पवित्र छड़ी यात्रा को उत्तराखंड भ्रमण के लिए कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने किया रवाना

 हरिद्वार  20 अक्टूबर ( गोपाल रावत वरिष्ठ पत्रकार ) उत्तराखंड के चारों धामों सहित समस्त पौराणिक तीर्थस्थलों के प्रचार प्रसार , विकास तथा पलायन रोकने के लिए प्रतिवर्ष निकाली जाने वाली पावन पवित्र छड़ी यात्रा का शुभारंभ शुक्रवार को हो गया। छड़ी यात्रा का शुभारंभ प्रदेश सरकार के पर्यटन ,लोक निर्माण, सिंचाई एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने पौराणिक सिद्ध पीठ नगर की अधिष्ठात्री देवी माया देवी मंदिर से विधिवत पूजा अर्चना कर किया। श्री महाराज ने माया देवी तथा नगर कोतवाल आनंद भैरव की विधि विधान से पूजा अर्चना की तथा पवित्र छड़ी यात्रा की सफलता व राष्ट्र की सुख समृद्धि शांति के लिए प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि तीर्थों की पवित्र छड़ी यात्रा हमारी सनातन परंपरा का प्रतीक है । यह परंपरा आद्य जगतगुरु शंकराचार्य महाराज के समय से ही चली आ रही है ।उत्तराखंड में यह प्राचीन काल से ही बागेश्वर से चलती थी और पूरे उत्तराखंड के सनातन धर्म और वैदिक संस्कृति का प्रचार करती थी । कालांतर में मुगलों ने इस पर रोक लगा दी थी । लेकिन जूना अखाड़े ने पुनः इस परम्परा को प्रारंभ कर अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य किया है। उन्होंने कहा कि इस पवित्र छड़ी यात्रा से उत्तराखंड के उपेक्षित विस्मृति पौराणिक तीर्थ का विकास तो होगा ही, साथ ही स्थानीय नागरिकों को रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे और पलायन पर रोक लगेगी। इससे पहले जूना अखाड़ा पहुंचने पर कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज का जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महंत प्रेम गिरी महाराज, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महंत रवींद्र पुरी , सचिव श्री महंत महेश पुरी, श्री महंत शैलेंद्र गिरी , उपाध्यक्ष श्रीमंहत केदार पुरी ने माल्यार्पण कर स्वागत किया। श्री महंत प्रेम गिरि महाराज ने बताया कि यह पवित्र छड़ी यात्रा को आज सतपाल महाराज ने शुभारंभ कर दिया है। यह छड़ी यात्रा 27 अक्टूबर तक पंचपुरी हरिद्वार में सभी पौराणिक सिद्धपीठों, अखाड़ों, आश्रमों में पूजन हेतु जाएगी। 28 अक्टूबर को हर की पैड़ी पर मां गंगा की पूजा अर्चना के बाद दुग्ध अभिषेक के पश्चात मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा माया देवी मंदिर प्रांगण से पवित्र छड़ी को उत्तराखंड की यात्रा के लिए रवाना करेंगे । उन्होंने बताया कि यह पवित्र छरी यात्रा गढ़वाल मंडल के केदार खंड और कुमायूं मंडल के मानस खंड के समस्त पौराणिक  तीर्थ स्थलों मंदिरों में पूजा अर्चना के लिए जाएगी तथा प्रदेश की खुशहाली राष्ट्र की उन्नति विकास व प्रगति की प्रार्थना करेगी। इसके साथ ही सनातन धर्म के प्रचार प्रसार व पलायन रोकने के लिए जन जागरण समय आयोजित की जाएगी। इस अवसर पर श्री महंत शिव दत्त गिरी, श्री महंत पशुपति गिरी, कोठारी महाकाल गिरी पुजारी श्री महंत सुरेशानंद सरस्वती, महंत दीनदयाल गिरि, महंत आकाश पुरी, महंत आदित्य गिरि, महंत भीष्म गिरि, महंत राजेंद्र गिरि, महंत गौतम गिरि, महंत राजगिरी ,महंत बलपुरी तथा महंत रतन गिरी सहित बड़ी संख्या में साधु संतों के अलावा स्थानीय नागरिक एवं श्रद्धालु उपस्थित थे।


No comments:

Post a Comment

Featured Post

श्री मानव कल्याण आश्रम में प्रारंभ हुआ ललिताम्बा वेद विद्यालय

 गोविंद गिरी देव ने किया ललिताम्बा वेद विद्यालय का शुभारंभ जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम महाराज की अध्यक्षता एवं श्रीमहंत देवा...