उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय ने ग्रामीण क्षेत्र में चलाया जन जागरूकता

 देहरादून 6 जुलाई (जेके रस्तोगी संवाददाता गोविंद कृपा देहरादून) कुआं वाला- नकरौंदा में उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय मुख्य परिसर आयुर्वेद




संकाय द्वारा गोद लिए गए गांव पिण्डर वैली के अंतर्गत निर्मल बस्ती में एक स्वच्छता के लिए जागरूकता शिविर एवं स्वास्थ्य परीक्षण का कैंप आयोजित किया गया। सर्वप्रथम प्रातः विश्वविद्यालय के निदेशक प्रोफेसर राधाबल्लभ सती के निर्देशन में एसोसिएट प्रोफेसर डॉ नवीन जोशी , डा०राजीव कुरेले, डॉक्टर डी. सी. पांडे, डॉक्टर श्वेता जैन,  श्री हर्षवर्धन, फार्मासिस्ट प्रभारी श्री विवेक तिवारी एवं इंटर  चिकित्सक छात्रों  आदि की टीम द्वारा निर्मल बस्ती में घर-घर जाकर लोगों को स्वास्थ्य के लिए जागरूक किया गया तथा स्वच्छता एवं आहार पोषण के संदर्भ में जानकारी दी गई कि किस प्रकार स्वच्छता को अपनाकर हम बीमारियों से बच सकते हैं। स्वास्थ्य परीक्षण कैंप में अपने संबोधन के दौरान डॉक्टर नवीन जोशी ने कहा कि इस समय बरसात का मौसम है विभिन्न प्रकार की बीमारियां मलेरिया डेंगू , डायरिया डिसेंट्री बुखार इत्यादि के संक्रमण का मुख्य कारण स्वच्छता का अभाव है एवं यदि हम अपनी बॉडी को अच्छे आहार-विहार औषधि द्वारा अगर शरीर की बॉडी इम्यूनिटी को अच्छा रखें तो हमारी व्याधियों से बच सकते हैं तथा अपने घर के आस-पास मक्खी मच्छर इत्यादि को नहीं पनपने तो इन बीमारियों से बच सकते हैं, महिलाओं के लिए जागरूकता कार्यक्रम में डॉक्टर बत्सला पांडे एवं डा०श्वेता जैन ने महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान स्वच्छता एवं पोषणयुक्त खानपान के लिए जागरूक किया। इस कार्यक्रम के दौरान डॉ डीसी पांडे द्वारा स्थानीय लोगों को मास्क सैनिटाइजर भी वितरित किए गए। इसी कानून के अंतर्गत राजकीय विद्यालय नकरोन्दा में डॉ जोशी, डॉ०कुरेले एवं डॉक्टर पांडे द्वारा बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी ज्ञानवर्धक एवं अभिरुचि उत्पन्न करने के लिए एक इंटरएक्टिव व्याख्यान दिया गया । इसमें डॉक्टर कुरेले एवं डॉक्टर जोशी जी ने स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए आवश्यक घटक उचित एवं पोषण युक्त आहार स्वच्छता संबंधी दैनिक का पालन करना, फास्ट एवं जंक फूड से बच के रहना, योग प्राणायाम बयान खेलकूद के महत्व आदि, स्वाध्याय संबंधी बातों को विस्तार से बच्चों को बताया। ‌ तथा बच्चों से स्वास्थ संबंधी उनकी जिज्ञासाओं के लिए प्रश्न उत्तर रूप में कार्यक्रम को संपादित किया गया। ‌ स्थानीय जनप्रतिनिधि, स्थानीय मीडिया बंधुओं, शैक्षिक  विद्वान जनों, गणमान्य व्यक्तियों ने विश्वविद्यालय की इस पहल का स्वागत किया, इस कार्यक्रम में उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय मुख्य परिसर चिकित्सालय के स्टाफ , इंटर्न गौरव सैमवाल,  इंटर्न ज्योति जोशी, इंटर्न सोनाली, राजेंद्र सेमवाल, नितिन भट्ट सहयोग प्रदान किया गया।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

हिंदू रक्षा सेना ने शहीद सैनिको को दी श्रद्धांजलि

 हिंदू रक्षा सेना ने गंगा में दीपदान कर दी शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अमर बलिदानियों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा-डा.विशाल गर्ग हरिद्वार, 11...