उत्तराखंड संस्कृत अकादमी ने आयोजित की जनपद स्तरीय प्रतियोगिता

 उत्तराखंड संस्कृत अकादमी द्वारा आयोजित हरिद्वार जनपद स्तरीय संस्कृत छात्र प्रतियोगिता का शुभारंभ उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय में हुआ।

हरिद्वार 12 अक्टूबर उत्तराखंड संस्कृत अकादमी द्वारा आयोजित जनपद स्तरीय प्रतियोगिता के कनिष्ठ वर्ग की प्रतियोगिता आज उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के व्यास मंडप में क्षेत्रीय विधायक आदेश चौहान, संस्कृत सहायक निदेशक डॉक्टर वाजश्रवा आर्य, गुरुकुल महाविद्यालय ज्वालापुर के उपाचार्य संकल्प देव ने दीप प्रज्वलित कर किया।

 उद्घाटन अवसर पर विधायक आदेश चौहान ने कहा कि संस्कृत भाषा 'भाषा' मात्र नहीं है यह संस्कारों की जननी है भारत की पहचान संस्कृत और संस्कृति से है उन्होंने जनपद स्तर पर प्रतिभाग करने वाले सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दी साथ ही आह्वान भी किया कि देव भाषा संस्कृत के प्रचार प्रसार में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करें। संस्कृत को जन-जन तक पहुंचाने का दायित्व सभी प्रतिभागियों एवं शिक्षण संस्थाओं का है।

इस अवसर पर प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए सहायक निदेशक डॉ वाजश्रवा आर्य ने संस्कृत भाषा के प्रचार प्रसार में अकादमी द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए प्रतिभागियों का उत्साह वर्धन किया साथ ही उन्होंने कहा कि संस्कृत से इतर सामान्य विद्यालयों के छात्रों ने प्रतिभाग कर यह दिखाया है कि संस्कृत आज भी प्रत्येक जनमानस के अंदर व्याप्त है आज आवश्यकता है संस्कृत के प्रचार प्रसार के साथ ही उसे अपनाने की।

गुरुकुल महाविद्यालय ज्वालापुर के उप आचार्य संकल्प देव ने कहा कि संस्कृत भाषा अपने आप में वैज्ञानिक भाषा है यह भाषा सरल एवं लालित्य प्रदान करने वाली भाषा है इस भाषा के नजदीक जैसे-जैसे जाएंगे वैसे-वैसे आनंद की अनुभूति प्राप्त होती है।

 आज संपन्न हुए कनिष्ठ वर्ग की प्रतियोगिता में संस्कृत नाटक में मारवाड़ कन्या पाठशाला इंटर कॉलेज रुड़की प्रथम,राजकीय इंटर कॉलेज कुंजा बहादुरपुर भगवानपुर द्वितीय, राजकीय उच्चतर प्राथमिक विद्यालय सरहेडी साहजापुर भगवानपुर तृतीय, संस्कृत समूहगान प्रतियोगिता में आचार्य कुलम प्रथम, के वी इंटर कॉलेज लक्सर द्वितीय, के के पाठशाला मंगलौर तृतीय, संस्कृत समूह नृत्य प्रतियोगिता में आचार्य कुलम बहादराबाद प्रथम, सत्यनारायण इंटर कॉलेज मखदुमपुर द्वितीय, सी.एस.टी. इंटर कॉलेज चुनियाला तृतीय स्थान, संस्कृतवाद विवाद प्रतियोगिता में श्री जगतगुरु श्री चंद्र संस्कृत महाविद्यालय भगवत धाम हरिद्वार प्रथम, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय  मानकचौक द्वितीय,  एस. एस.डी.पी. कन्या इंटर कॉलेज रुड़की तृतीय, संस्कृत आशु भाषण प्रतियोगिता में आचार्य कुलम प्रथम स्थान, ऋषि संस्कृत महाविद्यालय हरिद्वार द्वितीय स्थान, राजकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मानक चौक तृतीय स्थान एवं श्लोकोचारण प्रतियोगिता में ब्रह्मचारी रामकृष्ण पालीवाल संस्कृत महाविद्यालय प्रथम स्थान,आचार्य कुलम बहादराबाद द्वितीय स्थान, एस.एस.डी.पी. इंटर कॉलेज रुड़की तृतीय स्थान प्राप्त किया। समापन अवसर पर उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के प्रोफेसर शैलेश तिवारी, सहायक निदेशक संस्कृत शिक्षा डॉ.वाजश्रवा आर्य,  प्रतियोगिता के संयोजक डॉ नवीन पंत एवं सहसंयोजक डॉ विजय त्यागी ने विजेता प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र एवं नगद धनराशि से सम्मानित किया कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ निरंजन मिश्र, डॉ हरिश्चंद्र तिवारी, डॉ अरुण मिश्र, डॉ शैलेश तिवारी, डॉ सर्वेश तिवारी, डॉ कंचन तिवारी, डॉ दामोदर परगांई, डॉ प्रकाश चंद्र पंत, डॉ तारा प्रसाद अवस्थी, डॉ श्यामलाल गौड, केशव बलियानी, भूपेंद्र, डॉ दीपशिखा, पुष्पांजलि अग्रवाल, योगेश कुमार सिंह, उर्वशी पवार,डॉ लक्ष्मी देवी, महेश बहुगुणा, कमलेश, डॉ जीवन,डॉ अतुल चमोला,  जयप्रकाश,  गीता जोशी, ललिता चौहान, चंपा जोशी, सहित अन्य उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Featured Post

मंगलौर विधानसभा बीजेपी जीतने जा रही है :- स्वामी यतिश्वानंद

  मंगलौर चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दी गई बूथो  की जिम्मेदारीयां भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री ने मंगलौर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्त...