NET Complete Information And JRF cut off

NET क्या है? 

राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा/National Eligibility Test (नेट) भारत में एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में सहायक प्रोफेसर के रूप में नियुक्ति के लिए भारतीय उम्मीदवारों की पात्रता निर्धारित करने के लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा आयोजित की जाती है।

यूजीसी नेट परीक्षा पास करने के बाद आप यूनिवर्सिटी और डिग्री कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर बन सकते हैं. आए दिन डीयू, जेएनयू, बीएचयू जैसी जानी-मानी यूनिवर्सिटी द्वारा असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती निकाली जाती है. 

सेंट्रल यूनिवर्सिटी के साथ आपके पास प्राइवेट कॉलेज और संस्थानों में भी पढ़ाने का मौका मिलता है.

वर्ष 2009 के दिशानिर्देश के तहत विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने कालेजों में प्रोफेसर बनने के लिए NET परीक्षा की पात्रता को अनिवार्य बना दिया था।


क्या बिना नेट की परीक्षा पास की है पीएचडी की जा सकती है? 

भारत में पीएचडी प्रवेश की प्रक्रिया विश्वविद्यालयों के आधार पर भिन्न होती है। हालाँकि, आम तौर पर प्रवेश सुरक्षित करने के लिए पीएचडी के लिए नेट परीक्षा जैसी प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है। अतः यह संभव नहीं है। 

जेआरएफ(JRF) क्या है? 

जेआरएफ का फुल फॉर्म जूनियर रिसर्च फेलोशिप है। यह एक कार्यक्रम है जो डॉक्टरेट/पीएचडी उम्मीदवारों के लिए अनुसंधान कार्यक्रम प्रदान करता है। व्यक्ति मासिक वजीफे के लिए पात्र हो जाता है और सहायक प्रोफेसर की नौकरी के लिए आवेदन कर सकता है।

जेआरएफ की कट ऑफ एंड सैलेरी? 

वैसे सही मायने में बात की जाए तो जेआरएफ की कट ऑफ सभी कैटिगरीज के विषयों के लिए अलग-अलग होती है लेकिन अंदाज अनुमान के अनुसार कम से कम 200+ marks की आवश्यकता होती है । 

नेट जेआरएफ क्लीयर करने के बाद वेतन क्या है?

जेआरएफ को दो वर्षों के लिए 31000 रुपये का मासिक वजीफा मिलता है, जो अगले तीन वर्षों के लिए 35000 रुपये तक बढ़ सकता है । 


No comments:

Post a Comment

Featured Post

श्री मानव कल्याण आश्रम में प्रारंभ हुआ ललिताम्बा वेद विद्यालय

 गोविंद गिरी देव ने किया ललिताम्बा वेद विद्यालय का शुभारंभ जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम महाराज की अध्यक्षता एवं श्रीमहंत देवा...