विश्व हिंदू परिषद के उपवेशन के मध्य साध्वी शक्ति परिषद की बैठक हुई संपन्न

 संत समाज को दिशा और मार्गदर्शन देता है :- मिलिंद परांडे

साध्वी शक्ति परिषद की बैठक में  साध्वी शक्ति परिषद किस संस्थापिका साध्वी कमलेश भारती सहित उपस्थित रही  आध्यात्मिक विभूतिया

हरिद्वार 12 जून विश्व हिन्दू परिषद् के केन्द्रीय मार्गदर्शक मंडल के उपवेशन के अन्तर्गत साध्वी शक्ति परिषद की बैठक आयोजित की गई। जिसका शुभारंभ साध्वी शक्ति परिषद की कार्यकारी अध्यक्ष महामंडलेश्वर  स्वामी मैत्री गिरि, महामंत्री   डा0  प्रज्ञा भारती, कोषाध्यक्ष हेमानंद गिरि महाराज ने किया। साध्वी शक्ति परिषद की बैठक मे विहिप के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि संत समाज को दिशा और मार्गदर्शन दोनों प्रदान करता है। उन्होने साध्वी शक्ति परिषद की बैठक में उपस्थित आध्यात्मिक विभूतियो से मातृ शक्ति को जाग्रत करने का आह्वान किया। उन्होने देश में मातृ शक्ति की सुरक्षा, गरिमा के प्रति चिंता प्रकट करते हुए देश में धर्मांतरण, लव जेहाद जैसे ज्वलंत विषयो पर विचार प्रकट किए। बैठक में उपस्थित साध्वीयो ने साध्वी  शक्ति परिषद की संस्था पिका वयोवृद्ध साथी कमलेश भारती जी की भूरी भूरी प्रशंसा की  बैठक की अध्यक्षता करते हुए साध्वी शक्ति परिषद की वर्तमान कार्यकारी अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी मैत्री यति ने कहा कि साध्वी शक्ति परिषद को आज हम जिस रूप में देख रहे हैं उसके पीछे साध्वी कमलेश भारती का बहुत बड़ा योगदान है। हमने उनसे ही संगठन को चलाने के सूत्र सीखे हैं। म0म0 स्वामी दिव्य चेतना,  साध्वी कमलेश भारती, साध्वी प्राची, साध्वी सुशीला, 





गार्गी, साध्वी निर्मला, साध्वी राधा रमण ने पर्यावरण के संरक्षण का आह्वान किया।  साध्वी सुराधा गिरि सहित गुजरात, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान आदि राज्यों से साध्वी शक्ति परिषद की आध्यात्मिक विभूतियां उपस्थित रही उन्होने वर्तमान समय में नारी शक्ति के स्वाभिमान की रक्षा और मातृ शक्ति के संरक्षण, शिक्षा के विषय में चर्चा की। साध्वी शक्ति परिषद की बैठक में मुख्य रूप से विहिप के अंतर्राष्ट्रीय संरक्षक दिनेश चन्द्र, विनायक राव देशपांडे, कोटेश्वर राव,जीवेश्वर मिश्रा, अशोक तिवारी क्षेत्रीय संयोजिका रीना शर्मा विमला शुक्ला संध्या कौशिक नीलम त्रिपाठी प्रज्ञा महाला राष्ट्रीय संयोजिका दुर्गा वाहिनी आदि उपस्थित रहे ।बैठक की अध्यक्षता म0 म0 स्वामी मैत्री गिरि ,   संचालन  मीनाक्षी पीसवे ने किया।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

शांतिकुंज में श्रद्धा व उत्साह के साथ मनाया गया गायत्री जयंती गंगा दशहरा महापर्व

  शांतिकुंज में गायत्री जयंती-गंगा दशहरा के महापर्व से लाखों को मिली संजीवनी विद्या भारत का जीवन दर्शन है गायत्री और गंगा ः डॉ पण्ड्या गायत्...