भाजपाइयों ने प्रदर्शन और गोष्टी कर मनाया काला दिवस

 लोकतंत्र का काला अध्याय है आपातकाल :- डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान

 हरिद्वार 25 मई (संजय वर्मा )भाजपा जिला कार्यालय हरिद्वार में  डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान जिला अध्यक्ष भाजपा हरिद्वार की अध्यक्षता में आपातकाल काला दिवस 25 जून के अवसर पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में उस समय के जन नेता एवं आपातकाल में दी गई यातनाओ के भुक्तभोगी डॉक्टर चेतन दास सैनी रुड़की निवासी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।आपातकाल  लोकतंत्र में काला अध्याय विषय पर आयोजित गोष्ठी का शुभारंभ करते हुए भाजपा जिला महामंत्री विकास तिवारी ने कॉन्ग्रेस सरकार के द्वारा देश में लगाए गए 1975 में आपातकाल के विषय में जानकारी देते हुए  बताया कि उस समय की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में लोकतंत्र की हत्या करते हुए आपातकाल लगाया और विरोधी दलों के लोगों पर अमानवीय अत्याचार किए। जिला भाजपा के महामंत्री आदेश सैनी ने रुड़की में अपने परिजनों पिता आदि पर  आपातकाल के समय किए गए दुर्व्यवहार और यातनाओं के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि मेरे पिता संघ केस्वयंसेवक थे जो सक्रिय रूप से आपातकाल में सरकार के विरोध में धरना प्रदर्शनों में भाग ले रहे थे उन्हें रात के समय ही घर से उठा लिया गया और जेल भेज दिया गया जेल में उन पर और उनके साथियों पर अमानवीय अत्याचार किए गए आज 25 जून को हम उन अत्याचारो और बदसलूकीयो को याद करके सिहर उठते हैं जो हमारे लोकतंत्र के रक्षक जनसंघ  और राष्ट्रीय स्वयंसेवक के कार्यकर्ताओं पर हुई। आज की गोष्ठी में मुख्य रूप से उपस्थित आपातकाल के समय में इन सब यातनाओं ,दमन आदि के प्रत्यक्ष गवाह और ।भुक्तभोगी आंदोलनकारी जननेता रुड़की निवासी डॉक्टर चेतन दास सैनी ने नई पीढ़ी को जानकारी देते हुए बताया कि उस समय हरिद्वार रुड़की यह सब उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में आया करता था यहां से बारह सौ लोगों को जेल भेजा गया साथ ही सहारनपुर में मुझे और उस समय के प्रचारक संघ के तिलक राज जी दोनों को प्रचार सामग्री जो जन जागरूकता के लिए रखी गई थी और सरकार की गलत नीतियों का प्रचार प्रसार कर रही थी उसके साथ गिरफ्तार किया गया और हमें जेल में भेज दिया गया वहां पर हमारे प्रचारक तिलक राज जी के नाखून तक खिचे गए साथियों को बर्फ की सिलीयो पर लेटा कर  यातना दी गई ।उन्होंने बताया कि जोधपुर में राजेंद्र गहलोत जी को जेल में डाल दिया गया और उन्हें यातनाएं दी गई वही अलीगढ़ बरेली आदिशहरों में भी इसी प्रकार के अत्याचार जनसंघ और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं पर किए गए उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में राजमाता विजयराजे सिंधिया को अपराधियों के साथ जेल में रखा गया उस वक्त सर्दी का मौसम था और कड़कड़ाती ठंड में इस एमरजैंसी का विरोध करने वाले जन संघ के कार्यकर्ताओं को बर्फ की सिलीयो पर लेटा कर उन्हें यातनाऐ दी गई। उन्होंने बताया कि उस समय




सत्याग्रह में सहारनपुर जिले से ही 12 सौ आंदोलनकारी जेलों में गए थे ।जिनमें रुड़की क्षेत्र से 16 लोग शामिल थे विचार गोष्ठी में भाजपा के जिलाध्यक्ष डा0 जयपाल सिंह चौहान ने भाजपा कार्यकर्ताओं से उस समय के आंदोलनकारी रहे लोगों के परिजनों से मिलने का आह्वान किया और कहा कि आज हमारा फर्ज बनता है कि उस समय जिन लोगों ने यातनाऐ सही है जो लोग अब इस दुनिया में नहीं रहे हैं उनके परिजनों से को मिलकर उन्हें सम्मानित किया जाए। भाजपा  उपाध्यक्ष अनिल अरोड़ाआदि ने भी विचार प्रकट किए ।गोष्ठी में एससी मोर्चा के जिला अध्यक्ष तेलू राम,  प्रधान ओबीसी मोर्चे के जिला महामंत्री डॉ प्रदीप कुमार,अनिल मिश्रा, योगेश कुमार ,आशु चौधरी, नितिन चौहान, भाजपा के जिला उपाध्यक्ष संदीप कुमार गोयल ,बहरोज आलम, राहुल, समीर ,संजीव त्यागी, विकास कुमार ,कमल प्रधान,संजय वर्मा सहित विभिन्न मोर्चोंएवं प्रकोष्ठो के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

भारत विकास परिषद पंचपुरी शाखा ने फलदार पौधे किये रोपित

 * भारत विकास परिषद की पंचपुरी शाखा ने पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लिया*    हरिद्वार 23 जुलाई भारत विकास परिषद की पंचपुरी शाखा ने हरेला पर्व ...