उत्तराखंड की बेटी आरूषी निशंक ने उत्तराखंड की सेवा में बढाया हाथ

 आरुषि निशंक द्वारा भेजी  राहत सामग्री स्पर्श गंगा टीम ने जिलाधिकारी को सौंपी 

 हरिद्वार 31 म ई (अनीता वर्मा वरिष्ठ संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  संपूर्ण भारत वर्ष की तरह ही उत्तराखंड भी कोरोना महामारी से लड़ रहा है कहीं खाद्य सामग्री की कमी है ,तो कहीं दवाइयों की, कहीं ऑक्सीजन नहीं ,तो कहीं बेड उपलब्ध नहीं है ,ऐसे कठिन समय में स्पर्श गँगा परिवार आगे बढ़कर पीड़ितों की हर संभव मदद कर रहा है। ऐसे में स्पर्श गँगा की सहसंस्थापक आरुषि निशंक ने संदीप अग्रवाल फाउंडेशन के साथ उत्तराखंड में कोविड-19 राहत अभियान शुरू किया जिसके तहत आज हरिद्वार में राहत सामग्री स्पर्श गँगा के माध्यम केबिनेट मंत्री सतपाल महाराज जी के कर कमलों द्वारा जिलाधिकारी सी रविशंकर को भेंट की गई। ज्ञात हो कि आरुषि निशंक एक अभिनेत्री ,सामाजिक कार्यकर्ता, पर्यावरणविद् ,फिल्म निर्माता ,स्पर्श गँगा की सह संस्थापक और अन्य कई अनेक प्रतिभाओं की धनी हैआरुषि पिछले 2 साल से उत्तराखंड और उसके बाहर कोविड-19 के राहत प्रयासों के लिए संचालित होने वाली योजनाओं में अग्रणी भूमिका निभा रही हैं ।इस अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में केबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, सांसद प्रतिनिधि ओम प्रकाश जमदग्नि, जिला अध्यक्ष जयपाल सिंह चौहान, स्पर्श गंगा की समन्वयक रीता चमोली, प्रभारी सरोज डिमरी  की उपस्थिति में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर ,पी पी किट ,डिजिटल थर्मामीटर ,ऑक्सीजन ,विटामिन सी टैबलेट्स में 200 से 500 मेडिकल किट भी शामिल है। सतपाल महाराज ने स्पर्श गंगा की जनसेवा कार्यो की सराहना की, ओम प्रकाश जमदग्नि ने कहा कि कुछ संसाधन  जिलाधिकारी को सीधे तौर पर भेंट किये जाएँगे कुछ अंदरूनी भागों में बांटे जाएंगे ।आरुषि निशंक और उनकी टीम ने बेहतर इलाज के लिए हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया है इससे अधिक से अधिक लोगों की मदद की जा रही है आरुषि उत्तराखंड की बेटी हैऔर भारत माता 



 की सेवा के लिए समर्पित है।आरुषि ने  कहा है कि वह आगे भी पूरा प्रयास करती रहेगी ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को सुविधाएं पहुंचाई जा सके ।कार्यक्रम में आशु चोधरी, मनु रावत, पुनीत, प्रतिभा, रेणु शर्मा, रजनी वर्मा, रीमा,गुप्ता, राजेश लखेड़ा, रजनीश सहगल, उमेश पाठक,स्पर्श गंगा की  पूरी टीम ने भाग लिया।

सुबोध राकेश ने देवी अहिल्या बाई होलकर को किया नमन



*भगवानपुर नगर पंचायत कार्यालय में लोकमाता देवी अहिल्या बाई होल्कर की 296 वी जयंती पर पुष्प अर्पित करते हुए नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश एवं कार्यकर्ता*


*भगवानपुर 31 म ई (कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवान पुर


)  भगवानपुर नगर पंचायत कार्यालय में लोकमाता देवी अहिल्याबाई होल्कर के चित्र पर पुष्प अर्पित किए गए! नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि सुबोध राकेश ने कहा कि लोकमाता देवी अहिल्याबाई होल्कर को जीवन को समझने की जरूरत है और सुबोध राकेश ने कहा कि लोकमाता देवी अहिल्याबाई होल्कर ने देश एवं संस्कृति के लिए बहुत कार्य किए उनके किए हुए कार्यों के माध्यम से उन्हें हमेशा याद किया जाएगा! इस मौके पर मंडल अध्यक्ष ओबीसी मोर्चा अनुज पाल,रंजन पाल,पवन पाल,अरविंद चेयरमैन, जॉनी प्रधान,अयूब अली,सुधीर कुमार,डॉक्टर नीटू,मामू कुमार, और समस्त कार्यकर्ता उपस्थित रहे

कोविड कंट्रोल रूम का सतपाल महाराज ने किया निरीक्षण

हरिद्वार 31 म ई  (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  जिला भाजपा कार्यालय हरिद्वार में प्रदेश नेतृत्व के निर्देशानुसार सेवा ही संगठन से संचालित हो रहे कोविड-19 कंट्रोल रूम में जिला कोविड प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज ने निरीक्षण किया इस मौके पर उपस्थित कार्यकर्ताओं से कोविड-19 कंट्रोल रूम में  सहायता के लिए आई फोन कॉल्स से समस्याओं के समाधान हेतु किस किस तरह के प्रयास किए गए एवं ऐसी समस्याएं जिनके समाधान में परेशानियां आई हो या कोई ऐसी समस्या जिसका आपके द्वारा समाधान किया गया हो जो उल्लेखनीय हो आदि आदि के संबंध में जानकारी ली साथ ही साथ उन्होंने उपस्थित कार्यकर्ताओं को आवाहन किया कि भारतीय जनता पार्टी सेवा ही संगठन के माध्यम से जरूरतमंदों के लिए रात दिन सेवा करने का काम कर रही है हम पूर्व से ही सेवा कार्यों में हमेशा ही बढ़ चढ़कर आगे रहे हैं मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने पर सेवा ही संगठन के माध्यम से देशभर में जिस तरह से रक्तदान, मास्क, सैनिटाइजर, राशन किट, भोजन का वितरण किया है उसके लिए भाजपा कार्यकर्ताओं की सराहना की संकट की घड़ी में कार्यकर्ता जनता के साथ खड़े रहकर जैसे हर संभव मदद के लिए तत्पर रहते हैं ऐसा भारतीय जनता पार्टी में ही संभव है इस दौरान उन्होंने कुछ जरूरतमंदों को आयुष रक्षा कीट एवं मास्क आदि का वितरण भी किया कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष डॉ जयपाल सिंह चौहान द्वारा की गई बैठक में जिला महामंत्री विकास तिवारी, आदेश सैनी जिला उपाध्यक्ष अनिल अरोड़ा ,संदीप गोयल, देश पाल रोड, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी सुनील सैनी, जिला कार्यालय प्रभारी लव शर्मा ,जिला मंत्री आशु चौधरी ,अनामिका शर्मा, मनोज पवार एवं युवा मोर्चा अध्यक्ष सचिन गुज्जर, किसान मोर्चा अध्यक्ष निपेंद्र चौधरी, अनुसूचित मोर्चाअध्यक्ष तेलू राम प्रधान आदि उपस्थित रहें। 



समर्पण भाव के साथ सेवाए दे रहे है रेडक्रास के स्वयंसेवक


कोविड-19 वैक्सीन की डोज 


लगवानेें के बाद वरिष्ठ नागरिक एवं 45 से अधिक वर्ष आयु वर्ग के सभी लाभार्थी विशेष उत्साहित एवं संतुष्ट होकर रेडक्रास स्वयं सेवकों की समर्पित सेवा की सराहना कर रहे हैं।

 हरिद्वार 31 म ई (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  जिलाधिकारी सी0 रविशंकर के निर्देशन , मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एस0के0झा0 के मुख्य संयोजन एवं रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में जनपद हरिद्वार के ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में कोविड-19 वैक्सीन सेन्टर पर वरिष्ट नागरिक एवं 45 वर्ष से अधिक आयु के लाभार्थियों को कोविड-19 वैक्सीन लगायी जा रही है। ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में कोविड-19 वैक्सीन सेन्टर, जिसमे वरिष्ट नागरिकों एवं 45 वर्ष से ऊपर के लाभार्थियों  को कोविड-19 वैक्सीन की प्रथम एवं द्वितीय डोस दी जा रही है। सभी कोविड-19 वैक्सीन सेन्टरस पर इण्डियन रेडक्रास के सचिव डा0 नरेश चौधरी के नेतृत्व में रेडक्रास स्वयंसेवक बढ चढकर सहयोग कर रहे हैं। 45 वर्ष से 60 वर्ष के मध्य आयु वर्ग के लाभार्थियों में कोविड-19 वैक्सीन लगवाने के लिये भी विशेष उत्सुकता दिखाई दी। कोरोना के केस बढने के कारण जन समुदाय में वैक्सीन लगाने के प्रति जागरूकता बढी है। वैक्सीन सेन्टर पर वैक्सीन लगवाने वाले लाभार्थियों ने रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी एवं वैक्सीनेशन सैन्टरस पर सहयोग करने वाले सभी रेडक्रास स्वयंसेवकों तथा स्वास्थ्य विभाग की टीम की विशेष सराहना करते हुए आभार व्यक्त किया। वैक्सीन टीम में विकास देशवाल, कमल गुजराल, प्रतिभा, डा0उर्मिला पाण्डेय, शैलजा, सलोनी, श्रीमती पूनम, सतेन्द्र नेगी, संतोष कुमार, विजयपाल ने सक्रिय सहभागिता की। वैक्सीनेसन का कार्य स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी के नेतृत्व में रेडक्रास स्वयं सेवक बढ चढकर सहयोग कर रहे हैं। ऋषिकुल महाविद्यालय कोविड-19 वैक्सीनेसन सेन्टर पर विशेषकर चलने फिरने में असमर्थ,अति वरिष्ठ नागरिकों को, उनकी गाडी में ही बैठे हुए वैक्सीन लगवाने की गई सुविधाओं की, वैक्सीन लगवाने के बाद सभी लाभार्थियों, जनसमाज, जनप्रतिनिधियों ,साधु संतो, व्यापारियों एवं पत्रकार बंधुओं द्वारा रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी एवं उनकी सम्पूर्ण टीम की विशेष सराहना की जा रही है। कुम्भ मेला अधिकारी स्वास्थय डा0 अर्जुन सिंह सेंगर एवं वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डा0 नलिन्द असवाल ने भी आज वैक्सीनेशन सेन्टर पर पहुंचकर वैक्सीनेसन सेन्टर की सम्पूर्ण व्यवस्थाओं के साथ साथ रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी और रेड क्रास स्वयंसेवकों द्वारा समर्पण भावना से कियेे जा रहे कार्योें की विशेष प्रशंसा की।

भाजपा महिला मोर्चे ने किया रक्तदान

हरिद्वार 31मई (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)      प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  के नेतृत्व में केंद्र सरकार के सात वर्ष पूर्ण होने पर सेवा ही संगठन के अंतर्गत प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक एवं प्रदेश अध्यक्ष महिला मोर्चा रितु भूषण खंडूड़ी  के आह्वान पर प्रदेश महामंत्री अन्नू कक्कड के नेतृत्व में आज हरिद्वार जिला चिकित्सालय ब्लड बैंक में स्वेछिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ प्रदेश महामंत्री राजू भंडारी एवं हरिद्वार जिलाध्यक्ष डॉ जयपाल सिंह चौहान, महामंत्री विकास तिवारी ने किया इस अवसर पर प्रदेश महामंत्री राजू भंडारी ने कहा कि अपनी जान की परवाह न करते हुए भी कोरोना महामारी की दूसरी लहर में भी महिला मोर्चा रक्तदान करने के लिए और एक-एक जान बचाने के लिए आगे बढ़कर इस मुहिम को बढ़ाने में लगी है महिलाओं के जज्बे को सलाम हैं उन्होंने रक्तदान कर रही महिलाओं को सेल्यूट करते हुए उनका धन्यवाद कर हौसला अफजाई किया और कहा की आप सभी अन्य महिलाएं भी रक्तदान कर मानव जीवन को बचाने के लिए एक प्रयास कर सकते हैं इस अवसर पर युवतियों एवं महिलाओं ने बढ़ चढ़कर रक्तदान किया शिविर में केंद्र सरकार की कोविड गाइड लाइन मास्क, सेनेटाइजर, सोशल डिस्टनसिंग का पालन किया गया कनिका चौटाला, साक्षी महेश्वरी, हिमानी गौतम, शिवानी, ममता सैनी, रिया, अनन्या आदि 57 यूनिट रक्तदान युवतियों एवं महिलाओं ने  रक्तदान किया एवं 16 यूनिट रिजर्व रखी गई प्रदेश महामंत्री अन्नू कक्कड ने रक्तदान कर रही सभी युवतियों, महिलाओं का धन्यवाद करते हुए कहा कि प्रदेश ही नही पूरा विश्व इस वैश्विक कोरोना महामारी से त्राहि माम् कर रहा है रक्तदान की कमी को पूरा करने में महिलाओं एवं युवाओं ने बढ़ चढ़कर सहयोग किया।

जैसा की सभी को ज्ञात है ये कोरोना काल चल रहा है जिस वजह से ब्लड बैंक में भी खून की कमी होती जा रही है लेकिन हम सब को मिल कर इस महामारी से लड़ना है और हम लड़ भी रहे हैं । आपकी सुरक्षा का ख्याल रखते हुए महिला मोर्चा हरिद्वार की टीम द्वारा पूरी तरह  कोविड प्रोटोकॉल का  पालन किया।उन्होंने बताया कि



ब्लड बैंक स्थित हाल में एक समय पर मात्र 3 महिलाओं को रक्तदान हेतु निश्चित समय देकर बुलाया गया हैं

प्रत्येक रक्तदाता के जाने के पश्चात बेड को पूर्णतः सेनेटाइज किया गया

ब्लड बैंक के स्टाफ को डबल मास्क व ग्लव्स उपलब्ध कराए गए।

रक्तदाताओं को डबल मास्क व ग्लव्स उपलब्ध कराये गए किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश निषेध रहा रक्तदाताओं को भी प्रांगण में रुकने नही दिया गया व प्रतीक्षा की स्थिति में प्रत्येक रक्तदाता को चौपहिया वाहन में बैठने की व्यवस्था की गई

जो भी महिलाएं रक्त दान करना चाहती थी उनका रजिस्ट्रेशन कर संपर्क किया गया जिसमे दुबारा कॉल करके एक टाइम स्लॉट दिया गया  जिससे डोनर को अधिक प्रतीक्षा नही करनी पड़ी। 

आज के रक्तदान शिविर में टोटल 57 यूनिट ब्लड डोनेशन हुआ और 16 यूनिट रिजर्व रखा गया यह यूनिट हरिद्वार ब्लड बैंक को मिली हैं 23 महिलाए बीपी, हीमोग्लोबिन आदि बढ़ने की शिकायत होने पर रक्तदान करने से वंचित रह गई जिसकी वजह से उन्हें वापिस उनके घर भेज दिया गया! ब्लड बैंक की और से महिला मोर्चा की टीम को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया इस अवसर पर महिला मोर्चा हरिद्वार की जिलाध्यक्ष रीता चमोली,संगीता गिरी, मर्दुला सिंघल, पुनम माखीजा,विना राजपूत, रंजना चतुर्वेदी, उमा चौहान, पुनम माखन, ममता सैनी, सुचिता गोयल, सरिता सिंह, पुष्पा शर्मा, मीनाक्षी मित्तल, शालिनी अग्रवाल आदि महिलाए एवं ब्लड बैंक टीम से डॉ रविन्द्र चौहान दिनेश लखेड़ा, रैना दीदी,कुलदीप, महावीर चौहान,राखी जीतमान ,रजनी चौधरी ,सतीश ठाकुर, मनोज चमोली,नरेंद्र चौहान, बेबी सिमरन एवं गगन नामदेव, वासु पाल,आदित्य झा, मधुर वासन आदि का शिविर में विशेष सहयोग रहा!

होम आइसोलेशन कोविड किट एवं आइवर मेकटीन इम्यूनिट बूस्टर दवाई का हुआ वितरण

 हरिद्वार 31 म ई (दिनेश कश्यप संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ग्रामीण) 



     बहादराबाद विकास खंड के ग्राम जमालपुर कलाँ के पंचायत घर में ग्राम विकास अधिकारी विनोद कुमार मिश्रा के निर्देशन एवं ग्राम प्रधान सुशील राज राणा के संयोजन मे  ग्राम  कोविड निगरानी समिति के सदस्यों को होम आइसोलेशन कोविड किड एवं ग्रामीणो वितरित करने के लिए आइवर मेकटीन इम्यूनिट बूस्टर दवाई दी गई। इस अवसर पर युवा कल्याण अधिकारी पूनम मिश्रा, बीएल ओ आशा प्रजापति, ए एन एम, आशा कार्यकत्री, गोविंद कृपा सेवा समिति धर्मार्थ ट्रस्ट की अध्यक्ष अनीता वर्मा, समाजसेवी संजय वर्मा आदि उपस्थित रहे और अपने क्षेत्रों में वितरित करने के लिए ग्राम विकास अधिकारी विनोद कुमार मिश्रा से होम आइसोलेशन कोविड किट एवं आइवर मेकटीन  दवाई प्राप्त की ग्राम विकास अधिकारी विनोद कुमार मिश्रा ने निगरानी समिति के सदस्यों को निर्देशित करते हुए कहा कि ग्रामीणो को करोना काल  में महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण एवं आइवर मेकटीन इम्यूनिट बूस्टर दवाई लेने के लिए जागरूक करना है और प्रत्येक  व्यक्ति को कोविड गाइड लाईन के पालन करने के लिए प्रेरित करना है। गोविंद कृपा सेवा समिति धर्मार्थ ट्रस्ट की अध्यक्ष अनीता वर्मा ने कहा कि सरकार के प्रयासों से करोना महामारी पर नियंत्रण किया जा रहा है जिसमे सहयोग करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी भी है। इस अवसर पर ग्राम विकास अधिकारी विनोद कुमार मिश्रा ने निगरानी समिति के सदस्यों को प्रतिदिन प्रगति रिपोरट देने के लिए भी निर्देशित किया।

भगवान पुर में बाँटी गई कोविड किट





*केंद्र सरकार के 7 वर्ष पूर्ण होने पर सेवा ही संगठन कार्यक्रम के तहत भगवानपुर नगर पंचायत कार्यालय में कोविड-19 होम  आईसूलेशन किट राज्यसभा सांसद नरेश बंसल एवं नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि सुबोध राकेश के द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को किट वितरित की गई*


*भगवानपुर 30 म ई (राज किशोर वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा भगवान पुर)    भगवानपुर नगर पंचायत कार्यालय में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के सात साल पूर्ण होने के अवसर पर सेवा ही संगठन -2 के तहत कोरोना किट वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यसभा सांसद नरेश बंसल एवं नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि सुबोध राकेश ने सभी नागरिकों को कोरिना किट वितरित की।

कार्यक्रम का आयोजन वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश द्वारा किया गया। कार्यक्रम में  किट नगर वासियों को वितरित की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने कहां कि इस कोरोना काल में भारतीय जनता पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता अपनी जान की चिंता किए बिना जन सेवा में लगा हुआ है।जबकि विपक्षी दल के नेता आमजन को भ्रमित कर देश के प्रधानमंत्री की छवि खराब करने में लगे हुए हैं। नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि सुबोध राकेश ने कहा कि उत्तराखंड प्रदेश भारतीय जनता पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता दिन रात जनता की सेवा में लगा हुआ है। कोरोना की दूसरी लहर में पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा आम जनता के हित में कार्य किया जा रहा है। सरकार का प्रयास है कि इस कीट का लाभ प्रत्येक घर को मिले! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल के 7 वर्ष पूर्ण होने पर उत्तराखंड प्रदेश के अंतर्गत विभिन्न गांव में ग्रामीणों के लिए कार्यकर्ताओं द्वारा शिविर लगाकर कोरोना किट वितरित की जा रही हैं।इस शुभ अवसर पर रुड़की मेयर गौरव गोयल, नरेश प्रधान,जॉनी प्रधान,प्रतिनिधि नीटू मांगेराम,भूरा पंडित,आशीष धीमान,मोकम सिंह,डॉक्टर अमीर  आलम,पाल सिंह,फरमान अली,अयूब अली,इरफान ठेकेदार,संजय त्यागी,सुरेंद्र वर्मा, प्रभु मास्टर,गौरव कौशिक,इत्यादि लोग उपस्थित रहे

भाजपा ओबीसी मोर्चा मंडल हरिद्वार ने वितरित किये मासाक, सैनिटाईजर आदि


हरिद्वार 30 म ई  (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  केन्द्र में मोदी सरकार के सात   वर्ष पूर्ण होने पर उत्तराखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर “सेवा ही संगठन”के तहत भाजपा ओबीसी मोर्चा के मंडल अध्यक्ष वासु देव वात्सल्य के नेतृत्व में  जिला मेला चिकित्सालय कोविड केयर सेंटर पर कोविड मरीजों एवं कोविड केयर हॉस्पिटल के कर्मचारियों को पानी की बोतलें,फल,मास्क, सेनेटाइजर आदि का वितरण किया गया, इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष वासु ने कहा की नर सेवा ही नारायण की सेवा हैं इस वैश्विक महामारी कोरोना से हमे डरना नहीं है अगर जरा से भी सिम्टम्स आपको नजर आए तुरंत नजदीकी अस्पताल में जाकर डॉ से परामर्श लें दो गज की दूरी अवश्य बना कर रखे, मास्क अवश्य लगाए ,वैक्सीन अवश्य लगवाए अब वह दिन अब दूर नहीं है जब इस वैश्विक महामारी से पूरे विश्व को जल्द ही मुक्ति मिलेगी इस अवसर पर वरिष्ठ समाज सेवी भोला शर्मा, मण्डल उपाध्यक्ष गौरव चोधरी , पीके डायग्नोसिस के चयरमेन पवन  ,राहुल गुप्ता , विजय गुज़रती , यश ,रॉकी गिरी , सोनू गोस्वामी आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहें ।।

निष्पक्ष हो कर करे पत्रकारिता

*नारदीय सँस्कृति अपनाए पत्रकार, न बने पक्षकार : डॉ.विशेष गुप्ता* 


-जनकल्याण की भावना से करे पत्रकारिता - प्रो.त्रिपाठी

-नारद जयंती कार्यक्रम आयोजित


हरिद्वार।

देवऋषि नारद जयंती के उपलक्ष्य में वेबनार संगोष्ठी का आयोजन किया गया। विश्व संवाद केंद्र के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ देवर्षि नारद जी व भारत माता के चित्रों पर मालापर्ण व पुष्पांजलि अर्पित कर किया गया।  

इस अवसर पर मुख्य अतिथि सुप्रसिद्ध स्तंभकार उत्तर प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ. विशेष गुप्ता ने कहा कि कोरोना काल में पत्रकारिता के समक्ष अनेक चुनौतियां हैं लेकिन इन चुनोतियों को अवसर में बदलना ही पत्रकारिता है। उन्होंने कहा कि नारदजी की कृतियों के अनुरूप पत्रकारिता की आवश्यकता है, लेकिन आज पत्रकार कम हम पक्षकार ज्यादा नजर आते है। इससे पत्रकारों को बचाने के आवश्यकता है।  उन्होंने कहा की यह मूल्यांकन का अवसर है नारद जयंती के अवसर पर हम नारद जी के कृतियों को देखते हुए स्वयं का मूल्यांकन करें कि हम किस प्रकार की पत्रकारिता में व्यस्त हैं। देखने में आएगा कि आज पत्रकारिता समाज और राष्ट्र का भला ना कर कुछ विशेष लोगों की कठपुतली बनी हुई है। जिस से बाहर आने की आवश्यकता है,अन्यथा सोशल मीडिया के रूप में पत्रकारिता के समक्ष समानांतर पत्रकारिता खड़ी हो रही है। उन्होंने कहा की अनेक विदेशी शक्तियां हमें जैविक रूप से कमजोर करने का प्रयास कर रही है। इसके लिए पत्रकार समाज को अन्य समूचे समाज को एकजुट करके ऐसी शक्तियों के विरुद्ध एक संघर्ष एक युद्ध लड़ना होगा। उन्होंने कहा नाराद जी भागवत संवाददाता है उन्हीं की प्रेरणा से रामायण और भागवत भी लिखी गई। अलग-अलग लोको में घूम कर समाचारों का संकलन करना और समाचारों को संवाद के माध्यम से एकत्रित करना यह नारद जी का सकारात्मक कार्य रहा है। उनके इस कार्य में कहीं भी नकारात्मकता ढूंढे नहीं मिलती। उन्होंने वर्तमान पत्रकारों को अपील की कि वे संवादों के माध्यम से पत्रकारिता करें समाचार एकत्रित करें। उनका कहना था कि बातचीत के माध्यम से किसी भी समस्या का हल निकल सकता है युद्ध किसी भी समस्या का समाधान नहीं। उन्होंने नारद जी को बहुआयामी व्यक्तित्व का धनी बताते हुए कहा कि वह घटनाओं की सत्यता पर विश्वास रखते थे।जैसी घटना उसी रूप में उसे प्रस्तुत करना यह नारद जी का कार्य था। वर्तमान समय में पत्रकारों को इस बात पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने पत्रकारिता से पक्षपात को निकाल फेंकने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि जिस समाज में हम रहते हैं उसके सम्मान के लिए कुछ संकल्प लेने पड़ेंगे ताकि समाज में हो रही सकारात्मकता को पटल पर लाया जा सके। उन्होंने कहा कि करोना काल में ऐसे समाचार प्रकाशित किए गए जिससे देखकर बच्चे और समाज का प्रत्येक व्यक्ति डरा सहमा सा रहा बच्चों की काउंसलिंग तक करनी पड़ी अनेक लोग अपना इलाज करा रहे हैं। अगर सकारात्मक पत्रकारिता हो तो इस बीमारी से बचा जा सकता है। उन्होंने लोकमंगल के लिए लोक कल्याणकारी पत्रकारिता की बात कही। पत्रकारिता ऐसी हो जो जनता का कल्याण करती हो उन्होंने मूल्यों पर बल दिया मूल्यवान पत्रकारिता समाज को सही रास्ता दिखा सकती है और राष्ट्र को आगे बढ़ा सकती है। उन्होंने नारद जी को एक सम्यक व्यक्तित्व का धनी बताया। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता में नारदीय संस्कृति पैदा हो। नारदजी जैसी सर्वदलीय स्वीकृति बनाएं। उनका कहना था कि पत्रकार को पक्षकार होने से बचना चाहिए।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर देवी प्रसाद त्रिपाठी ने कहा कि नारदजी को लोक कल्याण और सर्वहित के लिए हमेशा याद किया जाएगा। वह घूम घूम कर और विभिन्न लोकों में घूम कर सभी देवता और दानव से संवाद के माध्यम से समाचार एकत्रित करते थे। लेकिन कभी भी जनकल्याण के अलावा उनका कोई मकसद नहीं रहा। उन्होंने सभी के बीच सामंजस्य की भावना स्थापित की। इसीलिए वह सर्व समाज में पूजनीय रहे वर्तमान समय में भी पत्रकारों को सभी के लिए हितकारी पत्रकारिता लेकर सामने आना होगा।

 कार्यक्रम की प्रस्तावना आरएसएस के विभाग प्रचार प्रमुख विपिन कर्णवाल ने रखी। इस अवसर पर जिला प्रचार प्रमुख अजय शर्मा ने कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य वक्ता एवं अध्यक्ष समेत सभी नागरिकों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम सयोजक व नगर प्रचार प्रमुख अमित शर्मा ने संचालन किया।

कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए विद्या भारती से जुड़े अभिषेक कुमार का महत्वपूर्ण योगदान रहा। इस मौके पर प्रमुख रूप से वरिष्ठ पत्रकार प्रेम बुडाकोटी, प्रेस क्लब अध्यक्ष राजेंद्र नाथ गोस्वामी, महासचिव राजकुमार,आरएसएस के विभाग प्रचारक शरद कुमार सहित फेसबुक लाइव के माध्यम आए सैकड़ो लोग उपस्थित रहे।


वैश्य बंधु समाज करोना काल में कर रहा है सेवा कार्य

 कोरोना काल में निरंतर जरूरतमंदों की सेवा कर रहा वैश्य बंधु समाज-डा.विशाल गर्ग

हरिद्वार, 30 मई। वैश्य बंधु समाज मध्य हरिद्वार के अध्यक्ष डा.विशाल गर्ग ने कोरोना काल बेरोजगारी की मार झेल रहे आटो चालकों को राशन किट वितरित की। रविवार को ज्वालापुर स्थित सद्भावनाआटो रिक्शा यूनियन कार्यालय पहुंचकर राशन किट वितरित करने के दौरान डा.विशाल गर्ग ने कहा कि रोजाना आटो रिक्शा चलाकर परिवार का पालन करने वाले चालकों को लाॅकडाउन के कारण भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसको देखते हुए यूनियन के तीस चालकों को राशन किट प्रदान की गयी। प्रत्येक किट में आटा, दाल, चावल, तेल, मसाले आदि उपलब्ध कराए गए हैं। डा.विशाल गर्ग ने कहा कि नर सेवा ही नारायण सेवा है। इसी ध्येय के साथ वैश्य बंधु समाज मध्य हरिद्वार निरंतर सेवा कार्य कर रहा है। कुष्ठ रोगियों की निरंतर मदद करते हुए उन्हें भी राशन उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने कहा कि जनसहयोग के बिना लाॅकडाउन को सफल नहीं बनाया जा सकता है। इसलिए सरकार को गरीब, मजूदर वर्ग को राशन के साथ नकद आर्थिक मदद भी उपलब्ध करानी चाहिए। जिससे वे परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिए घर से बाहर ना निकलें। प्रशांत जैन ने कहा कि जरूरतमंदो की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए खाद्य सामग्री वितरित की जा रही है। कोरोना क्रफ्यू में टेंपो चालक अपनी आजीविका नहीं कमा पा रहे हैं। ऐसे में सभी सामथ्र्यवान लोगों को आगे आकर मदद करनी चाहिए। आॅटो यूनियन के अध्यक्ष गुलाम साबिर भूरा ने कहा कि यूनियन के आग्रह पर डा.विशाल गर्ग व उनकी टीम के लोगों ने तीस चालकों को राशन उपलब्ध कराया। इससे बेरोजगारी की मार झेल रहे चालकों को राहत मिलेगी। गुलाम साबिर ने कहा कि सरकार को बैंक लोन की किश्तें माफ करने के साथ आॅटो चालकों को नगद आर्थिक राहत उपलब्ध करानी चाहिए। नरेश रानी गर्ग, विक्रम नाचीज, आयुष अग्रवाल ने जरूरतमंदों को राशन उपलब्ध कराने पर डा.विशाल गर्ग व उनकी टीम की सराहना की। इस दौरान राजेश कुमार, अजमेरी शाह, विजय कुमार लोधी आदि यूनियन पदाधिकारी मौजूद रहे।


विहिप के वर्चुअल प्रशिक्षण वर्ग का हुआ समापन




*विश्व हिन्दू परिषद के पांच दिवसीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण वर्ग का हुआ समापन.*


विश्व हिंदू परिषद के नवीन कार्यकर्ताओं के शिक्षण-प्रशिक्षण हेतु प्रतिवर्ष होने वाला परिषद प्रशिक्षण वर्ग इस वर्ष चीन देश से जनित संपूर्ण विश्व को प्रभावित करने वाली कोरोना नामक महामारी के कारण वर्चुअल बैठक के माध्यम से 26 से 30 मई सन 2021 तक आभासी वातावरण में आयोजित किया गया. परिषद प्रशिक्षण वर्ग प्रतिदिन दो सत्र बौद्धिक एवं चर्चा सत्र के रूप में आयोजित किया गया.

परिषद प्रशिक्षण वर्ग का क्षेत्र संगठन मंत्री मनोज वर्मा के उद्बोधन, विश्व हिन्दू परिषद के उद्देश्यों के अनुरूप कार्य और उनके निमित्त धरातल पर कार्य करने वाले उसके आयामों पर विस्तृत जानकारी के साथ ही पूर्वनिर्धारित योजना रचना के अनुसार विधिवत समापन किया गया.

पांच दिवसीय परिषद प्रशिक्षण वर्ग में मिलिंद पराडे अन्तर्राष्ट्रीय महामंत्री विश्व हिन्दू परिषद, देवेंद्रजी प्रांत सहप्रचारक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं प्रांत पालक विश्व हिन्दू परिषद उत्तराखंड, वाई.राघवेल्लू संयुक्त महामंत्री विश्व हिन्दू परिषद, दिनेशचंद्र अंतरराष्ट्रीय संरक्षक विश्व हिन्दू परिषद का महत्वपूर्ण मार्गदर्शन प्रतिदिन बौद्धिक सत्र में उद्बोधन के रूप में प्राप्त हुआ.

प्रतिदिन सांगठनिक आचार पद्वति एवं एकल गीत के नियमित अभ्यास के पश्चात विगत पांच दिवस के प्रशिक्षण में कार्यकर्ताओं को हिंदू समाज को सुसंगठित एवं सुदृढ़ बनाने की ओर अग्रसर रहने, आधुनिक युग के अनुकूल हिंदू धर्म के नैतिक एवं आध्यात्मिक सिद्धांतों तथा आचार विचार का प्रचार करने, समस्त हिन्दू समाज से सुदृढ़ संपर्क स्थापित करने और उनकी सहायता करने, हिंदुओं में भाषा, क्षेत्र, मत, सम्प्रदाय और वर्ग सम्बन्धी भेदभाव को मिटाकर एकात्मता का अनुभव कराने, हिन्दुओं को सुदृढ़ और अखंड समाज के रूप में खड़ा कर उनमें धर्म और संस्कृति के प्रति भक्ति, गौरव और निष्ठा की भावना उत्पन्न करने, हिंदुओं के नैतिक एवं आध्यात्मिक जीवन मूल्यों को सुरक्षा प्रदान कर उनका विकास और विस्तार करने, हिंदू समाज के बहिष्कृत और धर्मान्तरित हुए परंतु हिंदू जीवन पद्धति के प्रति लगाव रखने वाले भाई बहिनों को हिंदू धर्म में वापस लाकर उनका पुनर्वास करने, हिंदुओं को धार्मिक एवं सांस्कृतिक आधार पर परस्पर स्नेह के सूत्र में बांधकर उनकी सहायता करने और उन्हें मार्गदर्शन देने और जहां तक भी सम्भव हो सके मानवता के कल्याण हेतु हिन्दू धर्म के सिद्धांतों और व्यवहार की व्याख्या करने जैसे करणीय कार्य की आवश्यकता पर बल दिया गया.

परिषद वर्ग के चर्चा सत्रों में रविदेव आनंद केंद्रीय मंत्री एवं कार्यकारी अध्यक्ष विश्व हिन्दू परिषद उत्तराखंड, वीरेंद्र क्षेत्र सामाजिक समरसता प्रमुख, अजय प्रांत सह संगठन मंत्री, प्रदीप मिश्र प्रांत उपाध्यक्ष, भारत गगन अग्रवाल प्रांत उपाध्यक्ष, दिवान सिंह फर्तयाल प्रांत उपाध्यक्ष, चिंतामणि सेमवाल प्रांत उपाध्यक्ष, प्रांत मंत्री डा.विपिन पाण्डेय, रंदीप पोखरिया प्रांत सहमंत्री का मार्गदर्शन कार्यकर्ताओं को प्राप्त हुआ.

उत्तराखंड के परिषद प्रशिक्षण वर्ग में प्रांत, विभाग, जिला स्तर के लगभग 270 कार्यकर्ताओं ने प्रशिक्षण प्राप्त किया. समापन सत्र में प्रांत सहमंत्री धीरेंद्र शर्मा, अनुज वालिया प्रांत संयोजक बजरंगदल उत्तराखंड, पंकज चौहान प्रांत संयोजक समन्वय मंच, सुभाष चतुर्वेदी प्रांत प्रमुख सत्संग विभाग, राकेश बजरंगी प्रांत प्रमुख धर्माचार्य संपर्क, संध्या कौशिक प्रांत उपाध्यक्ष, नीता कपूर प्रांत प्रमुख मातृशक्ति, नीलम त्रिपाठी प्रांत संयोजिका दुर्गा वाहिनी, सुरेंद्र वर्मा प्रांत प्रमुख सेवा विभाग, सुंदरलाल प्रांत प्रमुख गौरक्षा, नितिन गौतम जिला अध्यक्ष, बलराम कपूर जिला कार्यकारी अध्यक्ष, भूपेंद्र सैनी जिला सहमंत्री आदि अनेक निष्ठावान कार्यकर्ता आभासी रूप से उपस्थित रहें.।

भाजपा ओबीसी मोर्चे ने जरूरतमंदो को वितरित किया राशन

 सेवा ही संगठन अभियान के अंतर्गत भाजपा  ने जरूरतमंदो को वितरित किया राशन 

भाजपा ओबीसी मोर्चे के जिला महामंत्री डा0 प्रदीप कुमार एवं भाजपा महिला मोर्चे की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अनीता वर्मा के नेतृत्व में चलाया गया सेवा ही संगठन अभियान 

हरिद्वार 30 म ई  केन्द्र में मोदी सरकार के  सफल, उपलब्धियो भरे सात वर्ष पूर्ण होने पर प्रदेश संगठन के आह्वान पर भाजपा ओबीसी मोर्चे के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरि के निर्देशन , जिला प्रभारी राम पाल राठौर के मार्ग दर्शन  एवं जिला अध्यक्ष प्रदीप पाल के संयोजन में हरिद्वार ग्रामीण विधान सभा के जमालपुर कलाँ क्षेत्र में जिला महामंत्री डा0 प्रदीप कुमार एवं भाजपा महिला मोर्चे की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्या अनीता वर्मा के नेतृत्व मे जरूरतमंदो को राशन वितरित किया गया साथ ही कोविड से प्रभावित ऐसे परिवारो से भी सम्पर्क किया गया जिनके यँहा माता या पिता की मृत्यु हो गई है। उन्हें सरकार की ओर से मिलने वाली राहत, मुवावजे आदि के विषय में जानकारी भी दी गई। इस अभियान के अन्तर्गत साधु राम सैनी, सतवीर चौधरी, संजय वर्मा, झबरू सिंह शेखावत ,धीरज यादव  आदि ने सहयोग प्रदान किया। भाजपा महिला मोर्चे की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्या अनीता वर्मा  एवं भाजपा ओबीसी मोर्चे के जिला महामंत्री डा0 प्रदीप कुमार ने बताया कि यह अभियान आगे भी जारी रहेगा और हर उस व्यक्ति तक राहत पहुँचाई जाऐगी जो करोना काल में इस महामारी से पीड़ित है। इस अभियान के अन्तर्गत दयाल एंक्लेव, सोशल एंक्लेव, जेवीजी कालोनी में जनसम्पर्क किया गया और जरूरतमंदो को खाद्य सामग्री वितरित की गयी।




भगवान पुर नगर पंचायत में हुआ कोविड किट का वितरण



*राज्य सरकार की ओर से  कोविड-19 होम आइसोलेशन किट मरीजों को दी जाने वाली किट को नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि एवं पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार सुबोध राकेश ने वार्ड सभासदों को दी और प्रत्येक वार्ड में 100 किट वितरित की*


*भगवानपुर 29 म ई (कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवान पुर) 


   राज्य सरकार की ओर से होम कोविड-19 आइसोलेशन  मरीजों को दी जाने वाली किट को नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि सुबोध राकेश ने वार्ड सभासदों की वितरित की। वार्ड सभासद प्रत्येक वार्ड में 100 किट होम आइसोलेशन कोविड मरीजों को यह किट वितरित करेंगे।शनिवार को नगर पंचायत भगवानपुर कार्यालय में अध्यक्ष प्रतिनिधि सुबोध राकेश ने नगर के वार्ड सभासदो को कोविड किट वितरण की और उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा होम आइसोलेशन में रहकर घर पर ही उपचार करवा रहे उन कोविड मरीजों के लिए यह किट तैयार की गई है। जो कि उन मरीज के घर तक प्रदेश सरकार पहुँच रही हैं। प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना महामारी को रोकने को लेकर हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। इसलिए हर व्यक्ति को सरकार के आदेशानुसार उसका पालन करते हुए कार्य करना चाहिए। ताकि इस कोरोना महामारी की चैन को तोड़ा जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए और अधिक जागरूक होने की जरूरत है।इस शुभ अवसर पर सभासद अधिकारी शाहिद अली,प्रतिनिधि नीटू मांगेराम, भूरा पंडित,आशीष गुलबहार अली, मोकिम सिंह,डॉक्टर अमीर  आलम,पाल सिंह,फरमान अली,अयूब अली, इरफान ठेकेदार, इत्यादि लोग उपस्थित रहे

परमार्थ निकेतन में योग ई कान्क्लेव



💥 *योग तो करें पर कर्मयोग भी करें-पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज*


 ऋषि केश 29 म ई (अमरेश दूबे संवाददाता गोविंद कृपा ऋषिकेश) 



    परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश, यूथ न्यूज आॅनलाइन, इन्डियन योग एशेसिएशन और राष्ट्रीय युवा फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में तीन दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय योग ई-काॅन्क्लेव का आॅनलाइन आयोजन कई संस्थाओ के सहयोग से किया गया, जिसमें विश्व विख्यात योगाचार्य और पूज्य संतों का दिव्य मार्गदर्शन और आशीर्वाद प्राप्त हो रहा है।

अन्तर्राष्ट्रीय योग ई-काॅन्क्लेव के उद्घाटन अवसर पर परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि वर्तमान समय में हमारे चारों ओर जो परिदृश्य है उसका संयम और धैर्य के साथ सामना करने के लिये हम सब को तैयार रहना बहुत जरूरी है। दुनिया तेजी से बदल रही है, बढ़़ते प्रदूषण के कारण प्रकृति और पर्यावरण का हर दूसरे दिन एक नया स्वरूप देखने को मिल रहा है। पहले केदारनाथ का प्रलय, अब कोरोना का कहर और फिर क्लाईमेंट चेंज की समस्या, कभी वाट्र शार्टेज़, कभी ताऊते तो कभी यास तूफान आदि अनेक चुनौतियां हमारे सामने हैं। सरकार के साथ-साथ हम सबका भी राष्ट्रीय कर्तव्य एवं दायित्व है कि सब मिल कर इन सब चुनौतियों का सामना करें।

कोविड-19 ने मन और मस्तिष्क पर एक मनोवैज्ञानिक दवाब उत्पन्न किया है। पूरे वैश्विक स्तर पर तनाव, चिंता, भय, हताशा, जीवन से ऊब, आदि अनेक मनोविकारों को जन्म दिया है, साथ ही इस समय मंदी और बेरोजगारी भी बढ़ गयी है, इन सब मनोविकारों से उबरने तथा एक सकारात्मक मार्ग पर वापस आने के लियेे सबसे सहज और प्रभावी उपाय है ‘‘योग, प्राणायाम और ध्यान।’’ इस समय योग, ध्यान और प्राणायाम का यूनिवर्सल एजुकेशन बहुत जरूरी है ताकि हम सभी के अन्दर इम्युनिटी और ह्यूमैनिटी दोनों को सुरक्षित किया जा सके। 

पूज्य स्वामी जी ने कहा कि योग को हम अपनी जीवनचर्या बनायें। योग करें, रोज करें और मौज करें क्योंकि निरोगी काया से ही हम जीवन का सही आनन्द ले सकते हैं इसलिये करें योग और रहें निरोग। योग से अपनी ग्राऊडिंग और एकरिंग मजबूत बनायें। योग न केवल शारीरिक आसनों का नाम है बल्कि शरीर का आत्मा से, आत्मा का परमात्मा और प्रकृति से संयोग भी कराता है। प्राणायाम अर्थात प्राणों का आयाम। इससे जीवन शक्ति बनी रहती है, ऊर्जा पर नियंत्रण होता है और शरीर में आक्सीजन का प्रवाह बना रहता है, जो इस समय की सबसे बड़ी जरूरत भी है। इस समय योग के साथ सहयोग की भी अत्यंत आवश्यकता है इसलिये योग तो करें पर कर्मयोग भी करें।

पूज्य स्वामी जी ने कहा कि आज विश्व पाचन स्वास्थ्य दिवस है और इस वर्ष 2021 में आज के दिन की थीम भी ‘ओबेसिटी एन ऑनगोइंग महामारी’ रखी गयी है। विगत 15/16 माह से बच्चे घरों के अन्दर बंद हैं। उनकी शारीरिक गतिविधियाँ और खेल कूद लगभग बंद से ही हो गये हैं तथा खान-पान की भी अस्त व्यस्तता से भी मोटापा बढ़ रहा है इसलिये योगमय संस्कृति को अपनाना ही सबसे सहज मार्ग है। 


राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष पूज्य स्वामी गोविंद देव गिरि जी महाराज जी ने कहा कि योगः कर्मसु कौशलम् अर्थात् “कर्मों को कुशलतापूर्वक करना ही योग है। दूसरे का अहित किये बिना कुशलता पूर्वक कर्म करना ही योगमय जीवन है। कर्म करने से पूर्व योगस्थ हो जाना ही योग हमें सिखाता है।

 श्री पंचायती निरंजनी अखाडा महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी कैलाशानंद गिरि जी ने कहा कि योगेश्वर भगवान महादेव आदियोगी है। व्यायामात् लभते स्वास्थ्यं, दीर्घायुष्यं बलं सुखं। आरोग्यं परमं भाग्यं, स्वास्थ्यं सर्वार्थसाधनम्। अर्थात व्यायाम से स्वास्थ्य, लम्बी आयु, बल और सुख की प्राप्ति होती है। निरोगी होना परम भाग्य है और स्वास्थ्य से अन्य सभी कार्य सिद्ध होते हैं॥

सर्व योग इंटरनेशनल इटली की संस्थापक डॉ. एंटोनियेटा रोजी ने कहा कि योग भारत की अमूल्य देन है। मेरा तीस वर्षो का अनुभव है कि योग मनुष्य के पूरे चिंतन को बदल देता है। योगमय जीवन पद्धति जितनी जल्दी अपना ली जाये, उतना ही श्रेष्ठ होता है।

हिमांशु पांडे, एडिटर-इन-चीफ यूथ न्यूज। मॉडरेटर और होस्ट श्री तनुज नारायण ने बड़ी ही कुशलता से अन्तर्राष्ट्रीय योग ई-काॅन्क्लेव का संचालन किया। तीन दिवसीय योग ई-काॅन्क्लेव को द आर्ट आफ लिविंग आदि अनेक राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं ने अपना समर्थन प्रदान किया।

भाजपा प्रदेश प्रभारी ने दिये निर्देश

.हरिद्वार 29 म ई  (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 


 भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री, एवं उत्तराखंड प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम का हरिद्वार भाजपा जिला कार्यालय पर चल रहे कोविड-19 कंट्रोल रूम में आगमन हुआ जहां उन्होंने 30 मई को मोदी सरकार के सफलतम 7 वर्ष पूर्ण होने पर कार्यकर्ताओं द्वारा सेवा ही संगठन कार्यों को जिले के प्रत्येक गांव स्तर तक जाकर सेवा करने के निर्देश दिए जिलाध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने  उन्हें बताया की कोविड-19 की दूसरी लहर आने पर प्रदेश नेतृत्व के निर्देशानुसार जिला कार्यालय पर लगातार कोविड-19 रूम कार्य कर रहा है जो कि लगातार फोन कॉल के माध्यम से लोगों की मदद करने का काम कर रहा है आए हुए सभी पदाधिकारियों ने अपने-अपने सेवा कार्यों की चर्चा की एवं उन्हें बताया कि किस प्रकार भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता इस महामारी में जनता के बीच जाकर सेवा करने का काम कर रहा है इस अवसर पर जिला महामंत्री विकास तिवारी आदेश सैनी, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी सुनील सैनी, प्रदेश महामंत्री अनु कक्कड़ प्रदेश पदाधिकारी ओम प्रकाश जमदग्नि , ललित मोहन अग्रवाल जिला उपाध्यक्ष अनिल अरोड़ा, संदीप गोयल, अंकित आर्य, अमन त्यागी, जिला मंत्री अनामिका शर्मा, आशु चौधरी, कंट्रोल रूम प्रभारी लव शर्मा, सोशल मीडिया प्रभारी मोहित वर्मा, डॉ कल्पना सैनी, राकेश राजपूत, आशुतोष शर्मा ,मंडल अध्यक्ष नागेंद्र राणा उपस्थित रहेl

एच एन बी परीक्षा फार्म की तारीख घोषित


 एच एन बी विवि के स्नातक, परास्नातक प्रथम वर्ष सैमेस्टर के फार्म 1जून से भरे जाऐगे:- डा0 सुनील बत्रा 

हरिद्वार 29 म ई (आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)    एस एम जे एन पीजी कॉलेज के प्राचार्य डा0 सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि कालेज में स्नातक एवं परास्नातक कक्षाओ के प्रथम समैस्टर के परीक्षा फार्म 1जून से भरे जाऐगे। उन्होंने बताया कि परीक्षा फार्म भरने के लिए विश्वविद्यालय की साइट पर जा कर फार्म भरा जा सकता है,अन्य किसी जानकारी के लिए कालेज से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं

तीर्थ पुरोहित समाज का प्रशंसनीय कार्य

 तीर्थ पुरोहितों की माँ गंगा रसोई से भर रहा है तीर्थ यात्रियों व जरूरतमंदों का पेट


तीर्थ पुरोहित प्रतिदिन 600 लोगों के लिए भोजन तैयार कर, कर रहे वितरित


तीर्थ यात्रियों, गरीब, जरूरतमंदों की सेवा ही सबसे बड़ा पुण्य है।

 हरिद्वार 29 म ई (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)   कोरोना कर्फ्यू के चलते काम बंद होने से गरीब, असहाय लोगों के सामने दो वक्त की रोटी का संकट खड़ा हुआ तो तीर्थ पुरोहितों ने मां गंगा रसोई का शुभारंभ किया। मां गंगा रसोई से हर रोज 600 से ज्यादा लोगों को भोजन वितरित कर पेट भरने का काम किया जा रहा है। कच्चे राशन से लेकर हर सम्भव मदद तीर्थ पुरोहित समाज कर रहा है। 

ज्वालापुर में मां गंगा रसोई तीर्थ पुरोहितों द्वारा कर्फ्यू लगते ही शुरू कर दी गई थी। तीर्थ पुरोहित सौरभ सिखौला के अलावा अनिल कौशिक, सचिन कौशिक, उमा शंकर वशिष्ठ, प्रदीप निगारे, ब्रजेश वशिष्ठ, सत्यम, रजनीश गर्ग, सागर बत्रा, सिद्धार्थ त्रिपाठी, मोनू बागडोलिये, विजय प्रधान, विपुल प्रधान, महेश तुंबडिया, वासु कौशिक, मोहित गोस्वामी, अंकुर पालीवाल, मृदुल शास्त्री आदि लोगों के सहयोग से रोजाना 600 लोगों के लिए आलू, पूरी और अलग से 200 लोगों के लिए दाल और चावल बनाकर उनके पैकेट तैयार कर गरीब और जरूरतमंदों तक भेजे रहे हैं। सौरभ सिखौला ने बताया कि गरीब और जरूरतमंद लोगों की सेवा करना ही सबसे बड़ा पुण्य और धर्म होता है। इसी के दृष्टिगत तीर्थ पुरोहित समाज की ओर से मां गंगा रसोई प्रारंभ की गई। जिससे प्रतिदिन ज्वालापुर के साथ ही पंतद्वीप, रोड़ीबेलवाला रेलवे स्टेशन पर और आसपास के कई क्षेत्रों में रोजाना 600 से ज्यादा लोगों को भोजन वितरण किया जा रहा है। बैरागी कैम्प में अलग से रसोई पिछले तीन दिन से चल रही है। जहां खाना तैयार कर वितरित किया जा रहा है।  असमर्थ कई जरूरतमंद लोगों को भी कच्चा राशन दिया जा रहा है। बाहर से आने वाले तीर्थ पुरोहितों के यजमानों लिए भी भोजन की व्यवस्था लगातार की जा रही है। ट्रेन और बसों से अस्थि प्रवाह करने आने वाले श्रद्धालुओं को भी भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। सभी तीर्थ पुरोहितों का काम यजमानों से चलता है। इसलिए यजमानों की सेवा करना  और ऐसे समय में जब बाजार बंद है भोजन की दिक्कत हो रही हैं ऐसे समय में    यह तीर्थ पुरोहितों का कर्तव्य भी है। कोरोना कर्फ्यू चलने तक माँ गंगा जी की रसोई से लोगों को भोजन वितरित किया जाता रहेगा। गरीब, जरूरतमंद लोगों की हरसंभव मदद करने का प्रयास लगातार जारी रहेगा।



देश हित में है आयुर्वेदक चिकित्सा


 अब गांवों को अपने अनुभव से सस्ते में आरोग्य दे रहे अप्रशिक्षित एलोपैथी चिकित्सकों को स्वास्थ्य रक्षक की #मान्यता दिलाने व #रसोईबैद्य आंदोलन खड़ा करने का समय आ गया क्या? लगता तो यही है।

क्योंकि एक तरफ इस कोरोना काल में देश के लगभग 80 प्रतिशत लोगों का भारतीय  #आयुर्वेदिक_फार्मूले व #जड़ीबूटी पर विश्वास बढ़ा है। क्योंकि एक हद तक हमारे घरों के भारतीय #किचेन ने ही इस वैश्विक महामारी का उपचार सामने लाकर रख दिया। कालीमिर्च, लौंग, गिलोय, हल्दी, अदरक, गुड़, अजवाइन जैसी जड़ीबूटियों व आयुर्वेदिक नुस्खों ने कोरोना के 90 प्रतिशत मरीजो को ठीक करने में बड़ी भूमिका निभाई।

       जिससे बड़ी बड़ी एलोपैथीक #कम्पनियों की चूलें हिल गईं हैं। उन्हें अपने भावी #व्यापार को लेकर भय सताने लगा है। सम्भव है IMA (आईएमए) उन्हीं का मोहरा बनकर #पतंजलि व स्वामी रामदेव, आचार्य बालकृष्ण के बहाने योग एवं #आयुर्वेद तथा भारतीय चिकित्सा पद्धतियों का उपहास उड़ाने के लिए अड़ पड़ा हो। 

     तभी तो #आईएमए दारोगा साहब बनता जा रहा। कहीं पर निगाहें, कहीं पर निशाना। वाह रे तेरी एलोपैथी #चिकित्सक व चिकित्सा के प्रति संवेदनशीलता। कहीं इसी को हथियार बनाकर आयुर्वेद के प्रति बढ़ते #जनविश्वास को रौंदना तो नहीं चाहते?

       यद्यपि स्वामी रामदेव ने कोई अनहोनी बात नहीं कह दी थी, फिर भी उन्होंने माफी मांग ली। इसके बावजूद आईएमए #एसोसिएशन शांत होने को  तैयार नहीं है बेचारा।

    वैसे ये 25 सवाल भले अब पतंजलि की ओर से स्वामी जी ने पूछे हों, पर ये #देश की आम जनता के जेहन में दशकों से उपज रहे थे। जिसे स्वामी जी व आचार्य #बालकृष्ण जी ने आवाज दे दी है।

          वास्तव में बाबा रामदेव जी सहित सम्पूर्ण देश को आयुर्वेद के साथ साथ अपने करोड़ो एलोपैथिक चिकित्सकों पर पूरा गर्व है। पर उन बड़ी बड़ी पूंजियो में लिपटे #ब्रांडेड, गैर ब्रांडेड एलोपैथिक व्यावसायिक घरानों, चिकित्सा संस्थानों को यह देश क्या करे, जिसमें घुसने के लिए देश के #गरीब आम जनमानस की हिम्मत न पड़ती हो?

       यही नहीं जिन लोगों की आर्थिकी मजबूत है और इन तथाकथित बड़ी अट्टालिका वाले स्वास्थ्य संस्थानों में घुसकर इलाज कराने की हिम्मत पड़ती भी है। वे भी चिकित्सा के नाम पर लूट के चलते #कंगाली पर आ जाते हैं, कही कहीं इस धरती से उठ चुके मरीजों के परिवारी जनों के साथ इतना दुखद व्यवहार होता है, कहना कठिन है। 

     अब देश पूछना चाहता है कि यह एसोसिएशन आम जनमानस की पहुँच से दूर रहने वाले ऐसे #लूटरैकेट के विरोध में आवाज क्यों नहीं उठाता? आखिर हमारा साधारण आर्थिकी वाला देश चिकित्सा के नाम पर हो रही इस डकैती को कबतक सहता रहे? 

    यही नहीं एसोसिएशन में मानक के नाम पर तो वही एलोपैथी घराने वाले चिकित्सा संस्थान सुहाते हैं न, जो ब्रांडेड हैं, जो आम जनता की आंतें खींच लेने में माहिर हों, अन्यथा यह उन एलोपैथी चिकित्सक व चिकित्सा संस्थान को तो घास भी नहीं डालते, जो एलोपैथी के सहारे #स्वास्थ्यसेवा की राह पकड़ कर चल रहे हैं। 

      और तो और देश के सात #लाख से अधिक गांवों में करोड़ो गरीब जनता का 20 से 50 - 100 रुपये में एलोपैथी दवा से इलाज करने वाले वर्षों के अनुभवी लोगों को तुम अपनी बिरादरी में ही शामिल नहीं करते और इन्हें #झोलाछाप के रूप में किसी प्रकार गरीब जनता की सेवा व अपनी #जीविका चलानी पड़ती है।

      फिर चिकित्सा मानक के नाम पर चल रहे तुम्हारे इस बड़े ऊंचे नामधारी एलोपैथी टन्डीले को कोई क्या करे?

      आज यह मानने में गुरेज नहीं होता कि तथाकथित बड़े चिकित्सा व्यवसाय से जुड़े संस्थानों की #लाबी के सामने देश के आम गरीब कीड़ा मकोड़ा दिखते हैं, उनके उपचार की बात तो तुम्हारे जेहन में भी नहीं आती। क्या इस पर भी #आईएमए कभी मौन तोड़ेगा?

      वास्तव में देश में ऐसे तथाकथित पूंजीपति हॉस्पिटलों का बड़ा रैकेट है, जो #मशीनों पर आधारित चिकित्सा करके कदम कदम पर लूटते हैं। और तो और बिना पैसा वसूल लिए लाश तक नहीं छूने देते। इस #संवेदनहीनता पर भी क्या कभी आवाज उठाई है? वाह रे तेरी रिसर्च बेस्ड चिकित्सा।

      सच में स्वामी रामदेव के बयानों में असली समस्या तो बड़े बड़े चिकित्सा घरानों व संस्थानों की खतरे में आती मोटी कमाई है, कि कहीं वह सब बाबा के #प्रश्नों से भरभराने न लगे।

      समय आ गया है कि देश की आम जनता की 60 प्रतिशत कमाई सिर्फ मेडिकल के नाम पर अब न लुटने पाए। एलोपैथी के नाम पर 2 रुपये की #टेबलेट 200 में बेच कर धनवान बनने का ख्वाब भी अब मिलकर तोड़ना होगा।

    जिससे देश के ऐसे मेडिकल एसोसिएशन आईएमए जैसे संगठन दूसरों के मुखौटे बनने से बचाना भी आयुर्वेद का धर्म है।

     इसके लिए पतंजलि जैसे संस्थानों को #सरकार पर दबाव डालकर गांव के अनुभवी झोलाछाप चिकित्सकों के समुचित #मान्यता की लड़ाई लड़नी होगी। साथ ही #रसोईबैद्य आंदोलन खड़ा करना होगा।

     अब लड़ाई छिड़ी है तो #लोकहित में दूर तक जानी चाहिए।  इसमें देश का भी भला निहित है।

मंत्री परिषद की बैठक में लिए गये महत्वपूर्ण निर्णय


 देहरादून 28 म ई   मुख्यमंत्री  तीरथ सिंह रावत  की अध्यक्षता में मंत्री परिषद की बैठक  संपन्न हुई जिसमें महत्वपूर्ण निर्णय लिये गए जिनके अंतर्गत  फूलों की घाटी ईको सेंसिटिव जोन के अंतर्गत हेमकुंड साहेब, घांघरिया, लोकपाल मन्दिर संशोधित प्रस्ताव के अंतर्गत बाहर करते हुए आबादी विहीन क्षेत्र के रूप में पुनः प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा जायेगा ,ध्वनि प्रदूषण विनियमन नियंत्रण 2000 के अंतर्गत राज्य के विभिन्न क्षेत्र आवासीय, औद्योगिक, वाणिज्यिक एवं शांत क्षेत्र में जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इसके अंतर्गत प्रथम उल्लंघन पर व्यक्ति के लिये 01 हजार, मनोरंजन संचालक के लिये 05 हजार, होटल संचालक के लिये 10 हजार औद्योगिक एवं खनन के लिये 20 हजार की क्षति पूर्ति ली जायेगी , कोविड के लिये विधायकों को 01 करोड़ रूपये की धनराशि दी गयी थी। एक बार में सुदूर क्षेत्र में 25 लाख व्यय की सीमा को प्रतिबंध हटा दिया गया है, जिससे सुदूर क्षेत्र में मेडिकल की सुविधा मिलने में मदद मिलेगी। इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग को मिलने वाली अधिप्राप्ति नियमावली की छूट भी इस पर लागू होगी।

ईको पार्क, नरेन्द्रनगर, मुनि की रेती, सोसायटी मॉडल में चलाई जायेगी। हिमालयन पारिस्थितिकी सुधार जैव विविधता आजीविका संवर्धन संस्थान (हर्बल) को गवर्निंग बॉडी जिसके मुख्य संरक्षक मुख्यमंत्री होंगे, वन मंत्री संरक्षक तथा क्षेत्रीय विधायक सह संरक्षक होंगे। इसके अतिरिक्त प्रबंधकीय समिति के मुख्य संरक्षक अपर मुख्य सचिव और पदेन अध्यक्ष विभागाध्यक्ष वन तथा उपाध्यक्ष प्रमुख वन संरक्षक तथा वनाधिकारी, जन प्रतिनिधि इसके सदस्य होंगे।

राजस्व परिषद, समीक्षा अधिकारी, सहायक समीक्षा अधिकारी की सेवा नियमावली प्रख्यापित की गयी।

रामनगर में पुरानी तहसील की खाली भूमि प्राधिकरण को बहुमंजिला पार्किंग बनाने के लिये निःशुल्क दिया जायेगा।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भटवाड़ी में स्वामी विवेकानंद हैल्थ सोसायटी को 2.4 हैक्टेयर जमीन खरीदने के लिये स्टांप ड्यूटी में छूट होगी। जिसकी धनराशि 12 लाख 68 हजार 750 है।

 हरिद्वार मेडिकल कालेज 90:10 के अनुपात की केन्द्र सहायतीत योजना के अंतर्गत जगजीतपुर में बनने वाले 325 करोड़ लागत के निर्माण कार्य की तकनीकी परीक्षण लागत अधिक पाये जाने पर इसकी लागत बढ़कर 538.40 करोड़ रूपये आंकलित की गयी है। इसके लिये केन्द्र सरकार द्वारा 25 करोड़ अवमुक्त किया गया है, इसी अनुपात में राज्यांश में वृद्धि होगी।

 हरिद्वार, पिथौरागढ़, रूद्रपुर मेडिकल कालेज में संविदा के आधार पर कार्य करने वाले प्राचार्य को वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार इस आशय से दिया जायेगा कि इनके साथ संयुक्त हस्ताक्षर वित्त नियंत्रक के भी होंगे।

. मेला अस्पताल हरिद्वार को मिलने वाली एमआरआई मशीन को दिल्ली से इस आशय से लाने की अनुमति दी गयी है कि पहले केन्द्र सरकार से अनुमति ले ली जाये।

कोविड को देखते हुए राष्ट्रीय एवं राजकीय खाद्य योजना के अंतर्गत 03 माह (जून, जुलाई, अगस्त) के लिये 02 किलो चीनी प्रति कार्ड 25 रू./किलो की दर से दिया जायेगा।

जल जीवन मिशन में 02 करोड़ तक के कार्य की तकनीकि परीक्षण स्वीकृति अब शासन के बजाय जिलाधिकारी जनपद स्तर की समीति के माध्यम से अनुमति दे सकेंगे। 

शोध कार्यो का आयुष मंत्री हरक सिंह रावत ने किया लोकार्पण

 आयुर्वेद विश्वविद्यालय द्वारा कोविड-19 के लिए किए जा रहे विभिन्न शोध कार्यों का मा 0 आयुष मंत्री डा 0 हरक सिंह रावत जी द्वारा लोकार्पण किया गया


देहरादून  28 म ई ( जे के रस्तौगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून) 


 कोरोना महामारी की वर्तमान स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय स्थित अस्पताल में कोविड अस्पताल का भी संचालन प्रारम्भ कर दिया गया है। विश्वविद्यालय के इस अस्पताल में 40 ऑक्सीजन युक्त बेड की व्यवस्था की गई है जिसमें कोविड रोगियों का निःशुल्क चिकित्सा उपचार किया जायेगा। इस अस्पताल का उद्घाटन मा० आयुष एवं आयुष शिक्षा मंत्री डॉ हरक सिंह रावत के कर कमलों द्वारा किया गया। मा० कुलपति प्रो० सुनील जोशी की अध्यक्षता एवं चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो हेम चंद्र की गरिमामय उपस्थिति में विश्वविद्यालय के प्रेक्षागृह में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के आरम्भ में डॉ दीपक कुमार सेमवाल द्वारा आयुर्वेद विश्वविद्यालय की ओर से कोरोना महामारी के बचाव एवं उपचार हेतु किये जा रहे प्रयासों से अवगत कराया । निदेशक आयुर्वेद एवं यूनानी सेवाएं डॉ० एम० पी० सिंह ने आयुर्वेद विभाग द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में आयुर्वेद कोविड अस्पताल खोले जाने, आयुर्वेद चिकित्सकों की कोविड ड्यूटी एवं आयुर्वेद में कोरोना के इलाज़ के सन्दर्भ में मंत्री जी को वस्तुस्थिति से अवगत कराया। कुलपति प्रो सुनील जोशी ने आयुर्वेद विश्वविद्यालय द्वारा कोरोना के बचाव एवं इससे सम्बंधित शोध कार्यों से मंत्री जी को अवगत कराया। उन्होंने कहा की विश्वविद्यालय द्वारा शोध से प्रमाणित इम्युनिटी को बढ़ाने वाला ओजस क्वाथ एवं प्राकृतिक फ्यूमिगेशन हेतु निर्मित धूपम केक को बड़ी आवादी तक निःशुल्क वितरित किया।  

उनके द्वारा फ्यूमिगेशन के लिए बिजली द्वारा चलने वाला एक उपकरण भी तैयार किया जिससे फ्यूमिगेशन की प्रक्रिया को आसान बनाया जा सके।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो० हेम चंद्र जो की वर्तमान में उत्तराखंड राज्य के कोविड मैनेजमेंट हेतु संयोजक भी है द्वारा कोरोना इलाज़ हेतु एलोपैथ एवं आयुर्वेद दोनों विधाओं की भूमिका पर अपने बिचार व्यक्त किये।  उन्होंने बताया की आयुर्वेद जीवन शैली कोरोना से बचाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है प्रो हेम चंद्र ने हल्दी एवं अन्य मसालों के प्रयोग से होने वाले लाभ पर भी प्रकाश डाला। कोविड अस्पताल के संचालन हेतु समर्पण सोसाइटी फॉर हेल्थ रिसर्च एन्ड डेवलपमेंट की अध्यक्षा डॉ गीता खन्ना ने बताया कि इस अस्पताल में एलोपैथ एवं आयुर्वेद दोनों विधाओं से कोरोना का इलाज़ किया जायेगा एवं भविष्य में भी संभावित तीसरी लहर के संक्रमण हेतु उक्त अस्पताल का उपयोग किया जायेगा। मा मंत्री डॉ हरक सिंह रावत ने विश्वविद्यालय को एलोपैथ के साथ मिल कर नए शोध करने को कहा जिससे दोनों विधाओं से अधिक से अधिक लोगों का इलाज किया जा सके क्योंकि दोनों विधाओं का अपना अलग अलग महत्व है और दोनों का उदेश्य एक ही है। उन्होंने आयुर्वेद विश्वविद्यालय द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की और कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बचने के लिए बच्चों में आयुर्वेद के माध्यम से प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत करने के लिए शीघ्र ही उचित कदम उठाने को कहा।  उन्होंने बताया कि इस नए कोविड अस्पताल से पर्वतीय क्षेत्रों से आये हुए कई गरीब रोगियों को भी इलाज़ मुफ्त में मिल सकेगा। विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो० उत्तम कुमार शर्मा ने कोरोना के बचाव हेतु आयुर्वेद की भूमिका का वर्णन किया एवं सभी आये हुए अथितियों का धन्यवाद ज्ञापन किया।  कार्यक्रम का संचालन विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ नवीन जोशी द्वारा किया गया। इस मौके पर डॉ पी के गुप्ता, डॉ शैलेन्द्र प्रधान, श्री चंद्रमोहन पैन्यूली, डॉ नन्द किशोर दधीच, डॉ आशुतोष चौहान, डॉ अमित तमादड्डी, डॉ राजेश अधाना, आदि उपस्थित रहे।

करोना काल में भूखा न रहे कोई अभियान

 एलाइंस इंटरनेशनल एवं कृपाल शिक्षण संस्थान ने झुग्गी, झोपड़ीयो में रहने वालो को बाँटा राशन 

हरिद्वार /शिवालिक नगर 28 म ई (आर एस मान संवाददाता गोविंद कृपा रानी पुर) करोना काल में सबसे ज्यादा परेशान दैनिक मजदूरी करने वाला आदमी है जिसको राहत पहुँचाने के लिए एलाइंस इंटरनेशनल क्लब एवं कृपाल शिक्षण संस्थान ने पहल करते हुए शिवालिक नगर की मलिन, बस्ती एवं निर्मल बस्ती में रहने वाले मजदूरों, झुग्गी, झोपड़ी में रहने वाले गरीब लोगों को राशन वितरित किया। समाजसेवी दिनेश शर्मा, डा0 नमन अग्रवाल, के के अग्रवाल, विभाष सिन्हा, राघवेंद्र शर्मा, रूचिर जैन ने इस मानवीय कार्य में अपना सहयोग प्रदान किया।




प्राचीन संस्कृति को आत्मसात करे।

 आत्म चिंतन (अनिल लोहानी वरिष्ठ संवाददाता गोविंद कृपा रूडकी) 



आज के बदले हुए परिवेश में प्रत्येक व्यक्ति यह सोचने के लिए मजबूर हो गया है , कि भविष्य में उसे किस प्रकार आने वाली विपत्तियों का सामना करने हेतु स्वयं को आत्म- निर्भर बनाना आवश्यक है अर्थात हमें अपने विवेक एवं आत्मबल का प्रयोग करना आवश्यक हैl

 निष्कर्ष यह निकलता है कि हमें हमारे पूर्वजों द्वारा दिखाए गए रास्तों पर दोबारा चलने के लिए मजबूर होना पड़ेगा l यहां यह आवश्यक है कि हमें अपनी आने वाली पीढ़ी को पुराने संस्कारों से अवगत कराना पड़ेगा और उनको सनातन धर्म के नियमों के प्रति जागरूक करना पड़ेगाl

जहां एक और विज्ञान के चमत्कारों के कारण आज मनुष्य मंगल ग्रह में रहने की संभावनाओं को खोज रहा है I वही प्रकृति के प्रति अपने उत्तरदायित्व को ठीक प्रकार से नहीं निभाने के कारण उसका अस्तित्व खतरे में पड़ा हैl यदि हम अपनी संस्कृति का गहन अध्ययन करें तो यह निष्कर्ष निकलता है  कि  हमारे पूर्वजों ने प्रकृति को सर्वोपरि रखकर कोई भी कदम उठाया है परंतु पिछले कुछ वर्षों से हमने प्रकृति को इतना प्रताड़ित किया कि उसका परिणाम हमारे सामने प्रत्येक वर्ष किसी ना किसी आपदा के रूप में आ रहा है I यदि समय रहते हम लोग नहीं सुधरे तो आगे आने वाली पीढ़ी का समय बड़ा ही कष्टदायक एवं डरावना होगाl 

करोना एक महामारी है और इससे आज नहीं तो कल निपटा जा सकता हैl हमें यह ध्यान रखना चाहिए हमें इस बीमारी से मिलकर लड़ना है lआज यदि किसी पड़ोसी को  करोना हो जाता है तो प्राय देखा जाता है कि लोग उसे ऐसे देखते हैं जैसे कोई आतंकवादी हो I हमें अपने इस व्यवहार को बदलना होगा lयह बीमारी किसी व्यक्ति विशेष को देख कर नहीं आती है l हो सकता है, हम भी कल से पीड़ित हो जाएं हमारे द्वारा आज किया गया व्यवहार हमारे पड़ोसी या रिश्तेदारों द्वारा तब तक याद किया जाएगा जब तक वह जिंदा रहेंगेl इसलिए यह आवश्यक है कि हमें इस कठिन परिस्थितियों में उनका साथ देना चाहिए उनके मनोबल को बढ़ाना चाहिए हो सकता है कि हमारी यह पहल उनको जल्दी ठीक होने मैं सहायक होl

वैद्य एम आर शर्मा के गुरु कृपा औषधालय में हो रहा हैं वैकसिनेशन

 हरिद्वार 28 म ई  (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)    भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष  मदन कौशिक  के आवाहन पर सेवा ही  संगठन जहाँ पूरे प्रदेश में बूथ से लेकर प्रदेश पदाधिकारी तक आम जनमानस की सेवा  करने का काम कर रहे हैं वही  वार्ड नंबर12 मैं वैद्य एम आर शर्मा जी के औषध्यालय निर्मला छावनी मैं भी आम जनमानस को देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जी के द्वारा निशुल्क वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है उस संकल्प को धरातल पर उतारने का काम करते हुई मंडल अध्यक्ष  वीरेंद्र तिवारी,मंडल महामंत्री तरुण नैयर, पार्षद पुष्पा शर्मा ,समाजसेवी  वैद्य एमआर शर्मा , उपाध्यक्ष दिनेश पांडे ,समाज सेवी नरेश जेनर् र्मीडिया प्रभारी विकल राठी युवा नेता वीर गुर्जर प्रभारी सौरभ शर्मा कुणाल सिंह उपस्थित रहे।



तीर्थ पुरोहित समाज ने बाँटे भोजन पैकेट

28 म ई  ( रजत अरोड़ा संवाददाता गोविंद कृपा)  हरिद्वार आगंतुक तीर्थयात्रियों को तीर्थ पुरोहित समाज द्वारा तीर्थ पुरोहितों की अपनी निजी गद्दीयों से पंतदीप पार्किंग में व हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर भोजन प्रसाद रूप में उपलब्ध कराया गया ।  उपरोक्त जानकारी तीर्थ पुरोहित समाज के प्रतिनिधी सौरभ सिखौला ने प्रदान करते हुए बताया कि शुक्रवार को विभिन्न स्थानों पर भोजन के पैकेट वितरित किये गए



  जिसमें 600 पैकेटों का वितरण हुआ साथ ही आज राज्य सरकार व ज़िला प्रशासन के द्वारा  कोविड-19 से बचाव के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान में भी तीर्थ पुरोहित समाज ने भी सहयोग कर घर घर जा कर 45+ उम्र के लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़ लगवाई व साथ ही 15 लोगों को कच्चा राशन भी उपलब्ध कराया गया। 

ग्राम दौलत पुर में समाजसेवी जगदीश लाल पाहवा, गगन पाहवा की ओर से जरूरतमंदो को वितरित किया गया राशन

बहादराबाद 28 म ई  (अंकित पुरी गोस्वामी संवाददाता गोविंद कृपा बहादराबाद)    हिमालयन कोल्ड स्टोर दौलतपुर में आर्थिक रूप से कमजोर लगभग 80 परिवारों को राशन सामग्री वरिष्ठ समाजसेवी  जगदीशलाल पाहवा एवम  गगन  पाहवा द्वारा ग्राम के प्रधान अनुराग गोस्वामी ,की उपस्थिति में वितरण किया गया और  जगदीश लाल पाहवा एवं गगन पाहवा ने आश्वासन दिया कि इस प्रकार का सेवा कार्य  आगे आवश्यकता अनुसार राहत सामग्री वितरण का कार्य जारी रहेगा,विदित हो कि पाहवा जी द्वारा पिछले कोरोना कल से ही भिन्न भिन्न संस्थाओं द्वारा ये कार्य निस्वार्थ भाव से किया जा रहा है । इस अवसर पर दीपक छाछर, अनुराग और दौलत पुर ग्राम पंचायत के सदस्य उपस्थित रहे। 



विश्व हिंदू परिषद की वेबीनार

हरिद्वार 28 म ई  (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 


  विश्व हिंदू परिषद के धर्माचार्य संपर्क आयाम द्वारा वर्चुअल वेबीनार के माध्यम से पश्चिम बंगाल में हो रही हिंदू उत्पीड़न की घटना हेतु आयोजित किया गया पश्चिम बंगाल में हिंदुओं पर जो अमानवीय अत्याचार किया जा रहा है तथा वहां से लगभग 11000 हिंदुओं के विस्थापन होने की घटना को किस प्रकार रोका जा सके इस विषय में उत्तराखंड प्रांत के सभी मत पंथ संप्रदाय के धर्माचार्य ने अपने विचार व्यक्त करते किए विचारों की संख्या में श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के श्री महंत स्वामी महेश्वर दास जी ने कहा कि इस प्रकरण को देखते हैं तो ऐसा प्रतीत होता है जैसे दूसरा जम्मू कश्मीर निर्माण की ओर अग्रसर हो रहा हो। श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी के पूज्य आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी जी महाराज ने कहा कि अब पश्चिम बंगाल की इस स्थिति में रहना बहुत मुश्किल हो गया है वहां पर रहने के लिए वहां की सरकार जजिया कर वसूल रही है और भविष्य में टीएमसी के लिए कार्य करना पड़ेगा ऐसा शपथ पत्र मांग रही है यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। तपोनिधि श्री पंचायती अखाड़ा आनंद के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी बालकानंद गिरी जी महाराज ने कहा कि हिंसा पीड़ित क्षेत्र में व्यवस्थाएं दी जाए और राज्य सरकार नहीं करती तो केंद्र सरकार राज्यपाल के द्वारा व्यवस्था कराएं।

 श्रीदिगंबर अखाड़ा के महामंडलेश्वर स्वामी रामेश्वरदास वैष्णव जी ने कहा कि संतो को जो वहां हिंसा पीड़ित हैं या हिंसा पीड़ित क्षेत्र हैं उनमें से एक-एक जिला या एक-एक गांव अपने सामर्थ्य अनुसार गोद ले लेना चाहिए। श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के सचिव श्रीमहंत रवींद्र पुरी जी ने कहा कि मैं इस प्रकरण की घोर निंदा करता हूं वहां पर स्थिति बहुत खतरनाक है और वहां हिंदू या अन्य समाज वर्गों का खासतौर पर दलित वर्ग का रहना बहुत मुश्किल हो गया है सरकार को शीघ्र ध्यान में लेना चाहिए। स्वामी चिदानंद मुनि जी ने कहा कि स्थितियां ऐसी आ गई है कि सर्वोच्च न्यायालय को स्वयं कमेटी बनाकर वहां का संज्ञान लेना चाहिए अन्यथा वहां की स्थिति दयनीय और सोचने हो जाएगी। विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमान दिनेश चंद्र जी ने कहा कि इस समय पश्चिम बंगाल की स्थिति बहुत संवेदनशील है आप सभी संत महापुरुषों के सहयोग से वहां पुनर्वास किया जा सकेगा,मेरा ऐसा मानना है। विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मंत्री व केंद्रीय धर्माचार्य संपर्क प्रमुख श्रीमान अशोक तिवारी जी ने प्रस्तावना रखते हुए सभी मूल विषय के बारे में बताते हुए सहयोग की बात रखी कार्यक्रम संयोजक प्रांत धर्माचार्य संपर्क प्रमुख राकेश बजरंगी मैं वेबीनार का कुशल संचालन किया।

बैठक में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्टी पूज्य युगपुरुष महामंडलेश्वर स्वामी परमानंद गिरि जी महाराज महामंडलेश्वर अभयानंद सरस्वती जी महामंडलेश्वर जनकपुरी जी महामंडलेश्वर रामेश्वरआनंद जी महामंडलेश्वर श्रीशिव प्रेमानंद जी महामंडलेश्वर ज्योतिर्मय आनंद जी महंत रविदेव शास्त्री जी महंत राममुनि जी महंत दयाराम दास जी स्वामी गोपालआचार्य जी स्वामी दिव्यांशु वेदांती जी स्वामी विज्यनंद सरस्वती जी स्वामी अखंडानंद जी स्वामी सत्यानंद जी स्वामी सुदर्शनदास जी स्वामी पुष्पेंद्रपुरी जी महंत ऋषभ वशिष्ट जी आदि सभी संतो ने अपने विचार व्यक्त किए

 जिला धर्माचार्य सह संपर्क प्रमुख मयंक चौहान ने वेबीनार में सभी के सहयोग का आभार व्यक्त किया।

वेबीनार में अधिकारी रहे उपस्थित केंद्रीय संयुक्त महामंत्री श्रीमान राघबल्लू जी प्रांत उपाध्यक्ष प्रदीप मिश्र जी प्रांत सहसंगठन मंत्री अजय जी प्रांत प्रमुख समन्वय मंच पंकज चौहान जी जिलाअध्यक्ष नितिन गौतम जी समन्वय मंच प्रांत सदस्य विजय पाल आर्य जी प्रांतीय टोली के सदस्य प्रभाकर कश्यप जी आदि प्रमुख पदाधिकारी उपस्थित रहे।

नागरिक मंच ने राम प्रकाश धर्मार्थ चिकित्सालय को भेंट की सहयोग सामग्री

 हरिद्वार नागरिक मंच का सेवा भाव अनुकरणीय ...डॉक्टर कंसल

हरिद्वार नागरिक मंच ने श्री राम प्रकाश मेमोरियल हॉस्पिटल को उपलब्ध कराई सेवा सामग्री

 हरिद्वार। शहर की प्रमुख सामाजिक संस्था हरिद्वार नागरिक मंच के पदाधिकारियों ने संस्था की ओर से चलाए जा रहे सेवा अभियान के अंतर्गत  शुक्रवार को श्री स्वामी विवेकानंद चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा संचालित  रामप्रकाश मेमोरियल चैरिटेबल अस्पताल में मरीजों और तीमारदारों की मदद के लिए सेवा सामग्री उपलब्ध कराई। जिसमें बड़ी संख्या में मास्क, सैनिटाइजर, बेडशीट और कंबल आदि सामग्री के साथ साथ यथार्थ गीता की पुस्तकें भी शामिल हैं।

 संस्था के पदाधिकारियों ने यह सभी सामान अस्पताल के निदेशक डॉक्टर अश्वनी कंसल को उपलब्ध कराया। 

संस्था के सेवा भाव की सराहना करते हुए डॉक्टर अश्वनी कंसल ने कहा कि हरिद्वार नागरिक मंच का यह प्रयास बेहद सराहनीय है। उन्होंने कहा कि इस समय जिस तरह का दौर चल रहा है सामाजिक संस्थाओं की भूमिका इसमें बहुत महत्वपूर्ण है। हम एक दूसरे का साथ देकर ही कोरोना काल जैसी विकट स्थिति पर विजय पा सकते हैं। इसके लिए उन्होंने संस्था के पदाधिकारियों को साधुवाद दिया।

 हरिद्वार नागरिक मंच के संस्थापक अध्यक्ष सतीश कुमार जैन ने कहा कि संस्था भविष्य में भी अपना सेवा अभियान लगातार जारी रखेगी।

 मंच के अध्यक्ष जगदीश लाल पाहवा ने राम प्रकाश मेमोरियल चैरिटेबल ट्रस्ट हॉस्पिटल के चिकित्सकों द्वारा उपलब्ध कराई जा रही  युवाओं को हरिद्वार की जनता की ओर से सराहा । मंच की ओर से उन्होंने हर संभव सहयोग देने की आश्वासन भी दिया। संस्था के संरक्षक अविनाश चंद्र ओहरी तथा उपाध्यक्ष देवेंद्र शर्मा ने कहा कि शहर में स्वास्थ्य सेवाओं को और ज्यादा मजबूत किए जाने की जरूरत है लेकिन रामप्रकाश मेमोरियल चैरिटेबल अस्पताल के चिकित्सकों ने अपनी बेहतर सेवाओं से शहर की जरूरतों को काफी हद तक पूरा किया है। उन्होंने चिकित्सकों को बेहतर सेवाओं के लिए साधुवाद दिया ।

हरिद्वार नागरिक मंच के महामंत्री राजेश शर्मा ने कहा कि संस्था का सेवा अभियान अनवरत जारी है, संकट की इस घड़ी में संस्था सभी लोगों के साथ हर कदम पर खड़ी है ।

इस दौरान समाजसेवी डॉ महेंद्र आहूजा, सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी विमल गर्ग, वरिष्ठ भाजपा नेता प्रमोद शर्मा, जाने-माने चिकित्सक डॉक्टर संजय शाह, डॉ जितेंद्र गुप्ता और निधि धीमान सहित अस्पताल के कई चिकित्सक और अन्य कर्मचारी मौजूद रहे। सभी ने हरिद्वार नागरिक मंच के प्रयासों की सराहना की।



व्यथित मन की व्यथा (विजयेन्द्र पालिवाल)


सुनो....व्यथित मन की व्यथा को व्यक्त किया है..शब्द अच्छे लगें तो कमेंट्स जरूर कीजियेगा....


माना ....

सूरज

में तपिश थी

 

 पर तुम शीतल हुआ करते थे 

चाँद 

क्या हुआ तुम्हे 

सितारों के बीच घिरे रहते हो 

सुनो 

यहां तक तो ठीक था 

पर तुमने तो 

हमारे अपनो को बुला कर 

उन्हें सितारे बनाना 

कब से शुरू कर दिया 

पता है तुम्हे

 देखता हूँ जब भी आसमाँ में

तुम्हारे इर्द गिर्द

लगता है मेरे अपने 

जमीं से टूट

 तुम्हारे पास आ रहे हैं

 दुःखी है मन अब तो

 न जाने क्यों 

बस ....बहुत हुआ

 अब तुम अपनो में रहो 

हमें अपनो में रहने दो

अपनी महकती चांदनी से..

उदास मन को उजास दो

जमी के तारों को 

तुम यहीं जगमगाने दो

 हमारे इन अपनो को  

अपने में ही रहने दो

रहो तुम वहां

अपनी चांदनी

अपने सितारों के साथ

हमें तो यहाँ रहने दो

अपनो में अपनों के साथ


विजयेंद्र पालीवाल

देश भक्त रहा है रतन टाटा का परिवार




क्या आपको पता है जिस Hindustan Lever Limited के सौंदर्य प्रशासन आप आज खरीद रहे हैं यह ब्रिटेन के दो भाई लीवर ब्रदर्स की कंपनी है जिन्होंने 1898 में मेरठ के अंदर पहला कारखाना लगाया था। इस कारखाने में नहाने का साबुन बनाया नहीं गया बल्कि लीवर ब्रदर्स अन्य देशों से साबुन लाकर यहाँ सप्लाई करते थे, आप यूं कह सकते हो कि भारत में साबुन से नहाने का का प्रयोग 1898 में किया था..!


मगर यह साबुन सिर्फ अंग्रेजों को और राजे महाराजाओं को ही दिया जाता था, आम जनता को साबुन नहीं दिया जाता। ब्रिटिश सेना में जो हमारे भारतीय सैनिक थे उन्हें हर महीने एक साबुन दिया जाता था.! 


भारत के कई बड़े व्यापारी को यह बात अच्छी नहीं लगी। उन्हीं में से एक थे रतन टाटा के दादाजी जमशेद जी टाटा। उन्होंने इस कंपनी को टक्कर देने के लिए स्वदेशी कंपनी लाने की योजना बनाई जिसके  product पर हर भारतीय का अधिकार हो..।


यही सोचकर उन्होंने मैसूर के शासक कृष्‍णा राजा वाडियार से मुलाकात की और उनसे कहा कि आप एक स्वदेशी फैक्ट्री लगाएँ और एक फैक्ट्री मैं लगाता हूँ। साबुन का फार्मूला मैं आपको देता हूँ। 


तब मैसूर के राजा ने 1916 में बेंगलुरु में मैसूर सैंडल सोप कंपनी की स्थापना की और पहला स्वदेशी साबुन भारत में बना। मगर उस समय प्रथम विश्व युद्ध चल रहा था इसलिए इसकी बिक्री 1918 में हुई..!


इस साबुन की खासियत है कि इससे अगर एक बार कोई नहाले तो 2 दिन तक इस साबुन की महक उसके शरीर से नहीं जाती है, क्योंकि यह चंदन से बना साबुन है और आज भी ब्रिटेन की महारानी इसी साबुन से नहाती हैं। यह भारत का लग्जरी शाही साबुन है..!


प्रथम विश्व युद्ध के बाद भारत में  त्वचा संबंधी रोग फैला था, इसी को ध्यान में रखकर 1918 में जमशेद टाटा ने केरल में नीम का साबुन बनाया था, उसका नाम बाद में हमाम पड़ा था। जमशेद टाटा ने उस वक्त यह साबुन गरीबों को मुफ्त बांटे थे ताकि वह बीमारी से ठीक हो जायें। 


मैसूर सैंडल सोप और हमाम साबुन उस वक्त भारत में इतने ज्यादा बिके कि लीवर ब्रदर्स कंपनी को उस वक्त लाखों रुपए का नुकसान हुआ था।


तो अंग्रेजों ने लीवर ब्रदर्स को बचाने के लिए इन साबुन पर रोक लगा दी थी। अंग्रेजों का यह प्लान सफल नहीं हुआ, इसीलिए अंग्रेजों ने अपनी सेना और उनके परिवारों के लिए लीवर ब्रदर्स के साबुन को अनिवार्य कर दिया..!


लीवर ब्रदर्स के लिए ट्रांसपोर्टेशन महंगा पड़ रहा था इसलिए उसने भी भारत में ही साबुन बनाने का काम शुरू किया। और उसके बाद उसने ब्रिटिश सेना की मदद से अपना प्रचार करवाया और अपने घाटे की भरपाई की। 


मगर 1931 में भगत सिंह को फांसी दिए जाने के बाद  फिर से लोग स्वदेशी की तरफ आ गए, और यह दोनों साबुन इतने प्रसिद्ध हुए की भारत से एक्सपोर्ट होने लग गए.! 


जमशेद टाटा दूरदर्शी व्यक्ति थे। वे भारत को आत्मनिर्भर बनाना चाहते थे। इसीलिए उनके चार सपने थे - पहला स्टील का कारखाना भारत में लगाना, दूसरा आवागमन के लिए साधन बनाना, तीसरा पानी से बिजली बनाना, और चौथा होटल बनाना.!  


मगर जमशेदजी अपनी उम्र में सिर्फ एक सपना ही पूरा कर सके थे वह था होटल बनाना जो मुंबई में आज भी ताज होटल के नाम से विख्यात है.!


यह देश का पहला होटल है जिसमें बिजली थी, हर कमरे में पंखे अमेरिका से मंगवा कर लगाए थे.!  यह होटल भी जिद की वजह से बनाया था। जब जमशेद टाटा विदेश गए थे तो उन्हें होटल में नहीं रुकने दिया गया था क्योंकि वह भारतीय काले इंसान थे और होटल अंग्रेज गोरों का था। मजबूरी वश उन्हें विदेश में सड़क पर सोना पड़ा। 12 दिन विदेश में रुकने के बाद भारत आकर उन्होंने सर्वप्रथम होटल बनाया। जमशेद टाटा के बाकी के तीनों सपने उनके बेटे और पोते ने पूरे किए।


आपको जानकर आश्चर्य होगा कि प्रथम विश्व युद्ध में दर्द की कोई गोली नहीं थी, जमशेद टाटा ने चाइना से अफीम मंगवा कर अंग्रेजों को दी थी।


जमशेद टाटा क़ानूनी तरीके से भारत के पहले अफीम आयात करने वाले व्यक्ति बने थे।


इसके बाद इसी अफीम से दर्द निवारक गोलियां बनी और भारत में अफीम पैदा होने लगी, इसका भी श्रेय जमशेद टाटा जी को ही जाता है। 


लोग चाहे रामदेव बाबा का मजाक उड़ाएँ, मगर यह सत्य है कि जमशेद टाटा के बाद विदेशी कंपनियों को टक्कर रामदेव बाबा ने ही दी है।


भारत में पहली कार भी जमशेद टाटा ने ही खरीदी थी और भारत में पहला आवागमन का साधन बस और ट्रक टाटा ने ही भारत को दिया है। 


जमशेद जी टाटा ने टाटानगर (आजकल झारखंड) में स्टील बनाने का कारख़ाना भी लगाया था। इस शहर का नाम “जमशेदपुर” है और टाटानगर भी कहा जाता है। इसके अलावा हिंदुस्तान की पहली स्वदेशी मिल कपड़े की थी जो की 1885 में नागपुर में एम्प्रेस मिल के नाम से जानी जाती है। यह कपड़ा बनाया जाता है। टाटा ग्रुप द्वारा स्थापित सारी फ़ैक्टरी आज भी चल रही है। कोई भी नहीं बंद पड़ी है। समय समय पर टेक्नॉलजी का नवीनीकरण किया जाता है। टाटा ग्रूप अपने किसी employee को नहीं निकलता है या छटनी नहीं करता है। यही टाटा ग्रूप की ख़ास विशेषता है।


टाटा परिवार के द्वारा किया गए कई कार्यों में से एक मुंबई का “जे जे हॉस्पिटल” भी है। यह 1838 में बना भारत का दूसरा मेडिकल कालेज और हॉस्पिटल है। इस हॉस्पिटल को 169 साल हो गए हैं। इसे “जमशेदजी जिजिभोय” ने बनवाया था। इसलिए इसे “JJ” Hospital कहते है।


 जब भी भारत में संकट आता है तब भारत के व्यापारी और भारतीय कंपनियां ही मदद के लिए आगे आती हैं। अतः आप सभी से विनती है कि स्वदेशी अपनाएं और भारत को आत्मनिर्भर बनाने में सहयोग करें।


 

करोना काल में भी खान पुर और रूडकी विधान सभा में हो रहे हैं अभूतपूर्व कार्य

रूडकी 27 म ई (अनिल लोहानी वरिष्ठ संवाददाता गोविंद कृपा रूडकी) 


  पिछले कुछ महीनों से जहां एक तरफ करोना महामारी से पूरा प्रदेश प्रताड़ित है ,वहीं दूसरी ओर विकास कार्यों में काफी गति आई है l माननीय मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत जी के नेतृत्व में रुड़की एवं खानपुर विधानसभा क्षेत्रों में काफी प्रशंसनीय विकास कार्य किए जा रहे हैं lजहां एक ओर रुड़की के विधायक माननीय प्रदीप बत्रा जी एवं नगर के मेयर गौरव गोयल जी द्वारा प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए भरसक प्रयास किए जा रहे हैं l वहीं दूसरी ओर खानपुर के विधायक माननीय कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन द्वारा भी अपने क्षेत्र में बढ़-चढ़कर विकास के कार्यों को तेजी से से पूरा कराया जा रहा हैl

रुड़की विधानसभा क्षेत्र में जहां नगर विधायक एवं मेयर द्वारा आपसी तालमेल से इस प्राकृतिक आपदा से निबटने के साथ-साथ क्षेत्र के विकास पर पूर्ण ध्यान दिया जा रहा है l वही जनता से संपर्क साध कर उनकी परेशानियों को दूर करके अपने कर्तव्यों का निर्वहन भी किया जा रहा हैl जोकि प्रशंसनीय है और जनता द्वारा इस को सराहा जा रहा है lआज रुड़की विधानसभा क्षेत्र में स्थिति यह है की प्रत्येक पीड़ित व्यक्ति माननीय विधायक एवं मेयर से आशा रखता है और उसको उसकी आशाओं के अनुरूप परिणाम भी मिलता है जोकि इस क्षेत्र के लिए गर्व की बात है इसके साथ साथ विपक्ष द्वारा भी समय-समय गलत कार्यों का विरोध करना भी अच्छे लक्षण हैंl

यहां पर इन क्षेत्रों के प्रतिनिधियों से एक निवेदन यह है कि प्रत्येक वर्ष बरसात के दिनों में इन क्षेत्रों के लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है और अनेक बीमारियां बरसात के पानी की निकासी ना होने के कारण क्षेत्र में फैल जाती हैं अतः खानपुर विधानसभा के विधायक जी से नम्र निवेदन है कि वह क्षेत्र में जल निकासी की समस्या पर अपना ध्यान केंद्रित करते हुए इस समस्या से क्षेत्र की जनता को मुक्त कराएं साथ ही साथ मेयर साहब से अनुरोध है कि उनके क्षेत्र में आए नए वार्डों में नाली सफाई का कार्य अति शीघ् एवं संतोषजनक करवाने का कष्ट करेंl

तीर्थ पुरोहित समाज ने किया मानवीय कार्य

हरिद्वार 27 म ई  (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  तीर्थ नगरी हरिद्वार में इने वाले हजारों तीर्थ यात्रियो से  गंगा पूजन , अनेक धार्मिक कर्म कांड करवाने वाले तीर्थ पुरोहित समाज के द्वारा इस करोना काल में  हरिद्वार में आने वाले समस्त आगंतुक यात्रियों ,  खुले आसमान के नीचे जीवनयापन करने वाले लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था कर मानवीय कार्य किया है उपरोक्त जानकारी समाजसेवी सौरभ सिखौला ने प्रदान करते हुए बताया कि  हरिद्वार के अन्य लोगों के लिए भोजन सेवा की गई। आज की सेवा में 500 लोगों को भोजन सेवा दी गई । गंगा घाटो सहित उत्तरी हरिद्वार के भूमानिकेतन घाट, सप्त ऋषि घाट आदि के आसपास रहने वाले फक्कडो को भी भोजन वितरित किया गया। 




परमार्थ निकेतन में श्रद्धा भाव के साथ मनाई गई बुद्ध पूर्णिमा



🟢 *बुद्ध पूर्णिमा आंतरिक मंथन और जागृति का पर्व*

ऋषिकेश 26 म ई (अमरेश दूबे संवाददाता गोविंद कृपा ऋषिकेश) 


  स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि भगवान बुद्ध ने दुनिया को स्थायी शान्ति, संयम और समता का सूत्र देकर जीवन को एक नया अर्थ दिया है। वे करूणा और प्रेम के अथाह सागर थे, आज बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर भगवान बुद्ध को भावभरा प्रणाम। बुद्ध अर्थात जागृत अवस्था! सभी दोषों से मुक्त जीवन। जो मनुष्य अज्ञानता रूपी नींद से जागृत अवस्था को प्राप्त कर लिया हो, वही बुद्ध है। भगवान बुद्ध का ज्ञान अन्तर्मन का है; अन्तस् को जागृत करने का ज्ञान है। बुद्ध ने लोगों की परिस्थितियों को नहीं बल्कि मनःस्थितियों को बदला।

भगवान बुद्ध ने बिना भेदभाव के पूर्ण निष्पक्षता के साथ सभी को करूणा से गले लगाया और संदेश दिया कि बुद्धम् शरणम् गच्छामि अर्थात बुद्ध की शरण में आइये। न तो अतीत के पूर्वाग्रहों में फंसे रहो और न भविष्य को लेकर चिंतित रहो, बल्कि जो वर्तमान क्षण है जीवन, केवल उस में ही जियो, अतः जागृत होकर केवल वर्तमान में जीना ही जीवन की सार्थकता है।

पूज्य स्वामी जी ने कहा कि आज इस धरा को  बुद्ध की करुणा की नितांत आवश्यकता है। जो इस संसार को कष्टों से मुक्त कर बुद्धत्व के परम आनंद की ओर ले जा सके। भगवान बुद्ध ने अपनी करुणा से दूसरों की सेवा, सहायता और समझ पैदा की। 

पूज्य स्वामी जी ने कहा कि भगवान बुद्ध मानवता को दिशा प्रदान करने वाले एक महान विभूति हुये जिन्होंने अपने जीवन से संदेश दिया और समाज को एक नई राह दिखाई है। ‘आत्म दीपो भवः’ ‘अप्प दीपो भवः’ अर्थात ‘अपने दीपक स्वयं बनो’ का दिव्य सूत्र दिया। भगवान बुद्ध का दर्शन ‘संवेदनशीलता’ पर अत्यंत जोर देता है और आज के इस दौर में भी संवेदनशील व्यक्तित्व चाहिये जो दूसरों के दुखों को अनुभव कर सके; समझ सके और मदद के लिये हाथ आगे बढ़ा सके क्योंकि सहानुभूति और संवेदनशीलता ही इस धरती पर मानवता को जिंदा रख सकती है। भगवान बुद्ध ने अहंकार से मुक्त जीवन जीने का सूत्र दिया है। ‘मैं’ की भावना से ऊपर उठकर ‘हम’ की भावना जागृत करने का सूत्र दिया।

पूज्य स्वामी जी ने कहा कि आज दुनिया में जितनी भी समस्यायें हैं उन सब के मूल में कहीं न कही ‘मैं’ और उपभोक्तावादी विचारधारा है। हम दुनिया में यह सांप्रदायिकता, आतंकवाद, नक्सलवाद, नस्लवाद, जातिवाद आदि कई समस्याओं को देख रहें हैं उसके पीछे ‘मैं’ रूपी ‘अहंकार’ ही तो छुपा हुआ है ना अतः हमें मैं से हम की ओर बढ़ना होगा और अहम् से वयम् की ओर बढ़ना होगा।

वर्तमान समय की सबसे बड़ी समस्या है प्राकृतिक संसाधनों का दोहन। जितना मिला है, उससे अधिक पाने की इच्छा के कारण प्राकृतिक संसाधन व सामाजिक संसाधनों का अत्यधिक दोहन किया जा रहा है, जिसके कारण मानवता खतरे में है, अतः अब हमें नैतिकता और सृजनात्मकता के सिद्धान्तों के साथ संतुलित जीवन शैली को अपनाना होगा। भगवान बुद्ध के संदेश हर युग के लिये प्रासंगिक हैं, आईये आज बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर ध्यान करें; स्वयं से जुड़ें और बुद्धत्व की ओर बढ़ें।

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...