आधे में राजा भोज आधे में गंगुआ तेली


 आधे में राजा भोज, आधे में गंगुआ तेली आपने एक कहावत तो सुनी होगी जो कांग्रेस के शासनकाल में सही चरितार्थ होती रही है आधे में कांग्रेस और उसके भ्रष्ट मंत्री आधे में पूरी जनता कांग्रेस की पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने नए संसद भवन को मंजूरी दी थी.

वर्ष : 2012

भवन : नई संसद निर्माण

PM : मनमोहन सिंह

पार्टी: कांग्रेस

क्षेत्रफल: 35,000 वर्ग मीटर

लागत :3000 करोड़

( महंगाई के अनुसार 2020 के लिए रकम होगी - 3900 करोड़ )

अब जानिए

वर्ष: 2020

भवन: नई संसद निर्माण

PM :  नरेंद्र मोदी

पार्टी : भाजपा

क्षेत्रफल : 65,000 वर्ग मीटर

लागत : ₹ 970 करोड़

कांग्रेस का कोई भी काम उठा कर देख लो बगैर दलाली, बगैर भ्रष्टाचार के होता ही नहीं था ।

ध्यान देने का बहुत गंभीर तथ्य यही है कि मोदी जी के राज में इसी संसद भवन का क्षेत्रफल 'दोगुना' किया गया है.

लेकिन लागत एक चौथाई है....👍

क्यों कि कोई दलाली नहीं है, कमीशनखोरी नहीं है. 


सोनिया जी कैसे विश्व की तीसरी सबसे आमीर महिला बनी. आज तक कोई कांग्रेसी नही बता पाया

कुछ समझ में आया...👍

इसीलिए 'कांग्रेस मुक्त भारत' का संकल्प देश बारंबार दोहराता है.।





No comments:

Post a Comment

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...