भारतीयो को अपमानित करने का कुचक्र है अप्रैल फूल ( पवन आर्य)


 प्रिय भारतीय भाइयों बहनो,     

           किसी को ‘अप्रैल फूल’ कहने से पहले, इसकी वास्तविक सत्यता जरुर जान लें 

पावन चैत्र महीने की शुरुआत, जिसमें नवरात्रि भी है, उसको मूर्खता दिवस कह रहे हैं  !!


पता भी है क्यों कहते है अप्रैल फूल (अप्रैल फुल का अर्थ है भारतीय संस्कृति का मूर्खता दिवस!!!!)

ये नाम ईर्ष्यालु अंग्रेजों की देन है…

हम नासमझ कैसे समझें "अप्रैल फूल" का मतलब बड़े

दिनों से बिना सोचे समझे चल रहा है..... !!!!

अप्रैल फूल ? अप्रैल फूल ???

इसका मतलब क्या है.?? दरअसल जब साज़िश के तहत हमे 1 जनवरी का नववर्ष थोपा गया तो उस

समय लोग विक्रमी संवत के अनुसार 1 अप्रैल से

अपना

नया साल मनाते थे, जो आज भी भारतीयों 

द्वारा मनाया ही जाता है, पर होली, नवरात्रि या देश में अलग अलग त्यौहारों के नाम से। आज भी हमारे बही खाते और बैंक 31 मार्च को बंद होते है और 1 अप्रैल से शुरू

होते है। पर उस समय जब भारत गुलाम था तो साज़िश कर्ताओं ने विक्रमी संवत का नाश करने के लिए साजिश करते हुए 1 अप्रैल को मूर्खता दिवस "अप्रैल फूल" का नाम

दे दिया, ताकि हमारी सभ्यता मूर्खता लगे.. अब आप

ही सोचो अप्रैल फूल कहने या मानने वाले कितने सही हैं हम 

आप.?

याद रखें अप्रैल माह से जुड़े हुए इतिहासिक दिन और त्यौहार

1. हिन्दुओं का पावन महिना इस दिन से शुरू होता है

(शुक्ल प्रतिपदा)

2. हमारे रीति -रिवाज़ सब इस दिन के कलेण्डर

के अनुसार बनाये जाते है।

6. आज का दिन दुनिया को दिशा देने वाला है।

चूँकि विदेशी हिन्दुओ के विरुध थे इसलिए हिन्दूओं या भारतीयों के त्योहारों को मूर्खता का दिन कहते थे और हम आप

हिन्दू भी बहुत शान से उसी में बह गये.. बिना सत्य जाने.. !!!!


     अब गुलाम मानसिकता का सुबूत मिटाना है देवियों सज्जनों


        अप्रैल फूल सिर्फ भारतीय सनातन कलेण्डर, जिसको

पूरा विश्व फॉलो करता था उसको भुलाने और

मजाक उड़ाने के लिए बनाया गया था। 1582 में पोप

ग्रेगोरी ने नया कलेण्डर अपनाने का फरमान जारी कर दिया जिसमें 1 जनवरी को नया साल का प्रथम दिन बनाया गया।

जिन लोगो ने इसको मानने से इंकार किया, उनके 1

अप्रैल को मजाक उड़ाना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे 1 अप्रैल नया साल का नया दिन होने के बजाय मूर्ख दिवस बन गया।आज भारत के सभी लोग अपनी ही संस्कृति का मजाक उड़ाते हुए अप्रैल फूल ‘डे’ मना रहे

है।

जागो मेरे भारतीय भाई बहन  जागो।।

अपने धर्म, अपनी विशाल संस्कृति को पहचानो।अनेकता में एकता की शक्ति को जानो।

         इस जानकारी को इतना फैलाइये कि कोई भी इस आने वाली 1 अप्रैल से मूर्ख दिवस का राग ना अलापे, और विदेशियों द्वारा प्रसिद्ध किया गया ये भारतीयों का मजाक बंद करे।

जिला संघ चालक रोहिताश कुँवर पुनः बने प्रधानाचार्य

 *रोहिताश कुँवर ज्वालापुर इंटर कालेज के  पुनः प्रधानाचार्य नियुक्त* 


हरिद्वार। 31 मार्च (अनीता वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) ज्वालापुर इंटर कालेज में एक बार पुनः रोहिताश कुँवर ने प्रधानाचार्य का पदभार ग्रहण कर लिया है। प्रभारी प्रधानाचार्य राम सिंह चौहान के सेवानिवृत्त होने के बाद आज रोहिताश कुँवर को यह जिम्मेदारी मिली है। बता दें कि रोहिताश कुँवर पूर्व में भी प्रभारी प्रधानाचार्य रह चुके है। सेवानिवृत्त होने के बाद उन्हें इस पद से हटना पड़ा था। जबकि राज्य स्तरीय मिताली पुरुस्कार के बाद श्री कुँवर को दो वर्ष का सतत लाभ के रूप में सेवा विस्तार हुआ था। 

मुख्य शिक्षा अधिकारी/प्रबन्ध संचालक ज्वालापुर इंटर कालेज ज्वालापुर डॉ. आनन्द भारद्वाज द्वारा सेवानिवृत्ति आदेश जारी करते हुए जानकारी दी कि 31 मार्च 2021 को प्रभारी प्रधानाचार्य राम सिंह चौहान की अधिवर्षता एवं सत्र लाभ समाप्त होने के फलस्वरूप सेवानिवृत्त घोषित करते हुए कार्यभार से मुक्त किया जाता है। साथ ही वरिष्ठ प्रवक्ता रोहिताश कुँवर को अग्रिम आदेश तक प्रभारी प्रधानाचार्य का कार्यभार दिया जाता है। 

रोहिताश कुँवर के पुनः प्रधानाचार्य बनाने पर नगर निगम में भाजपा पार्षद दल के उप नेता अनिरूद्ध भाटी, पार्षद विनीत जौली, गोविंद कृपा सेवा समिति धर्मार्थ ट्रस्ट के संरक्षक संजय वर्मा, समाजसेवी जगदीश लाल पाहवा भाजपा महिला


मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्या अनीता वर्मा, लाल माता वैष्णो देवी मंदिर के संचालक भक्त दुर्गा दास सहित  शहर के कई सामाजिक-धार्मिक व राजनीतिक संगठनों ने बधाई दी है। बता दे कि रोहिताश कुँवर का पहला कार्यकाल बेहद प्रभार शाली रहा है। उन्होंने प्रधानाचार्य रहते हुए कालेज में शिक्षण सुधार के साथ व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया था।

आई जी गुंज्याल ने लगवाया वैकसीन का दूसरा टीका




कुम्भ मेला महानिरीक्षक संजय गुंज्याल ने कोविड-19 वैक्सीन की द्वितीय  डोज लगवाने के उपरान्त रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चैधरी एवं उनकी टीम की विशेष सराहना की।

हरिद्वार 31 मार्च (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  जिलाधिकारी सी0रविशंकर के निर्देशन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एस0के0झा0 के संयोजन में जनपद हरिद्वार में कोविड-19 वैक्सीन फ्रंट लाइन वर्करस कुम्भ मेला,वरिष्ट नागरिक एवं कुम्भ मेले में सहयोग करने वाले स्वयंसेवकों को लगायी जा रही है। ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में कोविड-19 वैक्सीन के 11 सेन्टर बनाये गये हैं जिसमे रोजाना कोविड-19 वैक्सीन फ्रन्ट लाइन वर्करस एवं विभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों, वरिष्ट नागरिकों एवं स्वयंसेवकों को कोविड-19 वैक्सीन दी जा रही है। सभी कोविड-19 वैक्सीन सेन्टरस पर इण्डियन रेडक्रास के सचिव डा0 नरेश चैधरी के नेतृत्व में रेडक्रास की टीम सक्रीय रूप से सहयोग कर रही है। इस समय कुम्भ मेले में फ्रन्ट लाईन में कार्य करने वाले विभागों के अधिकारियेां, कर्मचारियों ,स्वयंसेवकों ,पुलिस विभाग के अधिकारियों, जवानों तथा अर्द्ध सैनिक बलों के जवानों एवं पत्रकारों को विशेष रूप से कोविड-19 वैक्सीन दी जा रही है। आज इसी क्रम में कुम्भ मेला महानिरीक्षक संजय गुंज्याल ने ऋषिकुल राजकीय महाविद्यालय की वैक्सीनेशन साइट पर कोविड-19 वैक्सीन की ़िद्वतीय डोज लगवाई। महानिरीक्षक संजय गुज्याल न वैक्सीनेशन सेंटर पर वैक्सीनेशन गाइड लाइन का पालन करते हुये प्रतीक्षा उपरान्त अपने नम्बर आने पर ही द्वितीय डोज का रजिस्ट्रेशन एंव सत्यापन करने के उपरान्त वैक्सीनेशन टीम से कोविड-19 की द्वितीय डोज लगवाई। संजय गुज्याल ने रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चैधरी की कर्मठ कार्यशैली के लिए विशेष सराहना करते हुये कहा कि डा0 नरेश चैधरी के पूर्व में कुम्भ के अनुभवों को देखते हुये पुलिस प्रशासन को विशेष कमी महसूस हो रही है। डा0 नरेश चैधरी ने पुलिस प्रशासन के साथ पूर्व में कुम्भ/अर्धकुम्भ एवं अन्य बड़े-बड़े स्नान पर्वों एवं राष्ट्रीय कार्यक्रमों में अपना समर्पित योगदान दिया है। इसके पुलिस प्रशासन हमेशा डा. नरेश चैधरी का आभारी है। और आज मै  डा0 नरेश चैधरी को कुम्भ मेले में अपनी पुलिस टीम के सहयोग के लिए सहसम्मान के आमंत्रित करता हूं। और मुझें पूर्ण विश्वास है कि डा0 नरेश चैधरी के अनुभवों एवं उनकी कर्मठ कार्यशैली का साथ पुलिस प्रशासन को इस महाकुम्भ में भी अवश्य मिलेगा। अन्त में रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चैधरी ने कुम्भ पुलिस महानिरीक्षक संजय गुज्याल का भावुक होकर आभार व्यक्त करते हुये कहा कि मैं कुम्भ मेला पुलिस प्रशासन का आभारी हूं कि मुझे महाकुम्भ में सहयोग करने के लिए विशेष रूप से आमंत्रित किया है। रेडक्रास टीम में डा0 भावना,डा0 वैशाली, डा0 मनीष,श्रीमती पूनम,संतोष,डा0 अनामिका तुली,डा0 स्वाति कोठियाल,डा0 दिव्या जोशी,डा0 डेजी सिंह,डा0 पारस गुप्ता, अनुराधा चैरसिया, आरती चैहान, पूनम शर्मा,तनूजा चैहान ने सक्रिय सहभागिता की।

नरेंद्र बागडी हुए सेवानिवृत्त


हरिद्वार 31 मार्च  ( विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  ऋषि कुल राजकीय आयुर्वेदिक कालेज चिकित्सालय हरिद्वार के ईमानदार कर्तव्यनिष्ठ और संघ के प्रति  समर्पित कार्यकर्ताचतुर्थ श्रेणी कर्मचारी  नरेंद्र बागड़ी जी सेवानिवृत्त हुए उनकी कर्तव्यनिष्ठा का प्रमाण की उनकी सेवा निर्वती पर ऋषिकुल एनाटॉमी हाल भरा हुआ था और जिले के साथ साथ प्रदेश के पदाधिकारियों ने भी उनकी सेवानिवृत्त पर शिरकत कर उनको शुभकामनाएं दी लगभग41 वर्ष की सेवाएं इन्होंने राजकीय आयुर्वेदिक कालेज में दी कार्यक्रम का संचालन शिवनारायण मोहित मनोचा ने अध्यक्षता  जसपाल नेगी चीफ फार्मासिस्ट ने की। परिसर    निदेशक प्रोफेसर अनूप गक्खड़ चिकित्सा अधीक्षक डॉ के के शर्मा सर्जिकल विभाग के हेड डॉ अजय कुमार गुप्ता प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेड़ा छतर पाल  सिंह ने कहा  नरेंद बागड़ी जी की सेवायें अपने सेवा काल में उत्कृष्ट रही उनसे अन्य कर्मचारियों को प्रेरणा लेनी चाहिए

फार्मेसिस्ट संवर्ग से खीमा नंद भट्ट मेट्रन शाकुंतला वर्मा, जिलाध्यक्ष शिवनारायण सिंह मुख्य संयोजक संघर्ष समिति समीर पांडेय ने कर्मचारियों की सेवनिर्वत्ति होने के बाद एक से डेढ़ साल हो जाने पर भी देयकों ओर पेंसन जारी ना होने पर अफसोस जताया उन्होंने परिसर निदेशक को अपनी बात विश्विद्यालय तक पहुचाने के लिए कहा नही होने की दशा में आंदोलन की चेतावनी भी दी कर्मचारियों के आक्रोश को भांपकर परिसर निदेशक ने भविष्य में सभी के कार्य और देयक समय से मिले इसके बारे में में स्वयं प्रयास करूंगा सभी के द्वारा नरेंद्र बागड़ी जी को शुभकामनाएं प्रेषित की गई माला ओर शाल तथा प्रतीक चिन्ह भेंट किये गए

सेवनिर्वत्ति के अवसर पर जस पाल नेगी, खीमा नंद भट्ट, महेश कुमार, राजेन्द्र तेश्वर, दीपक धवन, राकेश भंवर समीर पांडेय, अजय कुमार, दिनेश ठाकुर, शिवनारायण सिंह,नितिन, मनोज पोखरियाल, राकेश कुमार, दीपक,विनोद, कमल, मोहित मनोचा, छत्रपाल सिंह, सुरेंद्र, राजपाल,अमित सिंह, नाथी राम, रोहताश, संध्या रतूड़ी, शिखा, नीता राणा, चंदन सिंह, संकुतला वर्मा, नीमा, बुगली देवी, बृजेश, बाला देवी, सीमा, सोनी, बालेश, प्रवीण, जयपाल, चंद्रप्रकाश, ज्योति नेगी,आदि सम्मलित हुए ।


जीर्णोद्धार की प्रतीक्षा में है शंकराचार्य टावर

 कुम्भ मेले में जीर्णोद्धार की प्रतीक्षा में है मालवीय घाट स्थित आद्य भगवान शंकराचार्य स्मृति स्थल

हरिद्वार 31 मार्च कुम्भ मेले में हरकी पौड़ी सहित सभी घाटो का सौंदर्यकरण हो चुका है लेकिन मालवीय घाट बिरला टावर के पास स्थित संयास परम्परा के संस्थापक आद्य भगवान शंकराचार्य और उनके शिष्यो की स्मृति में बना टावर और प्रतिमाओ के सौंदर्य करण की ओर किसी का ध्यान नहीं गया। आद्य भगवान शंकराचार्य स्मारक समिति के महामंत्री श्रीमहंत देवानंद सरस्वती महाराज ने कुम्भ मेला प्रशासन से इस ओर ध्यान देने का आग्रह किया


उदासीन पंचायती अखाड़े के महामंडलेश्वर पद पर आसीन होगें स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश महाराज

 उदासीन परम्परा को समृद्ध कर रहे है स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश 

हरिद्वार 31 मार्च  तीर्थ नगरी हरिद्वार आध्यात्मिक राजधानी होने के साथ साथ सेवा की नगरी भी है जँहा पर भूखे को भोजन, तीर्थयात्रीयो को आश्रय और बिमार को निःशुल्क दवाई मिलती है। इसी श्रृंखला में उदासीन परम्परा की धार्मिक संस्था प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश जी  महाराज के नेतृत्व में उदासीन परम्परा की सेवा और सुमिरन के पक्ष को निरंतर आगे बढा रही हैं। अपने छोटे से सेवा काल में जिस प्रकार स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश ने विवादो में पड़ी संस्था को विपत्तियो के भँवर से निकाल कर तीर्थ नगरी में प्रतिष्ठित किया है वह प्रशंसनीय है। उदासीन परम्परा में जिस प्रकार ब्रह्मलीन जगद् गुरु रामानंदाचार्य स्वामी हंसदेवाचार्य शून्य से शिखर तक पहुँचे थे उसी प्रकार स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश अपनी कार्यशैली और पुरुषार्थ के चलते नित नये आयाम स्थापित कर रहे हैं। स्वामी राम प्रकाश धर्मार्थ चिकित्सालय इस का एक उद्धाहरण है और प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम के महंत बनने से लेकर उदासीन अखाड़े के महामंडलेश्वर पद पर आसीन होने का सफर एक के बाद उनकी योग्यता और भविष्य में आध्यात्मिक क्षेत्र में प्राप्त होने वाली उपलब्धियो की शुरुआत है। स्वामी रूपेन्द्र प्रकाश महाराज आगामी 6 अप्रैल को उदासीन पंचायती अखाड़े के महामंडलेश्वर बनने जा रहे हैं। जिससे संत समाज में एक प्रसन्नता का माहौल बना हुआ है।


कमेटी चलाने वाले ने लगाई फांसी

 कमेटी चलाने  वाले भीष्म जगवानी उर्फ भीम ने फाँसी लगा कर की आत्महत्या 

हरिद्वार /जमालपुर कँला 31 मार्च 


( दिनेश कश्यप संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ग्रामीण)   कनखल थाने के अन्तर्गत जमालपुर कँला के दयाल एन्कलेव में कमेटी और ब्याज का काम करने वाले भीष्म जगवानी ने कर्ज और कमेटीयो का पैसा डूब जाने के कारण तनाव के चलते फांसी लगाकर सुबह अपनी दुकान में आत्महत्या कर ली। भीम भाई के नाम से मशहूर कमेटी चलाने वाले की आत्महत्या हत्या से उसके धंधे में लाखो रूपया लगाने वाले  सफेदपोश नेताओ और पैसा लेने वालो में हडकमप मचा हुआ है।

भाजपा ने किया वैकसीन लगाने वाले चिकित्सको का सम्मान

 हरिद्वार 30 मार्च (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  भारतीय जनता पार्टी मंडल हरिद्वार ने मंगलवार को   ऋषि कुल आयुर्वेदिक कॉलेज पहुंच कर वैक्सीन लगाने वाले डॉक्टर व एएनएम तथा तथा नोडल अधिकारी वैक्सीनस साइट फ्रंटलाइन कुंभ मेला श्री नरेश चौधरी एवं उनकी डाक्टरों की टीम जिनमें डॉक्टर पूनम एमडी डॉक्टर संगीता डॉ भावना डॉक्टर वैशाली डॉक्टर शिवाली डॉक्टर सीनम डॉक्टर कितर्थ डॉ लक्ष्मी एवं एएनएम आरती चौहान पूनम शर्मा हिना नौटियाल तथा अनुराधा चौरासिया का भारतीय जनता पार्टी मंडल हरिद्वार अध्यक्ष वीरेंद्र तिवारी के नेतृत्व में स्वागत किया । प्रथम वीरेंद्र तिवारी ने डॉक्टर नरेश चौधरी का माल्यार्पण कर स्वागत किया एवं भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष पूनम मखीजा, उपाध्यक्ष दिनेश पांडे , महामंत्री तरुण नैयर , युवा मोर्चा अध्यक्ष चंद्र कांत पांडे, मीडिया प्रमुख विकल राठी ,युवा मोर्चा प्रभारी गौरव भारद्वाज, चिकित्सा प्रकोष्ठ अध्यक्ष डॉ ज्ञान प्रकाश ,युवा मोर्चा महामंत्री अंकुश भाटिया ,उपाध्यक्ष सुंदर शर्मा तथा किसान मोर्चा के अध्यक्ष अजीत कुमार ने सभी डॉक्टरों एवं एएनएम को पुष्प गुच्छ देकर उनका स्वागत किया। इस अवसर पर डॉक्टर नरेश चौधरी ने कहा कि भाजपा मंडल हरिद्वार द्वारा जिस प्रकार मेरा वह मेरी पूरी टीम का स्वागत किया मैं उससे अत्यंत अभिभूत हूं । उन्होंने कहा की मैं वैक्सीन लगाने में कभी भी कोई कमी नहीं छोडूंगा । भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष वीरेंद्र तिवारी ने कहा की डॉ नरेश चौधरी जिस प्रकार मेहनत एवं लगन से अपनी पूरी टीम के साथ वैक्सीन लगाने का कार्य कर रहे हैं वह काफी प्रशंसनीय है तथा भारतीय जनता पार्टी हमेशा ऐसे लोगों का उत्साहवर्धन करने के लिए कार्य करती है । इस अवसर पर तरुण नैयर व दिनेश पांडे ने कहा की नरेश चौधरी व उसकी पूरी टीम भगवान के रूप में जन सेवा में तल्लीन है। 


फिट इंडिया मूवमैंट एन एस एम जे एन कालेज




*फिट इन्डिया मूवमेंट देगा कोरोना को मात*   *डाॅ. बत्रा*

महाविद्यालय में किया गया कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन

 खेलकूदो द्वारा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के फिट इंडिया मूवमेंट को को बढ़ावा 

हरिद्वार 30 मार्च, 2021  एस.एम.जे.एन. पी.जी. काॅलेज में आज खेलकूद विभाग द्वारा कबड्ड़ी प्रतियोगिता (छात्र वर्ग) का आयोजन किया गया जिसमें काॅलेज की पांच टीमों ने प्रतिभाग किया। कबड्ड़ी प्रतियोगिता का शुभारम्भ प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा द्वारा किया गया। उक्त प्रतियोगिता में महाविद्यालय प्रशासन की ओर से जारी कोविड-19 की एस.ओ.पी. एवं शासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया गया। 

कबड्डी प्रतियोगिता  में  प्रमुख रूप से नितिन कुमार, हिमांशु उनियाल, अर्पित, विष्णु, अंकित सैनी, विशाल, यशवंत, रितेश, हिमांशु, ईश्वर, प्रतीक, प्रिंस आदि प्रतिभागियों ने उत्साहपूर्वक प्रतिभाग किया। 

कबड्डी प्रतियोगिता, छात्र वर्ग का फाईनल मुकाबला में टीम वारियर्स के विभू चौधरी, दीपांशु बालियान, उत्सव आनन्द, हिमांशु, सन्नी, गौरव चैधरी, अभिराज, केशव की टीम विजयी रहे, विजयी टीम वारियर्स ने अपनी प्रतिद्वन्दी टीम उत्कर्ष के सावन, शंशाक चौधरी, शिवांश, पारस, आमिर, गणेश, धर्मप्रीत की टीम क सीधे सैटों में 26-12 से हराया।

इस अवसर पर काॅलेज प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने सभी खिलाड़ियो को अपनी शुभकामनायें देते हुए कहा कि खेल में अनुशासन सर्वोपरि है तथा इससे खेल भावना की विजय होती है। खेल को टीम भावना से खेलने पर यह सामूहिक प्रयासों के तहत अन्ततः विजयश्री को प्राप्त करती है। इससे समाज में संयुक्त रूप से कार्य करने की प्रवृत्ति को प्रोत्साहन मिलता है। प्राचार्य ने कहा कि खेलकूद द्वारा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के फिट इंडिया मूवमेंट को बढ़ावा मिलेगा। फिट इंडिया मूवमेंट ही कोरोना को मात देगा।

विजयी टीमों को डाॅ. सरस्वती पाठक, डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी, मुख्य खेलकूद अधीक्षक डाॅ. तेजवीर सिंह तोमर, सह खेलकूद अधीक्षक विनय थपलियाल, खेलकूद प्रशिक्षक योगेश कुमार रवि, कार्यालय अधीक्षक मोहन चन्द्र पाण्डेय आदि ने विजयी टीम को अपनी शुभकामनायें प्रेषित की। प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका का निवर्हन ओमकार शर्मा, भारत भूषण, कुशलवीर, दीपक कुमार जिला स्पोर्टर्स अकादमी हरिद्वार ने किया।

आपदा प्रबंधन के लिए सजग राज्य सरकार



*दुरूस्त होंगे सूबे के आपदा परिचालन केंद्र: डा. धन सिंह* 


पूरे सप्ताह 24 घंटे खुले रहेंगे आपदा कंट्रोल रूम 


जिलों हेतु 1077 तथा राज्य में 1070 टोल फ्री नम्बर जारी


176 अर्ली वार्निंग वेदर स्टेशनों से मिलेगी मौसम की हर जानकारी 


देहरादून, 30 मार्च (जे के रस्तौगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून) मानसून सीजन को दृष्टिगत रखते हुए राज्य सरकार ने आपदा प्रबंधन विभाग को अलर्ट कर दिया है। किसी भी आपदा से निपटने के लिए विभाग को जवाबदेह एवं दुरूस्त बनाने के लिए विभागीय मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कार्यभार ग्रहण करते हुए अधिकारियों के पेंच कसने शुरू कर दिये हैं। उन्होंने आपदा की चुनौतियों से निपटने के लिए शासन एवं प्रशासन के अधिकारियों को राज्य एवं जिलों के आपदा परिचालन केंद्रों को मुस्तैद रखने के निर्देश दिये हैं।मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के नेतृत्व में आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास विभाग का कार्यभार ग्रहण करते हुए विभागीय मंत्री डा. धन सिंह रावत ने लगातार विभाग की समीक्षा बैठकें लेने के उपरांत आपदा संबंधि भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए कार्ययोजना तैयार की है। देहरादून में 


जारी एक बयान में उन्होंने कहा कि आगामी मानसून सीजन को देखते हुए राज्य आपदा परिचालन केंद्र के साथ-साथ सभी 13 जिलों के आपदा परिचालन केंद्रों को सप्ताह भर 24 घंटे खुले रखने के निर्देश दिये गये हैं। इसके अलावा 13 जनपदों के लिए जारी टोल फ्री नम्बर 1077 तथा राज्य स्तर पर जारी 1070 तथा मोबाइल नम्बर 9557444486 को जनप्रतिनिधियों के साथ ही आम जनमानस तक विभिन्न माध्यमों से प्रचारित करने को कहा है। विभागीय मंत्री ने बताया कि राज्य में वर्तमान में कुल 15 कारकों को आपदा की श्रेणी में रखा गया है। जिसमें से 12 गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा तथा तीन राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित की गई है। भारत सरकार द्वारा चिन्हित आपदाओं में चक्रवात, सूखा, भूकम्प, आग, त्वरित बाढ़, बादल फटना, हिमस्खलन, भू-स्खलन, कीट अक्रमण, ओलावृष्टि, सुनामी, शीत लहर/पाला, आकाशीय बिजली शामिल है। जबकि राज्य सरकार द्वारा आपदा की श्रेणी में आंधी-तूफान, मानव-वन्य जीव संघर्ष तथा वज्रपात को शामिल किया गया है। विभागीय मंत्री ने यह भी निर्देश दिये हैं कि आम जनमानस को आपदा से बचाव के प्रति जागरूक करने के लिए होर्डिंग्स, हैंडबुक, पम्पलेट, कम्युनिटी रेडियों आदि विभिन्न माध्यमों का उपयोग किया जाय। इसके साथ न्यायपंचायत स्तर पर युवक मंगल दल, महिला मंगल दल, ग्राम प्रहरी, वन प्रहरी एवं पंचायत सदस्यों को बेसिक प्रशिक्षण देकर आपदा किट उपलब्ध कराये जाने को भी विभाग को निर्देश दिये। विभागीय मंत्री ने कहा कि प्रदेश के आपदा प्रभावित क्षेत्रों में स्थापित 176 अर्ली वार्निंग वेदर स्टेशनों को भी एक्टिव रखा जाय। ताकि समय रहते स्थानीय स्तर पर बचाव एवं सुरक्षा अभियान चला कर जान-माल की सुरक्षा की जा सके। 



स्वास्थ्य सचिव ने किया वैकसीन केन्द्र का निरीक्षण

 हरिद्वार 30 मार्च (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) स्वास्थय सचिव उत्तराखण्ड शासन ने वैक्सीनेशन साइट का भ्रमण कर रेड क्रास स्वयंसेवकों की समर्पित सेवा भावना की सराहना करते हुए उत्साह वर्धन किया। 

जिलाधिकारी सी0रविशंकर के निर्देशन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एस0के0झा0 के संयोजन में जनपद हरिद्वार में कोविड-19 वैक्सीन फ्रंट लाइन वर्करस कुम्भ मेला,वरिष्ट नागरिक एवं कुम्भ मेले में सहयोग करने वाले स्वयंसेवकों को लगायी जा रही है। ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में कोविड-19 वैक्सीन के 11 सेन्टर बनाये गये हैं जिसमे रोजाना कोविड-19 वैक्सीन फ्रन्ट लाइन वर्करस एवं विभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों, वरिष्ट नागरिकों एवं स्वयंसेवकों को कोविड-19 वैक्सीन दी जा रही है। सभी कोविड-19 वैक्सीन सेन्टरस पर इण्डियन रेडक्रास




के सचिव डा0 नरेश चैधरी के नेतृत्व में रेडक्रास स्वयंसेवक बढ चढकर सहयोग कर रहे हैं। इस समय कुम्भ मेले में फ्रन्ट लाईन में कार्य करने वाले विभागों के अधिकारियेां, कर्मचारियों ,स्वयंसेवकों ,पुलिस विभाग के अधिकारियों, जवानों तथा अर्द्ध सैनिक बलों के जवानों, पत्रकारों एवं वरिष्ठ नागरिकों को विशेष रूप से कोविड-19 वैक्सीन दी जा रही है। इसी क्रम में स्वास्थय सचिव अमित नेगी ने वैक्सीनेशन साइट का आकस्मिक निरीक्षण किया और वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डा0नरेश चैधरी से वैक्सीनेशन सेन्टर एवं वैक्सीन लगवाने वाले लाभार्थियों का प्रतिपुष्टि लिया । स्वास्थय सचिव अमित नेगी ने वैक्सीनेशन सेन्टरस पर वैक्सीन लगवाने में सहयोग करने वाले रेड क्रास स्वयंसेवकों की सराहना की। स्वास्थय सचिव ने वैक्सीनेशन सेन्टरस पर लाभार्थीयों से विशेषकर साधु संतों से भी जो उस समय वैक्सीन लगवा रहे थे से भी प्रतिपुष्टि लिया। सभी ने वैक्सीनेशन टीम की प्रशंसा की। स्वास्थय सचिव अमित नेगी ने नोडल अधिकारी डा0नरेश चैधरी की कर्तव्यनिष्ठा,उत्कृष्ठता एवं कर्मठता की विशेष रूप से सराहना करते हुए कहा’’ कि जो भी वैक्सीन लगवाने के दायरे में आता है उसको कोविड-19 महामारी से बचने के लिये सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन डोज लगवानी चाहिए जिसकी द्वितीय वैक्सीन डोज शेष है वह समय रहते हुए अवश्य लगवा ले जिससे महाकुम्भ स्नान पर्वो पर अपने अपने दायित्वों का निर्वहन सुरक्षित होकर कर सकें’’। स्वास्थ्य सचिव के निरीक्षण के दौरान मेला अधिकारी स्वास्थ्य डा0 अर्जुन सिंह सेंगर, अपर मेला अधिकारी स्वास्थ्य सतीश जैन, प्रवीण कुमार, श्री पंचायती उदासीन बडा अखाड़ा के महंत कोठारी महंत दामोदर दास, महंत कमलदास एवं काफी संख्या में साधु संत भी वैक्सीन लाभार्थियों के रूप में उपस्थित थे। वैक्सीन टीम में डा0 भावना, डा0अंजली, डा0अराधना, डा0वैशाली,डा0 पवन पटेल, डा0 आमना शर्मा, डा0 शिवानी, डा0 जेबा मलिक, डा0 हर्षा, डा0राधा,डा0 नेहा,डा0 सुरूचि ,डा0 श्वेता,श्रीमती पूनम ने सक्रिय सहभागिता की।

स्वामी शंकर भारती जी का हुआ परमार्थ निकेतन आगमन


*ऋषिकेश,  30 मार्च  (अमरेश दूबे संवाददाता गोविंद कृपा ऋषि केश) जगद् गुरु  शंकराचार्य महासंस्थानम् शारदापीठम् श्रृगेंरी से सम्बंधित मैसूर मठ आचार्य श्री शंकरभारती स्वामी जी परमार्थ निकेतन पधारे। परमार्थ गुरूकुल के ऋषिकुमारों को आद्यशंकराचार्य रचित ‘सौंदर्य लहरी’ स्तोत्र का विविधवत् प्रशिक्षण दिये  जाने  हेतु विस्तृत चर्चा हुई।  पूज्य स्वामी जी ने बताया कि  ऋषिकुमारों को प्रशिक्षित करने  के पश्चात वे अन्य को भी प्रशिक्षित करेंगे ताकि आद्यशंकराचार्य रचित ‘सौंदर्य लहरी’ स्तोत्र को जन-जन तक प्रसारित किया जा सके।

परमार्थ निकेतन  के  अध्यक्ष पूज्य स्वामी  चिदानन्द  सरस्वती  जी महाराज  ने  कहा  कि जगद्गुरू शंकराचार्य जी ने छोटी से उम्र में समाज को एकता और अखंडता के सूत्र में पिरोने हेतु पैदल भारत भ्रमण कर चार पीठों की स्थापना की। कश्मीर से कन्याकुमारी तक, दक्षिण से उत्तर तक, पूर्व से पश्चिम तक पूरे भारत का भ्रमण कर एकता का संदेश दिया वह भी उस समय जब कम्यूनिकेशन (संवाद) और यातायात के कोई साधन नहीं थे। उन्होने कहा कि एकरूपता हमारे भोजन में, हमारी पोशाक में भले ही न हो परन्तु हमारे बीच एकता जरूर हो; एकरूपता हमारे भावों में हो, विचारों में हो ताकि हम सभी मिलकर रहें। आज भी ये चारों धाम राष्ट्रीय एकता के प्रतीक हैं। वर्तमान समय में भी राष्ट्र को ऐसे ही महापुरूषों की जरूरत है जो पूरे समाज को एकता के सूत्र से जोड़ सकें। जगद्गुरू शंकराचार्य जी द्वारा रचित वेदान्त दर्शन समाज के उत्थान में बहुत बड़ी भूमिका निभा सकता है।

पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने कहा कि शंकराचार्य जी ने वेदान्त और अद्वैत के ऐसे दिव्य सूत्र दिये जिसने भारत ही नहीं पूरे विश्व को एक नई दिशा दी।  आदिगुरू शंकराचार्य जी द्वारा स्थापित ज्योतिर्मठ, श्रृगेंरी शारदा पीठ, द्वारिका पीठ, गोवर्धन पीठ, भारतीय हिन्दू दर्शन के गूढ़ रहस्यों का संदेश देते हैं। ये मठ सेवा, साधना और साहित्य का अद्भुत संगम हैं।

आदिगुरू शंकराचार्य जी ने ब्रह्म वाक्य ’’ब्रह्म ही सत्य है और जगत माया’’ दिया। साथ ही सुप्रसिद्ध ग्रंथ ’ब्रह्मसूत्र’ का भाष्य किया, ग्यारह उपनिषदों तथा गीता पर भाष्य किया। शंकराचार्य जी ने वैदिक धर्म और दर्शन को पुनः प्रतिष्ठित करने हेतु अथक प्रयास किये। उन्होने तमाम विविधताओं से युक्त भारत को एक करने में अहम भूमिका निभायी। संस्कृत में संवाद कर उन्होने संस्कृत भाषा को समाज के सभी वर्गों से जोड़ा। 

आदिगुरू शंकराचार्य जी को अद्वैत और वेदान्त के सूत्र दिये। ’’अहं ब्रह्मास्मि’’  अर्थात मैं ही ब्रह्म हूँ और सर्वत्र हूँ इस प्रकार प्रकृति की रक्षा का संदेश दिया और इस अवधारणा को पूरे विश्व में सम्मान मिला है। चाहे बात एकता की हो या एकरूपता की हो या परमात्म सत्ता से एकता की बात हो उन सब के लिये वेदान्त दर्शन में महत्वपूर्ण सूत्र समाहित हैं। 

पूज्य स्वामी जी ने ऋषिकुमारों को परम तपस्वी, वीतराग, परिव्राजक, श्रोत्रिय ब्रह्मनिष्ठ सनातन धर्म के मूर्धन्य आदिगुरू शंकराचार्य जी द्वारा रचित ’सौंदर्य लहरी’ को आत्मसात करने तथा जनमानस तक पहुंचाने का संकल्प कराया। श्री श्री जगद्गुरू शंकराचार्य महासंस्थानम् शारदापीठम् श्रृगेंरी से सम्बंधित मैसूर मठ से आये आचार्य पूज्य शंकरभारती स्वामी जी, (यड़तोरे श्री योगानन्देश्वर सरस्वती मठ) को रूद्राक्ष का  पौधा देकर विदा किया।



जूना अखाड़े के नागा संयासी होगें दीक्षित

 सन्यासी अखाड़ो में सर्वाधिक महत्वपूर्ण नागा सन्यासी बनने की प्रक्रिया

जूना अखाड़े में 05 अप्रैल को एक हजार दीक्षित किए जायेंगे नागा सन्यासी

हरिद्वार। सन्यासी अखाड़ो की परम्परा में सर्वाधिक महत्वपूर्ण नागा सन्यासी के रूप में दीक्षित किए जाने की परम्परा है। जो केवल चार कुम्भ नगरों हरिद्वार,उज्जैन,नासिक तथा प्रयागराज में कुम्भ पर्व के अवसर पर ही आयोजित की जाती है। नागा सन्यासियों के सबसे बड़े अखाड़े श्रीपंच दशनाम जूना अखाडे में अगामी 05 अप्रैल को सन्यास दीक्षा का बृहद आयोजन किया जायेगा। यह जानकारी देते हुए जूना अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय सचिव व कुम्भ मेला प्रभारी श्रीमहंत महेशपुरी ने बताया सन्यास दीक्षा के लिए सभी चारों मढ़ियों जिसमेें चार,सोलह,तेरह व चैदह मढ़ी शामिल है,के नागा सन्यासियों का पंजीकरण किया जा रहा है। उन्होने बताया जो भी पंजीकरण का आवेदन आ रहे है उन सबकी बारीकि से जाॅच की जा रही है और केवल योग्य एवं पात्र साधुओं का ही चयन किया जा रहा है। श्रीमहंत महेशपुरी ने बताया नागा सन्यासी बनने के कई कठिन परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है। इसके लिए सबसे पहले नागा सन्यासी को महापुरूष के रूप में दीक्षित कर अखाड़े में शामिल किया जाता है। तीन वर्षो तक महापुरूष के रूप् में दीक्षित सन्यासी को सन्यास के कड़े नियमों का पालन करते हुए गुरू सेवा के साथ साथ अखाड़े में विभिन्न कार्य करने पड़ते है। तीन वर्ष की कठिन साधना में खरा उतरने के बाद कुम्भ पर्व पर उसे नागा बनाया जाता है। उन्होने बताया नागा सन्यास प्रक्रिया प्रारम्भ होने पर सबसे पहले सभी इच्छुक सन्यासी सन्यास लेने का संकल्प करते हुए पवित्र नदी में स्नान कर वह संकल्प लेता है और जीतेजी अपना श्राद्व तपर्ण कर मुण्डन कराता है। तत्पश्चात सांसरिक वस्त्रों का त्याग कर कोपीन दंड,कंमडल धारण करता है। इसके बाद पूरी रात्रि धर्मध्वजा के नीचे बिरजा होम में सभी सन्यासी भाग लेते है और चारू दूध,अज्या यानि घी की पुरूष सुक्त के मंत्रो के उच्चारण के साथ रातभर आहूति देते हुए साधना करते है। यह समस्त प्रक्रिया अखाड़े के आचार्य महामण्डलेश्वर की देख रेख में सम्पन्न होती है। प्रातःकाल सभी सन्यासी पवित्र नदी तट पर पहुचकर स्नान कर सन्यास घारण करने का संकल्प लेते हुए डुबकी लगाते है तथा गायत्री मंत्र के जाप के साथ सूर्य,चन्द्र,अग्नि,जल,वायु,पृथ्वी,दशो दिशाओं सभी देवी देवताओं को साक्षी मानते हुए स्वयं को सन्यासी घोषित कर जल में डुबकी लगाते है। तत्पश्चात आचार्य महामण्डलेश्वर द्वारा नव दीक्षित नागा सन्यासी को प्रेयस मंत्र प्रदान किया जाता है जिसे नव दीक्षित नागा सन्यासी तीन बार दोहराता है। इन समस्त क्रियाओं से गुजरने के बाद गुरू अपने शिष्य की चोटी काटकर विधिवत अपना शिष्य बनाते हुए नागा सन्यासी घोषित करता है। चोटी कटने के बाद नागा शिष्य जल से नग्न अवस्था में बाहर आता है और अपने गुरू के साथ सात कदम चलने के पश्चात गुरू द्वारा दिए गए कोपीन दंड तथा कमंडल घारण कर पूर्ण नागा सन्यासी बन जाता है।                             श्रीमहंत महेशपुरी बताते है यह सारी प्रक्रिया अत्यन्त कठिन होती है जिसके चलते कई सन्यासी अयोग्य भी घोषित कर दिए जाते है। उन्होने बताया 05 अप्रैल को एक हजार से भी ज्यादा नागा सन्यासी दीक्षित किए जायेगे। इसके पश्चात 25अप्रैल को पुनः सन्यास दीक्षा का कार्यक्रम होगा।


नेत्र कुंभ में सेवा भारती के पदाधिकारी और कार्यकर्ता भी करेंगे सहयोग

 हरिद्वार 30 मार्च  (अनीता वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  नेत्र कुंभ हरिद्वार की ऋषि कुल यूनिट में सेवा देने पहुँचे, सेवा भारती के जिला और प्रदेश पदाधिकारी। नेत्र कुंभ के मुख्य प्रबंधक ललित पंत, प्रांत प्रचार प्रमुख अनंत प्रकाश मेहरा, सच्चिदानंद नोडियाल, डा0 संजय गुप्ता आदि ने किया, डा0 अजय पाठक, सुधांशु वत्स, एम सी काला आदि का स्वागत। हरिद्वार में सक्षम के संयोजन में आयोजित नेत्र कुंभ के संचालन में देश के विभिन्न प्रदेशों से नेत्र चिकित्सक और आप्टोमैट्रिक्सट स्वयं सेवक महत्वपूर्ण योगदान दे रहे है। इसी श्रृंखला में सेवा भारती के पदाधिकारीयो का आगमन हुआ। 


त्रिपुरा योग आश्रम में हुआ शिव स्वरूप गोला साहब का पूजन


त्रिपुरा योग आश्रम पहुँचें जूना अखाड़े के रमता पंच ,स्वामी शारदा नंद गिरि, स्वामी कैशवानंद एवं आचार्य चिंतामणि ने शिव स्वरूप गोला साहब का किया पूजन

 हरिद्वार 29 मार्च होली के उत्सव के मध्य त्रिपुरा योग आश्रम में जूना अखाड़े के रमता पंच गोला साहब का पूजन करवाने स्वामी शारदा नंद गिरि महाराज के निमंत्रण पर त्रिपुरा योग आश्रम पहुँचें जँहा पर स्वामी शारदा नंद गिरि महाराज, स्वामी कैशवानंद एवं आचार्य चिंतामणि ने विधिपूर्ण शिव स्वरूप गोला साहब का पूजन कर आशीर्वाद प्राप्त किया।

रूडकी मे हर्षोल्लास के साथ मनाई गई होली



 रूडकी 29 मार्च (अनिल लोहानी संवाददाता गोविंद कृपा रूडकी)   हर्षोल्लास के साथ रुड़की में होली का पावन पर्व मनाया गयाl  करोना के साए के मध्य इस वर्ष होली के उत्सव में कुछ बदलाव नजर आएl मुख्य तौर पर लोगों कीने अपने सोसाइटी में या एक निश्चित क्षेत्र के अंदर होली खेलना उचित समझा

 रंगों का प्रयोग भी सीमित मात्रा में किया गया विशेषत अबीर गुलाल का प्रयोग ज्यादा किया गयाl   पानी का प्रयोग केवल बच्चों तक ही सीमित रहा l  इस होली की एक खास बात यह रही कि इस बार लोगों ने नशे का प्रयोग बहुत सीमित मात्रा में किया l क्षेत्र में पिछले वर्षों में नशे को लेकर काफी लड़ाई झगड़ा या विवाद ,जो हुआ करता था वह इस बार ना के बराबर रहाl

समाज के बुजुर्ग लोगों द्वारा अपने घर में रहकर ही परिवार के व मोहल्ले के लोगों को आशीर्वाद है शुभकामनाएं दी गईl

यद्यपि करोना का भय लोगों के चेहरे पर साफ नजर आ रहा था फिर भी लोगों ने बड़े हर्षोल्लास एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में त्यौहार को मनायाl

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का जिला भाजपा कार्यालय पर हुआ स्वागत

हरिद्वार 28 मार्च (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 



भारतीय जनता पार्टी जिला कार्यालय जगजीतपुर हरिद्वार में भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष श्री मदन कौशिक जी के प्रथम आगमन पर भाजपा जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया ढोल नगाड़ों के साथ नारेबाजी एवंआतिशबाजी और पुष्प वर्षा कर उनको होली की भी शुभकामनाएं दी इस अवसर पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए नवनियुक्त भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मदन कौशिक ने कहा की होली का पर्व रंग और उमंगों का पर्व है इन रंगों का संदेश हमें सदैव आगे बढ़ने की प्रेरणा देता रहा है अतः सभी कार्यकर्ताओं को होली मिलन के माध्यम से रंगों का यह पर्व मनाना चाहिए साथ ही साथ कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए शासन प्रशासन की गाइडलाइन का भी पालन किया जाना जरूरी है उन्होंने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव 2022 में भारतीय जनता पार्टी 60 से अधिक सीटों को जीतकर सरकार बनाएगी सभी कार्यकर्ताओं को इस जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी संगठन के कार्यक्रमों को समय बद  और निष्ठा के साथ करते हुए केंद्र और प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को आम आदमी तक ले जाने का काम सभी कार्यकर्ताओं को करना है 

कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि हमारे नवनीत प्रदेश अध्यक्ष श्रीमान मदन कौशिक जी एक धीर गंभीर और कुशल नेतृत्व करता है पूर्व में संगठनों सरकार दोनों में ही काम करने की महारत माननीय अध्यक्ष जी को हासिल है इसीलिए हम सब कार्यकर्ता उनके नेतृत्व में निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ पार्टी को मजबूत करने का काम करेंगे और जो संकल्प माननीय अध्यक्ष जी ने 60 प्लस का आने वाले विधानसभा हेतु निर्धारित किया है जनपद हरिद्वार में उस को साकार करने का कार्य करेंगे 

कार्यक्रम का संचालन महामंत्री विकास तिवारी एवं आदेश सैनी ने किया कार्यक्रम में विधायक सुरेश राठौर देशराज कर्णवाल प्रदेश मीडिया प्रभारी सुनील सैनी राज्यमंत्री सुशील चौहान विनोद आर्य डॉ कल्पना सैनी राकेश राजपूत शोभाराम प्रजापति पूर्व जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश जमदग्नि लक्सर पालिका अध्यक्ष अमरीश गर्ग जिला उपाध्यक्ष संदीप गोयल देशपाल रोड डॉक्टर अंकित आर्य अनिल अरोड़ा जिला मंत्री मनोज कुमार प्रवेश प्रिया अनामिका शर्मा जिला मीडिया प्रभारी सतीश सैनी कार्यालय प्रभारी लव शर्मा जिला सोशल मीडिया प्रभारी मोहित वर्मा कोषाध्यक्ष विजय चौहान लोकसभा सोशल मीडिया प्रभारी आशीष झा के अलावा सभी मोर्चों के जिला अध्यक्ष व सभी मंडल अध्यक्षों सहित सैकड़ों

 कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

होली हैं

 सभी मित्रों को होली की शुभकामनाएं 


ग़ज़ल 


जी भर के चल प्यार करें हम होली में।

रंगों की बौछार करें हम होली में।।


रोज झगड़ते ही रहते हैं हम दोनों।

आंखों को अब चार करें हम होली में।।


ईद दिवाली साथ मनाते आए हैं।

नाहक क्यों तकरार करें हम होली में।।


गोली नफरत हिंसा मक्कारी कब तक।

गुझिया का व्यापार करें हम होली में।।


जिसकी खातिर जान गंवाई बापू ने।

सपना वो साकार करें हम होली में।।


लीडर वो जो भरमाते लड़वाते हैं।

ऐसों को संगसार करें हम होली में।।


राज दिलों पर अब तक करते आए हैं।

गुरबत का उद्धार करें हम होली में।।


आंगन-आंगन खुशबू से हम महकाएं।

हर घर को गुलजार करें हम होली में।।


'दर्द' बने नासूर हमारे हैं यारों।

जख्मों का उपचार करें हम होली में।।


दर्द गढ़वाली, देहरादून 

09455485094


पारंपरिक रूप से मनाया जा रहा है होली पर्व



 रूडकी 28 मार्च  (अनिल लोहानी संवाददाता गोविंद कृपा रूडकी)  रुड़की में पर्वतीय मूल के लोगों द्वारा होली के त्यौहार को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है  l हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी एकादशी के दिन से घर-घर में बैठक व खड़ी होली का आयोजन किया जाता है lआमतौर पर महिलाओं द्वारा दिन के समय और पुरुषों द्वारा रात्रि में होली गायन किया जाता है l जिसमें मुख्य तौर पर कृष्ण लीला पर आधारित या  भगवान शिव पार्वती पर आधारित घटनाओं के आधार पर होली का गायन व पूजन किया जाता है l क्षेत्रीय देवी-देवताओं का स्मरण  व आशीर्वाद भी भी लिया जाता हैl रुड़की शहर में पर्वतीय मूल के लोग विशेषता कुमाऊं समाज के लोग इस पर्व को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हुए अपनी संस्कृति को आगे आने वाली पीढ़ी तक पहुंचाने का प्रयास करते हैं l होली गायन का आयोजन इच्छुक लोगों द्वारा उनके निवास स्थान पर किया जाता हैl

मातृ सदन को मिल रहा है समर्थन

 बाल पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने किया,  स्वामी शिवानंद के तक के समर्थन में एक दिवसीय अनशन


हरिद्वार 27 मार्च (अनीता वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 


 प्रख्यात बाल पर्यावरण कार्यकर्ता कु रिद्धिमा पांडे ने अपनी सखियों कु पल्लवी और कु मोनाली एवम अपने पिता श्री दिनेश पांडे जी के साथ गंगा जी के सरंक्षण हेतु किये जा रहे सत्याग्रह को सक्रिय समर्थन देते हुए मातृ सदन परिसर में एक दिन का उपवास किया। इसी के साथ हरिद्वार लेडीज़ क्लब की सदस्यों ने भी सक्रिय हो कर अनशन किया। 

बताते चलें कि गंगा की अविरलता और निर्मलता एवं अवैध खनन के खिलाफ मातृ सदन आश्रम में  दिनांक 23 मार्च 2021, दिन मंगलवार  को  स्वामी शिवानंद के तप का 11 वां और ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद के तप का 29वां दिवस है। 

साध्वी पद्मावती के त्याग और संघर्ष का अवलोकन करके सभी ने वेदना अनुभव की। साध्वी पद्मावती सभी की  प्रेरणास्रोत रहीं। इस अवसर पर लिसा सबीना द्वारा निर्मित डॉक्यूमेंट्री 'सत्याग्रह' जो कि इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल में  में प्रथम पुरस्कार से पुरस्कृत  है, का भी प्रदर्शन किया गया।  सचिव अंजू मिश्रा ने संवेदना से अभिभूत हो कर कहा कि1917 में महामना मदन मोहन मालवीय ने जब गंगा के लिए अनशन किया तो अंग्रेजी सरकार ने उनकी बात सुनी हमारी सरकार तो कुछ सुनती ही नही। अध्यक्ष शशि झा ने कहा कि मातृ सदन के संतगंगा के लिए बिना किसी निजी स्वार्थ के तप कर रहें हैं तो हमें भी उनका साथ देना चाहिए।

उपाध्यक्ष नलनी दीक्षित जो कि हरिद्वार में बरसों से निवास करती हैं, बताया कि गंगा का पाट पहले बहुत चौड़ा था जो कि वर्तमान में बहुत सिमट गया है।

सिद्धार्थ मिश्रा ने याद दिलाया कि आज का दिन स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भगत सिंह की शहादत याद कराता है, ये गंगा की स्वतंत्रता का संघर्ष है।

दिनेश पांडे ने कहा कि सरकारी बयानों और वास्तविकता में बहुत अंतर है। सरकार  प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा नही कर पा रही और संतों को आगे आना पड़ रहा है।

हिमांशु जोशी बोले कि गंगा के साथ हिमालय को बचाना चाहिए गंगा हिमालय से ही निकलती है।

वर्षा वर्मा ने जानकारी दी कि किस प्रकार गंगा गोमुख से निकल कर अनेकों बांधो की गिरफ्त में आकर अपना गंगत्व खो रही है। मैदानी क्षेत्रों में बेहताशा खनन गंगा को आस्तित्व विहीन कर रहा है। स्वामी शिवानंद  ने कहा कि जब गंगा पृथ्वी पर आने वाली थी तो उन्होंने शिव जी से पूछा कि पृथ्वी पर  कौन मेरी रक्षा करेगा  तो शिव जी ने कहा कि साधु तुम्हारी रक्षा करेंगे।आज कुंभ का समय है, समस्त साधु यहां आए हुए हैं परंतु यह संत गंगा के लिए तप कर रहा है, उसकी उपेक्षा कर रहें हैं। यहां आयी हुई महिला शक्ति संवेदनशील हो कर गंगा की रक्षा को तत्पर हैं।

भोगपुर मंडल में हुआ स्वामी यतीश्वरानंद का भव्य स्वागत


  पथरी /हरिद्वार  27 मार्च (दिनेश कश्यप संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ग्रामीण)    हरिद्वार ग्रामीण विधान सभा के भोगपुर मंडल के अध्यक्ष जितेन्द्र सैनी और फूल गढ़  क्षेत्र के वरिष्ठ  भाजपा नेता भगत जी के संयोजन में  ग्राम घिस्सुपुरा, टिहरी विस्थापित पथरी, शिवगढ़, फूलगढ़, दुर्गागढ़, गोविंदगढ़,भोगपुर, टांडा भागमल, टांडा मजादा, बाडीटीप में    भाजपा कार्यकर्ताओं और जनता जनार्दन ने अपने विधायक और मंत्री बने स्वामी यतीश्वरानंद का भव्य स्वागत किया।  स्वामी यतीश्वरानंद ने जनता से मिले  प्यार, समर्थन,  के प्रति आभार प्रकट किया। 


मुख्य मंत्री ने आपदा प्रबंधन पर की वीडियो कॉन्फ़्रेंस


देहरादून,27 मार्च (जे के रस्तौगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून)  *मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आपदा प्रबंधन विभाग की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि आगामी मानसून सीजन के दृष्टिगत सभी तैयारियां जल्द पूर्ण कर ली जाय। उन्होंने कहा कि चमोली के तपोवन रैणी क्षेत्री में आयी आपदा में लापता लोगों के डेथ सर्टिफिकेट की कारवाई में तेजी लाई जाय। जिससे प्रभावित परिवारों को राहत राशि का भुगतान जल्द किया जा सके। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन की दृष्टि से उत्तराखण्ड में शोध संस्थान खोला जायेगा। राज्य में विभिन्न स्थानों पर कार्यशालाएं आयोजित कर लोगों में जागरूकता लाई जाय। न्याय पंचायत स्तर तक टीमें गठित कर आपदा प्रबंधन से संबधित सभी महत्वपूर्ण उपकरणों की किट उपलब्ध करायी जाय।  सभी जिलाधिकारी ग्राम स्तर तक सम्पर्क सूत्र बनाये रखें। ग्राम स्तर तक के जनप्रतिनिधियों एवं कार्मिकों की लिस्ट पूरी अपडेट रखी जाय। 


मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि सुरकण्डा में बने डाॅप्लर रडार को जल्द चालू किया जाय एवं लैंसडाउन में लगने वाले डाॅप्लर रडार की स्थापना की प्रक्रिया में तेजी लाई जाय। मुक्तेश्वर में बना डाॅप्लर रडार चालू हो चुका है। आपदा प्रबंधन की दृष्टि से दूर-दराज के क्षेत्रों में और क्या प्रयास किये जा सकते हैं, इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। भूकम्परोधी मकान बनाने के लिए राजमिस्त्रियों के प्रशिक्षण की व्यवस्था की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा प्रबंधन के दृष्टिगत एयर एम्बुलेंस के लिए केन्द्र सरकार को जल्द प्रस्ताव भेजा जायेगा। 


आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत ने कहा कि जल्द ही देहरादून में ‘आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास’ विषय पर राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया जायेगा। जिसमें अनेक विषय विशेषज्ञ रहेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी विश्वविद्यालयों  में आपदा प्रबंधन से संबधित एक चैप्टर शुरू किया जा रहा है। आपदा प्रबंधन विषय पर 06 माह के सर्टिफिकेट कोर्स भी शुरू किये जा रहे हैं। महिला मंगल दल, युवक मंगल दलों एवं ग्राम प्रहरियों के भी आपदा प्रबंधन से संबधित गढवाल एवं कुमायूं मण्डल में सम्मेलन किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि लेखपालों को मोटर बाईक एम्बुलेंस देने की योजना पर भी कार्ययोजना बनाई जा रही है।   

बैठक में सचिव आपदा प्रबंधन श्री एस. ए. मुरूगेशन, सचिव वित्त श्रीमती सौजन्या, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी आपदा प्रबंधन श्रीमती रिद्धिम अग्रवाल, श्री आनन्द श्रीवास्तव एवं वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जिलाधिकारी से सम््प

आपदा प्रबंधन विभाग को मजबूत किया जाएगा :-डा0 धन सिंह रावत




 देहरादून 27 मार्च (जे के रस्तौगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून)     सचिवालय स्थित मुख्य सचिव सभागार में शनिवार को  उच्च शिक्षा, सहकारिता, प्रोटोकॉल व आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ धन सिंह रावत की अध्यक्षता में आपदा प्रबंधन विभाग की समीक्षा बैठक हुई। बैठक में विभागीय मंत्री डॉ रावत ने कहा कि राज्य की भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए विभागीय ढांचे का पुनर्गठन किया जाना अति आवश्यक है। इसके लिए जरूरी हुआ तो  विभागीय नियमावली में भी संशोधन किया जाएगा।आपदा प्रबंधन विभाग को मजबूत और जवाबदेह बनाने के लिए विभागीय मंत्री ने अधिकारियों को विभाग के प्रशासनिक ढांचे के पुनर्गठन के निर्देश देते हुए प्रस्ताव तैयार कर आगामी कैबिनेट में लाने को कहा। डॉ रावत ने कहा कि उत्तराखंड आपदा के लिहाज से अति संवेदनशील राज्य है, ऐसे में आपदा प्रबंधन विभाग का जवाबदेह होना जरूरी बन जाता है। आपदा के दौरान विभागीय जबावदेही सुनिश्चित करने के लिए उन्होंने विभागीय ढांचे का पुनर्गठन कर स्थाई कार्मिकों की नियुक्ति के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि पुनर्गठित ढांचे का  अंतर्गत तीन श्रेणी का कार्मिकों की व्यवस्था की जाएगी। जिसके तहत स्थाई, संविदा और आउट सोर्स के माध्यम से आपने अपने क्षेत्र में दक्ष कार्मिकों को भर्ती किया जाएगा। इसके लिए विभागीय नियमावली में संशोधन का भी निर्णय लिया गया। इसके अलावा जनपद स्तर पर भी विभागीय ढांचे को मजबूत करने पर जोर दिया।बैठक में अपर मुख्य सचिव कार्मिक राधा रतूड़ी, सचिव आपदा प्रबंधन एस. ए मुरुगेशन, अपर सचिव वित्त ए. एस. चौहान, एसीईओ यूएसडीएमए डॉ आनंद श्रीवास्तव, ईडी यूएसडीएमए पीयूष रौतेला, आर. जुगरान, शैलेश घिल्डियाल, ज्योति नेगी, अमित शर्मा, पूजा राणा, पी. डी. माथुर, के.एस. चौहान, विजेंद्र प्रसाद कपरूवान सहित कई विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

मास्क करोना से बचाव का उपाय


 *रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को कोरोना से बचाव के उपायों के प्रति जागरूक कर निशुल्क रूप से साबुन, मास्क, सैनिटाइजर किये गए वितरित।*


*राज्य सरकार के दिशा क्रम में कोरोना के नियमो का कड़ाई से पालन हो: संजय चोपड़ा*


*हरिद्वार,*27 मार्च (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)  गंगा के घाटों पर फूल, प्रसाद, बिंदी, चूड़ी, माला, गंगा, जली बेचने वाले रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को कोविड-19 के नियमों का पालन करने व कोरोना से बचाव के उपायों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा के नेतृत्व में गऊघाट, रेन बसेरा प्रांगण में रेडी पटरी के लघु व्यापारियों को साबुन व सैनिटाइजर, मास्क निशुल्क रूप से वितरित कर कोविड-19 के नियमों का पालन करने के लिए लघु व्यापारियों को जागरूक किया।


इस अवसर पर लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा जिस प्रकार से 2021 की दूसरी लहर की वजह से देश दुनिया में कोरोना के मरीज दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं जोकि बहुत ही चिंता का विषय है, कुंभ मेला 2021 की उत्तराखंड राज्य सरकार के दिशा क्रम में सभी सामाजिक संगठनों को कड़ाई से नियमों का पालन करते हुए आने वाले तीर्थयात्रियों व सर्वजनिक स्थलों पर कोरोना से बचाव के संयंत्र का उपयोग करते हुए अपनी सुरक्षा स्वयं करनी होगी। उन्होंने कहा फुटपाथ के कारोबारी रेडी पटरी के स्ट्रीट वेंडर्स आम जनता के बीच में रहकर चुनौती के साथ अपना कारोबार संचालित करते हैं, इसी के दृष्टिगत रेड़ी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को कोरोना से बचाव के प्रति जागरूकता को लेकर साबुन व सेनीटाइजर, मास्क निशुल्क रूप से वितरित किए जा रहे हैं।


कुंभ मेला 2021 में आने वाले तीर्थयात्रियों के दृष्टिगत कोरोना से बचाव के नियमों का पालन करते हुए रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को मास्क, सैनिटाइजर , हाथ धोने के लिए निशुल्क रूप से साबुन वितरित करते हुए लघु व्यापारियों में रोड़ी बेलवाला की अध्यक्ष मंजू सिंह तोमर, उपाध्यक्ष नितिन अग्रवाल, हरिओम चंदेलिया, दीपक कुमार महारा, राहुल रस्तोगी, शिव कुमार सक्सेना, मोहनलाल, जय सिंह बिष्ट, राजेंद्र पाल, प्रभात चौधरी, विजेंद्र सिंह, मनोज कुमार, राजकुमार एंथोनी, आशीष अग्रवाल, किशन कुमार, सतीश प्रजापति आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

लाल माता वैष्णो देवी मंदिर के संचालक भक्त दुर्गा दास ने लगाया करोना वैकसीन का टीका

 भारत में बनी वैकसीन हैं प्रभावी और सुरक्षित :-भक्त दुर्गा दास 

लाल माता वैष्णो देवी मंदिर के संचालक भक्त दुर्गा दास ने संतजनो के साथ लगवाया वैकसीन का टीका 

हरिद्वार 27 मार्च  संत समाज वैकसीन का टीका लगवाने  के लिए जागरूक है, प्रतिदिन संतजन ऋषि कुल आयुर्वेदिक चिकित्सालय, रामाकृष्णा मिशन हास्पिटल जा कर वैकसीन का टीका लगवा रहे है वहीं विभिन्न अखाडो में स्वास्थ्यकर्मी संयासी संतजनो को टीका लगा रहे हैं। लाल माता वैष्णो देवी मंदिर के संचालक भक्त दुर्गा दास, रामनिकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी ज्ञानानंद, ब्रह्मनिवास आश्रम के परमाध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी परमात्मदेव, स्वामी पुष्पेंद्र पुरी, महंत रविदेव शास्त्री सहित संतजनो ने वैकसीन के टीके लगवाऐ। इस अवसर पर लाल माता वैष्णो देवी मंदिर के संचालक भक्त दुर्गा दास ने कहा कि भारत में बनी वैकसीन प्रभावी और सुरक्षित है जिसको पूरा विश्व स्वीकार कर रहा है। उन्होने ने कहा कि विश्व में भारत ने सबसे पहले वैकसीन बना कर इतिहास रचा है और पूरे विश्व में अनेक देशों को निःशुल्क वैकसीन उपहार में देकर मानवीय कार्य किया है। उन्होने कहा कि यह सब प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में ही सम्भव हो सका है। संतजनो ने वैकसीन लगाने वाले चिकित्सको को आशीर्वाद प्रदान किया। जनपद हरिद्वार के नोडल अधिकारी डा0 नरेश चौधरी, डा0 संजय गुप्ता ने संतजनो से आशीर्वाद प्राप्त किया।



दर्द गढवाली का दर्द

 ग़ज़ल 


दिल उसका इक पत्थर है क्या।

कोई सूखा सागर है क्या।।


जो बैठा है भीतर मेरे।

वो तेरे भी अंदर है क्या।।


क्या-क्या बसता है इस दिल में।

ये दिल भी एक नगर है क्या।।


आईने में जो दिखता है।

मेरे जैसा अच्छा है क्या।।


फूलों से खाली खाली है।

ये गुलशन भी बंजर है क्या।।


दर्या होकर भी प्यासा है।

इसका कोई उत्तर है क्या।।


दर्द गढ़वाली, देहरादून 

09455485094


भगवान पुर में स्वामी यतीश्वरानंद का हुआ भव्य स्वागत

*भगवानपुर* 26 मार्च (कमल वर्मा नामदेव संवाददाता गोविंद कृपा भगवान पुर) शुक्रवार  को 


  राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार बनने पर भगवानपुर पहुंचे स्वामी यतीश्वरानंद का पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सरकार/सदस्य जिला पंचायत सुबोध राकेश व सुनील बंसल मंडल अध्यक्ष,सुभाष वर्मा, सुशील चेयरमैन,शोभाराम प्रजापति, गजेंद्र चौधरी,श्यामवीर सैनी,पार्टी कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह स्वागत किया। जिला पंचायत सदस्य सुबोध राकेश के नेतृत्व में रोड शो निकालकर राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वामी यतीश्वरानंद ने सभी कस्बा वासियों का अभिवादन स्वीकार किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि किसानों की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर दूर किया जाएगा। कार्यकत्र्ताओं को सम्मान नहीं देने वाले अधिकारियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा ही एक मात्र ऐसा दल है, जिसमें सभी का हित सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि गन्ना का भुगतान समय पर किया जाएगा। किसानों की समस्याओं को तत्काल निस्तारण किया जाएगा। इस दौरान,पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति चेयरमैन सुभाष चेयरमैन,पूर्व मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र सैनी,पूर्व मंडल अध्यक्ष ग्रामीण संजय त्यागी,अनिल प्रधान,के पी सिंह,जोनी रुहलकी, बबलू प्रधान,विनय बीडीसी, प्रधान,अजय गोयल,राजेश सैनी,पवन प्रधान,सुरेंद्र वर्मा, कमल वर्मा,जोनी प्रधान,नीरज कुमार,पाल सिंह सभासद,, अनिल प्रधान,सत्येंद्र प्रधान, रवि कुमार,बबलू मास्टर उर्फ ब्रह्मपाल और समस्त कार्यकर्ता लोग उपस्थित रहे।

अनवरत नेत्र कुंभ से लाभान्वित हो रहे हैं जरूरतमंद लोग


*हरिद्वार नेत्र कुंभ में आज तक हजारों लोग हो चुके हैं लाभान्वित*

 हरिद्वार 26 मार्च (अनीता वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 



आध्यात्मिक महाकुंभ के मध्य हरिद्वार में विगत दो सप्ताह से छः केन्द्रो के माध्यम से चल रहे नेत्र कुंभ में अब तक कुल निःशुल्क नेत्र जाँच-13033 एवं निःशुल्क चश्मा वितरण-9205 हो चुके हैं। उपरोक्त जानकारी नेत्र कुंभ के उत्तराखण्ड प्रचार प्रमुख अनंत प्रकाश मेहरा ने प्रदान करते हुए बताया कि 25 मार्च 2021को विभिन्न सेंटरो पर ओपीडी में  1503 रोगीयो  के नेत्रो के जाँच के पश्चात-1021 लोगों को निःशुल्क चश्मे वितरित किये गये। हरिद्वार नेत्र कुंभ के मुख्य प्रबंधक ललित पंत ने जानकारी देते हुए बताया कि  यह नेत्र कुंभ 27 अप्रैल तक जारी रहेगा। उन्होने ने बताया कि सक्षम संस्था का संकल्प हैं कि देश से अंधता का निवारण हो भारत सक्षम और समर्थ बने।


एन यू जे आई ने की आन लाईन संगोष्ठी


 अपने अंदर गणेश शंकर विद्यार्थी को हमेशा जीवित रखें पत्रकार...

 महंत रवींद्र पुरी 


एनयूजेआई ने अमर शहीद गणेश शंकर विद्यार्थी की पुण्यतिथि पर किया ऑनलाइन संगोष्ठी का आयोजन 


हरिद्वार  25 मार्च (विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) । निरंजनी अखाड़े के सचिव श्री महंत रविंद्र पुरी महाराज ने कहा कि अमर शहीद पत्रकार गणेश शंकर विद्यार्थी का व्यक्तित्व एवं कृतित्व हमेशा पत्रकारों को समाज हित में काम करने के लिए प्रेरित करता रहेगा। उन्होंने पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ बताते हुए कहा कि नई पीढ़ी के पत्रकारों को अपने अंदर गणेश शंकर विद्यार्थी को हमेशा जीवित रखना चाहिए, तभी वे देश तथा समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को बेहतर तरीके से निभा सकेंगे। शुक्रवार को एनयूजे आई इंडिया की हरिद्वार जिला इकाई की ओर से अमर शहीद गणेश शंकर विद्यार्थी की पुण्यतिथि  पर ऑनलाइन आयोजित की गई संगोष्ठी को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बात कही ।

स्वामी रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि प्रतिस्पद्धा  के इस दौर में पत्रकारों के सामने भी चुनौतियां बड़ी हैं लेकिन चुनौतियों पर पार पाने वाला ही असली विजेता होता है। कोरोना काल में पत्रकारों की ओर से तमाम चुनौतियों के बीच अपने काम को बेहतर तरीके से अंजाम दिए जाने की उन्होंने मुक्त करते सराहना की।

उत्तराखंड सूचना विभाग के उपनिदेशक मनोज श्रीवास्तव ने कहा कि मौजूदा दौर में पत्रकारिता के समक्ष अनेक चुनौतियां हैं जब भी पत्रकार अपने आपको चुनौतियों से घिरा पाएं तो उन्हें अमर शहीद गणेश शंकर विद्यार्थी का स्मरण करना चाहिए। उनकी पत्रकारिता और मानवता के प्रति उनका नजरिया इतना विराट था कि उसमें हर समस्या का समाधान छिपा हुआ है। उन्होंने कहा कि गणेश शंकर विद्यार्थी अपने व्यक्तित्व और कृतित्व की वजह से हमेशा अमर रहेंगे।

 विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ पत्रकार डॉक्टर योगेश योगी ने विस्तार पूर्वक गणेश शंकर विद्यार्थी के जीवन वृत्त पर प्रकाश डाला और कहा कि गणेश शंकर जैसे विद्यार्थी जैसे महान पत्रकारों की वजह से ही दुनिया भर में भारत की पत्रकारिता का डंका बजता है।

 एनयूजे आई के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष  सुनील दत्त पांडे ने कोरोना काल में ऑनलाइन संगोष्ठी का आयोजन करने के लिए जिला इकाई को साधुवाद दिया। प्रदेश अध्यक्ष बृजेंद्र ने भी गणेश शंकर विद्यार्थी के विचारों का अनुसरण करने का आह्वान किया। प्रेस क्लब के अध्यक्ष दीपक नौटियाल और महामंत्री धर्मेंद्र चौधरी ने कहा कि प्रेस क्लब हरिद्वार की ओर से गणेश शंकर विद्यार्थी जैसी महान विभूति के आदर्शों से प्रेरणा लेकर पत्रकारों को समय-समय पर मार्गदर्शन करने के लिए सगोष्ठियों का आयोजन किया जाएगा। एन यू जे के जिलाध्यक्ष बाल कृष्ण शास्त्री जिला महामंत्री संजीव शर्मा और गोष्ठी के संयोजक राहुल वर्मा ने सभी अतिथियों और संगोष्ठी से जुड़े पत्रकारों का आभार जताया। इस दौरान श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के जिलाध्यक्ष संजय आर्य, नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष त्रिलोकचंद भट्ट, लव शर्मा, राजेंद्र नाथ गोस्वामी, शैलेंद्र ठाकुर, गुलशन नैयर, सुभाष कपिल, सचिन तिवारी, मयूर सैनी, अनूप कुमार, देवेंद्र शर्मा, एनयूजे के जिलाध्यक्ष अमित शर्मा, कुमकुम शर्मा, सुनील पाल, सचिन कुमार, सुमित यसकल्याण, प्रदीप गर्ग, राहुल चौहान, योगेंद्र चौहान, कुमार दुष्यंत, संदीप शर्मा, डॉ राधिका नागरथ, नरेश गुप्ता, संदीप रावत, शमशेर बहादुर बम, रविंद्र पाल सिंह, गौरव कश्यप समेत बड़ी संख्या में पत्रकारों ने विचार रखे।

संतजनो ने लगवाऐ वैकसीन के टीके

 ऋषि कुल आयुर्वेदिक चिकित्सा में संतजनो ने लगवाऐ वैकसीन के टीके 

हरिद्वार 25 मार्च  ( विरेन्द्र शर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 





 ऋषि कुल आयुर्वेदिक चिकित्सा में निःशुल्क वैकसीन के टीके लगवाऐ जा रहे  डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में आम जनता के साथ साथ संत जन भी करोना से बचाव के लिए वैकसीन के टीके लगवा रहे है।वीर वार को नगर निगम में भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी के साथ श्रीस्वामिनारायण आश्रम के परमाध्यक्ष स्वामि हरिबल्भ दास शास्त्री महाराज, संचालक स्वामि आनंद स्वरूप शास्त्री महाराज, गंगा भजन आश्रम के परमाध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी अनंता नंद महाराज ,लाल माता वैष्णो देवी मंदिर के संचालक भक्त दुर्गा दास आदि ने वैकसीन का टीका लगवाया।

योग महा कुम्भ


 देहरादून 25 मार्च (जे के रस्तौगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून)  उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय हर्रावाला, देहरादून के ऋषिकुल परिसर, हरिद्वार  द्वारा आयोजित योग महाकुंभ( 14 मार्च से 14 अप्रैल 2021 )के अंतर्गत योग विषय पर ऑनलाइन क्विज़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में ऋषिकुल परिसर, गुरुकुल, परिसर, मदरहुड आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज, रूड़की (हरिद्वार) एवं ओम आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज, रूड़की रोड, हरिद्वार के BAMS बैच 2016 बैच,2017 एवं 2018 बैच के छात्र छात्राओं ने प्रतिभाग किया।जिसमें आस्था मिश्रा (ऋषिकुल परिसर, BAMS तृतीय वर्ष बैच 2017)ने प्रथम स्थान, दिव्या रावत (ऋषिकुल परिसर, BAMS तृतीय वर्ष बैच 2017)ने  द्वितीय स्थान  एवं सुष्मिता चटर्जी (गुरुकुल परिसर,BAMS तृतीय वर्ष बैच 2017)ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इस ऑनलाइन प्रतियोगिता में कुल 119 छात्र -छात्राओं ने उत्साह पूर्वक भाग लिया।इस प्रतियोगिता का आयोजन कार्यक्रम संरक्षक माननीय कुलपति उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय प्रो डॉ सुनील कुमार जोशी;  प्रो डॉ अनूप कुमार गक्खड़,निदेशक ऋषिकुल परिसर,हरिद्वार ;कुलसचिव उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय प्रो  डॉ उत्तम कुमार शर्मा; डॉ शोभित कुमार वार्ष्णेय विभागाध्यक्ष स्वस्थवृत्त एवं योग विभाग, डॉ प्रियंका शर्मा असिस्टेंट प्रो स्वस्थवृत्त  एवं योग विभाग, योगाचार्य डॉक्टर ज्ञान प्रकाश सिंह  के मार्गदर्शन में संपन्न कराया गया। 🙏

कैबिनेट मंत्री बंंशीधर भगत और स्वामी यतीश्वरानंद का हुआ अभिनंदन

हरिद्वार 25 मार्च ( दिनेश कश्यप संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार ग्रामीण) 


भाजपा जिला कार्यालय हरिद्वार पर उत्तराखंड सरकार के शहरी विकास एवं संसदीय कार्य कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत ने आज कार्यकर्ताओं के साथ परिचयात्मक बैठक की एवं आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए बूथ स्तर तक जन जन तक सरकार की उपलब्धियों को पहुंचाने का आवाहन किया उन्होंने कहा कि देश में जिस तरह मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र सरकार काम कर रही है वह ऐतिहासिक है मोदी जी ने पूरे विश्व में देश को एक नई पहचान दिलाने का काम किया है पूरे विश्व में आज भारत का नाम सम्मान से लिया जाने लगा है उत्तराखंड सरकार में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार माननीय स्वामी यतिस्वरानंद भी मौजूद रहे स्वामी यतिस्वरानंद ने कहा की देवतुल्य कार्यकर्ताओं की बदौलत ही हमारी राज्य और केंद्र में सरकार है कार्यकर्ताओं के मान सम्मान की रक्षा की जाएगी कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष डॉ जयपाल सिंह चौहान ने की एवं कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री आदेश सैनी ने किया कार्यक्रम में दायित्वधारी शोभाराम प्रजापति संजय सहगल सुशील चौहान एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता अशोक त्रिपाठी, काशीनाथ एवं ओमप्रकाश जमदग्नि, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी सुनील सैनी, जिला उपाध्यक्ष अनिल अरोड़ा, देशपाल रोड जिला मंत्री आशु चौधरी, अनामिका शर्मा, प्रवेश प्रिया, जिला कार्यालय प्रभारी लव शर्मा, नेता पार्षद दल सुनील गुड्डू ,नगर पंचायत चेयरमैन मानवेंद्र चौधरी ,अमरीश गर्ग मंडल अध्यक्ष नागेंद्र राणा, अमरीश शर्मा, आशुतोष चक्रपाणि ,राजबाला सैनी ,सोनू धीमान ,विकासपाल प्रशांत पोसवाल ,राजकुमार अरोड़ा , विमला डोडियाल, रीमा गुप्ता, प्रतिभा चौहान, विपिन शर्मा संजय कुमार आदि पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

एस एम जे एन कालेज के विद्यार्थी कर रहे हैं कालेज का नाम रोशन


*उत्तराखण्ड के रत्न हैं एस.एम.जे.एन के चयनित विद्यार्थी* *श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी*

*काॅलेज की दीक्षा वर्मा व आकाश सैनी ने लहराया परचम*

*आईआईटी जेम के माध्यम से देश के प्रतिष्ठित प्रौद्योगिकी संस्थान में इन छात्र-छात्राओं को मिलेगा प्रवेश*

हरिद्वार 25 मार्च, ( आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 



एस.एम.जे.एन.पी.जी. काॅलेज के दो छात्र- छात्राओं ने आईआईटी जेम्-2021, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-एम.एससी. में प्रवेश के लिए संयुक्त परीक्षा में सफलता प्राप्त की है। उक्त जानकारी देते हुए काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि उक्त परीक्षा हेतु हमारे काॅलेज की छात्रा कु. दीक्षा वर्मा ने गणित विषय में तथा छात्र आकाश सैनी ने रसायन विज्ञान विषय में इस महत्वपूर्ण परीक्षा को उत्तीर्ण किया है। आईआईटी जेम् के माध्यम से देश के प्रतिष्ठित प्रौद्योगिकी संस्थान में इन छात्र- छात्राओं को  प्रवेश का अवसर मिलेगा। 

काॅलेज प्रबन्ध समिति के सचिव श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज ने अपने बधाई संदेश में कहा कि समस्त अभ्यर्थियों ने अपने माता-पिता, परिवार व जनपद का नाम रोशन किया है। उन्होंने कहा कि काॅलेज के प्रतिभावान चयनित छात्र- छात्रा

 उत्तराखण्ड के रत्न हैं। एस.एम.जे.एन. काॅलेज के दो छात्र-छात्राओं का चयन एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। श्रीमहन्त ने कहा कि कोई भी परीक्षा अपनी प्रतिभा और दृढ़ संकल्प दिखाने के लिए सही अवसर है। उन्होंने बताया कि देहरादून स्थित एस.जी.आर.आर. महाविद्यालय का एक छात्र ने भी इस परीक्षा में सफलता प्राप्त की है।

इस अवसर पर काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष श्रीमहन्त लखन गिरि जी महाराज ने समस्त अभ्यर्थियों को अपनी शुभकामनायें प्रेषित की। प्रतिभावान छात्रों को अपने पक्ष में परिणाम लाने हेतु   कभी भाग्य का सहारा लेने की आवश्कता नहीं होती, वे अपने भाग्य के स्वयं निर्माता होते हैं। 

काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि आई.आई.टी. में प्रत्येक वर्ष एम.एससी. कक्षाओं में प्रवेश हेतु जेम परीक्षा आयोजित करवायी जाती है। इस वर्ष  फरवरी में आईआईएमसी, बंगलरू ने प्रवेश हेतु उक्त परीक्षा आयोजित की थी। डाॅ. बत्रा ने कहा कि जब हमारे काॅलेज परिवार का कोई भी छात्र-छात्रा किसी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करता है तो काॅलेज परिवार के लिए बड़े गर्व एवं हर्ष की अनुभूति भी होती है। उन्होंने दो छात्र-छात्राओं को बधाई दी।अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी ने सभी अभ्यर्थियों को अपनी शुभकामनायें देते हुए कहा कि हम सभी जानते हैं कि दुनिया में प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन में सफल होना चाहता है, लेकिन सफल वही होता है जो अपनी जिन्दगी में आने वाली किसी भी कठिनाई से न डरे और उसका जमकर सामना करे, तभी व्यक्ति अपने जीवन में सफलता प्राप्त कर सकता है। सफलता प्राप्त छात्र-छात्राओं ने बताया कि एम.एससी. करने के उपरान्त वे अपने सम्बन्धित विषयों में शोध कार्य में संलग्न होंगे।  इस अवसर पर डाॅ. श्रीमती सरस्वती पाठक, डाॅ. मन मोहन गुप्ता, डाॅ. जे.सी. आर्य, विनय थपलियाल, डाॅ. सुषमा नयाल, डाॅ. पूर्णिमा सुन्दरियाल, डाॅ. प्रज्ञा जोशी, डाॅ. पदमावती तनेजा, कु. नेहा सिद्दकी, डाॅ. पुनीता शर्मा, विनीत सक्सेना, डाॅ. अमिता श्रीवास्तव, डाॅ. शिव कुमार चौहान, डाॅ. मनोज कुमार सोही, वैभव बत्रा, डाॅ. सुगन्धा वर्मा, आस्था आनन्द, डाॅ. निविन्धया शर्मा, विवेक मित्तल, डाॅ. लता शर्मा, रिचा मिनोचा, श्रीमती रिंकल गोयल, मोहन चन्द्र पाण्डेय, वेद प्रकाश चौहान आदि ने अपनी शुभकामनायें प्रेषित की।

संतजनो को लग रहे हैं वैकसीन के टीके

 अग्नि अखाड़े में संतो ने लगाया कोविशील्ड का टीका,मेला प्रभारी ने की भूखण्ड आवंटन की माॅग

हरिद्वार 25 मार्च (गोपाल रावत वरिष्ठ पत्रकार) 


  मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देश पर संतो का कोविड वैक्सीनेशन जारी है। गुरूवार को चिकित्सा विभाग की टीम ने श्रीपंच दशनाम अग्नि अखाड़ा पहुचकर संतो को कोविशील्ड का वैक्सीन लगाया। श्रीअग्नि अखाड़ा के कुम्भ मेला प्रभारी श्रीमहंत साधनानंद ने स्वयं कोविशील्ड की वैक्सीन लगवाकर संतो के वैक्सीनेशन की शुरूआत की। इस मौके पर उन्होने सरकार से सभी सन्यासी अखाड़ों को भूखण्ड आवंटन की माॅग करते हुए कहा कि शीघ्र भूखण्ड का आवंटन हो,ताकि संतो को समय से तैयारियाॅ करने में मदद मिल सके। इस दौरान अखाड़े के श्रीमहंत परमेश्वरानंद ब्रहमचारी,सचिव श्रीमहंत सम्पूर्णानंद,श्रीमहंत जियानंद ब्रहमचारी,सचिव श्रीमहंत नारायण दत्त प्रकाश सहित बड़ी संख्या में संतो ने कोविशील्ड का वैक्सीन लगवाया। इस दौरान मेला प्रभारी श्रीमहंत साधनानंद ने कहा कि इस समय विश्व में महामारी फेली हुई है,ऐसे में सभी के लिए बचाव आवश्यक है,इसी बचाव के तहत सरकार द्वारा कोरोना वैक्सीन लगवाई जा रही है। सभी को कोरोना वैक्सीन लगवा कर महामारी के फेलाव को रोकने में सहयोग करना चाहिए। उन्होने कहा कि जरूरी है कि कुम्भ मेला सकुशल सम्पन्न हो ,इसके लिए कोविड गाइड लाइन का पालन जरूरी है। उन्होने सभी से माॅस्क का उपयोग करने की अपील करते हुए आहवान किया सभी के सहयोग से ही कुम्भ मेला सकुशल सम्पन्न होगा। उन्होने सरकार से सभी सन्यासी अखाड़ों को निःशुल्क भूखण्ड आवंटन की माॅग करते हुए दोहराया कि भूखण्ड मिलने के बाद अखाड़ो द्वारा शिविर लगाने की तैयारियाॅ की जा सकेगी। वैक्सीनेशन करने वाली चिकित्सीय टीम में डाॅ0पवन कुमार,डाॅ0संतोष कुमार के अलावा फामेस्टि चारू गुप्ता सहित कई अन्य मौजूद रहे। इस दौरान काफी बड़ी संख्या में संतो को कोविड का टीका लगाया गया।

नेत्र कुंभ ऋषि कुल यूनिट में पधारे संतजन

 सक्षम नेत्र कुंभ को मिला संतजनो का आशीर्वाद 

हरिद्वार 25 मार्च( अनीता वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) 




सक्षम नेत्र कुंभ में कार्यरत्त चिकित्सको, पेरामेडिकल स्टाफ को संतजनो का आशीर्वाद मिला। श्रीस्वामिनारायण के परमाध्यक्ष श्रीस्वामि हरिबल्भ दास शास्त्री महाराज , महामंडलेश्वर स्वामी अनंता महाराज एवं श्रीस्वामि आनंद स्वरूप शास्त्री महाराज ने हरिद्वार नेत्र कुंभ को मानवता की सेवा का एक अनूपम प्रकल्प बाताया और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को इस दिव्य, मानवीय कार्य के लिए साधुवाद दिया। इस अवसर पर हरिद्वार नगर निगम में उपनेता प्रतिपक्ष अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि आध्यात्म कुंभ के समानांतर सक्षम का नेत्र कुंभ एक अलौकिक सेवा का प्रशंसनीय अभियान हैं जो मानव मात्र को अरोग्यता प्रदान कर रहा है। नेत्र कुंभ की ऋषि कुल यूनिट में पधारे संतजनो का स्वागत सक्षम के प्रांत सचिव एवं नेत्र कुम्भ हरिद्वार के मुख्य प्रबंधक ललित पंत, सच्चिदानंद नोडियाल, वी श्रीनिवासन रेड्डी, डा0 संजय गुप्ता, एन माल्याद्री रेड्डी, आयुष हरबोला आदि ने स्वागत कर आशीर्वाद प्राप्त किया।

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...