कूड़ा प्रबंधन को लेकर किया गया कार्यशाला का आयोजन

 *स्वच्छ परियोजना की ओर से नगर निगम के कर्मचारियों को ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के सिखाए गए गुर* 



 हरिद्वार 15 दिसंबर 


*स्वच्छ* *परियोजना-* हरिद्वार में सतत अपशिष्ट प्रबंधन और समुदाय स्वास्थ्य पहल से जुड़ी एक परियोजना है जो *रौश फार्मा इंडिया (सी एस आर के अंतर्गत)* के सहयोग से *सी ई ई* (सेन्टर फ़ॉर एनवायरनमेंट एजुकेशन) एवं *क्राउन एजेंट्स* द्वारा  कार्यान्वित किया जा रहा है। बहु-स्तरीय दृष्टिकोण का पालन करते हुए, स्वच्छ परियोजना  गीला कचरा के उचित निस्तारण  एवम प्रबंधन  से जुड़ी एक परियोजना है, जो *नगर* *निगम,* निजी संगठनों, अनौपचारिक कचरा श्रमिकों, स्कूलों तथा स्थानीय ग़ैर-सरकारी संगठनों के साथ मिलकर काम कर रहा है। स्वच्छ परियोजना के तहत समय-समय पर विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण का कार्यशाला का आयोजन किया जाता है इसी क्रम में सभी सफ़ाई निरीक्षक , पर्यावरण पर्यवेक्षको एवम कूड़े के निजी एजेंसी के क्षमता वर्धन के लिए  दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम 14 दिसंबर एवम 15 दिसंबर को वानप्रस्थ आश्रम आर्य नगर के निकट एक ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के विषय के ऊपर प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया । 14 दिसंबर को सभी पर्यावरण पर्यवेक्षक एवम 15 दिसंबर को सफाई निरीक्षक,  केएल मदान एवम ई कॉन कंपनी के कर्मचारी एवम सुपरवाइजर को प्रशिक्षण दिया गया।  प्रशिक्षण कार्यालय में कचरे के उचित प्रबंधन एवं शहर में स्वच्छता के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई। कार्यक्रम में  कूड़े के विभिन्न प्रकार ,कार्य के दौरान उचित सुरक्षा मापदंडों का प्रयोग , स्वास्थ्य संबधी जानकारी, कंपोस्टिंग एवम इसके फायदे, नए नए तकनीक, विभिन शहरों के सफल मॉडलों एवम बायो मैथेनेशन के ऊपर विस्तृत चर्चा की गई। प्रतिभागियों ने शहर में कूड़े से संबंधित संबंधित समस्याएं एवं उसके चुनौतियों के ऊपर अपनी विचारों को एक दुसरे के साथ साझा किया। शहर में विभिन्न प्रकार के कूड़ा उत्पादन करने वाले संस्थान, शहर में रीसाइक्लिंग इंडस्ट्री की संभावना, नगर निगम के दायित्व, स्कूल एवम कॉलेज में विभिन्न प्रकार के आई ई सी गतिविधि एवम यूजर फीस संग्रहण से जुड़ी चुनौती को चर्चा करके समझ बनाई गई। प्रतिभागियों ने सवाल जवाब सत्र में अपने समझ को और बेहतर बनाए। अंत में , सभी प्रतिभागियों ने अपनी प्रतिक्रिया देकर प्रशिक्षण कार्यशाला को और बेहतर बनाने के लिए सुझाव भी दिए। इस प्रशिक्षण में 60 से अधिक लोगों ने प्रतिभाग लेकर ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के गुर सीखे। इस कार्यशाला में सफाई निरीक्षक विकास छाछर, सुनीत कुमार , संजय शर्मा, विकास कुमार, अर्जुन सिंह,श्रीकांत, सुनील कुमार, मनोज, धीरेंद्र सेमवाल, केएल मदान के हरपाल सिंह, ई कॉन वेस्ट मैनेजमेंट कंपनी से सर्वेश त्रिपाठी, दीपक आदि एवम स्वच्छ परियोजना की टीम ने प्रतिभाग लिया।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

शांतिकुंज में श्रद्धा व उत्साह के साथ मनाया गया गायत्री जयंती गंगा दशहरा महापर्व

  शांतिकुंज में गायत्री जयंती-गंगा दशहरा के महापर्व से लाखों को मिली संजीवनी विद्या भारत का जीवन दर्शन है गायत्री और गंगा ः डॉ पण्ड्या गायत्...