एस एम जै एन कॉलेज में प्रवेश प्रक्रिया हुई शुरू

 एसएमजेएन काॅलेज में नये सत्र के आनलाईन रजिस्ट्रेशन प्रारम्भ : डाॅ. बत्रा

हरिद्वार 07 जुलाई( आकांक्षा वर्मा संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार) एस.एम.जे.एन.पी.जी. काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि सत्र 2022-23 में बी.ए., बी.काॅम. तथा बी.एससी. प्रथम वर्ष में प्रवेशार्थियों द्वारा रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया महाविद्यालय की वेबसाईट पर प्रारम्भ कर दी गयी हैं। डाॅ. बत्रा ने बताया कि अगर किसी प्रवेशार्थी को आनलाईन रजिस्ट्रेशन करने में कोई परेशानी होती है तो वह नियमावली को ध्यानपूर्वक अवश्य पढ़ लें तथा वेबसाईट पर दिये गये निर्देशों का पालन करें। 

  डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि प्रवेशार्थियों को


ध्यान रहे कि सभी प्रमाण-पत्र जे.पी.जी. फारमेट में होने अनिवार्य हैं। रजिस्ट्रेशन होने के बाद रजिस्ट्रेशन शुल्क का भुगतान किया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रवेशार्थी यह भी सुनिश्चित करें कि उनकेे द्वारा आनलाईन आवेदन पत्र भरने के पश्चात समस्त प्रमाण-पत्र अपलोड किये गये हैं, जैसे शैक्षणिक प्रमाण-पत्र, जाति प्रमाण-पत्र, एन.एस.एस., एन.सी.सी., खेलकूद और एंटी रैगिंग प्रमाण-पत्र आदि जो भी लागू हो। उत्तराखण्ड के अतिरिक्त अन्य प्रदेशों के अभ्यर्थियों को प्रवेश से पूर्व अपना पुलिस वैरिफिकेशन प्रमाण पत्र  भी प्रस्तुत करना होगा। 

काॅलेेज के मुख्य प्रवेश समन्वयक डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रवेशार्थी अपना मोबाईल नम्बर तथा पासवर्ड डालकर अपनी आई.डी. बनाकर लाॅगइन करके प्रवेश हेतु रजिस्ट्रेशन करें। अन्य किसी दूसरे व्यक्ति जैसे साईबर कैफे अथवा अपने किसी सम्बन्धी का मोबाईल नम्बर  अथवा ई-मेल अंकित न करे, जिस कारण से प्रवेशार्थी का पंजीयन रद्द कर दिया जायेगा। प्रवेशार्थी ध्यान दें कि अपना यूजर आईडी व अपना पासवर्ड सुरक्षित स्थान पर नोट कर लें, क्योंकि यह अपरिवर्तनीय है। इसके बाद लाॅगइन कर लें। डाॅ. माहेश्वरी ने बताया कि उसके बाद आपके मोबाईल अथवा ईमेल पर एक ओ.टी.पी. आयेगा, जिसको डालकर वैरिफाई ओ.टी.पी. बटन पर क्लिक करें। ओ.टी.पी. के वैरिफिकेशन होने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन फार्म स्क्रीन पर दर्शाया जायेगा, उसके बाद आप उसमें अपनी जानकारी जैसे पासपोर्ट साईज के नवीनतम सफेद शर्ट एवं टाई वाला फोटो प्रवेश आवेदन पत्र पर निर्धारित स्थान पर अपलोड़ करना होगा। प्रवेशार्थी के हस्ताक्षर, हाईस्कूल की अंकतालिका व प्रमाण-पत्र, इंटरमीडिएट की अंकतालिका तथा अगर किसी जाति विशेष तथा अन्य किसी अधिभार का लाभ लेना चाहते हैं तो उसका वैध प्रमाण-पत्र वेबसाईट पर अवश्य अपलोड करें। उन्होंने बताया कि स्नातक व स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष में वर्तमान सत्र में जो भी प्रवेश होगें वे श्री देव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय से ही सम्बद्ध रहेंगे।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

डॉ विशाल गर्ग ने भागवत व्यास पीठ से लिया आशीर्वाद

  भागवत कथा के श्रवण से दूर होते हैं कष्ट-डा.विशाल गर्ग हरिद्वार, 18 जुलाई। राष्ट्रीय भागवत परिवार के राष्ट्रीय संरक्षक डा.विशाल गर्ग ने सुभ...