उपरान्त वैक्सीन की डोज लगाई जा रही है जिससे लाभार्थियों में विशेष खुशी देखी जा सकती है और सभी लाभार्थी प्रसन्न होकर ऋषिकुल सेन्टर की व्यवस्थाओं की जगह जगह प्रशंसा कर रहे हैं जिससे प्रत्येक लाभार्थी में ऋषिकुल सेन्टर में वैक्सीन लगवाने के लिये उत्सुक्ता रहती है। इसी का परिणाम है कि गत दिवस ऋषिकुल सेन्टर को 1000 लाभार्थियों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य दिया गया था लेकिन लाभार्थियों के उत्साह को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग से अतिरिक्त वैक्सीन डोज प्राप्त कर कुल 1465 (चौदह सौ पैंसठ) लाभार्थियों को  वैक्सीन की डोज लगवाई गई। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से डा0 नलिंद असवाल, डा0 अमन, डा0 तरूण मिश्रा एवं डा0 सुबोध जोशी ने वैक्सीनेशन सेंटर का भ्रमण किया और वैक्सीन सेन्टर पर सहयोग कर रहे रेड क्रास स्वयं सेवकों के सहयोग एवं उत्कृष्ट व्यवस्थाओं के लिये रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी की विशेष सराहना की। वैक्सीन सेन्टर पर सहयोग करने वाले स्वयं सेवकों में विकास देसवाल, डा0 उर्मिला पाण्डेय, पूनम, डा0 प्रियंका, डा0 वान्या गुप्ता, डा0 अदिति, आस्था मिश्रा, नेहा तिवारी, मनीषा नेगी, गुलनाज परवीन, नीलम कार्की , शशांक प्रताप, दीप चन्द्र भट्ट, शिवानी छपरवाल, आराधना सिंह, निलाजंना सिंह, अनिरूद्ध नामदेव, मेघा कोरी, प्रतीक्षा रावत, श्वेता, दीपक मंडल, शायमा परवीन, दिपांशा, सतेन्द्र सिंह नेगी, संतोष कुमार, अंकित कुमार की सराहनीय भूमिका रही ।

नैनीताल बैक ने मनाया शताब्दी समारोह

 ग्राहकों के साथ बेहतर व्यवहार व त्वरित बैंकिंग सेवा ही बैंक की असली पहचान : अनिरूद्ध भाटी

दि नैनीताल बैंक लिमिटेड के 100वें स्थापना दिवस पर चेतन ज्योति आश्रम स्थित शाखा में हुआ समारोह का आयोजन

हरिद्वार, 31 जुलाई। दि नैनीताल बैंक लिमिटेड के 100वें स्थापना दिवस के अवसर पर चेतन ज्योति आश्रम स्थित बैंक शाखा में सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए सूक्ष्म रूप में शताब्दी समारोह का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर समारोह को सम्बोधित करते हुए भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि ग्राहकों के साथ बेहतर व्यवहार व त्वरित बैंकिंग सेवा ही बैंक की असली पहचान होती है। नैनीताल बैंक लि0 देश का एकमात्र ऐसा बैंक है जिसकी स्थापना उत्तराखण्ड के नैनीताल जनपद में हुई थी। आज देश के पंाच राज्यों में नैनीताल बैंक की 162 शाखाएं कार्यरत हैं जिससे साबित होता है कि नैनीताल बैंक लि0 ने ग्राहकों के साथ अपना बेहतर रिश्ता स्थापित करते हुए उन्हें अपनी आधुनिक बैंकिंग सेवा से संतुष्ट किया है।  

उन्होंने कहा कि नैनीताल बैंक लि0 के सभी अधिकारी व कर्मचारी पूर्ण निष्ठा व लगन से भारत रत्न पं. गोंविद बल्लभ पंत के सपनों को साकार करने में जुटे हैं।

इस अवसर पर शाखा प्रबंधक दलवीर सिंह बिष्ट ने कहा कि नैनीताल बैंक लि0 की स्थापना आजादी से पूर्व 31 जुलाई 1922 को भारत रत्न पं. गोंविद बल्लभ पंत जी ने की थी। बैंक की स्थापना का मुख्य उद्देश्य सुदूर पर्वतीय क्षेत्रों तक आम जनमानस को बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराना था। उसी परम्परा को आगे बढ़ाते हुए नैनीताल बैंक लि0 निरन्तर उन्नति की ओर अग्रसर है। आज बैंक लगभग 11 हजार करोड़ का व्यापार कर रहा है।  

शिक्षाविद् हरीश भदूला ने कहा कि नैनीताल बैंक लि0 के कर्मचारी व अधिकारियों का व्यवहार प्रत्येक उपभोक्ता के साथ सराहनीय रहता है। साथ ही बेहतर बैंकिंग सेवा से नैनीताल बैंक लि0 ने उत्तराखण्ड ही नहीं अपितु अपनी देशव्यापी पहचान स्थापित की है। 

बैंक कर्मी गौरव छाबड़ा, शिवानी रावत, सुखदेव, राजकुमार ने आये हुए गणमान्यजनों व खाताधारकों का स्वागत किया। इस अवसर पर पार्षद विनित जौली, अनिल वशिष्ठ, व्यापार मण्डल के शहर कोषाध्यक्ष अमित गुप्ता, मां गंगा भागीरथी व्यापार मण्डल के अध्यक्ष सूर्यकान्त शर्मा, हरीश भदूला, पार्थ सारथी, सुबोध पाल, दिव्यम यादव, संदीप रस्तौगी, राजेन्द्र प्रसाद, राजू, आरती रस्तौगी, रीमा रस्तौगी, सुबोध पाल, अनिल जोशी, संदीप गोस्वामी, अनुपम त्यागी, विशाल गुप्ता, दिनेश शर्मा समेत अनेक गणमान्यजन व खाताधारक उपस्थित रहे।


धाद साहित्यक संस्था ने पौधे रोपित कर कवि और चित्रकार साथियों की समृतियो को बनाया चिर स्थायी



'हरी ज़मीन पे तू ने इमारतें बो दीं'

शायर हरजीत और चित्रकार अवधेश की याद में धाद ने पौधे रोपे

देहरादून 31 जुलाई (जे के रस्तौगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून) 



  सामाजिक और सांस्कृतिक संस्था धाद की ओर से हरेला घी संग्रांद पर्व के उपलक्ष्य में चल रहे अभियान के तहत मालदेवता स्थित स्मृति वन में देहरादून के प्रसिद्ध शायर हरजीत सिंह और अंतरराष्ट्रीय स्तर के कलाकार और कवि अवधेश कुमार की याद में गुलमोहर और अमलताश का पौधा रोपा गया। इस मौके पर दोनों साहित्यकारों की यादों को भी ताजा किया गया।

   प्रसिद्ध कवि राजेश सकलानी ने दोनों साहित्यकारों को नमन करते हुए कहा कि दून के साहित्यिक क्षेत्र में उनका अहम योगदान रहा। कोई भी साहित्यिक कार्यक्रम हरजीत या अवधेश के बिना आधूरा रहता था। शायर प्रेम साहिल ने हरजीत के आखिरी दिनों की याद ताजा करते हुए उन्हें पर्यावरण के लिए समर्पित बताया। हरजीत का एक शेर 'हरी ज़मीन पे तू ने इमारतें बो दीं। मिलेगी ताज़ा हवा तुझ को पत्थरों में कहाँ।।' तो आज दून की वादियों में फैल रहे प्रदूषण और चारों तरफ उग रहे कंक्रीट के जंगल को लेकर उकी फिक्र को बयान करता है। साहित्यकार शशिभूषण बडोनी ने भी हरजीत की ग़ज़लों को सामयिक दृष्टि से महत्वपूर्ण बताया। धाद के केंद्रीय अध्यक्ष लोकेश नवानी ने अवधेश कुमार की याद को ताजा करते हुए कहा कि तमाम बड़ी पत्रिकाओं के लिए वह कोलाज बनाते थे। बंगाली स्वीट शाप और कुमार स्वीट शाप के मालिक तो अवधेश से अपने मिठाई के डिब्बे तक डिजाइन कराते थे। इस मौके पर साहित्यकार कल्पना बहुगुणा, मंजू काला और धाद के केंद्रीय महासचिव तन्मय ममगाईं ने भी विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन दर्द गढ़वाली ने किया।

कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद का भगवान पुर में हुआ जोरदार स्वागत



 *कार्यालय नगर पंचायत भगवानपुर पहुंचने पर कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद जी का पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने किया भव्य स्वागत, सरकार की योजनाओं का धरातल पर मिल रहा है लोगों को लाभ*: 


*भगवानपुर 30 जुलाई (कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवान पुर)  भगवानपुर नगर पंचायत कार्यालय में पहुंचे  कैबिनेट मंत्री  स्वामी यतीश्वरानंद का पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार एवं अध्यक्ष प्रतिनिधि सुबोध राकेश ने जोरदार स्वागत किया। इस दौरान कैबिनेट मंत्री स्वामी यीतस्वानन्द को चोली प्लांट में धरना दे रहे ग्रामीणों के विषय में मंत्री जी ने भगवानपुर एसडीएम को नगर पंचायत कार्यालय में बुलाकर सख्त आदेश किए कि जब तक कोर्ट के आदेश नहीं आ जाते तब तक यथा स्थित बनाए रखें और अधिवक्ताओं ने तहसील निर्माण की बिल्डिंग बनवाने हेतु अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन दिया। पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने कैबिनेट मंत्री से कहा कि भगवानपुर क्षेत्र की समस्याओं का तत्काल से समाधान करने की कृपया करें। कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद  ने कहा कि सरकार की योजनाओं का धरातल पर लोगों को लाभ मिल रहा है सरकार हर वर्ग के लोगों के साथ खड़ी। प्रदेश सरकार करो ना संक्रमण को लेकर नगर पंचायत हो नगर निगम एवं नगर पालिकाओं को संसाधन उपलब्ध करा रही है ताकि कोरोना संक्रमण खत्म हो सके इस



अवसर पर सुशील चेयरमैन,कुलबीर चेयरमैन, सभासद अयूब अली,नीटू उर्फ मांगेराम,मोकम सिंह,इरफान ठेकेदार,भूरा पंडित,फरमान अली,आशीष धीमान,गुलबहार अली,डॉक्टर अमीर आलम,जॉनी प्रधान, निर्भय प्रधान, साजिद प्रधान,राव शाहा बाज राणा, इत्यादि लोग उपस्थित रहे

गायत्री विद्या पीठ का 98%रहा इंटर परीक्षा परिणाम


 परीक्षा परिणाम से उत्साहित है गायत्री विद्यापीठ परिवार

विद्यापीठ के अभिभावकद्वय ने दी बधाई


हरिद्वार 30 जुलाई(अमर शदाणी संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)




12वीं का (सीबीएसई) परीक्षा परिणाम से गायत्री विद्यापीठ परिवार खासे उत्साहित हैं। एक दूसरे को बधाई देने का तांता लगा रहा है। विद्यार्थी से लेकर अभिभावक व प्रधानाचार्य सभी एक दूसरे का मुंह मीठा कराया।

गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज का रिजल्ट इस बार विगत वर्ष से अधिक खुशी देने वाला रहा। विद्यापीठ के दस छात्र-छात्रा 90 प्रतिशत से अधिक अंक के साथ उत्तीर्ण हुए। पयश्विनी प्राची (कला संकाय) 98 प्रतिशत के साथ विद्यापीठ टॉपर होने का गौरव प्राप्त किया। पयश्वनी सिविल सविसेस के क्षेत्र में कैरियर बनाना चाहती हैं। हरिओम (कला संकाय) ने 95.4 प्रतिशत, साक्षी (कला संकाय) 95.2 प्रतिशत, कोशी कर्णवाल (कला संकाय) 95 प्रतिशत, आयुष जोशी (विज्ञान संकाय) 94.6 प्रतिशत, जितेन्द्र जोशी (विज्ञान संकाय) 94.6 प्रतिशत, नंदिनी रावत (विज्ञान संकाय) 94.4, अंशिता (कला संकाय) 94 प्रतिशत, श्रेयांश वशिष्ठ (कामर्स संकाय) 93.6 तथा प्रियंका यादव (कला संकाय) 92.8 प्रतिशत के साथ गायत्री विद्यापीठ के नाम को रोशन किया। 

      गायत्री विद्यापीठ के ये होनकार बच्चे इंजीनियर, सीए, न्यायिक सेवा, चिकित्सा क्षेत्र की दिशा में अपना कदम बढाया है, तो वहीं विद्यापीठ के कई विद्यार्थी आगे चलकर राष्ट्र की सुरक्षा में अपनी सेवा देना चाहते हैं।

गायत्री विद्यापीठ के अभिभावकद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं श्रद्धेया शैलदीदी ने बच्चों को अपनी शुभकामनाएँ देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की। विद्यापीठ व्यवस्था मण्डल की प्रमुख श्रीमती शेफाली पण्ड्या सहित सभी शिक्षकों ने भी बच्चों को बधाई दीं। विद्यापीठ के प्रधानाचार्य सीताराम सिन्हा ने सभी को बधाई दी।

अनन्या नामदेव को बँधाई, इंटर परीक्षा में 95%अंक किये प्राप्त

 अनन्या ने सीबीएससी इंटर परीक्षा में 95% अंक पाकर नामदेव समाज का बढाया मान

भाजपा सप्त ऋषि मंडल के उपाध्यक्ष एवं वरिष्ठ समाजसेवी गगन नामदेव की पुत्री हैं अनन्या नामदेव 

 हरिद्वार 30 जुलाई  सीबीएससी बोर्ड की इंटर परीक्षा का परिणाम घोषित हो चुका है जिसमे भाजपा सप्त ऋषि मंडल में उपाध्यक्ष एवं वरिष्ठ समाजसेवी गगन नामदेव की पुत्री अनन्या ने 95.2% अंक प्राप्त कर जहाँ अपने परिवार का मान बढया है वहीं नामदेव समाज को भी गौरवान्वित किया है। भाजपा महिला मोर्चे की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्या एवं गोविंद कृपा सेवा समिति धर्मार्थ ट्रस्ट की अध्यक्ष अनीता वर्मा नामदेव, व्यपारी नेता अशोक राणा, सविन्द्र वर्मा, मनीष वर्मा, सुनील नामदेव, पत्रकार संजय वर्मा नामदेव, एडवोकेट आकांक्षा नामदेव सहित व्यपार मंडल हरकी पौड़ी के पदाधिकारीयो ने समाजसेवी गगन नामदेव को बँधाई देते हुए अनन्या के उज्जवल भविष्य के लिए आशीर्वाद दिया है। गोविंद कृपा परिवार की ओर से अनन्या नामदेव को हार्दिक बधाई अनंत शुभ कामनाऐ।


जाहन्वी भाटी को गोविंद कृपा परिवार की ओर से बँधाई, परिवार का नाम किया रोशन

 प्रशासनिक अधिकारी बन देश की सेवा करना चाहती है जाहन्वी 

डीपीएस की छात्रा जाहन्वी भाटी ने इण्टरमीडिएट की सीबीएसई के परीक्षा परिणाम में 92 प्रतिशत अंक लाकर बढ़ाया भाटी परिवार का सम्मान

हरिद्वार, 30 जुलाई (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 


भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी की बेटी डीपीएस की छात्रा जाहन्वी भाटी ने आज इण्टरमीडिएट की सीबीएसई के परीक्षा परिणाम में 92 प्रतिशत अंक लाकर भाटी परिवार का सम्मान बढ़ाया साथ ही साबित कर दिया कि बेटियां बेटों से कम नहीं होती है।

कोरोना महामारी की विपरीत परिस्थितियों में 92 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाली जाहन्वी भाटी प्रशासनिक अधिकारी बनकर देश की सेवा करना चाहती है। उसने अपनी सफलता का श्रेय अपनी टीचर व दादी माया भाटी तथा अपनी माता सपना भाटी को दिया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, विधायक देशराज कर्णवाल, आदेश चौहान, व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष सुरेश गुलाटी, महामंत्री संजीव नैयर, शहर अध्यक्ष कमल बृजवासी, महामंत्री प्रदीप कालरा, राजीव पाराशर, कोषाध्यक्ष अमित गुप्ता, विपिन शर्मा, सूर्यकान्त शर्मा, मान्धाता गिरि, भाजपा पार्षद दल के नेता सुनील अग्रवाल गुड्डू, उपनेता राजेश शर्मा, पार्षद विनित जौली, सुनीता शर्मा, अनिल मिश्रा, अनिल वशिष्ठ, ललित सिंह रावत, सचिन अग्रवाल, नितिन माणा, शुभम मंदोला, लखनलाल चौहान दीपांशु विद्यार्थी, सुमित श्रीकुंज, सुमित चौधरी, विशाल गुप्ता, सचिन शर्मा, रूपेश शर्मा, अनिल प्रजापति, संदीप गोस्वामी, सुखेन्द्र तोमर, जनेश्वर त्यागी, मा. गंगाराम पाल, दिनेश शर्मा, गोस्वामी गगनदीप दत्त, गगन यादव, प्रदीप शर्मा, नीरज शर्मा, भारत नन्दा आदि ने जाहन्वी भाटी की इस सफलता पर अपनी शुभकामनाएं दी है।

मुख्य मंत्री महालक्ष्मी योजना से हरिद्वार जनपद में लाभान्वित हुई महिलाऐ



*लैंगिक असमानता को दूर करेगी  मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना: रेखा आर्य*

*बहादराबाद हरिद्वार में आयोजित कार्यक्रम में 100 महिलाओं को मिला योजना का लाभ*


बहादराबाद/हरिद्वार 30 जुलाई (आर एस मान संवाददाता गोविंद कृपा बहादराबाद) 



  मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना, प्रसव उपरांतमां और नवजात बच्चियों को स्वच्छ, स्वस्थ व पोषक जीवन देने के साथ  लैंगिक असमानता को दूर करने के सहायक होगी। यह बात आज महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री श्रीमति रेखा आर्य जी ने कही। 


बाल विकास परियोजना बहादराबाद प्रथम की ओर से बहादराबाद में आज मुख्यमंत्री महा महालक्ष्मी योजना कार्यक्रम आयोजित किया गया। मौके पर बीएचईएल रानीपुर विधायक श्री आदेश चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना श्री मति रेखा आर्य जी की ही देन है, जिसे मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने लागू किया। कहा कि श्री मति आर्य जी की विकास परक योजनाओ का लाभ आज प्रदेश की महिलाओं को मिल रहा है। 

महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री श्रीमति रेखा आर्य जी ने अपने संबोधन की शुरुआत मौके पर मौजूद मातृ शक्तियों को नमन कर की। उन्होंने सभी को बधाई देकर कहा कि आप ने बेटी को जन्म दिया। राज्य सरकार आपकी आभारी है। कहा कि बेटियां हमारी शान है और अभिमान भी। इन बेटियों से ही संसार संचालित होता है। बताया कि सरकार मातृ शक्तियों को बच्चे के साथ स्वच्छ और स्वस्थ रखना चाहती है, इसी क्रम में मुख्यमंत्री महा लक्ष्मी योजना की शुरुआत की गई है। बताया कि वैष्णवी किट से इसकी शुरुआत की गई थी, जो इसका मिनी रूप थी। 

उन्होंने कहा कि समाज मे बेटी के बारे में गलत धारणा है कि बेटी इज़्ज़त है और बेटों के लिए संपत्ति। कहा कि अब हमें यह धारणा बदलनी है, बेटियां हमारी इज़्ज़त भी है और उसकी संपत्ति भी । उन्होंने सरकार की बेटी पैदा होने पर 11 हज़ार की धनराशि वाली योजना का जिक्र किया और कहा कि यह सिर्फ हमारी सरकार ने किया। उन्होंने महिलाओ से अपनी बच्चियों को सुरक्षित वातावरण देने की अपील ली। इस दौरान महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री श्रीमति रेखा आर्य जी ने करीब 100 महिलाओ को मुख्यमंत्री महा लक्ष्मी योजना किट वितरित की। इस मौके पर बीएचईएल रानीपुर विधायक श्री आदेश चौहान, जिला कार्यक्रम अधिकारी देव सिंह, बाल विकास परियोजना अधिकारी श्री मति सुलेखा सहगल, ग्राम प्रधान श्री मति सुनीता राणा, सभासद श्री मति गरिमा सिंह, मंडल अध्यक्ष श्री मति शीतल पुंडीर, अध्यक्ष दुग्ध संघ हरिद्वार डॉ रणवीर सिंह, श्री मति विमला, श्री मति संतोष सैनी, श्री मति रजनी वर्मा, श्री मति मन्नू रावत, श्री मति रीना गुप्ता आदि मौजूद रहे।

महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि महाराज ने रोपित किये पौधे

 महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद

 गिरि महाराज के सानिध्य में रोपित किये गये पौधे 

माँ चण्डी देवी मंदिर के निकट अंजना माता मंदिर के प्रांगण में  रोपित किये गये फलदार एवं छायादार पौधे 

हरिद्वार 30 जुलाई  श्री निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि महाराज के सानिध्य में महंत सतीश गिरि के संयोजन में चण्डी देवी मंदिर के निकट फलदार एवं छायादार पौधे रोपित किये गये। इस अवसर पर महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि महाराज ने कहा कि आम, पीपल, आलवँला, बेल आदि के वृक्षों को रोपित करना और इनको संरक्षित करना एक धार्मिक कर्म है। उन्होंने कहा कि भारतीय ज्योतिष विद्या में नौ प्रकार के वृक्षों की पूजा होती हैं और वे नौ ग्रहो का प्रतिनिधित्व भी करते है। जिनकी पूजा अर्चना से दैहिक, भौतिक, दैविक कष्टो का शमन होता है। इस अवसर पर महंत सतीश गिरि ने पौधारोपण कार्यक्रम में पधारे संतजनो, विशिष्ट अतिथियो का स्वागत किया और आभार प्रकट किया। इस अवसर पर समाजसेवी संजय वर्मा, आलोक यादव, कृष्णा, ओमकार नेगी, कृष्ण कुमार वर्मा, नवीन शर्मा आदि उपस्थित रहें। 





राम सेतु बना अमेरिकन यूनियन पेसेफिक रेल लाइन का आधार

 फोटो 1 👉 *अमेरिका में Union Pecific रेल लाइन ग्रेट साल्ट लेक के बीचों-बीच से गुजरती हुई..* 


फोटो 2 👉 *रामसेतु*


अमेरिका में जब रेलवे ट्रैक का विस्तार हुआ तब कई रेल कंपनियों में रेलवे ट्रैक बिछाकर खूब सारी ट्रेन चला कर पैसे कमाने की होड़ मच गई लेकिन....


पूर्वी अमेरिका को पश्चिम अमेरिका को जोड़ते समय बीच में एक बेहद विशाल समुद्र जैसी झील थी जो अमेरिका की सबसे बड़ी झील है जिसका नाम द ग्रेट साल्ट लेक है।


बड़े-बड़े इंजीनियरों के सामने सबसे बड़ी चुनौती थी इस झील के आर पार रेलवे ट्रैक कैसे बिछाया जाए।


यूनियन पेसिफिक की टीम में एक इंजीनियर था जिसने रामायण पढ़ी थी और उसे श्री रामसेतु के बारे में जानकारी थी....


वह भारत आया और श्री रामसेतु का अध्ययन किया तब उसके दिमाग की घंटी बज गई और उसने यह पता लगा लिया कि यदि हम झील में एकदम सीधी रेलवे लाइन बिछाएंगे तब यह रेलवे ट्रैक लहरों से टूट सकता है...


उसने ठीक रामसेतु के डिजाइन पर अपना रेलवे ट्रैक बनाया जो पिछले 60 सालों से अमेरिका में वहीं का वहीं खड़ा है और सेवा दे रहा है।


होता ये है कि...

जहां पर पानी लहरदार होता है वहां जिग~जेग डिजाइन से ही स्टेबिलिटी मिलती है और *रामसेतू की रचना मुनिन्द्र ऋषि* की कृपा से हुयी थी जो *नल नील के पूज्य गुरूदेव* थे..!!



काव्य धारा

 ग़ज़ल 


मेरा नाम लिखकर मिटाने लगे हैं।

मुझे इस तरह भी सताने लगे हैं।।


कसम झूठ मेरी वो खाने लगे हैं।

मेरा दिल वो यूं भी दुखाने लगे हैं।।


जफा पर जफाएं जो करते रहे हैं।

मुझे याद वादे दिलाने लगे हैं।।


वही जो मुझे दे रहे थे दुआएं।

वही जख्म फिर से दुखाने लगे हैं।।


वही चोट फिर से उभरने लगी है।

मजे जीस्त के अब तो आने लगे हैं।।


दुहाई दुहाई मेरे दिल दुहाई।

मुझे 'दर्द' फिर आजमाने लगे हैं।।


दर्द गढ़वाली, देहरादून 

09455485094


अविश्वसनीय लेकिन सत्य

अजय देवगन की एक फ़िल्म आने वाली है, जिसका नाम है— 'भुज - the pride of India' इसमें संजय दत्त एक किरदार निभा रहे हैं, रणछोड़दास रबारी 'पागी' का। इनके बारे में कम लोग ही जानते हैं।


फोटो में जो वृद्ध रबारी है, वास्तव में ये एक सेना का सबसे बड़ा राजदार था। 2008 फील्ड मार्शल मानेक शॉ वेलिंगटन अस्पताल, तमिलनाडु में भर्ती थे। गम्भीर अस्वस्थता तथा अर्धमूर्छित अवस्था में वे एक नाम अक्सर लेते थे - 'पागी-पागी', डाक्टरों ने एक दिन पूछ ही लिया “Sir, who is this Paagi?”


सैम साहब ने खुद ही brief किया-


1971 का भारत युद्ध जीत चुका था, जनरल मानेक शॉ ढाका में थे। आदेश दिया कि पागी को बुलवाओ, dinner आज उसके साथ करूँगा। हेलिकॉप्टर भेजा गया। हेलिकॉप्टर पर सवार होते समय पागी की एक थैली नीचे रह गई, जिसे उठाने के लिए हेलिकॉप्टर वापस उतारा गया। अधिकारियों ने नियमानुसार हेलिकॉप्टर में रखने से पहले थैली खोलकर देखी, तो दंग रह गए। क्योंकि उसमें दो रोटी, प्याज तथा बेसन का एक पकवान (गाठिया) भर था। Dinner में एक रोटी सैम साहब ने खाई एवं दूसरी पागी ने।


उत्तर गुजरात के 'सुईगाँव ' अन्तर्राष्ट्रीय सीमा क्षेत्र की एक border post को रणछोड़दास post नाम दिया गया। यह पहली बार हुआ जब किसी आम आदमी के नाम पर सेना की कोई post और साथ ही उनकी मूर्ति भी लगाई गई।


पागी का अर्थ है- 'मार्गदर्शक', अर्थात वो व्यक्ति जो रेगिस्तान में रास्ता दिखाए। 'रणछोड़दास रबारी' को जनरल सैम मानिक शॉ इसी नाम से बुलाते थे।


रणछोड़दास गुजरात के बनासकांठा ज़िले के पाकिस्तान की सीमा से सटे गाँव पेथापुर गथड़ों के निवासी थे। वे गौ पालन का काम करते थे। उनके जीवन में बदलाव तब आया, जब उन्हें 58 वर्ष की आयु में बनासकांठा के पुलिस अधीक्षक वनराज सिंह झाला ने उन्हें पुलिस के मार्गदर्शक के रूप में रख लिया।


उनमें हुनर इतना था कि ऊँट के पैरों के निशान देखकर ही बता देते थे कि उस पर कितने आदमी सवार हैं। इंसानी पैरों के निशान देखकर वज़न से लेकर उम्र तक का अन्दाज़ा लगा लेते थे। कितनी देर पहले का निशान है तथा कितनी दूर तक गया होगा, सब एकदम सटीक आँकलन, जैसे कोई कम्प्यूटर गणना कर रहा हो।


1965 के युद्ध के आरम्भ में पाकिस्तानी सेना ने भारत के गुजरात में कच्छ सीमा स्थित विधकोट पर कब्ज़ा कर लिया। इस मुठभेड़ में लगभग 100 भारतीय सैनिक हताहत हो गये थे तथा भारतीय सेना की एक 10 हजार सैनिकों वाली टुकड़ी को तीन दिन में छारकोट पहुँचना आवश्यक था। तब आवश्यकता पड़ी थी, पहली बार रणछोडदास पागी की। रेगिस्तानी रास्तों पर अपनी पकड़ की बदौलत उन्होंने सेना को तय समय से 12 घण्टे पहले मञ्ज़िल तक पहुँचा दिया था। सेना के मार्गदर्शन के लिए उन्हें सैम साहब ने खुद चुना था तथा सेना में एक विशेष पद सृजित किया गया- 'पागी'। अर्थात- पग अथवा पैरों का जानकार।


भारतीय सीमा में छिपे 1200 पाकिस्तानी सैनिकों की location तथा अनुमानित संख्या केवल उनके पदचिह्नों से पता कर भारतीय सेना को बता दी तथा इतना ही काफ़ी था, भारतीय सेना के लिए वो मोर्चा जीतने के लिए।


1971 के युद्ध में सेना के मार्गदर्शन के साथ-साथ अग्रिम मोर्चे तक गोला-बारूद पहुँचाना भी पागी के काम का हिस्सा था। पाकिस्तान के पालीनगर शहर पर जो भारतीय तिरंगा फहराया था, उस जीत में पागी की अहम भूमिका थी। सैम साब ने स्वयं ₹300 का नक़द पुरस्कार अपनी जेब से दिया था।


पागी को तीन सम्मान भी मिले 65 व 71 के युद्ध में उनके योगदान के लिए - संग्राम पदक, पुलिस पदक व समर सेवा पदक।


27 जून, 2008 को सैम मानिक शॉ का देहांत हो गया तथा 2009 में पागी ने भी सेना से 'स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति' ले ली। तब पागी की उम्र 108 वर्ष थी। जी हाँ, आपने सही पढ़ा... 108 वर्ष की उम्र में 'स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति' एवं सन् 2013 में 112 वर्ष की आयु में पागी का निधन हो गया।

  


भोले महाराज के जन्मोत्सव पर गाँव -गाँव में राशन हो रहा हैं वितरित

 म0म0 स्वामी ललितानंद गिरि महाराज ने ग्रामीणो को 

वितरित किया राशन 


भोले जी महाराज के जन्मदिन

पर म0म0 स्वामी ललितानंद गिरि महाराज के सानिध्य में ग्रामीणो को वितरित किया जा रहा है राशन 

हरिद्वार /लाल तपड 30 जुलाई (अमरेश दूबे संवाददाता गोविंद कृपा) 





   हंस फाउंडेशन के संस्थापक देश की प्रसिद्ध आध्यात्मिक विभूत भोले जी महाराज के जन्मदिन पर जँहा हंस फाउंडेशन की संचालिका /अध्यक्ष  मंगला माता जी ने उत्तराखंड को तीस एम्बुलेंस दान करी वही निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि महाराज के सानिध्य में लाल तपड, रायवाला, छिदरवाला के ग्रामीण क्षेत्रों में जरूरतमंदो को राशन वितरित किया जा रहा है। माजरी गाँव के प्रधान अनिल पाल के आग्रह पर महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि महाराज ने ग्रामीणो को राशन वितरित किया। इस अवसर पर भारत माता मंदिर समन्वय सेवा ट्रस्ट के सचिव आई डी शास्त्री, की गरिमापूर्ण उपस्थित रही। आलोक यादव, ओमकार नेगी, नवीन शर्मा एवं भारत सदन के कर्मचारियों ने राशन वितरित करने में सहयोग प्रदान किया। हंस फाउंडेशन के विशेष सहयोगी  और मार्गदर्शक महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि महाराज ने बताया कि यह अभियान विगत एक माह से जारी है जो आगे भी चलता रहेगा।

उत्तराखंड परिवहन निगम का अमानवीय कार्य

 उत्तराखंड की बसे वरिष्ठ नागरिको से वसूल रही है किराया 

भाजपा ओबीसी मोर्चे के प्रदेश मंत्री ने विधायक सुरेश राठौर से की शिकायत 

ज्वालापुर /बिहारी गढ़  30 जुलाई  भाजपा ओबीसी मोर्चे के प्रदेश मंत्री राम पाल सिंह राठौर ने   ज्वालापुर विधान सभा के अन्तर्गत आने वाले बुगावाला, खेडी शिको पुर ,तेलीपुरा,बंजोर वाला, अलावल पुर के वरिष्ठ नागरिको से उत्तराखंड परिवहन निगम की बसो में किराया लेने की शिकायत विधायक सुरेश राठौर से करते हुए। इस समस्या का समाधान करने का आग्रह किया।  बताते चले कि ज्वालापुर विधान सभा की सीमा उत्तर प्रदेश के बिहारी गढ़, छुटमल पुर क्षेत्र से लगी हुई है। ज्वालापुर विधान सभा के बुगावाला, खेडी शिकोपुर, तेलीपुरा, अलावल पुर आदि गांवों के वरिष्ठ नागरिक जब छुटमल पुर, बिहारी गढ़ से जब उत्तराखंड की बसो में सवार होते हैं तब बस कंडक्टर नियमों को ताक पर रख कर वरिष्ठ नागरिको से किराया वसूल करते हैं। इस शिकायत को लेकर भाजपा ओबीसी मोर्चे के प्रदेश मंत्री राम पाल सिंह राठौर ने ज्वालापुर विधान सभा के विधायक सुरेश राठौर को शिकायती पत्र सौंप कर कार्यवाही करने का आग्रह किया। अपने कार्यालय पहुँचे भाजपा के पदाधिकारीयो की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए विधायक सुरेश राठौर ने निदेशक उत्तराखंड परिवहन निगम को कार्यवाही करने हेतु पत्र लिखा और भाजपा कार्यकर्ताओं को शीघ्र समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। इस अवसर पर भाजपा ओबीसी मोर्चे के जिला महामंत्री डा0 प्रदीप कुमार सहित भाजपा ओबीसी मोर्चे के पदाधिकारी उपस्थित रहे।


भाजपा लक्सर की मंडल कार्य समिति हुई सम्पन्न

लक्सर 29 जुलाई (पवन आर्य संवाददाता गोविंद कृपा लक्सर) 




लक्सर विधानसभा के भाजपा लक्सर नगर मंडल की कार्यसमिति एच आर पब्लिक स्कूल में संपन्न हुई कार्यसमिति का प्रारंभ आए हुए अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया जिसके बाद सभी पदाधिकारियों द्वारा वंदे मातरम का गायन किया गया फिर आए हुए सभी पदाधिकारियों का फूल माला एवं पटका पहनाकर स्वागत किया गया जिसके बाद मंडल अध्यक्ष बिशनपाल कश्यप ने अपना अध्यक्षीय उद्बोधन किया जिसमें उन्होंने कार्यकर्ताओं को आने वाले आगामी चुनाव में पूरे मन से जुट जाने का आवाहन कर आभार प्रकट किया तत्पश्चात मंडल प्रभारी लव शर्मा ने कार्यसमिति में आए सभी अपेक्षित कार्यकर्ताओं का व्रत निवेदन लिया तथा आगामी कार्यक्रमों की जानकारी सभी कार्यकर्ताओं को दी क्षेत्रीय विधायक संजय गुप्ता ने मुख्य वक्ता के रूप में आए हुए भाजपा जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान का स्वागत कर कार्यकर्ताओं को चुनाव की दृष्टि से आगामी कार्यक्रमों में जुट जाने का आवाहन किया उन्होंने कार्यसमिति में  सभी पदाधिकारियों का अभिवादन किया तथा उन्होंने कहा कि हमारे बूथ का कार्यकर्ता ही सही मायने में हमारी पार्टी की रीढ़ है हम अपने कार्यकर्ताओं के साथ दिन-रात जनता की सेवा में जुटे हैं उन्होंने मंडल के पदाधिकारियों को राज्य एवं केंद्र सरकार की योजनाओं को जन जन तक पहुंचाने का आह्वान किया उन्होंने कहा कि प्रदेश की धामी सरकार जन आकांक्षाओं के अनुरूप दिन-रात जनहित के कार्य कर रही है मुख्य वक्ता के रूप में भाजपा जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने मंडल के सभी पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जहां केंद्र सरकार और प्रदेश में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में राज्य सरकार कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए सफलता के साथ कार्य कर रही हैं वहीं दूसरी ओर भाजपा संगठन सेवा ही संगठन के माध्यम से जन-जन की सेवा करने में जुटा है माननीय प्रधानमंत्री  ने जनता को कोरोनावायरस से बचाने के लिए देश के अंदर जिस प्रकार से व्यवस्था है कि जरूरी उपकरणों का युद्ध स्तर पर निर्माण कराया अस्पतालों में सभी आवश्यकताएं पूरी की गई इसी के साथ विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान को शुरू करने के साथ देश में ही  वैक्सीन के निर्माण का कार्य भी संपन्न कराया वह इतिहास में हमेशा याद किया जाएगा महामारी के दौरान अन्य पार्टियों के कार्यकर्ता जमीनी स्तर पर जनता के बीच कहीं दिखाई नहीं दिए इसके उलट भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता विषम परिस्थितियों में भी सेवा के लगातार कार्य करता रहा भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता ने अपने जीवन की भी परवाह नहीं की सेवा ही संगठन के माध्यम से राशन या भोजन दवाओं की व्यवस्था हो या ऑक्सीजन की उपलब्धता कराना ,चिकित्सालय में भर्ती कराना लगातार करते रहे मोदी जी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मुफ्त टीकाकरण के साथ देश के 80 करोड़ जरूरतमंदों के लिए मुफ्त राशन की व्यवस्था की है और किसानों को आर्थिक सहायता पहुंचाने का काम किया है यह कार्य समिति उनकी भूरी भूरी प्रशंसा करती है मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा कोरोना जंग को बहुत कुशलता से लड़ने के साथ प्रदेश के विकास के लिए भी पूरी सक्रियता से कार्य किया जा रहा है इस दौरान मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना लागू की गई है महालक्ष्मी किट योजना के अंतर्गत नवजात कन्या व उसकी मां के पोषण के लिए आवश्यक सामग्री प्रदान की जा रही है कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों की देखरेख पालन पोषण हेतु वात्सल्य योजना प्रारंभ की गई है वहीं मुख्य विपक्षी दल की भूमिका बहुत नकारात्मक और कोरोना की लड़ाई तथा विकास कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाली रही है कांग्रेस के नेताओं ने टूलकिट बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करने की बड़ी साजिश कर दुष्प्रचार किया वह स्वयं में बहुत शर्मनाक है करोना पर नियंत्रण करने में इस काल में जनता की सेवा करने के अपने दायित्व को निभाने के साथ-साथ संगठन को भी और मजबूत करने की ओर ध्यान देना है संगठन को बूथ स्तर और पन्ना प्रमुख तक सुव्यवस्थित व्यवस्था बनाने में कोई कसर नहीं छोड़नी है यह कार्यसमिति समस्त कार्यकर्ताओं से अपील करती है कि आगामी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए संगठन के कार्य को भी संपादित करते रहें जिससे अगले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी शानदार बहुमत के साथ विजय प्राप्त कर सके कार्यक्रम में मुख्य रूप से जितेंद्र चौधरी ,निपेंद्र चौधरी, राजेश गुप्ता, मोहित वर्मा, प्रमोद चौधरी, मांगेराम बावरा ,राजवीर सिंह कश्यप ,पंकज कश्यप, कुंवर पाल सिंह ,मनोज गोयल, प्रशांत पाराशर, अमित धीमान ,रूपराम उपाध्याय ,कविता बाल्मीकि, मुकुल गगोलियां, वेदपाल, लाल बहादुर, रामकुमार वर्मा ,रवि देओल ,रवीश चौधरी ,राजेंद्र कुमार ,पृथ्वी सिंह राणा, अनीता राजपूत ,एडवोकेट सुक्रमपाल, सविता पवार ,लेखराज सिंह, ममता गौतम, कुलदीप कुमार, विकास चौधरी ,निखिल अग्रवाल, राहुल अग्रवाल आदि पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

वार्ड 3और 10 मे हैरिटेज पोल और बैंच लगवाए एच आर डी ए

 संत-यात्री बाहुल्य क्षेत्र में लगवाये जाये हैरिटेज पोल : अनिरूद्ध भाटी

भाजपा पार्षदों ने एचआरडीए सचिव को वार्ड नं. 3 व 10 में हैरिटेज पोल व बैंच लगवाने हेतु सौंपा ज्ञापन 

हरिद्वार, 29 जुलाई। पौराणिक तीर्थनगरी हरिद्वार में एचआरडीए द्वारा हैरिटेज पोल लगवाना प्रारम्भ करने के पश्चात संत-आश्रम, तीर्थयात्री बाहुल्य क्षेत्रों में हैरिटेज पोल लगवाने की मांग जोर पकड़ने लगी है। हैरिटेज पोल जिनकी बनावट आकर्षक है और प्राचीन स्थापत्य कला के प्रतीक के रूप में लोगों को आर्कषित करती है ऐसे हैरिटेज पोलों को वार्ड नं. 3 व 10 में लगवाने की मांग को लेकर भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी एवं वार्ड नं. 10 के पार्षद विनित जौली ने एचआरडीए सचिव ललित नारायण मिश्र से भंेट कर उन्हें ज्ञापन सौंपा।

वार्ड नं. 3 के पार्षद अनिरूद्ध भाटी ने ललित नारायण मिश्र से आग्रह करते हुए कहा कि उत्तरी हरिद्वार स्थित वार्ड नं. 3 तीर्थयात्री, आश्रम एवं संत बाहुल्य क्षेत्र है। सूखी नदी से प्रारम्भ होकर दूधाधारी चौक तक तथा वहां से पुराना आरटीओ चौक, पावन धाम मार्ग, वेद निकेतन मार्ग से होते हुए सूखी नदी पर ही समाप्त होता है। वार्ड नं. 3 में सैकड़ों आश्रम, धर्मशालाएं व दर्जन घाट स्थित हैं। वर्तमान में हरिद्वार रूड़की विकास प्राधिकरण द्वारा शहर में हैरिटेज पोल लगवाये जा रहे हैं, जिससे जहां रात्रि में रोशनी प्राप्त होती है साथ ही क्षेत्र की खूबसूरती भी बढ़ेगी। 

साथ ही वार्ड नं. 10 के पार्षद विनित जौली ने कहा कि वार्ड नं. 10 तीर्थयात्री बाहुल्य वाला क्षेत्र है। बिल्वकेश्वर महादेव मंदिर, माया देवी मंदिर, जूना अखाड़ा, अग्नि अखाड़ा, मंसा देवी मंदिर, जिला व मेला चिकित्सालय तथा कोतवाली नगर वार्ड मंे स्थित है जिसके चलते यहां स्थानीय निवासियों व तीर्थयात्रियों का आवागमन बना रहता है। उनकी सुविधा के लिए उपरोक्त क्षेत्रों में यात्रियों के बैठने के लिए बैंच भी लगवायी जाये और पूरे क्षेत्र को हैरिटेज पोल से सुसज्जित किया जाये। 

इस अवसर पर एचआरडीए सचिव ललित नारायण मिश्र ने आश्वासन देते हुए कहा कि उपरोक्त जनहित के मामलों पर तुरंत कार्रवाई की जायेगी। इस मौके पर पार्षद प्रतिनिधि विदित शर्मा भी उपस्थित रहे।


पार्षद विनीत जौली बने प्रदेश महामंत्री

 पार्षद विनित जौली बने ऑल इण्डिया दलित एक्शन कमेटी के प्रदेश महामंत्री 

हरिद्वार, 29 जुलाई (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 


  देश में दलित समाज के हितों की रक्षा एवं उत्थान के लिए दलित समाज की प्रतिनिधि संस्था ऑल इण्डिया दलित एक्शन कमेटी ने अपनी उत्तराखण्ड टीम की घोषणा करते हुए हरिद्वार नगर निगम के पार्षद विनित जौली को प्रदेश महामंत्री मनोनीत किया।

पार्षद विनित जौली ने ऑल इण्डिया दलित एक्शन कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. चीना रामू, प्रदेश अध्यक्ष मेहर चन्द के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि संगठन ने मेरे प्रति जो विश्वास प्रकट करते हुए महामंत्री पद पर मनोनयन किया है उसके लिए मैं हृदय से आभार प्रकट करता हूं तथा संगठन को विश्वास दिलाता हूं कि मैं संगठन के प्रति निष्ठाभावना के साथ कार्य करते हुए दलित समाज के उत्थान व हितों की रक्षा के लिए पूर्ण मनोयोग के साथ प्रत्यनशील रहूंगा। समूचे उत्तराखण्ड में दलित समाज को एकजुट कर दलित समाज के उत्थान के लिए कार्य किया जायेगा।

भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी व राजेश शर्मा ने नवनियुक्त प्रदेश महामंत्री पार्षद विनित जौली को बधाई दी और हर्ष प्रकट करते हुए कहा कि विनित जौली दलित समाज के युवा नेता है जो दलित समाज के लिए निरन्तर संघर्षशील रहते हैं ऐसे युवा नेता को उत्तराखण्ड प्रदेश का महामंत्री नियुक्त कर राष्ट्रीय नेतृत्व ने प्रशंसनीय कार्य किया है। विनित जौली की कर्मठ कार्यशैली से उत्तराखण्ड में दलित समाज को ताकत मिलेगी। 

पार्षद विकास कुमार, नेपाल सिंह, राजेन्द्र कटारिया ने भी विनित जौली के मनोनयन पर हर्ष प्रकट करते हुए कहा कि समाज के युवा नेतृत्व से ही समाज को सार्थक दिशा मिलेगी। भाजपा पार्षद दल के नेता सुनील अग्रवाल गुड्डू, पार्षद अनिल मिश्रा, ललित सिंह रावत, अनिल वशिष्ठ, लोकेश पाल, नितिन माणा, शुभम मंडोला, सचिन अग्रवाल, प्रशांत सैनी ने भी विनित जौली की नियुक्ति पर उन्हें बधाई दी है।

मीरा बाई चानू की कहानी

 *जब राष्ट्रपति ने खाया एक गरीब भारतीय लड़की का झूठा चावल*

मीराबाई चानू की कहानी है यह। 

उस समय उसकी उम्र 10 साल थी। इम्फाल से 200 किमी दूर नोंगपोक काकचिंग गांव में गरीब परिवार में जन्मी और छह भाई बहनों में सबसे छोटी मीराबाई चानू अपने से चार साल बड़े भाई सैखोम सांतोम्बा मीतेई के साथ पास की पहाड़ी पर लकड़ी बीनने जाती थीं। 


एक दिन उसका भाई लकड़ी का गठ्ठर नहीं उठा पाया, लेकिन मीरा ने उसे आसानी से उठा लिया और वह उसे लगभग 2 किमी दूर अपने घर तक ले आई। 


शाम को पड़ोस के घर मीराबाई चानू टीवी देखने गई, तो वहां जंगल से उसके गठ्ठर लाने की चर्चा चल पड़ी। उसकी मां बोली, ''बेटी आज यदि हमारे पास बैल गाड़ी होती तो तूझे गठ्ठर उठाकर न लाना पड़ता।''


''बैलगाड़ी कितने रूपए की आती है माँं ?'' मीराबाई ने पूछा


''इतने पैसों की जितने हम कभी जिंदगीभर देख न पाएंगे।''


''मगर क्यों नहीं देख पाएंगे, क्या पैसा कमाया नहीं जा सकता ? कोई तो तरीका होगा बैलगाड़ी खरीदने के लिए पैसा कमाने का ?'' चानू ने पूछा तो तब गांव के एक व्यक्ति ने कहा, ''तू तो लड़कों से भी अधिक वजन उठा लेती है, यदि वजन उठाने वाली खिलाड़ी बन जाए तो एक दिन जरूर भारी—भारी वजन उठाकर खेल में सोना जीतकर उस मैडल को बेचकर बैलग़ाड़ी खरीद सकती है।''


''अच्छी बात है मैं सोना जीतकर उसे बेचकर बैलगाड़ी खरीदूंगी।'' उसमें आत्मविश्वास था। 


उसने वजन उठाने वाले खेल के बारे में जानकारी हासिल की, लेकिन उसके गांव में वेटलिफ्टिंग सेंटर नहीं था, इसलिए उसने रोज़ ट्रेन से 60 किलोमीटर का सफर तय करने की सोची। 


शुरुआत उन्होंने इंफाल के खुमन लंपक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स से की। 


एक दिन उसकी रेल लेट हो गयी.. रात का समय हो गया। शहर में उसका कोई ठिकाना न था, कोई उसे जानता भी न था। उसने सोचा कि किसी मन्दिर में शरण ले लेगी और कल अभ्यास करके फिर अगले दिन शाम को गांव चली जाएगी। 


एक अधूरा निर्माण हुआ भवन उसने देखा जिस पर आर्य समाज मन्दिर लिखा हुआ था। वह उसमें चली गई। वहां उसे एक पुरोहित मिला, जिसे उसने बाबा कहकर पुकारा और रात को शरण मांगी। 


''बेटी मैं आपको शरण नहीं दे सकता, यह मन्दिर है और यहां एक ही कमरे पर छत है, जिसमें मैं सोता हूँ । दूसरे कमरे पर छत अभी डली नहीं, एंगल पड़ गई हैं, पत्थर की सिल्लियां आई पड़ी हैं लेकिन पैसे खत्म हो गए। तुम कहीं और शरण ले लो।''


''मैं रात में कहाँ जाउँगी बाबा,'' मीराबाई आगे बोली, ''मुझे बिन छत के कमरे में ही रहने की इजाजत दे दो।''


''अच्छी बात है, जैसी तेरी मर्जी।'' बाबा ने कहा।


वह उस कमरे में माटी एकसार करके उसके उपर ही सो गई, अभी कमरे में फर्श तो डला नहीं था। जब छत नहीं थी तो फर्श कहां से होता भला। लेकिन रात के समय बूंदाबांदी शुरू हो गई और उसकी आंख खुल गई। 


मीराबाई ने छत की ओर देखा। दीवारों पर उपर लोहे की एंगल लगी हुई थी, लेकिन सिल्लियां तो नीचे थी। आधा अधूरा जीना भी बना हुआ था। उसने नीचे से पत्थर की सिल्लिया उठाई और उपर एंगल पर जाकर रख ​दी और फिर थोड़ी ही देर में दर्जनों सिल्लियां कक्ष की दीवारों के उपर लगी एंगल पर रखते हुए कमरे को छाप दिया। 


उसके बाद वहां एक बरसाती पन्नी पड़ी थी वह सिल्लियों पर डालकर नीचे से फावड़ा और तसला उठाकर मिट्टी भर—भरकर उपर छत पर सिल्लियो पर डाल दी। इस प्रकार मीराबाई ने छत तैयार कर दी। 


बारिश तेज हो गई,और वह अपने कमरे में आ गई। अब उसे भीगने का डर न था, क्योंकि उसने उस कमरे की छत खुद ही बना डाली थी। 


अगले दिन बाबा को जब सुबह पता चला कि मीराबाई ने कमरे की छत डाल दी तो उसे आश्चर्य हुआ और उसने उसे मन्दिर में हमेशा के लिए शरण दे दी, ताकि वह खेल की तैयारी वहीं रहकर कर सके, क्योंकि वहाँं से खुमन लंपक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स निकट था। 


बाबा उसके लिए खुद चावल तैयार करके खिलाते और मीराबाई ने कक्षों को गाय के गोबर और पीली माटी से लिपकर सुन्दर बना दिया था। 


समय मिलने पर बाबा उसे एक किताब थमा देते,जिसे वह पढ़कर सुनाया करती और उस किताब से उसके अन्दर धर्म के प्रति आस्था तो जागी ही साथ ही देशभक्ति भी जाग उठी।


इसके बाद मीराबाई चानू 11 साल की उम्र में अंडर-15 चैंपियन बन गई और 17 साल की उम्र में जूनियर चैंपियन का खिताब अपने नाम किया। 


लोहे की बार खरीदना परिवार के लिए भारी था। मानसिक रूप से परेशान हो उठी मीराबाई ने यह समस्या बाबा से बताई, तो बाबा बोले, ''बेटी चिंता न करो, शाम तक आओगी तो बार तैयार मिलेगा।''


वह शाम तक आई तो बाबा ने बांस की बार बनाकर तैयार कर दी, ताकि वह अभ्यास कर सके। 


बाबा ने उनकी भेंट कुंजुरानी से करवाई। उन दिनों मणिपुर की महिला वेटलिफ़्टर कुंजुरानी देवी स्टार थीं और एथेंस ओलंपिक में खेलने गई थीं। 


इसके बाद तो मीराबाई ने कुंजुरानी को अपना आदर्श मान लिया और कुंजुरानी ने बाबा के आग्रह पर इसकी हर संभव सहायता करने का बीड़ा उठाया।


जिस कुंजुरानी को देखकर मीरा के मन में विश्व चैंपियन बनने का सपना जागा था, अपनी उसी आइडल के 12 साल पुराने राष्ट्रीय रिकॉर्ड को मीरा ने 2016 में तोड़ा, वह भी 192 किलोग्राम वज़न उठाकर।


2017 में विश्व भारोत्तोलन चैम्पियनशिप, अनाहाइम, कैलीफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका में उसे भाग लेने का अवसर मिला। 


मुकाबले से पहले एक सहभोज में उसे भाग लेना पड़ा। सहभोज में अमेरिकी राष्ट्रपति मुख्य अतिथि थे। 


राष्ट्रपति ने देखा कि मीराबाई को उसके सामने ही पुराने बर्तनों में चावल परोसा गया, जबकि सब होटल के शानदार बर्तनों में शाही भोजन का लुत्फ ले रहे थे। 


राष्ट्रपति ने प्रश्न किया, ''इस खिलाड़ी को पुराने बर्तनों में चावल क्यों परोसा गया, क्या हमारा देश इतना गरीब है कि एक लड़की के लिए बर्तन कम पड़ गए, या फिर इससे भेदभाव किया जा रहा है, यह अछूत है क्या ?''


''नहीं महामहिम ऐसी बात नहीं है,'' उसे खाना परोस रहे लोगों से जवाब मिला, '' इसका नाम मीराबाई है। यह जिस भी देश में जाती है, वहाँं अपने देश भारत के चावल ले जाती है। यह विदेश में जहाँ भी होती है, भारत के ही चावल उबालकर खाती है। यहाँ भी ये चावल खुद ही अपने कमरे से उबालकर लाई है ।''


''ऐसा क्यों ?'' राष्ट्रपति ने मीराबाई की ओर देखते हुए उससे पूछा।


''महामहिम, मेरे देश का अन्न खाने के लिए देवता भी तरसते हैं, इसलिए मैं अपने ही देश का अन्न खाती हूँ।''


''ओह् बहुत देशभक्त हो तुम, जिस गांव में तुम्हारा जन्म हुआ, भारत में जाकर उस गांव के एकबार अवश्य दर्शन करूंगा।'' राष्ट्रपति बोले।


''महामहिम इसके लिए मेरे गांव में जाने की क्या जरूरत है ?''


''क्यों ?''


''मेरा मेरा गांव मेरे साथ है, मैं उसके दर्शन यहीं करा देती हूँं।''


''अच्छा कराइए दर्शन!'' कहते हुए उस मूर्ख लड़की की बात पर हंस पड़े राष्ट्रपति।


मीराबाई अपने साथ हैंडबैग लिए हुए थी,उसने उसमें से एक पोटली खोली, फिर उसे पहले खुद माथे से लगाया फिर राष्ट्रपति की ओर करते हुए बोली, ''यह रहा मेरा पावन गांव और महान देश।''


''यह क्या ह ै?'' राष्ट्रपति पोटली देखते हुए बोले, ''इसमें तो मिट्टी है ?''


''हाँ यह मेरे गांव की पावन मिट्टी है, इसमें मेरे देश के देशभक्तों का लहू मिला हुआ, सरदार भगत सिंह, रामप्रसाद बिस्मिल, चंद्रशेखर आजाद का लहू इस मिट्टी में मिला हुआ है, इसलिए यह मिट्टी नहीं, मेरा सम्पूर्ण भारत हैं...''


''ऐसी शिक्षा तुमने किस विश्वविद्यालय से पाई चानू ?''


''महामहिम ऐसी शिक्षा विश्वविद्यालय में नहीं दी जाती, विश्वविद्यालय में तो मैकाले की शिक्षा दी जाती है, ऐसी शिक्षा तो गुरु के चरणों में मिलती है, मुझे आर्य समाज में हवन करने वाले बाबा से यह शिक्षा मिली है, मैं उन्हें सत्यार्थ प्रकाश पढ़कर सुनाती थी, उसी से ​मुझे देशभक्ति की प्रेरणा मिली।''


''सत्यार्थ प्रकाश ?''

''हाँं सत्यार्थ प्रकाश,'' चानू ने अपने हैंडबैग से सत्यार्थ प्रकाश की प्रति निकाली और राष्ट्रपति को थमा दी, ''आप रख लीजिए मैं हवन करने वाले बाबा से और ले लूंगी।''


''कल गोल्डमैडल तुम्हीं जितोगी,'' राष्ट्रपति आगे बोले, ''मैंने पढ़ा है कि तुम्हारे भगवान हनुमानजी ने पहाड़ हाथों पर उठा लिया था, लेकिन कल यदि तुम्हारे मुकाबले हनुमानजी भी आ जाएं तो भी तुम ही जितोगी...तुम्हारा भगवान भी हार जाएगा, तुम्हारे सामने कल।'' 


राष्ट्रपति ने वह किताब एक अधिकारी को देते फिर आदेश दिया, ''इस किताब को अनुसंधान के लिए भेज दो कि इसमें क्या है, जिसे पढ़ने के बाद इस लड़की में इतनी देशभक्ति उबाल मारने लगी कि अपनी ही धरती के चावल लाकर हमारे सबसे बड़े होटल में उबालकर खाने लगी।''


चानू चावल खा चुकी थी, उसमें एक चावल कहीं लगा रह गया, तो राष्ट्रपति ने उसकी प्लेट से वह चावल का दाना उठाया और मुँह में डालकर उठकर चलते बने। 


''बस मुख से यही निकला, ''यकीनन कल का गोल्ड मैडल यही लड़की जितेगी, देवभूमि का अन्न खाती है यह।''


और अगले दिन मीराबाई ने स्वर्ण पदक जीत ही लिया, लेकिन किसी को इस पर आश्चर्य नहीं था, सिवाय भारत की जनता के... 


अमेरिका तो पहले ही जान चुका था कि वह जीतेगी,बीबीसी जीतने से पहले ही लीड़ खबर बना चुका था ।


जीतते ही बीबीसी पाठकों के सामने था, जबकि भारतीय मीडिया अभी तक लीड खबर आने का इंतजार कर रही थी।


इसके बाद  चानू ने 196 किग्रा, जिसमे 86 kg स्नैच में तथा 110 किग्रा क्लीन एण्ड जर्क में था, का वजन उठाकर भारत को 2018 राष्ट्रमण्डल खेलों का पहला स्वर्ण पदक दिलाया। 


इसके साथ ही उन्होंने 48 किग्रा श्रेणी का राष्ट्रमण्डल खेलों का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया।


2018 राष्ट्रमण्डल खेलों में विश्व कीर्तिमान के साथ स्वर्ण जीतने पर मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने ₹15 लाख की नकद धनराशि देने की घोषणा की। 


2018 में उन्हें भारत सरकार ने पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया। 


यह पुरस्कार मिलने पर मीराबाई ने सबसे पहले अपने घर के लिए एक बैलगाड़ी खरीदी और बाबा के मन्दिर को पक्का करने के लिए एक लाख रुपए उन्हें गुरु दक्षिणा में दिए। इस के बाद मीरा बाई चानू ने पीछे मुड कर नहीं देखा और टोकियो आलम्पिक मे देश के लिए रजत पदक जीता। 




*वेद वृक्ष की छांव तले* पुस्तक का एक अंश, साभार 


🙏🏻

ही भारतीय संस्कृति


 हमारे सनातन धर्म में निर्जीव वस्तु का भी सम्मान होता है  | 49 किलो की  मीरा बाई चानू पहले प्रणाम करती है फिर उठा लेती है 202 किलो | अपनी पुरानी सनातन परंपरा में द्रौपदी स्वयंवर में करण और अर्जुन ने,  सीता के स्वयंवर में भगवान श्रीराम ने और ऐसे अनेकों उदाहरण है जब कि हम निर्जीव वस्तुओं को भी अपनी पूजा पद्धति के द्वारा सम्मान देते हैं और फिर उन से काम लेते हैं ।। 

सनातन धर्म में दशहरे पर सभी औजारों की भी पूजा की जाती है ।। यही सनातन हिन्दू परम्परा है। 

स्वामी यतीश्वरानंद ने अपनी विधायक निधि से हरिद्वार ग्रामीण विधान सभा को दो आधुनिक एम्बुलेंस का दिया उपहार

 हरिद्वार 28 जुलाई (दिनेश कश्यप संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ग्रामीण) हरिद्वार ग्रामीण विधान सभा के विधायक एवं कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने अपनी   विधायक निधि से दो आधुनिक  एम्बुलेंस (कुल लागत 22.55 लाख लगभग) को हरी झंडी दिखाकर वेद मन्दिर आश्रम से अपने विधानसभा क्षेत्र के लिए रवाना किया। ये एम्बुलेंस लाल ढांग प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र और फेरूपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में रहेंगी तथा हरिद्वार ग्रामीण क्षेत्र में रोगियों की सेवा में चौबीस घण्टे उपलब्ध रहेंगी। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने के साथ में मुख्य चिकित्सा अधिकारी हरिद्वार डॉ० एस. के. झा, स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारीगण, व पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित रहे।आधुनिक दो  एम्बुलेंस को अपनी विधान सभा के नागरिको को समर्पित करते हुए स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि विगत दस वर्षो के कार्यकाल में हरिद्वार जनपद की सबसे पिछडी, दुर्गम विधान सभा के समग्र विकास का प्रयास किया है जिसके परिणाम स्पष्ट रूप से देखे जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि वे हरिद्वार ग्रामीण विधान सभा के नागरिको का जीवन स्तर बेहतर करने और उन्हें आधारभूत सुविधा दिलवाने के लिए संकल्पित है। इस अवसर पर भाजपाईयो ने स्वामी यतीश्वरानंद का आभार प्रकट किया। 




Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...