धामी मंत्रिमंडल में जनपद हरिद्वार को क्यों नहीं मिला प्रतिनिधित्व ?

 धामी मंत्रिमंडल में हरिद्वार को प्रतिनिधित्व न मिलने से नेताओं में बेचैनी,  कार्यकर्ता हुए निराश

पुष्कर सिंह धामी के मंत्रिमंडल में जनपद हरिद्वार को प्रतिनिधित्व ना मिलने के कारण नेताओं और उनके समर्थकों में बेचैनी साफ दिखाई दे रही है। जैसे कयास लगाए जा रहे थे कि प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को नए मंत्रिमंडल में कोई बड़ा दायित्व मिलेगा, आदेश चौहान या प्रदीप बत्रा में से भी किसी एक को हरिद्वार का प्रतिनिधित्व करने का अवसर दिया जाएगा लेकिन यह खाली संभावनाएं बन कर रह गए वैसे तो "जैसी करनी वैसी भरनी वाली " बात सही सिद्ध होती है । हरिद्वार की 11 विधानसभाओ में  से तीन विधायक भाजपा के चुनकर आए हैं वह जिले में अपनी विफलता की कहानी स्वयं कह रहे हैं।अब इसके पीछे टिकट देने वालों की कमी कहीं जाए या अपने कार्यकाल में क्षेत्र की उपेक्षा करने का परिणाम कहा जाए कुल मिलाकर जनपद हरिद्वार ने भाजपा को निराश ही किया है। 08 विधायकों से घटकर तीन विधायकों पर सिमटी जनपद हरिद्वार में भाजपा शायद इसी के लायक थी कि जिस जनपद से एक प्रदेश अध्यक्ष एक कैबिनेट मंत्री पिछली सरकार में रहा हो वहां इस बार जनपद हरिद्वार को निराशा ही हाथ लगी। अब देखते हैं भविष्य में जनपद हरिद्वार का क्या होगा ।केवल मदन कौशिक ही यहां के सर्वे सर्वाबनकर रहेंगे या आदेश चौहान ,प्रदीप बत्रा में से भी कोई मंत्री बनेगा । यह तो वक्त ही बताएगा लेकिन आज कुल मिलाकर नए मंत्रिमंडल में हरिद्वार को प्रतिनिधित्व ना मिलने के कारण जहां नेताओं में बेचैनी है वही कार्यकर्ताओं में भी निराशा साफ दिखाई दे रही है।


No comments:

Post a Comment

Featured Post

डॉ विशाल गर्ग ने भागवत व्यास पीठ से लिया आशीर्वाद

  भागवत कथा के श्रवण से दूर होते हैं कष्ट-डा.विशाल गर्ग हरिद्वार, 18 जुलाई। राष्ट्रीय भागवत परिवार के राष्ट्रीय संरक्षक डा.विशाल गर्ग ने सुभ...