गुरु पूर्णिमा से श्री कृष्ण जन्माष्टमी तक शांतिकुंज चलाएगा पर्यावरण संरक्षण अभियान

 धरती हमारा एकमात्र घर ः डॉ पण्ड्या 

गुरुपूर्णिमा से कृष्ण जन्माष्टमी तक देश भर में चलाया जायेगा पौधारोपण महाभियान 



शांतिकुंज में उत्साहपूर्वक मनाया गया विश्व पर्यावरण दिवस

हरिद्वार ५ जून। (अमर शदाणी  संवाददाता गोविंद कृपा हरिद्वार)विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर अखिल विश्व गायत्री परिवार के मुख्यालय शांतिकुंज ने धरती हमारा एकमात्र घर को संवारने, स्वस्थ रखने के लिए लोगों से अपील की। तो वहीं अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ प्रणव पण्ड्या जी एवं श्रद्धेया शैलदीदी ने देश-विदेश के परिजनों से आवाहन किया कि वे भी आज के दिन कम से कम एक पौधा अपने आंगन, बगीचा या छत पर अवश्य रोपे। 

शांतिकुंज के सभागार में आयोजित कार्यक्रम के दौरान अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि धरती हमारा एकलौता घर है। इस समय धरती हमें पुकार रही है कि कोई मुझे स्वस्थ रहने में सहयोग दे। उन्होंने कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर हमारा एकलौता घर पृथ्वी को हरा भरा रखने के लिए एक पौधा अवश्य लगाये। इस दिशा में गायत्री परिवार आपका हरसंभव सहयोग करेगा। देवसंस्कृति विवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. पण्ड्या ने कहा कि गायत्री परिवार ने अब तक ३ करोड़ से अधिक पौधे रोपा है। गायत्री परिवार द्वारा ३०० पहाड़ियों को हरा भरा किया जा चुका है। १०८ श्रीराम सरोवर का निर्माण, १०१ त्रिवेणी तथा २४ नदियों में वृहत स्तर पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गुरुपूर्णिमा से कृष्णजन्माष्टमी तक पौधारोपण का महाभियान चलाया जायेगा। साथ ही देश भर के मोक्षधामों (शमशान) को हरी चुनर चढ़ाने तथा गृहे-गृहे माता भगवती बाडी रोपित किये जायेंगे। 

देवसंस्कृति विवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि माता भूमि पुत्रोऽहम पृथिव्या को सभी जागृत आत्माओं को अंगीकार करना चाहिए। आज माता पृथ्वी पुकार रही है, जिस तरह पेड़ों को काटकर तुमने मेरा दोहन किया है, यदि तुम अब नहीं चेते, तो तुम्हारे बच्चे आने वाले समय में स्वस्थ नहीं रह पायेंगे। इस अवसर पर उन्होंने वैदिक मंत्रों के बीच विभिन्न पौधों का पूजन किया और छत्तीसगढ़, ओडिशा, गुजरात, दिल्ली, उत्तराखण्ड, उप्र, झारखण्ड, बिहार, महाराष्ट्र, अरुणाचल प्रदेश आदि राज्यों से आये तरु मिलन-तरु वरण तथा वृक्षगंगा अभियान के सक्रिय सदस्यों को सीता अशोक, पीपल, आंवला आदि के पौधे भेंट किया। कार्यक्रम का संचालन रचनात्मक प्रकोष्ठ के समन्वयक श्री केदार प्रसाद दुबे ने किया।

पश्चात शांतिकुंज के वरिष्ठ प्रतिनिधियों ने वट, सीता अशोक, पीपल आदि के पौधे रोपे। वहीं शांतिकुंज एवं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय परिवार ने भी अपने-अपने आंगन, छत में औषधीय पौधे लगाये। विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर शांतिकुंज स्थित उद्यान विभाग ने वृक्षारोपण हेतु प्रेरित करते हुए सीता अशोक, आम, पीपल, नीम सहित विभिन्न देववृक्ष एवं औषधीय पौधे निःशुल्क बाँटा। उद्यान विभाग प्रभारी श्री सुधीर भारद्वाज ने बताया कि ममतामयी श्रद्धेया शैलदीदी के निर्देश पर हजार से अधिक पौधे वितरित किये गये।

मोडासा (गुजरात) युथ ग्रुप का पौधारोपण का ५०वां रविवार

मोडासा (गुजरात) के गायत्री परिवार युथ ग्रुप ने पौधारोपण का ५०वां रविवार अपने गुरुधाम शांतिकुंज में मनाया। यह ग्रुप विगत एक वर्ष से प्रत्येक रविवार को गुजरात के विभिन्न शहरों, कस्बों में पौधे रोपने का अभियान चला रहा है। विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर मोडासा युथ गु्रप ने गंगा सभा हरिद्वार के पदाधिकारियों को पौधे भेंट किया। तो वहीं सप्तऋषि क्षेत्र के शदाणी घाट सहित विभिन्न स्थानों पर पौधे रोपे एवं ट्री गार्ड लगाया।

धारावाहिक रामायण के लक्ष्मण ने किया वृक्षारोपण

टीवी कलाकार एवं प्रसिद्ध धारावाहिक रामायण के लक्ष्मण यानि सुनील लहरी आज देवसंस्कृति विश्वविद्यालय, शांतिकुंज पहुंचे। उन्होंने देसंविवि में स्थापित एशिया के प्रथम बाल्टिक सेंटर के निकट सीता अशोक का पौधा रोपा। पश्चात वे अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं श्रद्धेया शैलदीदी से भेंट कर मार्गदर्शन प्राप्त किया। इस अवसर पर सुनील लहरी ने देसंविवि व शांतिकुंज द्वारा लोकरंजन से लोकमंगल की दिशा में चलाये जा रहे विभिन्न प्रयासों की सराहना की। विवि द्वारा चलाये जा रहे युवाओं के चहुंमुखी विकास की योजनाओं पर संतोष प्रकट किया। प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने देसंविवि और शांतिकुंज की अवधारणाओं से अवगत कराया।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

शांतिकुंज में प्रारंभ हुआ गंगा दशहरा गायत्री जयंती महापर्व

  अखण्ड जप के साथ दो दिवसीय गंगा दशहरा-गायत्री जयंती महापर्व का शुभारंभ ऊँचा उठे, फिर न गिरे ऐसा हो इंसान का कर्म :- डॉ चिन्मय पण्ड्या हरिद्...