शांतिकुंज में मनाया गया श्रद्धेय शैली दीदी का जन्मदिन

 सादगी से मना शांतिकुंज अधिष्ठात्री का जन्मदिन

देश-विदेश के गायत्री साधकों, संतों, पत्रकारों सहित राजनेताओं ने भी दी शुभकामनाएँ


हरिद्वार 23 दिसंबर 


अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेया शैलदीदी का 71वाँ जन्मदिन सादगी से मनाया गया। इस दौरान वैदिक पद्धति से दीपमहायज्ञ के साथ जन्मदिवस मनाया गया। अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने मंगल तिलक कर पुष्पाहार भेंट किया। पश्चात शांतिकुंज, देसंविवि परिवार ने पुष्पगुच्छ भेंटकर दीर्घायृु एवं स्वस्थ जीवन की मंगलकामना की। तो वहीं शांतिकुंज के नौनिहालों ने भी अपनी शुभेच्छा प्रकट की। इस दौरान देश विदेश के गायत्री परिजनों ने भी अपनी शुभकामनाएँ  प्रेषित की।

करोड़ों गायत्री परिवार में ममता व प्यार लुटाने वाली श्रद्धेया शैलदीदी ने गायत्री परिवार के संस्थापकद्वय पं. श्रीराम शर्मा आचार्य एवं माता भगवती देवी शर्मा के बाद जहाँ कुशल संगठक के रूप में इस परिवार की बागडोर सँभाला, तो वहीं उन्होंने नारी सशक्तिकरण के तहत देश-विदेश में नारियों को पर्दाप्रथा, मूढ़मान्यताओं से निकालकर उन्हें न केवल घर, परिवार समाज में समुचित सम्मान दिलाया है, अपितु धर्म-अध्यात्म से जोड़कर वैदिक कर्मकाण्ड परंपरा में पारंगत किया और उन्हें ब्रह्मवादिनी की भूमिका संचालित करने योग्य बनाया। आज उनके कुशल मार्गदर्शन व नेतृत्व में देश-विदेश की लाखों महिलाएँ यज्ञ और विभिन्न संस्कारों का सफल संचालन कर रही हैं। करोड़ों लोगों के विराट् जन समूह को आश्वस्त करते हुए श्रद्धेया शैलदीदी कहती हैं- ‘यह दैवीय शक्ति द्वारा संचालित मिशन है और यह सतत आगे ही बढ़ता जायेगा। कोई भी झंझावत इसे हिला नहीं सकेगा।’

इससे पूर्व श्रद्धेया शैलदीदी के जन्मदिन के अवसर पर प्रातः 27 कुण्डीय यज्ञ में उनकी उत्तम स्वास्थ्य हेतु यज्ञाहुतियाँ डाली गयीं। सैकड़ों पीतवस्त्रधारी नर-नारियों ने मंगल प्रभात फेरी निकालीं। वहीं श्रद्धेया शैलदीदी के उत्तम एवं दीर्घ जीवन की मंगल कामना के साथ सामूहिक प्रार्थना की गयी। सायंकाल गीता जयंती के अवसर पर उत्साहपूर्वक दीपमहायज्ञ संपन्न हुआ।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

श्री मानव कल्याण आश्रम में प्रारंभ हुआ ललिताम्बा वेद विद्यालय

 गोविंद गिरी देव ने किया ललिताम्बा वेद विद्यालय का शुभारंभ जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम महाराज की अध्यक्षता एवं श्रीमहंत देवा...