लोकसभा चुनाव के लिए मतदान अधिकारी किया जा रहे हैं प्रशिक्षित

 हरिद्वार-9 अप्रेल  लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2024 के सम्पादनार्थ 8535 मतदान अधिकारियों को दिये जा रहे प्रशिक्षण के दौरान सखी बूथ, द्वितीय महिला मतदान अधिकारी एवं पर्दानशीन कार्मिकों को मतदान के दिन अपनाई जाने वाली चुनाव प्रक्रिया का किया गया लाइव मंचन जिला निर्वाचन अधिकारी, धीराज सिंह गर्ब्याल के मार्गदर्शन एवं मुख्य विकास अधिकारी/नोडल स्वीप, कार्मिक प्रतीक जैन के दिशा निर्देशन परियोजना निदेशक के एन तिवारी के मुख्य संयोजन एवं प्रशिक्षण प्रभारी डॉ नरेश चौधरी के संयोजन में मतदान अधिकारियों के प्रशिक्षण के दौरान समस्त मतदान प्रक्रिया को चरणबद्ध तरीके से दर्शाया गया। सखी बूथों अथवा पिंक बूथों पर मतदान प्रक्रिया को लघु नाटक के माध्यम से प्रदर्शित किया गया, जिसमें मतदान की प्रक्रिया को सरल एवं सजीव रूप से चित्रित करते हुए विभिन्न पात्रों ने मतदान के दौरान घटित होने वाले विभिन्न प्रकरणों को  समझाने का प्रयास किया। प्रशिक्षण नोडल के एन तिवारी, नाटक मंचन के प्रभारी प्रोफेसर नरेश चौधरी ने विस्तार से समस्त प्रक्रिया के बारे में बताया जबकि मास्टर ट्रेनर डॉ. संतोष कुमार चमोला एवं यू सी राय ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे पीठासीन अधिकारी, मतदान अधिकारी एवं पर्दानशीन बूथ के मतदान कार्मिकों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का समाधान किया। जिलाधिकारी महोदय द्वारा इसकी प्रशंसा की गई तथा उन्होंने अवगत कराया कि मतदान प्रक्रिया की सजीव चित्रण से उसे समझने में आसानी रहती है।

 मतदान अधिकारियों के प्रशिक्षण के दौरान समस्त मतदान प्रक्रिया को चरणबद्ध तरीके से दर्शाया गया। मतदान से एक दिन पूर्व, सर्वप्रथम मतदान से एक दिन पूर्व समस्त पोलिंग पार्टी एकत्र परस्पर परिचय करने के उपरांत सामाग्री प्राप्ति केंद्र से सामग्री प्राप्त कर उसका मिलान कर लेंगे। 

पोलिंग पार्टी के समस्त सदस्यों द्वारा परस्पर परिचय की उपरांत सामग्री प्राप्ति केंद्र से प्राप्त सामग्री का मिलान किया गया। तदोपरांत सेक्टर मजिस्ट्रेट के दिशा निर्देश अनुसार पूर्व निर्धारित रूप चार्ट के अनुरूप पोलिंग पार्टी अपने मतदेय स्थल के लिए रवाना हुई।

 मतदेय स्थल पर पहुँचने के उपरांत बूथ लेवल ऑफिसर द्वारा संपर्क किया गया। उनके द्वारा मतदेय स्थल के विषय में जानकारी दी गई। तदोपरांत मतदान के लिए पार्टी द्वारा आवश्यक दस्तावेज व प्रारूप तैयार कर लिए गए। 

विभिन्न दलों के मतदान एजेंट ने भी संपर्क कर लिया। मतदान के दिन मॉक पोल की तैयारी कर ली गई।  पोलिंग एजेंट के समक्ष ई.वी.एम. की जाँच कर ली गई। माइक्रो ऑब्जर्वर के समक्ष मॉक पोल की प्रक्रिया संपन्न की गई। मॉक पोल के उपरांत CRC प्रक्रिया से ई.वी.एम. को मतदान हेतु तैयार कर ली गई।


तत्पश्चात मतदान के दौरान आने वाली सभी परिस्थितियों को उदाहरण सहित प्रस्तुत किया गया। यथा प्रथम एवम नए मतदाता द्वारा मतदान, नेत्रहीन अथवा शिथिलांग मतदाता के लिए साथी के माध्यम से मतदान, विवाह के लिए तैयार जागरूक मतदाता, नई नवेली दुल्हन द्वारा मतदान, निविदत्त मतपत्र की स्थिति में मतदान प्रक्रिया, मोबाइल सहित मतदाता के प्रवेश की स्थिति, चैलेंज वोट की स्थिति में मतदान प्रकिया, अवांछित व्यक्ति के मतदान केंद्र पर प्रवेश की स्थिति, पर्दानशीन मतदाता के द्वारा मतदान, ट्रांसजेंडर मतदाता द्वारा मतदान केंद्र पर मतदान। मतदान प्रक्रिया पूर्ण होने के उपरांत ईवीएम मशीन को समस्त पोलिंग एजेंट एवं मतदान अधिकारियों के समक्ष सील बंद करना। पीठासीन की घोषणा के उपरांत नाटिका समाप्त हुई।  द्वारा उनके विभिन्न सवालों के जवाब दिए गए। सही उत्तर देने वाले प्रशिक्षणाथियों को उपहार देकर प्रस्तुत किया गया।  लघु नाटिका के प्रमुख पात्र प्रवीण कपिल, पंकज गुप्ता, अमित चतुर्वेदी, अमरदीप, मीरा भारद्वाज, अरविंद चौधरी, विनीत गुप्ता, संजय त्रिपाठी, रेशमा परवीन, अंजु वत्स, सीमा राठी, सत्यदेव, टेकचंद आदि हैं।लघु नाटिका की प्रस्तुति के दौरान प्रशिक्षण नोडल के.एन. तिवारी, मास्टर ट्रेनर यू.सी. राय, डॉ. संतोष कुमार चमोला, जिला सांख्यिकी अधिकारी श्रीमती नलिनी ध्यानी, डॉ. अजय मलिक, डॉ. आर. के. शुक्ल, अमित गौतम, अमित नौटियाल, सुशील कुमार व देवेंद्र भास्कर, अरविंद यादव, अमित कुमार सिंह, हरेन्द्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...