उत्तरी हरिद्वार में बंदर और लंगूर का आतंक

 हिंसक लंगूर व बंदरों के आतंक से क्षेत्रवासियों को मिले मुक्ति : अनिरूद्ध भाटी 

क्षेत्रीय पार्षद ने की डीएफओ को ज्ञापन प्रेषित कर अतिशीघ्र हिंसक लंगूर व बंदरों को पकड़ने की मांग, घायलों को मुआवजा दे वन विभाग 

हरिद्वार, 05 अगस्त। उत्तहरिद्वार में बंदरों का आतंक लम्बे समय से व्याप्त है। विगत सप्ताह भर से हिंसक लंगूरों की टोली क्षेत्र में आ जाने से क्षेत्रवासियों में भय व असुरक्षा का वातावरण व्याप्त हो गया है। विगत एक सप्ताह में दुर्गानगर में दर्जन भर लोगों को हिंसक लंगूरों ने हमला कर घायल कर दिया है। क्षेत्रीय पार्षद अनिरूद्ध भाटी के नेतृत्व में भाजपा पार्षद दल ने दुर्गानगर में पहुंचकर पीड़ितों का हाल-चाल जानकर डीएफओ को ज्ञापन प्रेषित कर अतिशीघ्र हिंसक लंगूर व बंदरों को पकड़ने व घायलों को मुआवजा की मांग है। 

भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि तीर्थनगके उत्तहरिद्वार में लगभग 50 हजार की जनसंख्या निवास करती है। साथ ही प्रतिदिन हजारों तीर्थयात्री गंगा स्नान व मंदिरों के दर्शन व आश्रमों, धर्मशालाओं में निवास हेतु उत्तहरिद्वार में आते हैं। वर्तमान में स्थानीय निवासियों के साथ-साथ तीर्थयात्री भी बढ़ती बंदरों व लंगूरों की संख्या से परेशान हैं। जंगलों में फलदार वृक्षों के अभाव व दूसरे शहरों से नगर पालिकाओं द्वारा बंदर व लंगूर पकड़ हरिद्वार सीमा पर छोड़ने के चलते उत्तहरिद्वार में अराजक हिंसक बंदर व लंगूर प्रतिदिन बच्चों, वृद्धों व महिलाओं पर घर में घुसकर ही हमला कर रहे हैं। बंदरों व लंगूरों के हमले में अनेकों क्षेत्रीय नागरिक घायल व चोटिल हो चुके हैं। दुर्गानगर में फुल्लो धर्मपत्नी स्व. प्रमोद कुमार प्रजापति, शिखा कौशिक धर्मपत्नी अंकित, संगीता देवी धर्मपत्नी सुनील कुमार, मनोज कुमार पुत्र अमर सिंह, प्रेमलता धर्मपत्नी जनक सिंह, कार्तिक शर्मा पुत्र कौशल शर्मा को हिंसक लंगूर ने हमला कर गंभीर रूप से चोटिल कर दिया है। 

अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि स्थानीय निवासियों का छत्त पर जाना व गलियों में निकलना भी दुश्कर हो रहा है। वन विभाग को इस संदर्भ में त्वरित कार्रवाई करते हुए हिंसक लंगूर व बंदरों को पकड़ने के लिए अभियान चलाना चाहिए तथा घायलों को ईलाज हेतु मुआवजा प्रदान करना चाहिए।

पार्षद अनिल वशिष्ठ व विनित जौली ने कहा कि वर्तमान में हरिद्वार के सभी मौहल्ले हिंसक लंगूर व बंदरो के आतंक से ग्रस्त है। इस संदर्भ में वन विभाग को विशेष अभियान चलाकर कार्रवाई करनी चाहिए।

पार्षद प्रतिनिधि विदित शर्मा ने कहा कि महिलाओं, बुजुर्गों व बच्चों का घर से बाहर निकलना भी दुर्भर हो गया है। घरेलू सामान ला रही महिलाओं पर लंगूर हमलावर हो रहे हैं ऐसे में वन विभाग की निष्क्रियता सहन नहीं की जायेगी।

युवा भाजपा नेता आकाश भाटी ने कहा कि इस संदर्भ में वन विभाग, जिला प्रशासन व नगर निगम को संयुक्त अभियान चलाकर हिंसक व आवारा पशुओं को पकड़ने का कार्य आरम्भ करना चाहिए।

समाजसेवी सुखेन्द्र तोमर, लालचंद, सुनील, दिनेश शर्मा, रूपेश शर्मा, नीरज शर्मा, गगन यादव, हंसराज आहूजा, नाथीराम प्रजापति, ओमकार प्रजापति, आशु आहूजा, आदित्य यादव, अमित राणा, प्रमोद पाल, गोपी सैनी समेत अनेक क्षेत्रवासियों ने हिंसक लंगूरों को प


कड़ने की मांग की है।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

शांतिकुंज में प्रारंभ हुआ गंगा दशहरा गायत्री जयंती महापर्व

  अखण्ड जप के साथ दो दिवसीय गंगा दशहरा-गायत्री जयंती महापर्व का शुभारंभ ऊँचा उठे, फिर न गिरे ऐसा हो इंसान का कर्म :- डॉ चिन्मय पण्ड्या हरिद्...