आयुर्वेद में है संतानहिनो के लिए ईलाज


 आयुर्वेद ने किया संतानहीनता का दुःख दूर

हर जगह से ईलाज कराने के पश्चात निराश 25 वर्षीय विवाहित नवयुवक को नारायण आयुर्वेद चिकित्सा केन्द्र में उपचार से मिला पिता बनने का सौभाग्य

हरिद्वार, 05 जून (अरविंद कुमार संवाददाता गोविंद कृपा   हरिद्वार ) 25 वर्षीय विवाहित नवयुवक शुक्राणुओं की अत्यंत कमी के कारण संतानहीनता के दुख से पीड़ित था अनेक उपचार कराने पर भी लाभ न होने पर नारायण आयुर्वेद चिकित्सा केन्द्र में उपचार के लिए पहुंचा। वहां पर वैद्य सत्यनारायण शर्मा द्वारा समुचित आयुर्वेदिक उपचार के पश्चात उसके शुक्राणुओं की पर्याप्त वृद्धि हुई। उपचार के उपरांत विगत 4 जून 2022 को नवयुवक ने नारायण आयुर्वेद चिकित्सा केन्द्र पहुंचकर आभार प्रकट करते हुए सूचित किया कि उसकी पत्नी द्वारा गर्भ धारण कर लिया है।

इस अवसर पर नारायण आयुर्वेद चिकित्सा केन्द्र के वैद्य सत्यनारायण शर्मा ने आयुर्वेद चिकित्सा विज्ञान को शत-शत नमन करते हुए नवयुवक को बधाई दी और कहा कि आयुर्वेद में सभी प्रकार के जटिल व असाध्य रोगों को निदान संभव है। आयुर्वेद के उपचार से निराश व्यक्तियों के जीवन में स्वर्णिम किरणों की बौछार हुई है तथा उनका जीवन आनन्दमय बना है।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

शांतिकुंज में श्रद्धा व उत्साह के साथ मनाया गया गायत्री जयंती गंगा दशहरा महापर्व

  शांतिकुंज में गायत्री जयंती-गंगा दशहरा के महापर्व से लाखों को मिली संजीवनी विद्या भारत का जीवन दर्शन है गायत्री और गंगा ः डॉ पण्ड्या गायत्...