श्रावण मास में महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि जी महाराज के सानिध्य में प्रतिदिन हो रहा है सत्संग और भंडारे का आयोजन


हरिद्वार 22 जुलाई (संजय वर्मा )आचार्य महाराज जी के शुभ आशीर्वाद से महामंडलेश्वर स्वामी श्री ललितानंद गिरी जी महाराज द्वारा साध्वी जी के आश्रम में श्री भोले जी महाराज,माता मंगला जी एवं हंस फाउंडेशन के विशेष सहयोग से  श्रावण मास में सत्संग एवं  विशाल




भंडारा  का आयोजन प्रतिदिन किया जा रहा है।महामंडलेश्वर स्वामी श्री ललितानंद गिरी जी महाराज ने बताया कि श्रावण के पावन मास में शिव भक्तों के द्वारा कांवड़ यात्रा का आयोजन किया जाता है। इस दौरान लाखों शिव भक्त देवभूमि उत्तराखंड में स्थित शिवनगरी हरिद्वार और गंगोत्री धाम की यात्रा करते हैं। वे इन तीर्थ स्थलों से गंगा जल से भरी कांवड़ को अपने कंधों रखकर पैदल लाते हैं और बाद में वह गंगा जल शिव को चढ़ाया जाता है। सालाना होने वाली इस यात्रा में भाग लेने वाले श्रद्धालुओं को कांवरिया अथवा कांवड़िया कहा जाता है।भारत के पश्चिम तटीय राज्यों (महाराष्ट्र, गोवा एवं गुजरात) में श्रावण मास के अंतिम दिन नारियल पूर्णिमा मनायी जाती है।श्रावण के महीने का प्रकृति से भी गहरा संबंध है क्योंकि इस माह में वर्षा ऋतु होने से संपूर्ण धरती बारिश से हरी-भरी हो जाती है। ग्रीष्म ऋतु के बाद इस माह में बारिश होने से मानव समुदाय को बड़ी राहत मिलती है। इसके अलावा श्रावण मास में कई पर्व भी मनाए जाते हैं।इसी के साथ महामंडलेश्वर स्वामी श्री ललितानंद गिरी जी महाराज ,श्री भोले जी महाराज,माता मंगला जी एवं हंस फाउंडेशन व साध्वी गीतानंद जी की ओर से सभी शिव भक्त कांवड़ियों और समस्त देशवासियों को श्रावण मास की शुभकामनाएं प्रेषित की।*

*इस अवसर पर साध्वी बालव्रती गीता योगी जी साध्वी,सुनीता जी,भारत माता मंदिर के मुख्य पुजारी पंडित कृष्णा आचार्य जी,स्वामी जगदीशानंद जी, पुष्कर राज जी (केशव महाराज),बजरंग द्विवेदी जी, हेमलता नेगी जी,आलोक यादव जी,कृष्ण कुमार जी,पं प्रवीण शर्मा जी मोनू शुक्ला,राहुल शुक्ला और समस्त आश्रमवासी, सभी भक्तजन उपस्थित रहे।*

1 comment:

Anonymous said...

ललीतानदं जी महाराजी से बात हो सकती है

Post a Comment

Featured Post

डॉ विशाल गर्ग ने भागवत व्यास पीठ से लिया आशीर्वाद

  भागवत कथा के श्रवण से दूर होते हैं कष्ट-डा.विशाल गर्ग हरिद्वार, 18 जुलाई। राष्ट्रीय भागवत परिवार के राष्ट्रीय संरक्षक डा.विशाल गर्ग ने सुभ...