वल्लभाचार्य संप्रदाय प्रमुख ने सैकडो कृष्ण भक्तों के साथ किया गंगा पूजन

 वल्लभाचार्य संप्रदाय  प्रमुख ने राम घाट पर किया गंगा पूजन


पुष्टि कल्पतरू महोत्सव के परमार्थ निकेतन ऋषिकेश में समाप्त होने के पश्चात पुष्टिमार्गीय वल्लभाचार्य वैष्णव संप्रदायाचार्य भक्तों के साथ पहुंचे हरिद्वार 


वल्लभाचार्य संप्रदाय के गद्दी नशीन  परमाध्यक्ष  गोस्वामी श्री राजेश कुमार जी महाराज , गोस्वामी श्री कृष्ण कुमार जी महाराज  एवं गोस्वामी श्री कुंजेश कुमार जी महाराज की कृपा छाया में गोस्वामी श्री सानिध्य कुमार जी महाराज  ,गोस्वामी श्री आश्रय कुमार जी महाराज एवं गोस्वामी श्री अनुग्रह कुमार जी ने  गुजरात से आए सैकड़ों श्रद्धालु भक्तों को  श्रवण कराई हरि कथा, पंचतत्व कथा , पंच

 गीत कथा ,

 

परमार्थ निकेतन प्रमुख चिदानंद स्वामी के साथ  ऋषिकेश में गंगा आरती के पश्चात हरिद्वार में आकर किया गंगा पूजन 


हरिद्वार   2 अगस्त ( संजय वर्मा )  वैष्णव संप्रदाय के अंतर्गत  पुष्टिमार्गीय  वल्लभाचार्य  गोस्वामी श्री राजेश कुमार जी महाराज , श्री गोस्वामी श्री कृष्ण कुमार जी महाराज एवं श्री कुंजेश कुमार जी महाराज के मंगल आशीर्वाद से परमार्थ निकेतन ऋषिकेश में पुरुषोत्तम मास के पावन काल में श्री वल्लभ धाम मणिनगर अहमदाबाद के तत्वाधान में सात दिवसीय पुष्टि कल्पतरू महोत्सव का आयोजन किया गया था , जिसके अंतर्गत प्रतिदिन श्रीमद् भागवत कथा के साथ-साथ वल्लभाचार्य संप्रदाय के अनुयाई एवं गुरु परंपरा के संत गोस्वामी श्री सानिध्य कुमार गोस्वामी ,श्री आश्रय कुमार  एवं अनुग्रह गोस्वामी के श्री मुख से श्रीनाथजी लीला , श्री महाप्रभु एवं गिरिराज लीला, गोपी गीत, युगल गीत ,वेणु गीत ,भ्रमरगीत ,उद्धव गीत ,श्री ब्रजभूमि महात्तम  ,श्री यमुना महात्तम के साथ-साथ पुष्टि पंचतत्व कथा ,  पुष्टि  पंच गीत कथा को श्रवण करने का वैष्णव भक्तों को शुभ अवसर प्राप्त हुआ।  पुष्टि कल्पतरू महोत्सव के अंतर्गत गुजरात से आए  सैकड़ों कृष्ण भक्तों ने जहां रुक्मणी विवाह , गोवर्धन पूजा , गंगा पूजा , विशाल छप्पन भोग जैसे अनुष्ठान किए वही  परमार्थ निकेतन प्रमुख  स्वामी चिदानंद मुनि के साथ  परमार्थ घाट पर  गंगा आरती का भव्य आयोजन भी किया । ऋषिकेश में  पुष्टिमार्गीय कल्पतरु महोत्सव के पश्चात  समस्त भक्तजन  अपने गुरुजनों के साथ हरिद्वार स्थित राम घाट पर  वल्लभाचार्य संप्रदाय की गद्दी प्रभु जी की बैठक  में पहुंचे और वहां पर उन्होंने गंगा पूजन किया ।  


राम घाट स्थित प्रभु जी की बैठक एक प्राचीन स्थान है कहा जाता है इसकी स्थापना वल्लभाचार्य कीस्मृति में करवाई गई थी । जो आज भी  वैष्णव संप्रदाय के लिए तीर्थ के समान है ।




 विगत 8 वर्ष पूर्व भी  सैकड़ों की संख्या में पुष्टिमार्गीय वल्लभाचार्य संप्रदाय के लोग इस स्थान पर एकत्र हुए थे आज उन्हें  अपने गुरु स्थान पर  इन समस्त लोगों ने  भव्य गंगा आरती का आयोजन किया ।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

शांतिकुंज में प्रारंभ हुआ गंगा दशहरा गायत्री जयंती महापर्व

  अखण्ड जप के साथ दो दिवसीय गंगा दशहरा-गायत्री जयंती महापर्व का शुभारंभ ऊँचा उठे, फिर न गिरे ऐसा हो इंसान का कर्म :- डॉ चिन्मय पण्ड्या हरिद्...