उत्सव 24 में देव संस्कृति विश्वविद्यालय में खेलों की धूम


लंबी कूद में वीना और दौड़ में जया यादव रही अव्वल

कबड्डी, गोलाफेंक, बैटमिंटन, टेबल टेनिस में विद्यार्थियों ने दिखाया कौशल


हरिद्वार 12 मार्च देवसंस्कृति


विश्वविद्यालय में उत्सव-2024 का दूसरा दिन खेल के नाम रहा। विद्यार्थियों ने अपने अपने पसंदीदा खेल में उत्साह के साथ अपना कौशल दिखाया। लड़कियाँ कबड्डी, गोलाफेंक, बैटमिंटन, टेबल टेनिस, लंबीकूद, 100 और 200 मीटर आदि खेलों में अपना जबरदस्त दमखम दिखाया। तो वहीं मेंहदी, रंगोली, शास्त्रीय गायन, नृत्य, चित्रकला, स्वरचित कविता पाठ, प्रज्ञागीत अंताक्षरी, वाद विवाद आदि प्रतियोगिता में अपनी कला का हूनर दिखाया। इन खेलों व अन्य बौद्धिक प्रतियोगिताओं में छात्रों से छात्राएँ आगे दिखाई दी।

देसंविवि के खेल अधिकारी श्री नरेन्द्र सिंह व श्रीमती श्रुति ओडुकले ने बताया कि देसंविवि युवाओं में वैचारिक क्रांति लाने के लिए जाने जाते है। यहाँ पाठ्यक्रम के साथ-साथ विभिन्न कार्यक्रमों में युवाओं को सकारात्मक प्रेरणाएँ देने वाली गतिविधियाँ संचालित की जाती हैं। उत्सव-24 में भी यह क्रम जारी है। उत्सव-24 का दूसरा दिन विभिन्न शारीरिक एवं बौद्धिक खेलों के नाम रहा। वीना, जया यादव, वसुंधरा कश्यप, भानु प्रताप, करन सति, यज्ञदेव, दिया, आस्था, सजल कुमार, तर्पण मिश्रा, साहिल कुमार, अर्पणा अमृत, संजना कुमारी, ऋषिका पाण्डेय, अंशिका कश्यप, प्रज्ञा गुप्ता, दिव्या विष्ट, सबिता गोबाती आदि ने अपने-अपने खेलों में अव्वल रहे, तो वहीं निकिता रावत, शिवानी पंवार, मनीषा, हर्षिता जैन, इवा कौशिक, शिवांशी, आयुषी, अमन कुमार, कुशाग्र राणा, लोकेन्द्र सिंह, दीपक शर्मा, लक्ष्मी साहू, तेजस्विनी, जया यादव आदि को अपने अपने खेलों में द्वितीय स्थान पर रहे।

सांस्कृतिक प्रतियोगिता के प्रभारी डॉ. शिवनारायण प्रसाद ने बताया कि खेलों के साथ-साथ बौद्धिक प्रतियोगिताओं का भी आयोजन हुआ। इसमें शास्त्रीय गायन, सुगम संगीत, ढपली वादन सहित विभिन्न प्रतियोगिताओं में विद्यार्थियों ने अपनी कलाओं का प्रदर्शन किया। संगीत में लोकरंजन से लोकशिक्षण पर आधारित प्रज्ञागीत में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा दिखाई दी। इसके साथ  शास्त्रीय नृत्य, लघुनाटिका, प्रज्ञागीत अंत्याक्षरी आदि प्रतिस्पर्धाओं में छात्र-छात्राओं ने मन मोह लिया। इन सभी प्रतियोगिताओं का फाइनल बुधवार को संपन्न होगा। उन्होंने बताया कि समापन से पूर्व उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों सहित विवि परिवार को श्रद्धेय कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं विवि की कुलसंरक्षिका श्रद्धेया शैलदीदी की ओर से विशेष आशीर्वाद एवं मार्गदर्शन प्राप्त होगा।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

श्री मानव कल्याण आश्रम में प्रारंभ हुआ ललिताम्बा वेद विद्यालय

 गोविंद गिरी देव ने किया ललिताम्बा वेद विद्यालय का शुभारंभ जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम महाराज की अध्यक्षता एवं श्रीमहंत देवा...